4th to 6th September 2022 Current Affairs

Spread the love

यह 4th to 6th September 2022 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा।

PDF Download : Click here

1. यूनाइटेड किंगडम की नई प्रधानमंत्री कौन चुनी गईं?

a. ऋषि सुनक
b. लिज ट्रस
c. विवेक मूर्ति
d. साजिद जावेद

Answer: b. लिज ट्रस

– लिज ट्रस को 05 सितंबर 2022 को ब्रिटेन का नया प्रधानमंत्री चुना गया है।
– पार्टी के चुनाव में भारतीय मूल के नेता और ब्रिटेन के वित्‍त मंत्री रह चुके ऋषि सुनक हार गए।

बेसिक बातें –
– यह कोई जनरल इलेक्‍शन नहीं था, जिसमें जनता वोट करती है और सांसद चुनती है। तब लीडर को प्रधानमंत्री बनाया जाता है।
– यह हुआ कि जब 2019 में कंजर्वेटिव पार्टी जीती UK में, तो बोरिस जॉनसन पीएम बनें।
– लेकिन जुलाई 2022 में पार्टी में विरोध हुआ और उनको पार्टी चीफ पद से इस्‍तीफा देना पड़ा।
– इसके बाद यह तलाश शुरू हुई कि पार्टी का अगला नेता कौन होने वाला है और वही पीएम भी होगा।
– इसके लिए चुनाव हुआ। यह आम चुनाव नहीं था।
– इस चुनाव में सबसे पहले कंजर्वेटिव पार्टी के सांसदों ने पीएम उम्‍मदवारों को चुना।
– इसके बाद पार्टी के आधिकारिक सदस्‍य चुनते हैं।
– लगभग 1 लाख 60 हजार वोटर वोटर होते हैं।
– तो उन्‍होंने लिज ट्रस को यूनाइटेड किंगडम का नया पीएम चुन लिया है।
– ऋषि सुनक लगभग 20 हजार वोट से हार गए।

ऋषि सुनक क्यों हारे?
– ऋषि सुनक, कंजर्वेटिव पार्टी के सांसदों की वोट‍िंग में आगे रहे थे।
– लेकिन अंतिम फैसला पार्टी के रजिस्‍टर्ड मेंबर्स को करना था और इस में वह हार गए।
– ब्रिटिश मीडिया इसकी कई वजहें बता रहा है –
– पहली: पत्नी अक्षता (उद्योगपति नारायणमूर्ति की बेटी) के पास ब्रिटेन की नागरिकता न होना। (आरोप लगा कि ऋषि ने पत्‍नी का टैक्‍स बचाया और नागरिकों पर लगाया)
– दूसरी: कंजर्वेटिव पार्टी के ज्यादातर ब्रिटिश मेंबर्स अपने ही देश के नागरिक को प्रधानमंत्री बनाना चाहते थे।
– तीसरी : आरोप लगा कि ऋषि सुनक के पास अमेरिका का ग्रीन कार्ड है। लेकिन वह इसपरचुप रहे।
– चौथी : बोरिस जॉनसन भी सुनक के फेवर में नहीं थे। उन्‍होंने खुलेआम पार्टी मेंबर्स से ऋषि सुनक को हराने की अपील की थी।
– पार्टी मेंबर्स मान रहे थे कि सुनक की वजह से ही जॉनसन को इस्तीफा देना पड़ा। उन्हें पीठ में छुरा घोंपने वाला तक कहा गया।

लिज ट्रस
– वह 47 वर्ष की हैं।
– उनका जन्म 1975 में ऑक्सफोर्ड, इंग्लैंड में हुआ।
– माता-पिता ने उनका नाम मेरी एलिजाबेथ ट्रस रखा।

राजनीतिक करियर
– ट्रस वर्ष 1996 में कंजरवेटिव पार्टी में शामिल हुई।
– वर्ष 2010 में वह पहली बार सांसद चुनी गईं।
– सांसद बनने के दो साल बाद वह शिक्षामंत्री भी बनी।
– वर्ष 2014 में उन्हें पर्यावरण मंत्री बनाया गया।
– वर्ष 2016 में उन्हें न्याय सचिव बनाया गया।
– वर्ष 2017 में उन्हें ट्रेजरी प्रमुख का पद दिया गया।
– वर्ष 2019 में जब जॉन बोरिसन प्रधानमंत्री बने तो लिज ट्रस को विदेश सचिव बना दिया गया।

