5th & 6th February 2022 Current Affairs PDF Hindi

5th & 6th February 2022 Current Affairs

Spread the love

5th & 6th February 2022 Current Affairs

यह 5th & 6th February 2022 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. लता मंगेशकर का निधन कोविड-19 की वजह से 6 फरवरी 2022 को हो गया, उन्‍हें किस वर्ष ‘भारत रत्‍न’ अवॉर्ड मिला था?

a. 1999
b. 2001
c. 2012
d. 2016

Answer: b. 2001

– उनका निधन 92 वर्ष की उम्र में 6 फरवरी 2022 को मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्‍पताल में हो गया।
– केंद्र सरकार ने उनके निधन पर दो दिन के राष्‍ट्रीय शोक की घोषणा की है।

बीमारी
– लता मंगेशकर लगभग दो साल से घर से नहीं निकली थीं।
– वह कभी-कभी सोशल मीडिया के जरिए अपने फैंस के लिए संदेश देती थीं।
– उनके घर के एक स्टॉफ मेंबर की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने के बाद उनका टेस्ट कराया गया था।
– 8 जनवरी को उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी।
– लता मंगेशकर को कोविड-19 का माइल्‍ड सिम्‍पटम था। उन्‍हें निमोनिया ने भी जकड़ लिया था।
– 29 दिनों तक बीमारी से जंग लड़ती रहीं और आखिरकार 6 फरवरी की सुबह 8.12 बजे अंतिम सांस ली।

कई नाम से लोकप्रिय
– वह स्वर कोकिला, दीदी और ताई जैसे नामों से लोकप्रिय थीं।

किस फिल्‍म के लिए आखिरी गाना गाया?
– उनका आखिरी गाना 2015 में आई फिल्म डुन्नो वाय में था।

बचपन
– लता मंगेशकर का जन्म 28 सितंबर 1929 को मध्य प्रदेश के ही इंदौर में हुआ था।
– उन्‍होंने 16 दिसंबर 2021 को ट्वीट करके बताया था कि 16 दिसंबर 1941 (12 वर्ष की उम्र में) को पहली बार स्‍टूडियो में दो गाने गाए थे।
– पहली बार गाने के अस्‍सी साल पूरे होने पर खुशी जाहिर की थी।
– उनके पिता पं. दीनानाथ मंगेशकर संगीत की दुनिया और मराठी रंगमंच के जाने पहचाने नाम थे।
– उन्होंने ही लता जी जो संगीत की शिक्षा दी थी।
– 5 भाई-बहनों में सबसे बड़ी लता मंगेशकर थीं।
– उनकी तीन बहनें आशा भोंसले, उषा मंगेशकर, मीना मंगेशकर और भाई हृदयनाथ मंगेशकर हैं।
– करीब 80 साल से संगीत की दुनिया में सक्रिय रहीं।

भारत रत्‍न
– लता मंगेशकर को 2001 में संगीत की दुनिया में उनके योगदान के लिए भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से नवाजा गया था।
– इसके पहले भी उन्हें कई सम्मान दिए गए, जिसमें पद्म विभूषण, पद्म भूषण और दादा साहेब फाल्के सम्मान भी शामिल हैं।

पुरस्कार
– फिल्म फेयर पुरस्कार (1958, 1962, 1965, 1969, 1993 and 1994)
– राष्ट्रीय पुरस्कार (1972, 1975 and 1990)
– महाराष्ट्र सरकार पुरस्कार (1966 and 1967)
– 1969 – पद्म भूषण
– 1974 – दुनिया में सबसे अधिक गीत गाने का गिनीज़ बुक रिकॉर्ड
– 1989 – दादा साहब फाल्के पुरस्कार
– 1993 – फिल्म फेयर का लाइफ टाइम अचीवमेंट पुरस्कार
– 1996 – स्क्रीन का लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार
– 1997 – राजीव गान्धी पुरस्कार
– 1999 – एन.टी.आर. पुरस्कार
– 1999 – पद्म विभूषण
– 1999 – ज़ी सिने का लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार
– 2000 – आई. आई. ए. एफ. का लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार
– 2001 – स्टारडस्ट का लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार
– 2001 – भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान “भारत रत्न”
– 2001 – नूरजहाँ पुरस्कार
– 2001 – महाराष्ट्र भूषण

