28 July 2022 Current Affairs, New Ramsar Site 2022

Spread the love

यह 28th July 2022 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. भारत के कितने नए वेटलैंड को वैश्विक रामसर स्‍थल का दर्जा मिला, जिससे इसकी संख्‍या जुलाई 2022 में 54 हो गई?

a. 3
b. 4
c. 5
d. 6

Answer: c. 5

– इसी के साथ जुलाई 2022 तक भारत में रामसर साइट की संख्‍या 54 हो गई है।
– यह जानकारी केंद्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री, भूपेंद्र यादव ने दी।

————–
2. किस राज्‍य के ‘करीकिली पक्षी अभयारण्य’ को वैश्विक रामसर स्‍थल सूची में शामिल किया गया?

a. तमिलनाडु
b. मिजोरम
c. आंध्र प्रदेश
d. मध्‍य प्रदेश

Answer: a. तमिलनाडु

– करीकिली पक्षी अभयारण्य, तमिलनाडु के कांचीपुरम जिले में स्थित है।
– इस अभयारण्य में 100 से ज्यादा पक्षी प्रजातियां पाई जाती हैं।
– यह अभयारण्य चेंगलपट्टू के दक्षिण में चेन्नई से लगभग 75 किमी दूर है।

—————
3. ‘पल्लिकरनई मार्श रिजर्व फॉरेस्ट’ किस राज्‍य में स्थित है, जिसे वैश्विक रामसर स्‍थल सूची में शामिल किया गया?

a. तमिलनाडु
b. मिजोरम
c. आंध्र प्रदेश
d. मध्‍य प्रदेश

Answer: a. तमिलनाडु

– पल्लिकरनई मार्श रिजर्व फॉरेस्ट, तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में एक मीठे पानी का दलदल है जो बंगाल की खाड़ी के निकट स्तिथ है।

————–
4. किस राज्‍य में स्थित ‘पिचवरम मैंग्रोव’ को वैश्विक रामसर स्‍थल सूची में शामिल किया गया?

a. तमिलनाडु
b. मिजोरम
c. आंध्र प्रदेश
d. मध्‍य प्रदेश

Answer: a. तमिलनाडु

– पिचवरम मैंग्रोव भारत के बड़े मेंग्रोव वनों में से एक है। यह लगभग 180 प्रजातियों का घर है। यह 1100 हेक्टेयर में फैला है।

————–
5. ‘पाला वेटलैंड’ किस राज्‍य में स्थित है, जिसे वैश्विक रामसर स्‍थल सूची में शामिल किया गया?

a. तमिलनाडु
b. मिजोरम
c. आंध्र प्रदेश
d. मध्‍य प्रदेश

Answer: b. मिजोरम

– पाला अर्द्धभूमि, मिजोरम के सियाहा जिले के फुरा गांव में स्थित प्राक्रतिक झील है। इसे पालक झील के नाम से भी जाना जाता है।

————–
6. किस राज्‍य के ‘साख्य सागर वेटलैंड’ को वैश्विक रामसर स्‍थल सूची में शामिल किया गया?

a. तमिलनाडु
b. मिजोरम
c. आंध्र प्रदेश
d. मध्‍य प्रदेश

Answer: d. मध्‍य प्रदेश

– साख्य सागर झील, मध्‍य प्रदेश के शिवपुरी में स्थित है। यह एक प्रमुख पर्यटक आकर्षण है।

जुलाई में किन्‍हें रामसर स्‍थल का दर्जा मिला
– करीकिली पक्षी अभयारण्य, तमिलनाडु
– पल्लिकरनई मार्श रिजर्व फॉरेस्ट, तमिलनाडु
– पिचवरम मैंग्रोव, तमिलनाडु
– पाला वेटलैंड, मिजोरम
– साख्य सागर वेटलैंड, मध्य प्रदेश

रामसर स्‍थल क्‍यों कहते हैं?
– रामसर, ईरान का एक शहर है।
– यहां पर 2 फरवरी, 1971 को रामसर आर्द्रभूमि समझौता (Ramsar Convention on Wetlands) पर दुनिया के देशों ने सिग्‍नेचर किए थे।
– इसलिए इसे रामसर संधि कहा जाता है. कुछ लोग इस संधि को आर्द्रभूमि संधि (Wetland Convention) भी कहते हैं।
– यह 1975 में लागू हुई।
– इस संधि का औपचारिक नाम है – अंतर्राष्ट्रीय महत्त्व, विशेषकर जल पक्षी आवास के रूप में आर्द्रभूमियों के विषय में संधि।
– यह एक अंतर-सरकारी संधि है जो आर्द्रभूमि के संरक्षण और समुचित उपयोग के सम्बन्ध में मार्गदर्शन करती है।
– भारत ने 1982 में इस संधि पर हस्ताक्षर किए।
– भारत में आर्द्रभूमि (वेटलैंड) के संरक्षण के मामलों के लिए केन्द्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु-परिवर्तन मंत्रालय नोडल मंत्रालय घोषित है।