—————-
2. साइरस मिस्त्री का निधन सड़क दुर्घटना में 04 सितंबर 2022 को हो गया, वह किस औद्योगिक समूह के चेयरमैन रह चुके थे?

a. टाटा ग्रुप
b. विप्रो
c. इंफोसिस
d. रिलायंस इंडस्ट्रीज

Answer: a. टाटा ग्रुप

– टाटा ग्रुप के पूर्व चेयरमैन साइरस मिस्त्री का सड़क दुर्घटना में निधन हो गया।
– वह 54 वर्ष के थे।

सड़क दुर्घटना कैसे हुई?
– यह सड़क दुर्घटना मुंबई-अहमदाबाद हाईवे पर हुई।
– मिस्त्री गुजरात के उदवाड़ा में बने पारसी मंदिर से लौट रहे थे।
– उदवाड़ा के फायर टेंपल से लौटते समय मिस्त्री की कार का एक्सीडेंट हुआ।
– द हिंदू के अनुसार उनकी मर्सिडीज कार पालघर के कासा के पास चरोटी गांव में सूर्या नदी के पुल पर रोड डिवाइडर से टकराई।
– कार में मिस्त्री, जहांगीर दिनशा पंडोले, अनायता पंडोले और उनके पति दरीयस पंडोले सवार थे।

सिर में चोट लगने से साइरस मिस्‍त्री की मौत
– कार को अनायता (मुंबई में डॉक्टर है) ड्राइव कर रही थीं।
– टक्कर होने के बाद कार के एयरबैग भी खुले लेकिन इसके बावजूद भी मिस्त्री के साथ एक और व्यक्ति की मौके पर ही मौत हो गई।
– डॉक्टरों ने दावा किया है कि साइरस मिस्त्री की मौत सिर में चोट लगने की वजह से हुई।
– मरने वाले दूसरे व्यक्ति का नाम जहांगीर दिनशा पंडोले है।
– अनायता पंडोले (महिला) और उनके पति दरीयस पंडोले घायल हुए हैं।
– मिस्त्री और जहांगीर के शवों को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल ले जाया गया है।

उदवाड़ा का पारसी मंदिर
– यह गुजरात के वलसाड जिले का तटीय नगर है।
– यहां पारसी समुदाय का पवित्र मंदिर है।
– इसे पारसियों का फायर टेंपल कहा जाता है।
– यहां मौजूद पवित्र अग्नि को पारसी, ईरान से 1742 में लाए थे।
– बताया जाता है कि यह अग्नि 1290 से लगातार जल रही है।
– इसे ‘आतश बहराम’ या ‘ईरानशाह’ भी कहते हैं।

साइरस मिस्‍त्री के बारे में
– साइरस पालोनजी मिस्त्री का जन्म 4 जुलाई 1968 को हुआ था।
– वह शापूरजी पालोनजी ग्रुप के प्रमुख पालोनजी मिस्त्री के छोटे बेटे थे।
– साइरस ने 1991 में अपना फैमिली बिजनेस जॉइन किया था।
– उन्हें 1994 में शापूरजी पालोनजी ग्रुप का डायरेक्टर नियुक्त किया गया।
– पालोनजी ग्रुप का कारोबार कपड़े से लेकर रियल एस्टेट, हॉस्पिटैलिटी और बिजनेस ऑटोमेशन तक फैला हुआ है।

