11 March 2022 Current Affairs, 11th March 2022 Current Affairs, Current Affairs 11th March 2022, 11 March 2022 Current Affairs,

11th March 2022 Current Affairs

Spread the love

यह 11th March 2022 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में किस पार्टी को बहुमत मिला?

a. भाजपा
b. कांग्रेस
c. सपा
d. बसपा

Answer: a. भाजपा

– UP में कुल विधानसभा सीटें : 403
– बहुमत के लिए जरूरी सीटें : 202

किस पार्टी को कितनी सीटें?
– भाजपा : 255
– सपा : 111 (1)
– अपना दल : 12
– सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी : 6
– निर्बल इंडियन शोशित हमारा आम दल : 6
– रालोद : 8
– बसपा : 1
– कांग्रेस : 2
– जनसत्ता दल लोकतांत्रिक : 2

उत्‍तर प्रदेश
– यूपी में साढ़े तीन दशक बाद किसी पार्टी की सरकार रिपीट हुई है।
– यहां योगी आदित्‍यनाथ फिर से मुख्‍यमंत्री बनेंगे।
– यूपी में भारी जीत के साथ ही योगी का चेहरा अब भाजपा के केंद्रीय नेताओं के रूप में देखा जाने लगा है।

—————-
2. उत्‍तराखंड विधानसभा चुनाव 2022 में किस पार्टी ने सबसे ज्‍यादा सीटें जीतीं?

a. बसपा
b. भाजपा
c. कांग्रेस
d. जदयू

Answer: b. भाजपा

– उत्‍तराखंड में कुल विधानसभा सीटें : 70
– बहुमत के लिए जरूरी सीटें : 36

किस पार्टी को कितनी सीटें
– भाजपा : 47
– कांग्रेस : 19
– बसपा : 2
– निर्दलीय : 2

किसकी सरकार बनेगी?
– भाजपा राज्‍य में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है।
– यहां पहले से बीजेपी की सरकार है और यही पार्टी फिर से सरकार बनाएगी।
– हालांकि इसके मुख्‍यमंत्री पुष्‍कर सिंह धामी अपने विधानसभा क्षेत्र का चुनाव हार गए हैं।
– पूर्व मुख्‍यमंत्री और कांग्रेस लीडर हरीश रावत भी चुनाव हार गए।

उत्‍तराखंड के राज्‍यपाल – गुरमीत सिंह

—————-
3. पंजाब विधानसभा चुनाव 2022 में किस राजनीति दल को बहुमत मिला?

a. आप
b. भाजपा
c. कांग्रेस
d. बसपा

Answer: a. आप

पंजाब में कुल विधानसभा सीटें : 117
– बहुमत के लिए जरूरी सीटें : 59

किस पार्टी को कितनी सीटें?
– आप : 92
– कांग्रेस : 18
– शिरोमणि अकाली दल : 3
– भाजपा : 2
– बसपा : 1
– निर्दलीय : 1

किसकी सरकार
– यहां आम आदमी पार्टी ने जबरदस्‍त सीटें जीती हैं।
– बहुमत के लिए 59 सीटें चहिए, लेकिन इस पार्टी के पास 92 सीटें हैं।
– पार्टी की पहले की हो चुकी घोषणा के मुताबिक भगवंत मान नए मुख्‍यमंत्री बनेंगे।
– चुनाव तक पंजाब में कांग्रेस के चरणजीत सिंह चन्‍नी मुख्‍यमंत्री थे। वह दो सीटों से चुनाव हार गए।
– पूर्व मुख्‍यमंत्री अमरिंदर सिंह, प्रकाश सिंह बादल, पूर्व डिप्‍टी सीएम सुखबीर सिंह बादल भी हार गए।

पंजाब
राजधानी : चंडीगढ़
गवर्नर : बनवारीलाल पुरोहित

—————–
4. गोवा विधानसभा चुनाव 2022 में किस पार्टी को सबसे ज्‍यादा सीटों पर जीत हासिल हुई?