फिल्मी करियर
– पिता की असामयिक मृत्यु की वज़ह से पैसों के लिये उन्हें कुछ हिन्दी और मराठी फ़िल्मों में काम करना पड़ा।
– अभिनेत्री के रूप में उनकी पहली फ़िल्म पाहिली मंगलागौर (1942) रही, जिसमें उन्होंने स्नेहप्रभा प्रधान की छोटी बहन की भूमिका निभाई। – बाद में उन्होंने कई फ़िल्मों में अभिनय किया जिनमें, माझे बाल, चिमुकला संसार (1943), गजभाऊ (1944), बड़ी माँ (1945), जीवन यात्रा (1946), माँद (1948), छत्रपति शिवाजी (1952) शामिल थी।

सिंगिंग करियर
– वर्ष 1942 ई में लताजी के पिताजी का देहांत हो गया इस समय इनकी आयु मात्र तेरह वर्ष थी।
– भाई बहिनों में बड़ी होने के कारण परिवार की जिम्मेदारी का बोझ भी उनके कंधों पर आ गया था।
– दूसरी ओर उन्हें अपने करियर की तलाश भी थी।
– लता का पहला गाना एक मराठी फिल्म कीति हसाल के लिए था, मगर वो रिलीज नहीं हो पाया.

गीत – ऐ मेरे वतन के लोगों
– लता मंगेशकर ने इस गीत को पहली बार 27 जनवरी 1963 को नई दिल्ली के नेशनल स्टेडियम में गया था।
– उस दौरान तत्कालीन राष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णन और तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू भी कार्यक्रम में मौजूद थे।
– इस गीत में 1962 में भारत-चीन युद्ध के दौरान मारे गए सैनिकों को याद किया गया है।
– लता मंगेशकर ने इस गाने को इस तरह से गाया कि हर भारतीय इस गाने को सुनकर उसमें खो जाता है।
– गाने को शब्द कवि प्रदीप ने दिए थे।
– इस गीत को संगीत से सजाया था सी.रामचंद्रा ने।

——————
2. शिक्षा मंत्रालय ने UGC (विश्वविद्यालय अनुदान आयोग) का नया चेयरमैन किसे नियुक्त किया?

a. अन्नकृष्ण रॉय
b. दिनेश प्रसाद सकलानी
c. एम जगदीश कुमार
d. देवेश श्रीवास्तव

Answer: c. एम जगदीश कुमार

– शिक्षा मंत्रालय ने 04 फरवरी 2022 को उन्‍हें नई जिम्‍मेदारी दी।
– उन्‍होंने UGC के पूर्व अध्यक्ष प्रो.धीरेन्द्र पाल सिंह की जगह ली।
– यूजीसी में एम जगदीश कुमार, का कार्यकाल पांच साल का होगा।

एम जगदीश कुमार के बारें में
– उनका पूरा नाम ममीदाला जगदीश कुमार है।
– वह मूल रूप से तेलंगाना के नलगोंडा जिले के मामीडाला के रहने वाले हैं।
– वर्तमान में वह जेएनयू (जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय) के कुलपति (VC) हैं और आईआईटी दिल्ली के इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विभाग में प्रोफेसर भी हैं।
– जनवरी 2016 में वह जेएनयू के वाइस चांसलर बनाये गए थे।

कुलपति रहते हुए कई विवाद में रहे
– जगदीश कुमार के कुलपति रहते हुए कई विवाद चर्चा में रहे हैं।
– उनके कार्यकाल में ही जेएनयू में छात्रों के बीच हिंसक झड़पें हुई।
– इस झड़प में कई छात्र बुरी तरह घायल हुए। कई छात्रों को इस दौरान अस्पताल में भर्ती भी कराना पड़ा।
– फिलहाल पुलिस इस मामले की तफ्तीश कर रही है और कई हमलावरों की पहचान अभी तक नहीं हो सकी है।
– इनके कार्यकाल में ही जेएनयू के छात्रों ने विश्वविद्यालय ऑफिस की तालाबंदी की थी।
– तत्कालीन छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार की गिरफ्तारी भी एक चर्चा का विषय रही है।