टाटा ग्रुप के छठे ग्रुप चेयरमैन थे साइरस मिस्त्री
– दिसंबर 2012 को रतन टाटा ने टाटा सन्स के चेयरमैन पद से रिटायरमेंट ले लिया था।
– इसी वक्‍त उन्‍हें टाटा संस का चेयरमैन बनाया गया।
– टाटा के 150 साल से भी ज्यादा समय के इतिहास में साइरस मिस्त्री छठे ग्रुप चेयरमैन थे।
– अक्टूबर 2016 में मिस्त्री को टाटा संस के चेयरमैन पद से हटा दिया गया था। उनकी जगह रतन टाटा को अंतरिम चेयरमैन बनाया गया था।
– यह विवाद सुप्रीम कोर्ट तक गया, लेकिन साइरस मिस्‍त्री की हार हुई।
– इसके बाद 12 जनवरी 2017 को एन चंद्रशेखरन टाटा सन्स के चेयरमैन बनाए गए थे।
– इस विवाद को लेकर टाटा सन्स का कहना था कि मिस्त्री के कामकाज का तरीका टाटा सन्स के काम करने के तरीके से मेल नहीं खा रहा था। इसी वजह से बोर्ड के सदस्यों का मिस्त्री पर से भरोसा उठ गया था।

टाटा ग्रुप के अब तक के चेयरमैन
1. जमशेदजी टाटा
2. सर दोराबजी टाटा
3. नौरोजी सकलतवाला
4. जेआरडी टाटा
5. रतन टाटा
6. साइरस मिस्‍त्री
7. एन. चंद्रशेखरन

टाटा संस ग्रुप में किसका कितना हिस्‍सा
– टाटा ट्रस्‍ट : 66%
– मिस्‍त्री फैमिलिी : 18.4%
– टाटा कंपनीज : 13.0%
– अन्‍य : 2.6%
(मिस्त्री परिवार, टाटा ट्रस्ट के बाद टाटा सन्स में दूसरे बड़े शेयर होल्डर्स हैं।)

—————-
3. AIFF (ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन) का नया अध्यक्ष किसे चुना गया?

a. बाईचुंग भूटिया
b. प्रफुल्ल पटेल
c. एनए हैरिस
d. कल्याण चौबे

Answer: d. कल्याण चौबे

– भारत पर से फीफा का निलंबन हटने के बाद AIFF (ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन) के संचालन के लिए नया प्रेसिडेंट को चुन लिया गया है।
– AIFF ने 02 सितंबर 2022 को कल्याण चौबे को अपना नया अध्यक्ष चुना।
– AIFF ने अपने 85 साल के इतिहास में पहले अध्यक्ष के रूप में एक पूर्व खिलाड़ी को चुना है।
– उन्हें प्रफुल्ल पटेल की जगह चुना गया है।
– सुप्रीम कोर्ट के आदेश के चलते AIFF ने दिल्ली हेडक्वार्टर में चुनाव कराया था।
– इस चुनाव में कल्याण चौबे ने अध्यक्ष पद के चुनाव में बाईचुंग भूटिया को हराया।
– इस चुनाव में कल्याण चौबे को 34 वोट में से 33 वोट मिलें।
– बाईचुंग भूटिया को सिर्फ एक ही वोट मिला।

कल्याण चौबे
– वह भारतीय फुटबॉल टीम के पूर्व गोलकीपर रह चुके हैं।
– वह वर्ष 1997-98 में कोलकाता जायंट्स मोहन बागान के लिए खेल चुके हैं।
– उन्होंने ईस्‍ट बंगाल की टीम से गोलकीपिंग भी की है।
– वर्ष 1997 में में इंडियन फुटबॉलर ऑफ द ईयर का अवॉर्ड भी जीता।
– चौबे वर्ष 2015 से भाजपा से जुड़े हुए हैं।
– वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में BJP ने इन्हें बंगाल की कृष्णानगर सीट से टिकट दिया था।
– लेकिन वह इस चुनाव में हार गए थे।

—————
4. कुशियारा नदी के पानी के हिस्‍से को लेकर भारत और किस देश ने समझौता-ज्ञापन के मसौदे को अंतिम रूप दिया?

a. नेपाल
b. पाकिस्‍तान
c. भूटान
d. बांग्‍लादेश

Answer: d. बांग्‍लादेश

– भारत-बांग्लादेश नदी आयोग की 38वीं मंत्री स्तरीय बैठक 25 अगस्त, 2022 को नई दिल्ली में हुई।
– इस दौरान दोनों देशों के बीच कुशियारा नदी के पानी को अंतरिम तौर पर साझा करने के लिए समझौता-ज्ञापन के मसौदे को अंतिम रूप दिया गया।