a. आप
b. कांग्रेस
c. भाजपा
d. टीएमसी

Answer: c. भाजपा

– गोवा विधानसभा में कुल सीटें : 40
– बहुमत के लिए जरूरी सीट : 21

किस पार्टी को कितनी सीटें
– भाजपा : 20
– कांग्रेस : 11
– निर्दलीय : 3
– आप : 2
– महाराष्‍ट्रवादी गोमांतक : 2
– रेवोल्‍युशनरी गोअंस पार्टी : 1
– गोवा फॉवॉर्ड पार्टी : 1

किसकी सरकार बनेगी
– गोवा में बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी है, लेकिन उसे बहुमत नहीं है।
– हालांकि वह निर्दलीय के समर्थन से आसानी से सरकार बना सकती है।
– यहां के मुख्‍यमंत्री प्रमोद सावंत है।
– अब भाजपा विधायक दल नेता का चयन करेगा।
– उम्‍मीद है कि प्रमोद सावंत फिर से सीएम बनेंगे।

गोवा
राजधानी – पणजी
गवर्नर – पीएस श्रीधरण पिल्‍लई

—————–
5. मणिपुर विधानसभा चुनाव 2022 में किस पार्टी को बहुमत मिला?

a. जदयू
b. भाजपा
c. कांग्रेस
d. नगा पिपुल्‍स फ्रंट

Answer: b. भाजपा

– मणिपुर में कुल विधानसभा सीटें : 60
– बहुमत के लिए जरूरी सीट : 31

किस पार्टी को कितनी सीटें?
– भाजपा : 32
– नेशनल पिपुल्‍स पार्टी : 7
– जनता दल यू : 6
– कांग्रेस : 5
– निर्दलीय : 3
– कुकी पिपुल्‍स अलायंस : 2
– नगा पिपुल्‍स फ्रंट : 5

किसकी सरकार
– मणिपुर में बीजेपी बहुमत में है। ऐसे में इसी पार्टी की सरकार बनेगी।
– यहां पहले से बीजेपी की गठबंधन सरकार है। सीएम एन बीरेन सिंह हैं। संभव है कि वह फिर से सीएम बनेंगे।

मणिपुर
– राजधानी : इंफाल
– गवर्नर : ला गणेषण

———————
6. यूक्रेन-रूस युद्ध के दौरान कौन सी भारतीय रिफाइनरी यूरोपीय देशों को तेल सप्लाई कर रही है?

a. भारत पेट्रोलियम की चेन्‍नई रिफाइनरी
b. जीएसईसी लिमिटेड
c. रिलायन्स की जामनगर रिफाइनरी
d. इनमें से कोई नहीं

Answer: c. रिलायन्स की जामनगर रिफाइनरी

– ब्लूमबर्ग के अनुसार रूस-यूक्रेन विवाद के चलते रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की गुजरात के जामनगर की फैसिलिटी डीजल की बढ़ी हुई मांग का फायदा उठा रही है।
– रिलायंस का यह फैसिलिटी सेंटर फ्यूल के शिपमेंट यूरोप भेज रही है।
– गुजरात के इस कॉम्पलेक्स में 1.36 मिलियन बैरल क्रुड ऑयल को रिफाइन किया जा सकता है।
– यहां के लिए क्रूड ऑयल अरब देशों से आता है।
– इससे रिफाइन हुए ऑयल को बाहर निर्यात (export) कर सकता है।
– यह कॉम्पलेक्स एक दिन में 704,000 बैरल export करने की कैपिसिटी रखता है।
– हालांकि कोविड महामारी बाद से इसका पूरा उपयोग नहीं हो रहा था।
– जनवरी में इसकी क्षमता का लगभग तीन-चौथाई उपयोग किया गया है।
– रिलायन्स ने जामनगर में क्रूड प्रोसेसिंग यूनिट में से एक को बंद करने की योजना बनाई थी।
– लेकिन अब इसको सितंबर तक के लिए पोस्टपोन कर दिया गया है।
– रूस-यूक्रेन विवाद के कारण यूरोप में कीमतें एशिया की तुलना में 139 डॉलर प्रति बैरल के उच्च प्रीमियम पर पहुंच गई हैं।
– देश की अन्‍य रिफाइनरी घरेलू उपभोग की मांग को पूरा कर रही है।