28 जुलाई 2022 तक भारत में कुल रामसर स्‍थल-
1. अस्थमुड़ी वेटलैंड, केरल
2. ब्यास कंजर्वेशन रिजर्व, पंजाब
3. भितरकनिका मैंग्रोव, उड़ीसा
4. भोज वेटलैंड्स, मप्र
5. चंदेरटल वेटलैंड, हिमाचल प्रदेश
6. चिल्का झील, उड़ीसा
7. दीपोर बील, असम
8. पूर्वी कोलकाता वेटलैंड्स, पश्चिम बंगाल
9. हरिके झील, पंजाब
10. होकेरा वेटलैंड, जम्मू और कश्मीर
11. कांजली झील, पंजाब
12. केवलादेव घाना एनपी, राजस्थान
13. केशोपुर-मियां सामुदायिक रिजर्व, पंजाब
14. कोल्लेरू झील, आंध्र प्रदेश
15. लोकतक झील, मणिपुर
16. नालसरोवर पक्षी अभयारण्य, गुजरात
17. नंदुर मदमहेश्वर, महाराष्ट्र
18. नांगल वन्यजीव अभयारण्य, पंजाब
19. नवाबगंज पक्षी अभयारण्य, उत्तर प्रदेश
20. पार्वती आगरा पक्षी अभयारण्य, उत्तर प्रदेश
21. प्वाइंट कैलिमेरे वन्यजीव और पक्षी अभयारण्य, तमिलनाडु
22. पोंग डैम झील, हिमाचल प्रदेश
23. रेणुका वेटलैंड, हिमाचल प्रदेश
24. रोपड़ झील, पंजाब
25. रुद्रसागर झील, त्रिपुरा
26. समन पक्षी अभयारण्य, उत्तर प्रदेश
27. समसपुर पक्षी अभयारण्य, उत्तर प्रदेश
28. सांभर झील, राजस्थान
29. सांडी पक्षी अभयारण्य, उत्तर प्रदेश
30. सरसई नवर, उत्तर प्रदेश
31. सस्तमकोट्टा झील, केरल
32. सुंदरबन वेटलैंड, पश्चिम बंगाल
33. सुरिंसार-मानसर झीलें, जम्मू और कश्मीर
34. त्सोमोरिरी झील, जम्मू और कश्मीर
35. ऊपरी गंगा नदी, यूपी
36. वेम्बनाड कोल वेटलैंड, केरल
37. वुलर झील, जम्मू और कश्मीर
38. आसन कंजर्वेशि‍न रिजर्व, उत्तराखंड
39. काबरताल (कांवर झील), बिहार
40. कीठम झील (सूरसरोवर) , यूपी
41. लोनार झील, महाराष्ट्र
42. ‘स्तार्तासापुक त्‍सो’ और ‘त्‍सो कर’ झील, लद्दाख
43. सुल्‍तानपुर राष्‍ट्रीय उद्यान, हरियाणा
44. भिड़ावास वन्‍यजीव अभ्‍यारण, हरियाणा
45. थोल झील वन्‍यजीव अभ्‍यारण, गुजरात
46. वाधवाना आर्द्रभूमि क्षेत्र, गुजरात
47. हैदरपुर वेटलैंड, उत्तर प्रदेश
48. खिजादिया बर्ड सेंचुरी, गुजरात
49. बखिरा वाइल्डलाइफ सेंचुरी, उत्‍तर प्रदेश
50. करीकिली पक्षी अभयारण्य, तमिलनाडु
51. पल्लिकरनई मार्श रिजर्व फॉरेस्ट, तमिलनाडु
52. पिचवरम मैंग्रोव, तमिलनाडु
53. पाला वेटलैंड, मिजोरम
54. साख्य सागर वेटलैंड, मध्य प्रदेश

