Rajasthan Budget 2022-23

Rajasthan Budget 2022-23 Current Affairs

Spread the love

यह Rajasthan Budget 2022-23 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. राजस्थान सरकार ने बजट 2022-23 में कितने रुपए के खर्च का लक्ष्‍य रखा है?

a. 3.37 लाख करोड़ रुपए
b. 3.46 लाख करोड़ रुपए
c. 3.78 लाख करोड़ रुपए
d. 3.01 लाख करोड़ रुपए

Answer: b. 3.46 लाख करोड़ रुपए

– राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 23 फरवरी 2022 को वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए राज्य का बजट पेश किया।

# बजट में आय (Income) का लक्ष्‍य : 3.46 लाख करोड़
– राजस्व प्राप्तियां (Revenue Receipts) : 2.14 लाख करोड़
– पूंजीगत प्राप्तियां (Capital Receipts) : 1.31 लाख करोड़

इनकम के स्रोत (in percentages)
– State goods & Services Tax: 11.41%
– State Excise Duty: 4.33%
– Taxes on Vehicles: 2.02%
– Other Taxes: 3.40%
– Sales Taxes: 7.22%
– Non Tax Revenue: 6.40%
– Union Grant: 13.09%
– Share in Central Taxes: 14.21%
– Borrowings, Net of Public Account, Central Loans, Recoveries of Loans, Misc. Capital receipts and Contingency Fund: 37.92%

खर्च के स्रोत (in percentages)
– Loans & Advances: 0.06%
– Interest Payment: 8.33%
– Capital Outlay: 10.06%
– Repayment of Internal Debt, Central Loans & Appropriation to Contingency Fund: 21.00%
– Revenue expenditure (Excluding Interest Payment): 60.55%

————–
2. राजस्थान सरकार ने बजट 2022-23 में ग्रॉस स्टेट डोमेस्टिक प्रोडक्ट (GSDP) के ग्रोथ रेट का लक्ष्‍य कितना प्रतिशत रखा है?

a. 11.1%
b. 11.2%
c. 11.6%
d. 11.7%

Answer: c. 11.6%

– वर्ष 2022-23 के लिए राजस्थान की GSDP की ग्रोथ रेट का लक्ष्य 11.6% रखा गया है।
– 2022-23 (मौजूदा कीमतों पर) के लिए बिहार का सकल राज्य घरेलू उत्पाद GSDP 13,34,410 करोड़ रुपये होने का अनुमान है।
– वर्ष 2021-22 में GSDP 11,96,137 करोड़ रुपए था।

————-
3. राजस्थान सरकार ने बजट 2022-23 में राज्य के राजकोषीय घाटे (Fiscal deficit) का लक्ष्‍य GSDP का कितना प्रतिशत रखा है?

a. 1.36%
b. 2.36%
c. 4.36%
d. 5.36%

Answer: c. 4.36%

– रुपए में राजकोषीय घाटा 58.21 हजार करोड़ रुपए होने का अनुमान है।

Fiscal Deficit = Total Non Debt Expenditure- Total Non Debt Receipts

– Total Non Debt Expenditure मतलब बिना ऋण का कुल खर्च (Expenditure)
– Total Non Debt Receipts मतलब बिना ऋण की Revenue Receipts और Capital Receipts

– कुल व्यय (Total Expenditure) में से राजस्व प्राप्तियाँ, ऋणों की वसूली एवं ऋणों की वापसी (Total Non Debt Receipts) को घटाने के पश्चात जो राशि बचती है उसे राजकोषीय घाटा कहा जाता है ।

————
4. महत्वपूर्ण विभागों को बजट

– कृषि एवं सम्बद्ध सेवाएं: 11.5 हजार करोड़ रुपए
– ग्रामीण विकास: 28.05 हजार करोड़ रुपए
– विशेष क्षेत्र कार्यक्रम: 289 करोड़ रुपए
– सिंचाई एवं बाढ़ नियंत्रण: 6.13 हजार करोड़ रुपए
– विद्युत: 25.2 हजार करोड़ रुपए
– उद्योग एवं खनिज: 2.09 हजार करोड़
– परिवहन: 10.02 हजार करोड़ रुपए
– वैज्ञानिक सेवाएं: 24 करोड़ रुपए
– सामाजिक एवं सामुदायिक सेवाएं: 78.6 हजार करोड़ रुपए
– आर्थिक सेवाएं: 3.3 हजार करोड़ रुपए
– सामान्य सेवाएं: 4.1 हजार करोड़ रुपए

—————
5. मुख्य घोषाणाएं

– नवीन अंशदायी पेंशन योजना के स्थान पर पुरानी पेंशन योजना लागू की जायेगी
– शहर के क्षेत्रों में रोजगार के लिए ‘इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना’
– महात्मा गांधी नरेगा योजना के अंतर्गत 125 दिनों का रोजगार, जिसपर लगभग 750 करोड़ रुपए का खर्च
– स्कूली छात्रों के लिए तीन माह के Bridge Courses
– 118 लाख घरेलू उपभोक्ताओं को राहत-100 यूनिट तक प्रतिमाह उपभोग करने वालों को 50 यूनिट बिजली निःशुल्क।
– 150 यूनिट तक तीन रुपए प्रति यूनिट का अनुदान और 150 से 300 यूनिट तक के उपभोग पर दो रुपए प्रति यूनिट अनुदान, लगभग 4 हजार 500 करोड़ रुपए का भार
– कृषि विभाग के लिए 4,127.12 करोड़ का प्रावधान


Free Download Notes PDF of Toady’s Current Affairs : – Click Here