—————–
7. केंद्रीय कैबिनेट ने सार्वजनिक क्षेत्र की संस्थाओं और सरकारी एजेंसियों की भूमि के मोनेटाइजेशन के लिए किस कॉरपोरेशन के गठन की मंजूरी दी?

a. NSC
b. NCUI
c. NLMC
d. NFLC

Answer: c. NLMC

– केन्द्रीय कैबिनेट ने 09 मार्च 2022 को PSU के भवनों, जमीनों और सरकारी एजेंसियों के मोनेटाइजेशन के लिए नेशनल लैंड मोनेटाइजेशन कॉरपोरेशन (NLMC) के गठन की मंजूरी दे दी है।
– यह 5,000 करोड़ रूपए की प्रारंभिक अधिकृत शेयर पूंजी और ₹ 150 करोड़ की चुकता शेयर पूंजी के साथ भारत सरकार की पूर्ण स्वामित्व वाली कंपनी होगी।
– सरकारी कंपनियों के लैंड मोनेटाइजेशन के लिए NLMC एडवाइजरी के तौर पर काम करेगा।
– NLMC मोनेटाइज की जाने वाली जमीनों की पहचान करेगा।
– और इन जमीनों की रूपरेखा भी तय करेगा।
– NLMC सेन्ट्रल पब्लिक सेक्टर एंटरप्राइजेज (CPSEs) और अन्य सरकारी एजेंसियों की भूमि और भवन संपत्ति को मोनेटाइज करेगा।
– CPSE ने निवेश और सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग को मोनेटाइजेशन के लिए लगभग 3,400 एकड़ भूमि और अन्य गैर-प्रमुख संपत्तियों का रेफरेंस दिया है।

NLMC के गठन से सरकार को क्या फायदा?
– नॉन-कोर एसेट्स के मोनेटाइजेशन से, सरकार अप्रयुक्त और कम उपयोग वाली संपत्तियों का मोनेटाइजेशन करके पर्याप्त रेवेन्यू जनरेट कर सकेगी।

NLMC कैसे करेगा मोनेटाइजेशन?
– NLMC, CPSEs और नॉन-कोर एसेट्स का मोनेटाइजेशन स्ट्रेटेजिक विनिवेश (disinvestment) के द्वारा करेगा।
– NLMC के पास CPSE और अन्य सरकारी एजेंसियों की ओर से व्यावसायिक रूप से भूमि संपत्ति का प्रबंधन और मोनेटाइजेशन करने के लिए खास टैक्निकल एक्सपर्टिज भी होगा।

NLMC का संचालन कैसे होगा?
– NLMC के निदेशक मंडल में कंपनी के संचालन और प्रबंधन करने के लिए केंद्र सरकार के वरिष्ठ अधिकारी और प्रतिष्ठित विशेषज्ञ शामिल होंगे।
– NLMC के अध्यक्ष, गैर-सरकारी निदेशकों की नियुक्ति योग्यता-आधारित चयन प्रक्रिया के माध्यम से की जाएगी।

—————–
8. वर्ष 2022 के अंतर्राष्ट्रीय साहसी महिला पुरस्कार के लिये चुनी गई 12 महिला व ट्रांसजेंडर में कौन पड़ोसी देशों से हैं?

a. भूमिका श्रेष्ठ
b. रिजवाना हसन
c. एई थिंज़ार मौंग
d. उपरोक्त सभी

Answer: d. उपरोक्त सभी (भूमिका श्रेष्ठ, रिजवाना हसन, एई थिंज़ार मौंग)