कुशियारा नदी
– कुशियारा नदी बांग्लादेश और असम, भारत में एक वितरण नदी (डिस्ट्रिब्युटर रिवर) है।
– कुशियारा नदी, बराक नदी की एक शाखा के रूप में भारत-बांग्लादेश सीमा बनाती है।

38वीं मंत्री स्तरीय बैठक में और क्या हुआ?
– इस बैठक का महत्व इसलिए है क्योंकि 12 वर्षों के अंतराल के बाद इसका आयोजन किया गया था।
– हालांकि इस दौरान संयुक्त नदी आयोग के प्रारूप के तहत दोनों पक्षों के बीच तकनीकी बातचीत चलती रही।
– इस बैठक में दोनों देशों में मौजूद नदियों के जल को साझा करना, बाढ़ के आंकड़ों को साझा करना, नदी के प्रदूषण को रोकना, नदियों के तटों की सुरक्षा के लिये कार्य करना आदि शामिल था।

भारत-बांग्लादेश कितनी नदियों को साझा करते हैं?
– भारत और बांग्लादेश आपस में 54 नदियों को साझा करते हैं।
– इनमें ऐसी सात नदियों को पहले ही चिह्नित कर लिया गया था, जिनके सम्बंध में जल के बंटवारे पर प्राथमिकता के आधार पर प्रारूप तैयार किया जाना है।
– बैठक के दौरान दोनों पक्षों ने सहमति व्यक्त की कि पहले से जारी सहयोग के इस क्षेत्र को विस्तार दिया जाये।
– इसके संबंध में आंकड़ों के आदान-प्रदान के लिये आठ नदियों को और जोड़ दिया जाये।
– इस विषय पर संयुक्त नदी आयोग की तकनीकी समिति इस पर आगे चर्चा करेगी।

संयुक्त नदी आयोग (Joint River Commission)
– भारत-बांग्लादेश संयुक्त नदी आयोग का गठन 1972 में किया गया था।
– इसका गठन साझा/सीमावर्ती/सीमा-पार नदियों से जुड़े साझा हित वाले विषयों के समाधान के लिये किया गया था।

बांग्लादेश
– राजधानी: ढाका
– पीएम: शेख हसीना

—————-
5. भारत, किस देश को फिर से पछाड़कर दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी इकोनॉमी बन गया?

a. यूएसए
b. चीन
c. जापान
d. यूके

Answer: d. यूके

– भारत एक बार फिर से दुनिया की 5th लार्जेस्‍ट इकोनॉमी बन गया है।
– IMF (इंटरनेशनल मॉनेटरी फंड) के मुताबिक हमने यूनाइटेड किंगडम को पीछे छोड़ दिया है।

– हो सकता है कि आपके मन में कई सवाल आ रहे होंगे।
– जैसे 2019 में भी भारत ने यूनाइटेड किंगडम को पीछे छोड़ दिया था और पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्‍यवस्‍था बन गया था।
– हां ऐसा हुआ था, लेकिन 2020 में हम फिर से यूनाइटेड किंगडम से पिछड़ गए थे।
– अब फिर से इकोनॉमी के मोर्चे पर हमने ब्रिटेन को पछाड़ दिया है और पांचवें नंबर की लार्जेस्‍ट इकोनॉमी बन चुके हैं।

IMF के अनुसार टॉप- 10 इकोनॉमी
रैंकिंग : देश : जीडीपी
1. यूएसए : 25,350 अरब डॉलर
2. चीन : 19,910 अरब डॉलर
3. जापान : 4,910 अरब डॉलर
4. जर्मनी : 4,260 अरब डॉलर
5. भारत : 3,534 अरब डॉलर
6. यूके : 3,376 अरब डॉलर

– वैसे तो इकोनॉमी रैंकिंग कई एजेंसी करती है- जैसे IMF, वर्ल्‍ड बैंक, यूनाइटेड नेशन, और कई रेटिंग एजेंसी भी।
– हालांकि सबसे पुख्‍ता और विश्‍वसनीय रैंकिंग IMF की मानी जाती है।