टॉप प्रश्‍न,
– भारत का सबसे बड़ा रामसर स्‍थल- सुंदरबन वेटलैंड (4230 वर्ग किमी)
– भारत का सबसे पहला रामसर साइट- चिलका झील ओडि़शा और केवलादेव राष्‍ट्रीय उद्यान राजस्‍थान
– दुनिया का सबसे पहला रामसर साइट- (कोबोर प्रायद्वीप ऑस्‍ट्रेलिया)

————–
7. World Bank ने किस भारतीय को चीफ इकोनॉमिस्ट और सीनियर वाइस प्रेसिडेंट नियुक्त किया?

a. इंदरमीत गिल
b. गीता गोपीनाथ
c. रघुराम राजन
d. बीना अग्रवाल

Answer: a. इंदरमीत गिल

– वर्ल्ड बैंक ने 21 जुलाई 2022 को इंदरमीत गिल को अपना चीफ इकोनॉमिस्ट नियुक्त किया।
– उन्‍हें इसके अलावा डेवलपमेंट इकोनॉमिक्स के लिए सीनियर वाइस प्रेसिडेंट नियुक्त किया।
– वह 01 सितंबर 2022 से अपना पद संभालेंगे।
– कौशिक बसु के बाद गिल वर्ल्ड बैंक के चीफ इकोनॉमिस्ट बनने वाले दूसरे भारतीय हैं।
– कौशिक बसु एक भारतीय अर्थशास्त्री हैं जो 2012 से 2016 तक विश्व बैंक के चीफ इकोनॉमिस्ट थे।

इंदरमीत गिल
– गिल वर्तमान में वर्ल्ड बैंक में इक्विटेबल ग्रोथ, फाइनेंस एंड इन्स्टिटूशन के वाइस प्रेसिडेंट हैं।
– दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स से एमए किया है।
– यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो से इकोनॉमिक्स में पीएचडी की है।
– गिल ने 1993 से 2016 तक वर्ल्ड बैंक में काम किया है।
– वर्ष 2016 और 2021 के बीच, वह ड्यूक यूनिवर्सिटी में पब्लिक पॉलिसी के प्रोफेसर थे।
– इसके बाद फिर से वर्ल्‍ड बैंक से जुड़ गए थे।

————–
8. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) के सीईओ और एमडी का पदभार किसने संभाला?

a. विजय दीनानाथ चौहान
b. आशीष कुमार चौहान
c. अजय शर्मा
d. अंकित गौतम

Answer: b. आशीष कुमार चौहान

– आशीष कुमार चौहान ने 26 जुलाई 2022 को NSE के सीईओ और एमडी का पदभार संभाला।
– आशीष इससे पहले बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) के MD और CEO पद पर थे। उन्‍होंने जुलाई 2022 में ही से इस्तीफा दे दिया।
– इसके बाद ही उन्हें NSE के सीईओ और एमडी के पद पर नियुक्त किया गया।

आशीष कुमार चौहान
– उन्होंने IIT बॉम्बे से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की है।
– IIM कलकत्ता से एमबीए किया है।
– वर्ष 1991 में IDBI बैंक में अधिकारी बने।
– वह NSE की संस्थापक टीम का हिस्सा थे, लेकिन वर्ष 2000 में NSE को छोड़ दिया।
– इसके बाद उन्होंने रिलायंस इंडस्ट्रीज ग्रुप को जॉइन कर लिया।
– वर्ष 2009 में BSE के डिप्टी सीईओ बने और वर्ष 2012 में सीईओ बने।

—————
9. भारत के पहले पैसेंजर ड्रोन का नाम बताए जिसका प्रदर्शन जुलाई 2022 में पीएम मोदी के सामने हुआ?

a. पुष्पक
b. वायु
c. वरुण
d. वीर

Answer: c. वरुण

– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने जुलाई 2022 में पैसेंजर ड्रोन ‘वरुण’ का प्रदर्शन किया गया।
– यह प्रदर्शन नेवल इनोवेशन एंड इंडिजिनाइजेशन ऑर्गेनाइजेशन (NIIO) सेमिनार ‘स्वावलंबन’ के दौरान किया गया।
– इस ड्रोन का निर्माण भारतीय स्टार्टअप सागर डिफेंस इंजीनियरिंग ने किया है।