विजेता : देश
– भूमिका श्रेष्ठ (ट्रांसजेंडर कार्यकर्ता) : नेपाल
– रिजवाना हसन (पर्यावरणविद और एडवोकेट) : बांग्‍लादेश
– एई थिंज़ार मौंग (मानवाधिकार कार्यकर्ता) : म्‍यांमार

– इन तीनों को यह पुरस्कार अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी जे ब्लिंकन की ओर से 14 मार्च 2022 को एक वर्चुअल समारोह में दिया जाएगा।
– इन्‍हें ये पुरस्कार अपने समुदाय में बदलाव लाने के उनके असाधारण साहस (extraordinary courage) और नेतृत्व के लिए दिया जा रहा है।
– यह तीनों ऐसा करने वाली विश्व की उन 12 महिलाओं में शामिल हैं, जिन्होंने अपने समुदाय में बदलाव लाने के असाधारण साहस और नेतृत्व का प्रदर्शन किया है।

ट्रांसजेंडर भूमिका श्रेष्ठ के बारे में
– ट्रांसजेंडर कार्यकर्ता भूमिका श्रेष्ठ वर्ष 2007 से नेपाल में लैंगिक अल्पसंख्यकों (gender minorities) के अधिकारों और सामाजिक न्याय के लिए लड़ती आ रही है।
– उनके इस प्रयास के कारण 2007 में, नेपाल के सुप्रीम कोर्ट ने नागरिकता दस्तावेजों के आधार पर व्यक्तियों को थर्ड जेंडर के रूप में पहचान देने का फैसला सुनाया था।
– इसी फैसले के बाद वह देश की कानूनी रूप से मान्यता प्राप्त “तीसरे जेंडर” के साथ चिह्नित दस्तावेजों के साथ यात्रा करने वाली पहली नेपाली नागरिक थीं।
– उन्होंने कोविडकाल में नेपाल में LGBTQI+ समुदाय (लेस्बियन, गे, बाइसेक्‍सुअल, ट्रांसजेंडर) के लिए सरकार को देखरेख करने पर भी जोर दिया था।
– भूमिका श्रेष्‍ठ अपने आप को थर्ड जेंडर में गिनती है।

रिजवाना हसन
– रिजवाना हसन को यह पुरस्कार पर्यावरण की रक्षा तथा हाशिए पर रहे बांग्‍लादेशियों की गरिमा और अधिकारों की रक्षा के लिए साहस दिखाने के लिए मिल रहा है।
– रिजवाना ने वनों की कटाई, प्रदूषण, और अवैध भूमि विकास के खिलाफ अपनी आवाज उठाई है।
– उन्हें और उनके परिवार को कई धमकियां भी मिली थी।
– लेकिन पर्यावरण ह्रास (environmental degradation) और जलवायु परिवर्तन से हो रहे प्रभावों के लिए उन्होंने अपनी लड़ाई जारी रखी।
– रिजवाना को 2009 में गोल्‍डमैन एनवायरनमेंटल प्राइज भी मिल चुका है।
– 2009 में, रिजवाना हसन को टाइम पत्रिका द्वारा दुनिया के 40 पर्यावरण नायकों में नामित किया गया था।
– वर्ष 2012 में उनकी सक्रियता के लिए रेमन मैग्सेसे पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है।

एई थिंज़ार मौंग
– मौंग ने म्यांमार में रोहिंग्या सहित अन्य अल्पसंख्यक समूहों के मानवाधिकारों के लिए वकालत की।
– इन समुदायों के लिए समावेशी बहुदलीय लोकतंत्र (Inclusive multi-party democracy) की बात की।
– उन्हें 2015 में छात्र संघों पर प्रतिबंध और जातीय अल्पसंख्यक भाषाओं में शिक्षण कानून का विरोध करने के लिए जेल भी हुई थी।
– 1 फरवरी 2021 को म्‍यांमार में तख्‍तापलट के बाद शांतिपूर्ण प्रतिरोध के रूप में इनकी आवाज उभरी थी।