UGC (विश्वविद्यालय अनुदान आयोग)
– स्‍थापना – वर्ष 1953.
– मुख्‍यालय – नई दिल्‍ली.
– 1956 में संसद के एक कानून द्वारा इसे वैधानिक दर्जा मिला।
– यह एक आयोग है, जो यूनिवर्सिटी को मान्यता देता है।
– केंद्र सरकार UGC के माध्‍यम से सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों को अनुदान देता है।
– इसके छह क्षेत्रीय कार्यालय पुणे, भोपाल, कोलकाता, हैदराबाद, गुवाहाटी एवं बेंगलुरु में स्थित हैं।

—————-
3. राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (NCERT) के नये निदेशक कौन नियुक्त किए गए?

a. दिनेश प्रसाद सकलानी
b. विजय यादव
c. रामप्रकाश मिश्र
d. ऋषिकेश सेनापति

Answer: a. दिनेश प्रसाद सकलानी

– शिक्षा मंत्रालय ने 4 फरवरी 2022 को उन्‍हें NERT का नया डायरेक्‍ट बनाया है।
– उनका कार्यकाल पांच वर्षों का होगा।
– वह NCERT के पूर्व निदेशक हृषिकेश सेनापति की जगह लेंगे।
– परिषद के नए प्रमुख के रूप में वह नए National Curriculum Framework (NCF) के प्रारूपण (drafting) की देखरेख भी करेंगे।

दिनेश प्रसाद सकलानी के बारें में
– वह उत्तराखंड के हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय में इतिहास के प्रोफेसर भी हैं।
– उन्होंने Ancient communities of the central Himalaya region और Ramayana Tradition in Historical Perspective जैसी पुस्तके भी लिखी हैं।

NCERT
स्‍थापना – 27 जुलाई 1961
मुख्‍यालय – दिल्‍ली
इसके पदेन अध्‍यक्ष शिक्षा मंत्री होते हैं।
मकसद – स्‍कूली शिक्षा से जुड़े मामलों पर केन्द्रीय सरकार एवं प्रान्तीय सरकारों को सलाह देना।
– यह भारत में स्कूली शिक्षा संबंधी सभी नीतियों पर कार्य करती है।
– देश में शिक्षा पाठ्यक्रम बनाना और बदलाव को लागू करना।

—————
4. बीजिंग विंटर ओलंपिक 2022 में भारत के एकमात्र खिलाड़ी कौन हैं, जिन्‍होंने भारतीय ध्‍वजवाहक की भूमिका भी निभाई?

a. नीरज चोपड़ा
b. आरिफ मोहम्मद खान
c. विजय कुलकर्णी
d. मंदीप सिंह

Answer: b. आरिफ मोहम्मद खान

– बीजिंग शीतकालीन ओलंपिक का उद्घाटन समारोह 4 फरवरी 2022 को हुई।
– इस ओलंपिक में एकमात्र खिलाड़ी आर‍िफ मोहम्‍मद खान ने क्‍वालिफाई किया है।
– शीतकालीन ओलंपिक में बर्फ में खेले जाने वाले गेम्‍स होते हैं।
– इस वजह से ओलंपिक के उद्धाटन समारोह में भारत की ओर से स्कीयर आरिफ मोहम्मद खान ध्वजवाहक बने।
– उन्होने भारतीय दल की अगुआई की। अन्‍य सदस्‍यों में भारत ने एक कोच, एक तकनीशियन और एक टीम मैनेजर सहित कुल छह लोग हैं।
– आरिफ विंटर ओलिंपिक के इतिहास में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले 16वें एथलीट बनेंगे।

आरिफ मोहम्मद खान के बारे में
– आरिफ मोहम्मद खान जम्मू-कश्मीर के रहने वाले हैं।
– वह बीजिंग 2022 के लिए क्वालीफाई करने वाले इकलौते भारतीय एथलीट हैं।
– वह स्लैलम और जाएंट स्लैलम में लिए क्वालीफाई करने वाले पहले भारतीय हैं।
– उन्होंने 2011 में दक्षिण एशियाई शीतकालीन खेलों में स्लैलम और जाएंट स्लैलम की दोनों स्पर्धाओं में दो स्वर्ण पदक हासिल किए थें।

बीजिंग ओलंपिक 2022 के लिए गेम्स और इवेट का स्ट्राक्चर
– बीजिंग विंटर ओलिंपिक में 7 खेलों के लिए 109 इवेंट आयोजित किए जा रहे हैं।
– कुल 109 गोल्ड मेडल के लिए मुकाबले कराए जाएंगे।
– 91 देशों के 2871 एथलीट इसमें हिस्सा लेंगे।
– इस ओलंपिक में 1581 पुरुष और 1290 महिला एथलीट हिस्सा लेंगे।