वरुण
– यह भारत का पहला पैसेंजर ड्रोन है।
– यह बिना पायलट का ड्रोन है।
– यह 130 किलो के मानव भार को उठा सकता है।
– ड्रोन में एक व्यक्ति को ही ले जाने की क्षमता है।
– यह 25 किमी की सीमा तक उड़ान भरने में सक्षम है।
– ड्रोन का फ्लाइट टाइम 25-33 मिनट तक का है।
– इस ड्रोन का निर्माण भारतीय स्टार्टअप सागर डिफेंस इंजीनियरिंग ने किया है।
– हालांकि लैंडिंग और टेक ऑफ तकनीक को भारतीय नौसेना के साथ मिलकर विकसित किया गया है।
– भारतीय नौसेना को 30 वरुण ड्रोन सौंपे जा चुके हैं। ये ड्रोन युद्धपोतों पर उतर और उड़ान भर सकते हैं।
– कई और वरुण ड्रोन का निर्माण NTDAC (नेवल टेक्नोलॉजी डेवलपमेंट एक्सलरेशन सेल) के सहयोग से भी किया जा रहा है।

——————-
10. रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने तीनों सेनाओं को मिलाकर कौन सा कमांड स्थापित करने की घोषणा की?

a. स्‍पेस थिएटर कमांड
b. जॉइंट थियेटर कमांड
c. न्यू फोर्सेज कमांड
d. इनमें से कोई नहीं

Answer: b. जॉइंट थिएटर कमांड

– रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने तीनों सेनाओं के लिए एक जॉइंट थिएटर कमांड स्थापित करने की घोषणा की।
– उन्होंने जुलाई 2022 में जम्मू में आयोजित कारगिल विजय दिवस समारोह के दौरान इसकी घोषणा की।
– तीनों सेनाओं में बेहतर कोआर्डिनेशन बढ़ाने के लिए जॉइंट थिएटर कमांड की स्थापना की जायेगी।
– इसका उद्देश्य अलग-अलग थिएटर कमांड में एक ही कमांडर के नेतृत्व में तीनों सेनाओं का संचालन करना है।

थिएटर कमांड सिस्टम
– थिएटर कमांड सिस्टम का उद्देश्य तीनों सेनाओं में बेहतर तालमेल लाना है।
– तीनों सेनाओं की जगह अलग-अलग कमांडर की बजाय इसमें तीनों सेनाओं के लिए एक कमांडर होता है।
– एक जॉइंट कमांड को थिएटर कमांड कहते है।

भारत में कितने सर्विस कमांड?
– वर्तमान में भारत में दो जॉइंट सर्विस कमांड है।
– पहला अंडमान एंड निकोबार कमांड (ANC)
– दूसरा स्ट्रैटिजिक फोर्सेज कमांड (SFC)
– थिएटर कमांड सिस्टम के सिद्धांत के आधार पर, ANC एकमात्र ऐसा कमांड सिस्टम है जो सेना, नौसेना और वायुसेना का संचालन करता है।
– वर्ष 2001 में स्थापित, ANC पोर्ट ब्लेयर में स्थित है और इसका नेतृत्व तीनों सेवाओं के अधिकारी बारी-बारी से करते हैं।
– ANC दक्षिण पूर्व एशिया और मलक्का जलडमरूमध्य में भारत के रणनीतिक हितों को कवर करता है।
– स्ट्रैटिजिक फोर्सेज कमांड (SFC) भारत की परमाणु संपत्ति का ख्याल रखता है और युद्ध से जुड़े क्रियाकलापों से संबंध नहीं रखता है।

दुनिया में कौन से देश थिएटर कमांड सिस्टम का पालन करते है?
– दुनियाभर के कई देश किसी न किसी रूप में थिएटर कमांड सिस्टम का पालन करते है।
– विशेष रूप से, अमेरिका थिएटर कमांड सिस्टम लागू करने वाला पहला देश था।
– रूस के पास चार थिएटर कमांड हैं।
– चीन के पास पांच पीसटाइम जियोग्राफिकल कमांड है।
– चीन का वेस्टर्न कमांड भारतीय सीमा से लगे क्षेत्र को कवर करता है।

—————–
11. किस महाद्वीप पर गतिविधियों की निगरानी के लिए लोकसभा ने इंडियन अंटार्कटिक बिल, 2022 पारित किया?

a. अंटार्कटिका
b. एशिया
c. उत्तरी अमेरिका
d. इनमें से कोई नहीं

Answer: a. अंटार्कटिका

– लोकसभा ने 22 जुलाई 2022 को इंडियन अंटार्कटिक बिल, 2022 को पारित किया।
– बिल को पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ जितेंद्र सिंह ने पेश किया।
– इस बिल का उद्देश्य भारत के खुद के नियमों से अंटार्कटिक पर्यावरण और इकोसिस्टम की रक्षा करना है।
– इसके अलावा अंटार्कटिक क्षेत्र में हो रही गतिविधियों की निगरानी करना है।
– इस बिल को अप्रैल 2022 में केंद्र सरकार ने संसद में पेश किया था।

