10 March 2022 Current Affairs, 10th March 2022 Current Affairs, Current Affairs 10th March 2022, 10 March 2022 Current Affairs,

10th March 2022 Current Affairs

Spread the love

यह 10th March 2022 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. देश में पहली बार किस मुख्‍यमंत्री ने विधानसभा में बजट पेश करने के लिए गोबर से बने ब्रीफकेस का इस्‍तेमाल किया?

a. नीतीश कुमार
b. भूपेश बघेल
c. मनोहर लाल खट्टर
d. उद्धव ठाकरे

Answer: b. भूपेश बघेल

– छत्‍तीसगढ़ के चीफ मिनिस्‍टर भूपेश बघेल ने 9 मार्च 2022 को फाइनेंशियल ईयर 2022-23 के लिए विधानसभा में बजट पेश किया।
– इस दौरान बघेल के हाथ में मौजूद एक ब्रीफकेस था।
– यह ब्रीफकेस गोबर से बना हुआ है, जिसे लेकर बघेल ने बजट पेश किया।
– इस ब्रीफकेस पर संस्कृत में ‘गोमय वसते लक्ष्मी’ लिखा था, जिसका अर्थ गोबर में लक्ष्मी का वास होता है।

बजट के लिए ब्रीफकेस का चलन
– आम तौर पर इससे पहले अलग-अलग राज्यों के मुख्यमंत्री चमड़े या जूट से बने ब्रीफकेस का इस्तेमाल बजट की प्रति लाने के लिए करते रहे हैं।
– हालांकि, देश में ऐसा पहली बार है जब किसी मुख्यमंत्री ने बजट लाने लिए गोबर से बने ब्रीफकेस का इस्तेमाल किया है।

कैसे बना गोबर का ब्रीफकेस
– इस ब्रीफकेस को रायपुर गोकुल धाम गौठान में काम करने वाली महिला स्वंय सहायता समूह ‘एक पहल’ की महिलाओं ने तैयार किया है
– इसे गोबर पाउडर, चूना पाउडर, मैदा, लकड़ी एवं ग्वार गम के मिश्रण को परत दर परत लगाकर 10 दिनों की कड़ी मेहनत से तैयार किया गया है।

छत्‍तीसगढ़ का बजट
– मुख्‍यमंत्री भूपेश बघेल ने 9 मार्च को विधानसभा में 1.04 लाख करोड़ (एक लाख 04 हजार 603 करोड़) रुपए का बजट पेश किया।
– इस बजट से पुरानी पेंशन योजना भी बहाल हो गई है।
– राज्य कैडर के सभी अधिकारियों-कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन योजना लागू हो गई।
– छत्तीसगढ़ के मूल निवासी सभी बच्चों से प्रतियोगी परीक्षाओं के शुल्क नहीं लेने का फैसला लिया गया है।
– अभी एक लाख 73 हजार पद रिक्त हैं। इसपर भर्ती होगी।
– स्‍थानीय विकास कार्यों के लिए विधायक निधि की राशि 2 करोड़ से बढ़ाकर 4 करोड़ किया गया।
– राजीव गांधी किसान न्‍याय योजना के तहत 6 हजार करोड़ रुपए। इसके तहत प्रति एकड़ अधिकतम 10 हजार रुपए की सहायता किसानों को दी जाती है।

——————
2. RBI ने फीचर फोन से बिना इंटरनेट के पेमेंट करने के लिए कौनसा UPI लॉन्च किया?

a. UPI122Pay
b. UPI123Pay
c. UPI124Pay
d. UPI125Pay

Answer: b. UPI123Pay

– RBI के गर्वनर शक्तिकांत दास ने 08 मार्च 2022 को फीचर फोन से भी UPI पेमेंट करने के लिए एक अलग UPI लॉन्च किया।
– इस UPI का नाम है UPI123Pay.