पुरस्कार के लिए चुनी गई 12 महिलाओं की सूची

(1) रिजवाना हसन (बांग्लादेश)
(2) सिमोन सिबिलियो डो नैसिमेंटो (ब्राज़ील)
(3) एई थिंज़ार मौंग (म्यांमार)
(4) जोसेफिना क्लिंगर ज़ुनिगा (कोलम्बिया)
(5) तैफ़ सामी मोहम्मद ( इराक़)
(6) फेशिया बोयेनोह हैरिस (लाइबेरिया)
(7) नजला मंगौश (लीबिया)
(8) डोइना गेर्मन (मोल्दोवा)
(9) भूमिका श्रेष्ठ (नेपाल)
(10) कारमेन घोरघे (रोमानिया)
(11) रोएगचंदा पास्को (दक्षिण अफ्रीका)
(12) फाम डोन ट्रांग (वियतनाम)

पुरस्कार के बारे में
– इस पुरस्कार की शुरुआत अमेरिकी विदेश विभाग ने वर्ष 2007 में की थी।
– पुरस्‍कार असाधारण साहस, ताकत और नेतृत्व वाली महिलाओं को सम्मानित करने के लिए दिया जाता है।
– पुरस्कार अब तक 80 देशों की 170 महिलाओं को दिया जा चुका है।

———————
9. सूअर (Pig) के हार्ट का ट्रांसप्लांट पाने वाले पहले व्यक्ति का निधन 8 मार्च 2022 को हो गया, उनका नाम बताएं?

a. जोन राइट
b. डेविड बेनेट
c. नॉथन मैग्रा
d. ड्राहिट सैम

Answer: b. डेविड बेनेट

– डेविड बेनेट एक अमेरिकी थे। 57 वर्ष के थे।
– उनका हार्ट ट्रांसप्लांट का ऑपरेशन 07 जनवरी 2022 हुआ था।
– वह ऐसे पहले व्यक्ति थे, जिनमें सफलतापूर्वक सूअर के हार्ट का ट्रांसप्लांट किया गया था।
– ट्रांसप्लांट होने के दो महीने बाद 08 मार्च 2022 को यूनिवर्सिटी ऑफ मैरीलैंड मेडिकल सेंटर में उनका निधन हो गया।
– वह कई महीनों से बिस्तर पर थे, हार्ट-लंग बाईपास मशीन के सहारे जी रहे थे।
– हालांकि डॉक्टरों ने उनके निधन का कोई सटीक कारण नहीं बताया।

यह एक बड़ी उपलब्धि क्यों है?
– पशुओं से मानव में ऑर्गन ट्रांसप्लांट के प्रयास सदियों से किए जा रहे हैं, लेकिन अभी तक सफलता नहीं मिली थी।
– क्‍योंकि ट्रांसप्‍लांट के कुछ घंटों के भीतर पेशेंट की मौत हो जाती थी।
– ऐसा पहली बार था कि पशु के अंग का ट्रांसप्‍लांट होने के दो महीने तक मरीज जीवित रहा।

कैसे ट्रांसप्लांट किया गया था?
– आमतौर पर मनुष्य के शरीर का इम्‍यून सिस्‍टम, किसी जानवर के ऑर्गेन को स्‍वीकार नहीं करता है।
– इसकी संभावना को कम करने के लिए सूअर को genetically मॉडिफाई किया था।
– वैज्ञानिकों ने सूअर के 10 जीन्‍स को एडिट किया।
– इनमें से छह ह्यूमन जीन्‍स को डोनर सूअर में डाला गया। ताकि सूअर के हार्ट को ह्यूमन इम्‍यून सिस्‍टम स्‍वीकार कर सके।
– इसके बाद डॉक्‍टर्स ने सूअर के हृदय को निकालकर मरीज में ट्रांसप्‍लांट किया।
– डाक्‍टर्स ने एंटी-रिजेक्शन दवाओं के साथ एक नए ड्रग्स का का भी इस्तेमाल किया, जो इम्‍यूनिटी को दबाने और शरीर को फॉरेन ऑर्गेन को अस्वीकार करने से रोकने के लिए उपयोग किए जाते हैं।