विंटर ओलंपिक के बारे में
– शुरुआत – 1924 में फ्रांस के शहर चामोनिक्स में पहला आयोजन।
– साल 1924 से लेकर 1992 तक विंटर ओलिंपिक का आयोजन समर ओलिंपिक वाले साल में ही होता था।
– लेकिन बाद में दोनों इवेंट को दो-दो साल के अन्तराल पर आयोजित किया जाने लगा।
– अब अंतरराष्ट्रीय ओलिंपिक समिति के द्वारा हर चार साल बाद इस ओलंपिक गेम का आयोजन किया जाता है।
– चीन का बीजिंग ऐसा पहला शहर है, जहां समर और विंटर ओलंपिक आयोजित हुआ है।

विंटर ओलिंपिक में किस देश का दबदबा
– विंटर ओलिंपिक में नॉर्वे सबसे मजबूत देश रहा हैं।
– नॉर्वे ने अब तक कुल 368 मेडल जीते हैं जिनमें से 132 गोल्ड हैं।
– इस सूची में अमेरिका दूसरे स्थान पर है।
– अमेरिका ने कुल 305 मेडल जीते हैं जिनमें से 105 गोल्ड हैं।
– जर्मनी ने कुल 240 मेडल जीते है जिनमें 92 गोल्ड है और यह देश तीसरे स्थान पर है।
– चीन 17वें स्थान पर है, उसने 62 मेडल जीते जिसमें 13 गोल्ड हैं।

——————
5. किस राज्‍य के बखिरा वाइल्‍डलाइफ सेंचुरी को वैश्विक रामसर स्‍थल सूची में शामिल किया गया?

a. राजस्‍थान
b. उत्तर प्रदेश
c. महाराष्‍ट्र
d. गुजरात

Answer: b. उत्तर प्रदेश

– फरवरी 2022 में बखिरा वाइल्‍डलाइफ सेंचुरी यूपी का 9वां रामसर स्‍थल बन गया है।
– यह घोषणा ईरान के रामसर सचिवालय द्वारा इंटरनेशनल वेटलैंड्स डे के मौके पर 2 फरवरी 2022 की गई।
– बखिरा वाइल्‍डलाइफ सेंचुरी सहित भारत के दो नए रामसर स्‍थल घोषित हुए।
– इसी के साथ भारत के रामसर स्‍थलों की संख्‍या 49 हो गई है।
– इसे 1971 के रामसर कन्‍वेंशन ऑन वेटलैंड्स के तहत मान्‍यता दी गई है।

बखिरा वाइल्‍डलाइफ सेंचुरी
– यह उत्‍तर प्रदेश के संत कबीर नगर जिले में स्थित है। गोरखपुर से 44 किलोमीटर की दूरी पर है।
– इसका एरिया 29 स्‍क्‍वायर किलोमीटर है।
– इसे 1980 में स्थापित किया गया था।
– यह देश के बड़े नेचुरल फ्लड प्‍लेन वेटलैंड्स में से एक है।
– यहां तिब्‍बत, चीन, यूरोप और सर्बिया के पक्षी यहां आते हैं। कुछ देशों से तो ये पक्षी 5000 किलोमीटर की यात्रा करके आते हैं।
– इस अभयारण्य में पाए जाने वाले खूबसूरत जल पक्षियों (water animals) में से एक है ‘ग्रे-हेडिंग स्विम्पेन’ (पोर्फिरियो पोलिओसेफलस) जिसे भारतीय बैंगनी मुरहेन या बैंगनी स्वैम्प-हेन भी कहा जाता है।

——————-
6. किस राज्‍य के खिजादिया बर्ड सेंचुरी को वैश्विक रामसर स्‍थल सूची में शामिल किया गया?