फीचर फोन क्या है?
– साधारण फोन को फीचर फोन कहते है। आमतौर पर इसमें इंटरनेट का उपयोग नहीं होता है।
– इस तरह के फोन्स में कॉल करना, कॉल रिसीव करना और मैसेज भेजना और रिसीव करने की सुविधा होती है।

UPI123Pay
– अब उपभोक्ता UPI123Pay के द्वारा फीचर फोन से भी पेमेंट कर पायेंगे।
– इस UPI से स्कैन एंड पे को छोड़कर बाकी हर तरह के ट्रांजैक्शन किए जा सकेंगे।
– खास बात यह है कि ट्रांजैक्शन के लिए इंटरनेट की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।
– ट्रांजैक्शन के लिए उपभोक्ता को अपने मोबाइल नंबर और बैंक खाते को लिंक करना होगा।

UPI123Pay से क्या फायदा होगा?
– RBI के अनुसार फीचर फोन में इस नई सुविधा से ग्रामीण क्षेत्रों में डिजिटल पेमेंट का प्रयोग बढ़ेगा।
– इससे फाइनेंशियल सर्विसेज भी बढे़गी।

फीचर फोन से पेमेंट कैसे जायेगा?
– RBI के अनुसार वह उपभोक्ताओं को पेमेंट करने के लिए चार विकल्‍प देगा।
– NPCI (नेशनल पेमेंट्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया) के द्वारा फीचर फोन से चार तरीकों से पेमेंट किया जा सकेगा।
– पहला: IVR सिस्टम या वॉइस बेस्ड सिस्टम- इस सिस्टम में उपभोक्ता NPCI के दिए गए नंबर पर कॉल करके सुरक्षित ट्रांजैक्शन कर सकेगा।
– दूसराः एप के द्वारा- फीचर फोन में एक ऐप होगा, जिसके जरिए ट्रांजैक्शन किया जायेगा। लेकिन इसमें स्कैन एंड पे वाली सुविधा नहीं होगी।
– तीसराः प्रॉक्समिटी साउंड बेस्ड पेमेंट- इसका प्रयोग ट्रांजैक्शन साउंड वेव्स एनेबल कॉन्टैक्ट को एनेबल करना होगा और कॉन्टैक्ट लेस पेमेंट करना होगा।
– चौथाः मिस्ड कॉल बेस्ड सिस्टम- उपभोक्ता को एक मिस्ड कॉल देनी होगी, जिसके बाद उसे कॉल बैक की जायेगी। फिर उपभोक्ता पिन डालकर पेमेंट कर सकेगा।

——————
3. ‘चंद्रयान-2’ ने चंद्रमा के लूनर एक्सोस्फेयर (सबसे बाहरी वायुमंडल) पर कौन-सी नोबल गैस का पता लगाया?

a. Argon-40
b. Radon-22
c. Xenon-131
d. Krypton-82

Answer: a. Argon-40 (आर्गन 40)

– चंद्रयान-2 ऑर्बिटर पर मौजूद एक Chandra’s Atmospheric Composition Explorer-2 (CHACE-2) ने चंद्रमा के लूनर एक्सोस्फेयर पर इसका पता लगाया।
– इस बात की जानकारी इसरो ने अपने आधिकारिक वेबसाइट से 08 मार्च 2022 को दी।
– इसरो ने बताया कि इस रिसर्च के रिजल्ट्स ‘जियोफिजिकल रिसर्च लेटर्स’ doi: 10.1029/2021GL094970 में प्रकाशित हुए है।
– यह रिसर्च ‘जियोफिजिक्ल रिसर्च लेटर्स’ में 04 अक्टूबर 2021 को प्रकाशित हुई।

50 साल पहले अमेरिकी अपोलो-17 ने खोजी थी
– इसरो के अनुसार, 1972 में भेजे गए अमेरिकी मिशन अपोलो-17 ने सबसे पहले ऑर्गन-40 की चंद्रमा पर पुष्टि की थी।
– हालांकि उस समय इसे केवल चंद्रमा के भूमध्यरेखीय क्षेत्र में पाया गया था।
– अब वर्ष 2022 में चंद्रयान-2 ने इस गैस को लूनर एक्‍सोस्‍फेयर में भी खोज लिया है।