– तो IMF के लेटेस्‍ट डेटा के अनुसार इंडिया की जीडीपी, यूनाइटेड किंगडम से ज्‍यादा हो गई है।
– जीडीपी मतलब एक साल के अंदर जितने गुड्स एंड सर्विस को प्रोड्यूस किया गया हो।

– IMF के अक्‍टूबर से दिसंबर 2021 के आंकड़ों के आधार पर मीडिया संगठन ब्‍लूमबर्ग ने नतीजा निकाला कि यूनाइटेड किंगडम को पछाड़कर भारत दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्‍यवस्‍था हो गया।।

भारत और यूके की अर्थव्‍यवस्‍था का ग्राफ
– इस ग्राफ के अनुसार 1990 के दशक में इंडिया ओर यूके के बीच इकोनॉमी का अंतर अच्‍छा-खासा था।
– लेकिन जब वर्ष 2008 में दुनिया में फाइनेंशियल क्राइसिस हुई, तब यूके की इकोनॉमी में काफी तेजी गिरावट हुई।
– लेकिन अमीर देशों की तुलना में भारत में ज्‍यादा असर नहीं हुआ था।
– ऐसे में 2008 में ही इंडिया और यूके के बीच इकोनॉमिक आंकड़ों का गैप कम होता गया।
– वर्ष 2019 में कुछ टाइम के लिए हमने यूके को पीछे छोड़ा था। लेकिन हम फिर से छठे स्‍थान पर फिसल गए।
– लेकिन जब 2020 में पेंडेमिक (कोविड-19) आया तो, दुनियाभर की अर्थव्‍यवस्‍था को झटका लगा। भारत और यूके को भी।
– लेकिन अब भारत यूके को ओवरटेक कर चुका है।
– अनुमान है कि भारत आगे भी पांचवां इकोनॉमी बना रहेगा।

भारत का जीडीपी ग्रोथ रेट
– भारत का का जीडीपी फाइनेंशियल ईयर 2022-23 के क्‍वार्टर वन (अप्रैल से जून 2022) में 13.5 प्रतिशत बढ़ा है।
– जबकि यूनाइटेड किंगडम का जीडीपी ग्रोथ रेट इसी क्‍वार्टर (अप्रैल से जून 2022) में -0.1 प्रतिशत रहा।
– तो हम लगातार आगे बढ़ रहे हैं।

एक दशक पहले भारत किस स्‍थान पर था?
– एक दशक पहले भारत लार्जेस्‍ट इकोनॉमी के मामले में 11वें पोजिशन पर था और यूके 5वें पर था।
– लेकिन आज हमने यूके को पीछे छोड़ दिया है।
– अब हम पांचवें लार्जेस्‍ट इकोनॉमी बन गए हैं।

भविष्‍य में बेहतर मौके
– हमारे पास वर्किंग पॉपुलेशन बढ़ रहे हैं।
– 2047 तक दुनिया का 20 प्रतिशत वर्क फोर्स इंडिया में होगा।
– ऐसे में हम इस अवधि तक दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्‍यवस्‍था बन सकते हैं।

——————
6. नेचर क्लाइमेट चेंज जर्नल में प्रकाशित हुई एक रिसर्च के अनुसार ग्रीनलैंड पर किस आइस (बर्फ) के पिघलने के कारण वैश्विक समुद्र स्तर (ग्लोबल सी लेवल) कम से कम 10.6 इंच (27 सेंटीमीटर) बढ़ने की आशंका है?

a. ज़ोंबी आइस
b. वाइट आइस
c. ब्लैक आइस
d. ब्लू आइस

Answer: a. ज़ोंबी आइस

आइस कैप: भूमि के कुछ भागों (विशेषतः उत्तरी और दक्षिणी ध्रुव) पर स्थायी रूप से जमी बर्फ.
आइस शीट: बर्फ की वह परत जो लंबे समय तक भूमि को ढकती है