a. राजस्‍थान
b. उत्तर प्रदेश
c. महाराष्‍ट्र
d. गुजरात

Answer: d. गुजरात

– यूपी का बखिरा वाइल्‍डलाइफ सेंचुरी (Bakhira wildlife sanctuary) और गुजरात का खिजादिया बर्ड सेंचुरी (Khijadiya Bird Sanctuary) के नए रामसर स्‍थल बनने से भारत में कुल रामसर स्‍थल की संख्‍या 49 हो गई है।
– अब गुजरात में चार रामसर स्थल बन गए हैं – नालसरोवर पक्षी अभयारण्य, थोल वन्यजीव अभयारण्य और वाधवाना आर्द्रभूमि और बखिरा वन्‍यजीव अभ्‍यारण्‍य।

खिजादिया बर्ड सेंचुरी
– यह गुजरात के जामनगर जिले में स्थित है।
– इसे 1982 में सेंचुरी घोषित किया गया था।
– कुल एरिया 6.05 स्‍क्‍वायर किलोमीटर है।
– खिजादिया बर्ड सेंचुरी में दोनों ओर साफ पानी की झील हैं।
– इसका गठन एक बांध के निर्माण के बाद 1920 में किया गया था।
– इसमें चिडि़यों की 310 प्रजातियां रहती हैं।
– इस खिजादिया सेंचुरी में 165,000 से अधिक जलपक्षी (waterbirds) गिने गए हैं।
– प्रसिद्ध पक्षी विज्ञानी (Renowned ornithologist) सलीम अली ने 1984 में यहां पर 104 प्रजातियों की संख्‍या बताई थी।

रामसर स्‍थल क्‍यों कहते हैं?
– रामसर, ईरान का एक शहर है।
– यहां पर 2 फरवरी, 1971 को रामसर आर्द्रभूमि समझौता (Ramsar Convention on Wetlands) पर दुनिया के देशों ने सिग्‍नेचर किए थे।
– इसलिए इसे रामसर संधि कहा जाता है. कुछ लोग इस संधि को आर्द्रभूमि संधि (Wetland Convention) भी कहते हैं।
– यह 1975 में लागू हुई।
– इस संधि का औपचारिक नाम है – अंतर्राष्ट्रीय महत्त्व, विशेषकर जल पक्षी आवास के रूप में आर्द्रभूमियों के विषय में संधि।
– यह एक अंतर-सरकारी संधि है जो आर्द्रभूमि के संरक्षण और समुचित उपयोग के सम्बन्ध में मार्गदर्शन करती है।
– भारत ने 1982 में इस संधि पर हस्ताक्षर किए।
– भारत में आर्द्रभूमि (वेटलैंड) के संरक्षण के मामलों के लिए केन्द्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु-परिवर्तन मंत्रालय नोडल मंत्रालय घोषित है।

6 फरवरी 2021 तक भारत में कुल रामसर स्‍थल-
1. अस्थमुड़ी वेटलैंड, केरल
2. ब्यास कंजर्वेशन रिजर्व, पंजाब
3. भितरकनिका मैंग्रोव, उड़ीसा
4. भोज वेटलैंड्स, मप्र
5. चंदेरटल वेटलैंड, हिमाचल प्रदेश
6. चिल्का झील, उड़ीसा
7. दीपोर बील, असम
8. पूर्वी कोलकाता वेटलैंड्स, पश्चिम बंगाल
9. हरिके झील, पंजाब
10. होकेरा वेटलैंड, जम्मू और कश्मीर
11. कांजली झील, पंजाब
12. केवलादेव घाना एनपी, राजस्थान
13. केशोपुर-मियां सामुदायिक रिजर्व, पंजाब
14. कोल्लेरू झील, आंध्र प्रदेश
15. लोकतक झील, मणिपुर
16. नालसरोवर पक्षी अभयारण्य, गुजरात
17. नंदुर मदमहेश्वर, महाराष्ट्र
18. नांगल वन्यजीव अभयारण्य, पंजाब
19. नवाबगंज पक्षी अभयारण्य, उत्तर प्रदेश
20. पार्वती आगरा पक्षी अभयारण्य, उत्तर प्रदेश
21. प्वाइंट कैलिमेरे वन्यजीव और पक्षी अभयारण्य, तमिलनाडु
22. पोंग डैम झील, हिमाचल प्रदेश
23. रेणुका वेटलैंड, हिमाचल प्रदेश
24. रोपड़ झील, पंजाब
25. रुद्रसागर झील, त्रिपुरा
26. समन पक्षी अभयारण्य, उत्तर प्रदेश
27. समसपुर पक्षी अभयारण्य, उत्तर प्रदेश
28. सांभर झील, राजस्थान
29. सांडी पक्षी अभयारण्य, उत्तर प्रदेश
30. सरसई नवर, उत्तर प्रदेश
31. सस्तमकोट्टा झील, केरल
32. सुंदरबन वेटलैंड, पश्चिम बंगाल
33. सुरिंसार-मानसर झीलें, जम्मू और कश्मीर
34. त्सोमोरिरी झील, जम्मू और कश्मीर
35. ऊपरी गंगा नदी, यूपी
36. वेम्बनाड कोल वेटलैंड, केरल
37. वुलर झील, जम्मू और कश्मीर
38. आसन कंजर्वेशि‍न रिजर्व, उत्तराखंड
39. काबरताल (कांवर झील), बिहार
40. कीठम झील (सूरसरोवर) , यूपी
41. लोनार झील, महाराष्ट्र
42. ‘स्तार्तासापुक त्‍सो’ और ‘त्‍सो कर’ झील, लद्दाख
43. सुल्‍तानपुर राष्‍ट्रीय उद्यान, हरियाणा
44. भिड़ावास वन्‍यजीव अभ्‍यारण, हरियाणा
45. थोल झील वन्‍यजीव अभ्‍यारण, गुजरात
46. वाधवाना आर्द्रभूमि क्षेत्र, गुजरात
47. हैदरपुर वेटलैंड, उत्तर प्रदेश
48. खिजादिया बर्ड सेंचुरी, गुजरात
49. बखिरा वाइल्डलाइफ सेंचुरी, उत्‍तर प्रदेश