——————–
10. विश्व किडनी दिवस (World Kidney Day) कब मनाया जाता है?

a. मार्च के पहले बृहस्‍पतिवार
b. मार्च के चौथे बृहस्‍पतिवार
c. मार्च के दूसरे बृहस्‍पतिवार
d. मार्च के तीसरे बृहस्‍पतिवार

Answer: c. मार्च के दूसरे बृहस्‍पतिवार

– किडनी का कार्य शरीर से waste एवं तरल पदार्थों (liquids) को यूरीन के माध्यम से बॉडी से बाहर निकालना है।
– विश्व किडनी दिवस पहली बार वर्ष 2006 में मनाया गया था।
– इस दिवस को मनाने का उद्देश्य दुनिया में लगातार बढ़ रही किडनी की बीमारियों के मामलों को रोकना है।
– किडनी में पथरी (Stone) होना एक आम समस्या हो गई है, जिसका कारण शरीर में पानी की कमी या फिर पारिवारिक इतिहास बताया जाता है।

वर्ष 2022 की थीम- Kidney health for all

कैसे काम करती है किडनी?
1-
– किडनी हमारे शरीर में फ्लूइड को बैलेंस में रखती है। ब्‍लड में मौजूद वेस्‍ट को पहचानकर यूरिन के जरिए बाहर निकलता है। और जरूतर के मुताबिक विटामिंस, मिनिरल्‍स और हार्मोन को यूरिन में रिलीज नहीं होने देते है।

2-
– किडनी का मुख्‍य काम ब्‍लड को साफ करना और गंदगी को यूरिन के जरिए बाहर निकालना है।
– शरीर में मौजूद 8 लीटर ब्‍लड एक दिन में 20 से 25 बार किडनी से पास होता है।
– मतलब कि 180 लीटर लिक्विड यहां से हर 24 घंटे में गुजरता है।

3-
– ब्‍लड में मौजूद इन्‍ग्रीडिएंट्स (ingredients) आपके खाने और पीने के साथ-साथ लगातार बदलते रहते हैं।
– किडनी को परमानेंट ड्यूटी करना होता है। यह फिल्‍टर है, लेकिन ऐसा फिल्‍टर जो वेस्‍ट प्रोडक्‍ट को यूरिन के जरिए बाहर निकलता है।
– लेकिन जरूरी इन्‍ग्रीडिएंट्स जैसे विटामिन और मिनिरल्‍स को नहीं रोकता है।
– किडनी बॉडी में सोडियम, पोटैशियम और कैल्शियम आयरन के लेवल को कंट्रोल करता है।
– साथ में हार्मोन प्रोड्यूस करता है – जैसे रेनिन जो बीपी को कंट्रोल करता है और इरिथ्राोपॉटिन जो रेड ब्‍लड सेल्‍स बनाने में मदद करता है।
– इसके अलावा विटामिन डी का एक्टिव फॉर्म भी किडनी के जरिए ही होता है। बोन के रीडेवलपमेंट में काम आता है।

4-
– अगर किडनी को लगता है आपके शरीर में बहुत ज्‍यादा मात्रा में वॉटर है, तो वह इसे यूरिन के माध्‍यम से रिमूव करता है।
– अगर शरीर में कम वॉटर है, तो किडनी यह समझ लेता है और यूरिन में कम मात्रा में वाटर रिलीज करता है। इसी वजह से यूरिन पीला नजर आता है।
– शरीर में पानी को कंट्रोल करने के साथ-साथ किडनी, शरीर में फ्लूइड लेवेल को भी स्‍टेब‍िलाइज करता है।

5-
– बिना किडनी के हमारे शरीर में फ्लूइड कंट्रोल से बाहर हो जाएगा।
– हर बार जब हम भोजन करते हैं, तो ब्‍लड पर लोड बढ़ता है।

 


Free Download Notes PDF of Toady’s Current Affairs : – Click Here