एक्‍सोस्‍फेयर (बहिर्मंडल) क्‍या होता है?
– किसी ग्रह या उपग्रह के वायुमंडल की सबसे बाहरी परत होती है।
– पृथ्वी पर, यह परत थर्मोस्फीयर (या आयनोस्फीयर) से ऊपर तक फैली हुई है, जो पृथ्वी की सतह से 500 किमी ऊपर है

चांद पर एक्सोस्फेयर
– दरअसल, चंद्रमा पर, सांस लेने के लिए कोई हवा नहीं है।
– हालांकि, चंद्र सतह पर गैसों की एक बहुत ही पतली परत होती है, जिसे लगभग वायुमंडल कहा जा सकता है।
– तकनीकी रूप से, इसे एक एक्सोस्फेयर माना जाता है।
– एक्सोस्फेयर में गैसें इतनी फैली हुई हैं कि वे शायद ही कभी एक दूसरे से टकराती हैं।
– चांद पर प्रमुख रूप से तीन गैसें पाई गई है – नियोन, हिलियम और हाइड्रोजन।
– अन्‍य गैस भी नगन्‍य मात्रा में हैं – मीथेन, कार्बन डाइऑक्साइड, अमोनिया और ऑर्गन-40.

Argon-40 क्या है?
– Argon-40 (आर्गन 40) रंगहीन, गंधहीन नोबल गैस है।
– नाइट्रोजन और ओक्सीजन के बाद यह पृथ्वी के वायुमण्डल की तीसरी सबसे अधिक मात्रा की गैस है।
– इसे उद्योग में और बिजली के बल्ब आदि में काफ़ी प्रयोग किया जाता है।
– चांद पर भी यह गैस पाई गई।
– चांद पर यह आइसोटोप चंद्र सतह के नीचे मौजूद पोटेशियम -40 (K-40) के रेडियोधर्मी विघटन से उत्पन्न होता है।

नई खोज के मायने
– इसरो के अनुसार एक्सोस्फेयर में ऑर्गन-40 गैस मिलने से चंद्रमा के बाहरी मंडल को समझने में मदद मिलेगी।
– साथ ही उसकी सतह से दसियों मीटर भीतर होने वाली रेडियोधर्मी गतिविधियों का ज्यादा सही अनुमान लगाया जा सकेगा।
– इसरो ने बताया, चंद्रयान-2 ने ऑर्गन-40 गैस में अज्ञात वजहों से उभार भी पाया है।
– इसकी वजह, चंद्रमा के भूकंप या कुछ और हो सकती है, इसे समझने के लिए ज्यादा अध्ययनों की जरूरत होगी।

नोबल गैस
– नोबल गैस को अक्रिय गैस भी कहते है।
– नोबेल गैस पेरियोडिक टेबल के समूह 18 की गैसें हैं।
– यह गैसे प्रकृति में निष्क्रिय होती हैं।

प्रमुख नोबल गैसें
– हीलियम (He),
– नियॉन (Ne),
– आर्गन (Ar),
– क्रिप्टन (Kr),
– ज़ेनान (Xe),
– रेडियोधर्मी रेडॉन (Rn)

—————–
4. छह क्रिकेट विश्वकप खेलने वाली पहली महिला किक्रेटर कौन बनीं?

a. एलिस पैरी
b. स्मृति मंदाना
c. मिताली राज
d. मैग लैनिंग

Answer: c. मिताली राज

– उन्होंने यह रिकॉर्ड उन्‍होंने वूमेंस वर्ल्‍ड कप 2022 में 06 मार्च 2022 को बनाया।
– वर्ल्‍ड कप न्‍यूजीलैंड में चल रहा है।
– वह इंडियन क्रिकेट टीम की कप्‍तान हैं।