टॉप प्रश्‍न,
– भारत का सबसे बड़ा रामसर स्‍थल- सुंदरबन वेटलैंड (4230 वर्ग किमी)
– भारत का सबसे छोटा रामसर स्‍थल- रेणुका वेटलैंड (0.2 वर्ग किमी)
– भारत का सबसे पहला रामसर साइट- चिलका झील ओडि़शा और केवलादेव राष्‍ट्रीय उद्यान राजस्‍थान
– दुनिया का सबसे पहला रामसर साइट- (कोबोर प्रायद्वीप ऑस्‍ट्रेलिया)
– दुनिया में कुल फ्लाइवे – 9. (फ्लाइवे का मतलब कि प्रवासी पक्षियों के उड़ने का रूट। भारत मध्‍य एशिया फ्लाइवे में आता है।)

——————
7. ‘यूक्रेन पर रूसी हमले का खतरा’ विषय पर UNSC में चर्चा के लिए हुए वोटिंग में भारत सहित कौन से देश शामिल नहीं हुए?

a. गैबॉन और केन्‍या
b. गैबॉन और चीन
c. केन्‍या और रूस
d. इनमें से कोई नहीं

Answer: a. गैबॉन और केन्‍या

– अगर भारत रूस के पक्ष में वोट देता तो इससे अमेरिका समेत कई पश्चिमी देश नाराज हो सकते थे।
– वहीं, अगर भारत यूक्रेन के समर्थन करता तो इससे रूस के साथ रिश्तों पर गंभीर असर पड़ सकता था।
– ऐसे में भारत ने बीच का रास्ता चुनते हुए मतदान से दूरी बनाए रखी। रूस ने इसकी तारीफ की है।

क्‍या है मामला
– यूक्रेन सोवियत संघ का हिस्‍सा रहा है। लेकिन सोवियत संघ के विखंडन के बाद 1991 में यह अलग देश बना।
– दिसंबर 2021 में यूक्रेन के प्रेसिडेंट व्‍लादिमीर जेलेंस्‍की और नेटो चीफ जेंस स्‍टॉल्‍टेन्‍बर्ग के बीच मीटिंग हुई थी।
– इस मीटिंग में यूक्रेन ने वादा किया कि वह रूस के विरोध के बावजूद नाटो जॉइन करेगा।
– इसी से रूस नाराज हो गया। पुतिन ने कहा कि यूक्रेन को नाटो का सदस्‍य नहीं बनने देना चाहिए और पूर्वी यूरोप में सैन्‍य गतिविध रोक देनी चाहिए।
– इसके के बाद रूस ने यूक्रेन बॉर्डर पर अपने 1 लाख से ज्यादा सोल्जर, टैंक और मिसाइलें तैनात कर दी हैं।
– दूसरी तरफ अमेरिका और उसके मित्र देश यूक्रेन के समर्थन में सैन्‍य तैयारी कर रहे हैं। अमेरिका ने कहा कि रूस हमला करने वाला है।
– यूक्रेन के नाटो में शामिल होने से रूस को क्‍या दिक्‍कत : यूक्रेन का करीब 2295 किलोमीटर लंबा बॉर्डर रूस के साथ है। यूक्रेन के नाटो में शामिल होने से रूस खुद को खतरे में महसूस कर रहा है।