‘ज़ोंबी आइस’ क्या है?
– इस बर्फ को डेड या डूम्ड आइस के रूप में भी जाना जाता है।
– ज़ोंबी आइस वह आइस है जो मूल आइस शीट का हिस्सा होने के बावजूद ताजा बर्फ जमा नहीं करती है।
– जोंबी आइस पिघल रही है और समुद्र के स्तर को बढ़ा रही है।
– जोंबी आइस का पिघलने का कारण ग्लोबल वार्मिंग है।

कब तक पिघल जाएंगी जोंबी आइस
– रिसर्च टीम ने कोई टाइमलाइन नहीं दी है।
– रिसर्च में बताया गया है कि “इस सदी के भीतर” इसके पिघलने की आशंका है।
– ग्रीनलैंड की आइस शीट के जोंबी आइस पिघलने से वैश्विक समुद्र स्तर कम से कम 10.6 इंच (27 सेंटीमीटर) बढ़ जाएगा।
– यह ‘ज़ोंबी आइस’ के कारण है, जिसका आइस कैप से पिघलकर समुद्र में मिल जाना निश्चित है।

– यह गणना अगस्त 2022 में नेचर क्लाइमेट चेंज जर्नल में प्रकाशित एक रिसर्च से हुई है।
– इस रिसर्च का नाम है- ”ग्रीनलैंड आइस शीट क्लाइमेट डिसइक्वीलिब्रियम एंड कमिटेड सी-लेवल राइज”
– जहां वैज्ञानिकों ने पहली बार ग्रीनलैंड में न्यूनतम बर्फ के नुकसान की और वैश्विक समुद्र स्तर में वृद्धि की गणना की है।

आगे क्या हो सकता है?
– वैज्ञानिकों ने गणना करके, अनुमान लगाया है कि इस सदी के भीतर ग्रीनलैंड की कुल बर्फ की मात्रा का 3.3% पिघल जाएगी।
– यह तब भी होगा जब वैश्विक तापमान वर्तमान स्तर पर स्थिर हो जाएगा।
– लेकिन ग्लोबल वार्मिंग के बदतर होने के कारण, सी लेवल की स्थिति और खराब हो सकती।
– अध्ययन में कहा गया है कि अगर ग्रीनलैंड की बर्फ उच्च स्तर पर पिघलती रहती है,
– तो वैश्विक समुद्र स्तर 30 इंच (78 सेंटीमीटर) तक पहुंच सकता है।

समुद्र के स्तर में 10 इंच की वृद्धि से क्या खतरा?
– अध्ययन में कहा गया है कि समुद्र के स्तर में वृद्धि तटीय क्षेत्रों में रहने वाले लाखों लोगों के लिए विशेष रूप से एक बुरी खबर है।
– ‘यूएन एटलस ऑफ द ओशियन’ के अनुसार, दुनिया के 10 सबसे बड़े शहर में से 8 शहर तट के पास स्थित हैं।
– समुद्र का बढ़ता स्तर बाढ़, उच्च ज्वार और तूफान को और अधिक बढ़ा देगा।
– यह स्थानीय अर्थव्यवस्थाओं और इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए खतरा है।
– इसके अलावा, निचले तटीय क्षेत्रों में भी अधिक प्रभाव पड़ेगा।

————–
7. संगीतकार ए. आर. रहमान के नाम पर किस देश में सड़क का नाम रखा गया?

a. कनाडा
b. यूएसए
c. जापान
d. रूस

Answer: a. कनाडा

– कनाडा के मरखम शहर में एक सड़क का नाम संगीतकार एआर रहमान के नाम पर रखा गया है।
– इस दौरान एआर रहमान उस सड़क तक गए।

कनाडा
– पीएम – जस्टिन ट्रूडो
– राजधानी – ओटावा

————-
8. मिखाइल गोर्बाचेव का निधन 30 अगस्‍त 2022 को हो गया, वह किस संघ के अंतिम राष्‍ट्रपति रह चुके थे?

a. यूएनओ
b. सोवियत संघ
c. संयुक्‍त संघ
d. इनमें से कोई नहीं

Answer: b. सोवियत संघ

– मिखाइल गोर्बाचेव का 91 साल की उम्र में निधन हो गया।
– उनके राष्‍ट्रपति रहते हुए सोवियत संघ का विखंडन हो गया था।
– राष्ट्रपति पद से हटने के बाद मिखाइल गोर्बाचेव को दुनियाभर में कई अवार्ड्स और सम्मान दिए गए।
– 1990 में नोबेल शांति पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया।
– शीत युद्ध को बिना रक्तपात के खत्म करने में उन्होंने काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी और इसी वजह से उन्हें इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