विश्व की तीसरी क्रिकेटर जिन्होंने ने यह रिकॉर्ड बनाया
– पुरुष और महिला क्रिकेटर के मामले में मिताली राज अब छह विश्वकप खेलने वाली विश्व की तीसरी क्रिकेटर बन गई है।
– इससे पहले यह रिकॉर्ड सिर्फ सचिन तेंदुलकर और पकिस्तान के जावेद मियांदाद ने बनाया था।
– लेकिन अगर बात, महिला क्रिकेटर की हो, तो वह पहली ऐसी खिलाड़ी हैं, जिन्‍होंने छह वर्ल्‍ड कप खेला।

मिताली अबतक कितने विश्वकप खेले?
– मिताली ने वर्ष 2002 में अपना पहला विश्वकप खेला था।
– उसके बाद वर्ष 2005, 2009, 2013, 2017 और अब 2022 का विश्वकप खेला है।

झूलन गोस्वामी दूसरे नंबर पर है
– महिला क्रिकेटर डूलन गोस्वामी, मिताली राज से अब दूसरे नंबर पर आ गई है।
– उन्होंने अबतक कुल पांच विश्वकप खेले है।

मिताली राज के बारे में
– मिताली राज का जन्म 03 दिसंबर 1982 में जोधपुर,राजस्थान में हुआ।
– उन्होंने वनडे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण 1999 में किया।
– वर्ष 2001-02 में उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया।

—————–
5. केंद्र सरकार ने प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों की कितने प्रतिशत सीटों पर सरकारी कॉलेजों के बराबर फीस लागू करने का ऐलान किया?

a. 50%
b. 60%
c. 70%
d. 80%

Answer: a. 50%

– PM मोदी ने 07 मार्च 2022 को ट्वीट करके इसका ऐलान किया।
– हालांकि इससे पहले, 3 फरवरी 2022 को नेशनल मेडिकल कमीशन (NMC) ने एक मेमोरेन्डम भी रिलीज किया था।
– इसमें प्राइवेट कॉलेजों को अपनी 50% सीटों पर सरकारी कॉलेजों के बराबर फीस लेने के निर्देश दिए गए हैं।

क्यों लिया गया यह फैसला?
– दरअसल, लगभग तीन दशकों से भारतीय छात्र मेडिकल सांइस की पढ़ाई करने के लिए रूस, चीन, यूक्रेन, किर्गिस्तान, कजाकिस्तान, फिलीपींस जैसे देश जाते है।
– युद्धग्रस्‍त यूक्रेन में 18,000 मेडिकल सांइस की पढ़ाई कर रहे थे। उन्‍हें वापस लौटना पड़ा।
– भारत सरकार को इसके लिए ऑपरेशन गंगा चलाना पड़ा। काफी मुश्किलों से स्‍टूडेंट्स यूक्रेन से आ सके हैं।
– अधूरी पढ़ाई की वजह से इन स्‍टूडेट्स के भविष्‍य पर भी सवाल खड़े हो गए हैं।
– ऐसे में देशभर से सवाल उठे कि भारत में महंगे प्राइवेट मेडिकल कॉलेज की वजह से पढ़ाई के लिए बाहर जाना पड़ रहा है।

क्‍यों विदेश जाते हैं मेडिकल पढ़ने
– इसकी दो बड़ी वजह सामने आई है।
– पहली वजह – भारत के प्राइवेट मेडिकल फीस बहुत ज्यादा है।
– दूसरी वजह – भारत में मेडिकल एजुकेशन की सीटें बेहद कम हैं।
– मेडिकल की पढ़ाई के लिए छोटे और कम खर्च वाले देशों में रुझान है।
– इन देशों में मेडिकल की पढ़ाई सस्‍ते में हो जाती है।
– उदाहरण के तौर पर भारत के प्राइवेट मेडिकल कॉलेज में औसतन 80 लाख से सवा करोड़ रुपए में एमबीबीएस का कोर्स हो पाता है।
– जबकि यूक्रेन में 20 से 25 लाख में यह पढ़ाई पूरी हो जाती है।