इंडियन अंटार्कटिक बिल, 2022 में क्या?
– विधेयक का मुख्य उद्देश्य अंटार्कटिक क्षेत्र से खनन, अवैध गतिविधियों से छुटकारा पाना और डि-मिलिट्रीलाइजेशन (विसैन्यीकरण) को सुनिश्चित करना है।
– इसके अलावा क्षेत्र में कोई परमाणु परीक्षण/विस्फोट नहीं होना चाहिए।
– यह बिल भारत की अंटार्कटिक एक्टिविटीज के लिए एक रेगुलेटरी फ्रेमवर्क प्रदान करेगा। इंडियन अंटार्कटिक प्रोग्राम के कुशल और वैकल्पिक संचालन में भी सहायता प्रदान करेगा।
– यह बिल अंटार्कटिक पर्यटन और अंटार्कटिक जल में मत्स्य संसाधनों के लिए भारत की भागीदारी को आसान बनाएगा।
– यह बिल अंतरराष्ट्रीय निगरानी और अंटार्कटिक क्षेत्र में भारत की विश्वसनीयता को बढ़ाने में भी सहायता करेगा।
– इससे अंतरराष्ट्रीय सहयोग और वैज्ञानिक और लॉजिस्टिक फील्ड में सहयोग मिल सकेगा।
– इस बिल में पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के अंतर्गत इंडियन अंटार्कटिक अथॉरिटी (IAA) की स्थापना का भी प्रस्ताव है। यह निर्णय लेने वाली सर्वोच्च अथॉरिटी होगी।

अंटार्कटिका में भारत के कितने रिसर्च स्टेशन?
– वर्तमान में भारत के अंटार्कटिका में ‘मैत्री’ (1989 में कमीशन) और ‘भारती’ (2012 में कमीशन) नामक दो ऑपरेशनल रिसर्च स्टेशन हैं।
– भारत ने अब तक अंटार्कटिका में 40 वार्षिक वैज्ञानिक अभियानों को शुरु कर दिया है।

अंटार्कटिक ट्रीटी के बारे में
– अंटार्कटिका को केवल साइंटिफिक रिसर्च के लिए प्रोटेक्‍ट करने और विसैन्यीकृत क्षेत्र (demilitarized zone) बनाने के लिए एक दिसंबर 1959 को वाशिंगटन में 12 देशों के बीच अंटार्कटिक ट्रीटी पर हस्ताक्षर किए गए थे।
– यह बारह मूल हस्ताक्षरकर्ता अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, बेल्जियम, चिली, फ्रांस, जापान, न्यूजीलैंड, नॉर्वे, दक्षिण अफ्रीका, सोवियत संघ, यूके और यूएस हैं।
– यह 1961 में लागू हुआ और तब से इसे कई अन्य देशों ने स्वीकार किया है।
– वर्तमान में 54 देश इस ट्रीटी के सदस्य है।
– भारत वर्ष 1983 में इस ट्रीटी का सदस्य बना।
– इसका मुख्यालय ब्यूनोस एयर्स, अर्जेंटीना में है।

—————-
12. QS (क्वाक्वेरेली साइमंड्स) इग्ज़ेक्युटिव एमबीए (MBA) रैंकिंग 2022 में टॉप 200 की लिस्ट में भारत के कितने इंस्‍टीट़यूट शामिल हैं?

a. 5
b. 4
c. 3
d. 2

Answer: c. 3

कौन से संस्थान?
रैंक और संस्थान
46 : इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट (IIM), बैंगलोर
111 – 120 : इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस
171+ : IIM कोझीकोड

—————-
13. मैंग्रोव पारिस्थितिकी तंत्र के संरक्षण के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस कब मनाया जाता है?

a. 25 जुलाई
b. 26 जुलाई
c. 27 जुलाई
d. 28 जुलाई

Answer: b. 26 जुलाई

– इसका उद्देश्य मैंग्रोव पारिस्थितिक तंत्र के बारे में जागरूकता बढ़ाना और उनके स्थायी प्रबंधन और संरक्षण को बढ़ावा देना है।
– इस दिवस को यूनेस्‍को ने घोषित किया हुआ है।


1 thought on “28 July 2022 Current Affairs, New Ramsar Site 2022

Comments are disabled.