सोवियत यूनियन
– स्‍थापना : 30 दिसंबर 1922
– विखंडन : 26 दिसंबर 1991
– सोवियत संघ टूटकर 15 देशों में बंट गया।

—————
9. राजीव गांधी ग्रामीण ओलिंपिक खेल किस राज्‍य में आयोजित किया गया?

a. पंजाब
b. हरियाणा
c. बिहार
d. राजस्‍थान

Answer: d. राजस्‍थान

– इस खेल का आयोजन 29 अगस्‍त से पांच अक्‍टूबर तक हुआ।
– इसमें लगभग 10 लाख से ज्‍यादा खिलाडि़यों ने हिस्‍सा लिया।
– खास बात है कि इस महाकुंभ में बच्चों के दादा-दादी, चाचा-चाची, नाना-नानी और मम्मी-पापा भी खलते नजर आए।
– खेलों के आयोजन के लिए ग्राम पंचायत स्तर पर खेल मैदान तैयार किए गए।

क्यों किया रहा ग्रामीण ओलंपिक का आयोजन?
सरकार के अनुसार राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक का मुख्य उद्देश्य गांवों से बेहतर खिलाड़ियों को खोज कर आगे लाना, उनकी प्रतिभा को तराशकर उन्हें प्रोत्साहित करना और आम लोगों में खेल भावना को बढ़ावा देना है।

ओलंपिक में खेले जाएंगे यह छह खेल
कबड्डी
शूटिंग बॉल
खो-खो
वॉलीबॉल
टेनिसबॉल
क्रिकेट
हॉकी

—————
10. प्रोफेसर बी शेख अली का निधन 1 सितंबर 2022 को हो गया, वह इनमें से क्‍या थे?

a. इतिहासकार
b. सिंगर
c. यूट्यूबर
d. साइंटिस्ट

Answer: a. इतिहासकार

– बी शेख अली 97 वर्ष के थे। वह मैंगलोर और गोवा विश्वविद्यालयों के पहले कुलपति थे।
– वह 1986 में भारतीय इतिहास कांग्रेस के 47वें अधिवेशन में महासचिव और 1985 में दक्षिण भारत इतिहास कांग्रेस के संस्थापक अध्यक्ष थे।
– वह राज्योत्सव पुरस्कार के प्राप्तकर्ता हैं और उन्होंने कुल 23 किताबें अंग्रेजी में और आठ अन्य उर्दू में लिखी थी।

————-
11. आकाशवाणी की समाचार सेवा प्रभाग (News Services Division of All India Radio) की महानिदेशक किसे नियुक्त किया?

a. गायत्री यादव
b. मुस्‍कान अग्रवाल
c. वसुधा गुप्ता
d. अनुराधा शर्मा

Answer: c. वसुधा गुप्ता

– वह सीनियर इंडियन इंफॉर्मेशन सर्विस (आईआईएस) ऑफिसर हैं।
– वसुधा गुप्ता 31 अगस्‍त 2022 को आकाशवाणी के न्‍यूज सर्विसेस डिविजन का महानिदेशक नियुक्त किया गया।
– ऑल इंडिया रेडियो के महानिदेशक एन वेणुधर रेड्डी 31 अगस्‍त 2022 को रिटायर्ड हुए हैं।
– वर्ष 1989 बैच की आईआईएस अधिकारी गुप्ता ने 32 साल से अधिक के अपने करियर के दौरान सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय में विभिन्न पदों पर कार्य किया है।

———-
12. अंतर्राष्ट्रीय चैरिटी दिवस (International Day of Charity) कब मनाया जाता है?