किस देश में कितने भारतीय स्‍टूडेंट
– इंडियन एक्‍सप्रेस के मुताबिक हर साल 8 लाख स्‍टूडेंट एजुकेशन के लिए विदेश की यात्रा करते हैं।
– यह संख्‍या मेडिकल सहित सभी तरह के एजुकेशन के लिए जाने वाले स्‍टूडेंट्स की है।
– इससे करीब 45 हजार करोड़ रुपया हर साल जा रहा है।
– सबसे ज्‍यादा कनाडा में स्‍टूडेंट हैं।

दुनिया में भारतीय मेडिकल स्‍टूडेंट
– चीन : 23,000
– यूक्रेन : 18,000
– रूस : 16,500
– फिलीपींस : 15,000
– किर्गिस्‍तान : 10,000
– जॉर्जिया : 7,500
– बांग्‍लादेश : 5,200
– कजाकिस्‍तान : 5,200
– पोलैंड : 4,000
– अर्मेनिया : 3,000
कुल : 1,07,400

भारत में कितने मेडिकल कॉलेज
– नेशनल मेडिकल कमीशन (NMC) की वेबसाइट के अनुसार (मार्च 2022 तक) भारत में 605 मेडिकल कॉलेज है।
– कुल 90,825 MBBS सीटें है।
– वर्ष 2021 में एमबीबीएस प्रवेश के लिए नीट एग्‍जाम में 16 लाख स्‍टूडेंट्स ने हिस्‍सा लिया था।
– ऐसे में कॅरियर की चिंता की वजह से विदेश जाकर पढ़ने वाले मेडिकल की पढ़ाई करने वाले स्‍टूडेंट्स की संख्‍या 1,07,400 है।
– एक और तथ्‍य है कि WHO के अनुसार 1000 लोगों की आबादी पर कम से कम एक डॉक्‍टर होना चाहिए। जबकि भारत में कम है। अमेरिका में एक हजार आबादी पर दो डॉक्‍टर हैं।

प्राइवेट कॉलेजों की 50% सीटों पर बराबर फीस वाला फार्मूला कितना कारगर?
– देश में प्राइवेट और सरकारी मेडिकल कॉलेज लगभग आधे-आधे हैं। (कुल 605)
– प्राइवेट कॉलेजो की 50% सीटों पर सरकारी कॉलेजों के बराबर फीस वाले फार्मूले को देखते हुए अगर इन सरकारी कॉलेजों की सीटे भी इसमें जोड़े।
– तो यह 20,000 ऑड सीटें होंगी।
– कुल मिलाकर केवल 65,000 सीटें ही सस्ती फीस पर उपलब्ध होंगी।
– जबकि विदेश जाकर पढ़ने वाले मेडिकल की पढ़ाई करने वाले स्‍टूडेंट्स की संख्‍या 1,07,400 है।
– देश में मेडिकल कॉलेज ज्‍यादा से ज्‍यादा होने चाहिए।

——————-
6. नो स्मोकिंग डे (No Smoking Day) कब मनाया जाता है?

a. मार्च के चौथे बुधवार
b. मार्च के तीसरे बुधवार
c. मार्च के दूसरे बुधवार
d. मार्च के पहले बुधवार

Answer: c. मार्च के दूसरे बुधवार

– वर्ष 2022 में ये दिवस 9 मार्च को मनाया जा रहा है।
– यह दिवस देश-दुनिया और समाज में धूम्रपान के प्रति लोगों में जागरूकता बढ़ाने के लिए मनाया जाता है।

2022 की थीम- ‘Quit Your Way’

– पहली बार ये दिवस वर्ष 1984 में मनाया गया था।
– ये रिपब्लिक ऑफ आयरलैंड में वेडनेस्डे के दिन मनाया गया था, ताकि लोगों को धूम्रपान के दुष्प्रभावों के बारे में बताया जा सके।

——————
7. इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) की मार्च 2022 की टेस्‍ट रैंकिंग में किस टीम को पहला स्‍थान मिला?

a. ऑस्ट्रेलिया
b. भारत
c. न्‍यूजीलैंड
d. साउथ अफ्रीका

Answer: a. ऑस्ट्रेलिया

– ICC ने 3 मार्च 2022 को टेस्‍ट टीमों की ये रैंकिंग जारी की है।
– ऑस्ट्रेलिया की टीम 119 रेटिंग के साथ पहले नंबर पर बनी हुई है, दूसरे नंबर पर भारत है जिसकी रेटिंग 116 है।

टॉप 5 टीमें
ऑस्ट्रेलिया (119)
भारत (116)
न्‍यूजीलैंड (115)
इंग्‍लैंड (101)
दक्षिण अफ्रीका (101)

—————–
8. ICC की मार्च 2022 की टेस्‍ट रैंकिंग में किस बल्‍लेबाज को टॉप रैंक मिली?

a. मार्नस लाबुशेन
b. विराट कोहली
c. जो रूट
d. स्टीव स्मिथ

Answer: a. मार्नस लाबुशेन (ऑस्ट्रेलिया)

– ऑस्ट्रेलिया के मार्नस लाबुशेन 936 अंक के साथ पहले स्‍थान पर बरकरार हैं।
– ICC ने टेस्‍ट बैटसमैन रैंकिंग 9 मार्च 2022 को जारी की है।
– इस रैंक में टॉप 10 में भारत के तीन खिलाड़यों को जगह मिली है।
– विराट कोहली को पांचवीं, रोहित शर्मा को छठवीं रैंक मिली है। तो भारत के ऋषभ पंत दसवें नंबर पर चल रहे हैं|

टॉप 5 प्‍लेयर
मार्नस लाबुशेन (ऑस्ट्रेलिया)
जो रूट (इंग्‍लैंड)
स्‍टीव स्मिथ (ऑस्ट्रेलिया)
केन विलियमसन (न्‍यूजीलैंड)
विराट कोहली (भारत )

—————–
9. ICC की मार्च 2022 की टेस्‍ट रैंकिंग में किस बॉलर को पहला स्‍थान मिला?

a. शाहीन अफरीदी
b. कगिसो रबाडा
c. पैट कमिंस
d. रविचंद्रन अश्विन

Answer: c. पैट कमिंस

– ICC की 9 मार्च 2022 को जारी Test गेंदबाज रैंकिंग में ऑस्ट्रेलिया के पैट कमिंस 892 पॉइंट्स के साथ पहले नंबर पर बने हुए हैं।
– इस बालिंग रैंकिंग के टॉप 10 में भारत के दो खिलाडि़यों का नाम है।
– दूसरे नंबर पर भारत के रविचंद्रन अश्विन और दसवें नंबर पर भारत के ही जसप्रीत बुमराह का नाम है।

टॉप 5 प्‍लेयर
पैट कमिंस (ऑस्ट्रेलिया)
रविचंद्रन अश्विन (भारत)
कगिसो रबाडा (दक्षिण अफ्रीका)
शाहीन अफ़रीदी (पाकिस्तान)
काइल जेमीसन (न्यूज़ीलैंड)

—————–
10. ICC की मार्च 2022 की टेस्‍ट रैंकिंग में किस ऑलराउंडर को पहला स्‍थान मिला?

a. बेन स्‍टोक्‍स
b. मिचेल स्‍टार्क
c. काइल जैमीसन
d. रविंद्र जडेजा

Answer: d. रविंद्र जडेजा

– रविंद्र जडेजा 406 पॉइंट्स के साथ पहले नंबर पर हैं।
– इस टेबल में 382 पॉइंट्स के साथ दूसरे नंबर पर वेस्ट इंडीज के जेसन होल्डर हैं|
– वहीं तीसरे नंबर पर भारत के ही रविचंद्रन अश्विन हैं।

टॉप 5 प्‍लेयर
रवींद्र जडेजा (भारत)
जेसन होल्‍डर (वेस्ट इंडीज)
रविचंद्रन अश्विन (भारत)
शाकिब अल हसन (बांग्‍लादेश)
बेन स्टोक्स (इंग्लैंड)

 


 

Free Download Notes PDF of Toady’s Current Affairs : – Click Here