a. 03 सितंबर
b. 04 सितंबर
c. 05 सितंबर
d. 06 सितंबर

Answer: c. 05 सितंबर

– मदर टेरेसा के निधन की वर्षगांठ पर यह दिवस मनाया जाता है।
– संयुक्त राष्ट्र ने यह दिवस घोषित किया हुआ है।
नोट: – मदर टेरेसा को 1979 में “गरीबी और संकट” से उबरने के संघर्ष में किए गए काम के लिए शांति का नोबेल पुरस्कार दिया गया था।

—————
13. राष्‍ट्रीय शिक्षक दिवस (National Teachers Day) कब मनाया जाता है?

a. 1 सितंबर
b. 3 सितंबर
c. 4 सितंबर
d. 5 सितंबर

Answer: d. 5 सितंबर

– भारत के पूर्व राष्‍ट्रपति डॉ. सर्वपल्‍ली राधाकृष्‍णन के जन्‍म दिवस पर टीचर्स डे मनाया जाता है।
– डॉ. राधाकृष्णन का जन्म 5 सितंबर 1888 को हुआ।
– वह एक दार्शनिक, विद्वान और भारत रत्न पुरस्कार विजेता थे।
– वह भारत के दूसरे राष्ट्रपति (1962 से 1967) और भारत के पहले उपराष्ट्रपति (1952-1962) थे।
– भारत का सर्वोच्‍च सम्‍मान (भारत रत्‍न) से सम्‍मानित किए जाने वाले पहले व्‍यक्ति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन हैं।
– 1954 में इन्‍हें भारत रत्‍न नवाजा गया था।

—————-
14. स्टारबक्स ने अपना नया सीईओ भारतीय मूल के किस व्‍यक्ति को नियुक्त किया?

a. अमित देवगन
b. राजन सिंह
c. देव पंडित
d. लक्ष्मण नरसिम्हन

Answer: d. लक्ष्मण नरसिम्हन

– स्टारबक्स ने 01 सितंबर 2022 को भारतीय मूल के लक्ष्मण नरसिम्हन को अपना सीईओ नियुक्त किया।
– उन्हें हॉवर्ड शुल्ज़ की जगह बनाया गया है।
– नरसिम्हन अक्टूबर 2022 में स्टारबक्स में शामिल होंगे और अप्रैल 2023 में स्टारबक्स के अंतरिम सीईओ हॉवर्ड शुल्ज से पदभार ग्रहण करेंगे।

लक्ष्मण नरसिम्हन
– नरसिम्हन वर्तमान में स्वास्थ्य और स्वच्छता कंपनी रेकिट के प्रमुख हैं।
– उन्होंने पुणे विश्वविद्यालय से मैकेनिकल इंजीनियरिंग का अध्ययन किया।
– उन्होंने पेन्सिलवेनिया विश्वविद्यालय में द लॉडर इंस्टीट्यूट से जर्मन एंड इंटरनेशनल स्टडीज में पोस्ट ग्रेजुएशन किया है।
– पेन्सिलवेनिया विश्वविद्यालय के व्हार्टन स्कूल से एमबीए किया है।

स्टारबक्स
– स्टारबक्स कॉरपोरेशन कॉफीहाउस और रोस्टरी रिजर्व की एक अमेरिकी मल्टीनेशनल कंपनी है।
– इसका मुख्यालय सिएटल, वाशिंगटन में है।
– यह दुनिया की सबसे बड़ी कॉफीहाउस कंपनी है।

——————
15. भारतीय जहाजरानी निगम (Shipping Corporation of India Limited) के नए सीएमडी कौन बने?

a. राकेश अग्रवाल
b. ब्रिगेडियर विवेक दास
c. कैप्टन बिनेश कुमार त्यागी
d. पुरुषोत्‍तम त्‍यागी

Answer: c. कैप्टन बिनेश कुमार त्यागी

– कैबिनेट की नियुक्ति समिति (एसीसी) ने यह फैसला किया।
– भारतीय नौवहन निगम एक सरकारी निगम है।
– यह नेशनल और इंटरनेशनल रूट पर जहाजों का संचालन और प्रबंधन करता है।
– यह शिपिंग मंत्रालय, भारत सरकार के स्वामित्व में है, जिसका मुख्यालय मुंबई में है। स्‍थापना स्थापना 2 अक्टूबर 1961 को हुई थी।