UNSC में चर्चा के लिए वोटिंग में कौन किस तरफ रहा
– एक फरवरी 2022 को वोटिंग इस विषय पर थी कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) में यूक्रेन पर रूसी हमले के ख़तरे को लेकर चर्चा होनी चाहिए या नहीं।
– अमेरिका और उसके सहयोगी देश चाहते थे कि चर्चा हो और रूस चाहता था कि चर्चा ना हो।
– इस पर वोटिंग से भारत बाहर रहा। ऐसा करने को रूस और अमेरिका के बीच संतुलनवादी क़दम के तौर पर देखा जा रहा है।
– वोटिंग में वीटो का प्रावधान नहीं था।
– अमेरिका के अनुरोध पर हुई बैठक के लिए परिषद को नौ मतों की आवश्यकता थी।
– ऐसे में कुल UNSC के 15 सदस्‍यों में से दो सदस्‍य रूस और चीन ने खिलाफ में वोट दिया। मतलब रूस को सिर्फ चीन का समर्थन मिला।
– लेकिन भारत ने अप्रत्यक्ष रूप से रूस का समर्थन किया। भारत, कीनिया और गेबॉन वोटिंग से बाहर रहे।
– अमेरिका के नेतृत्व में 10 देशों ने चर्चा के पक्ष में वोटिंग की।

– संयुक्त राष्ट्र में रूसी राजदूत ने भारत के वोटिंग से बाहर रहने की तारीफ़ की है।

भारत ने क्या कहा?
– भारत ने UNSC में कहा कि वह रूस और अमेरिका के बीच चल रही उच्च-स्तरीय सुरक्षा वार्ता के साथ-साथ पेरिस में नॉरमैंडी प्रारूप के तहत यूक्रेन से संबंधित घटनाक्रम पर अपनी नजर रख रहा हैं।
– भारत ने कहा कि उसका हित एक ऐसा समाधान खोजने में है जो सभी देशों के वैध सुरक्षा हितों को ध्यान में रखते हुए तनाव को तुंरत कम कर सके। और इसका उद्देश्य क्षेत्र तथा उसके बाहर शांति और स्थिरता को पाना हो।
– इस समय सभी को शांति और रचनात्मक कूटनीति की जरूरत हैं।
– अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शांति और सुरक्षा स्थापित करने के लिए सभी पक्षों को तनाव बढ़ाने वाली चीजों से दूर रहना चाहिए।

रूस और अमेरिका ने यूक्रेन के मुद्दे के बारें में क्या बोला?
– UNSC में रूस ने कहा कि अमेरिका, यूक्रेन के मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद में बहस करवा कर फालतू का विवाद बढ़ाना चाहता हैं।
– रूस के इस जवाब पर पलटवार करते हुए अमेरिका ने कहा कि यूक्रेन की सीमा पर रूस ने एक लाख सैनिकों की तैनाती की हैं।
– इसीलिए सुरक्षा परिषद में यूक्रेन मुद्दे पर बहस करना उचित हैं।

क्रीमिया पर रूसी कब्‍जे के समय भी भारत का रुख यही था
– मार्च 2014 में रूस ने जब क्राइमिया को अपने में मिलाया था तब भी भारत का यही रुख था।
– तब प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह थे. तब रूस के ख़िलाफ़ यूक्रेन के प्रस्ताव पर भारत वोटिंग से बाहर रहा था। दूसरी तरफ़ अमेरिका और यूरोपियन यूनियन संयुक्त राष्ट्र में रूस को घेरना चाहते थे।

UN
महासचिव – एंटोनियो गुटेरिस
यूएन में भारत के स्‍थाई प्रतिनिधि – टीएस तिरुमूर्ति

रूस
प्रेसिडेंट- व्‍लादिमीर पुतिन
कैपिटल- मास्‍को

यूक्रेन
प्रेसिडेंट- वोलोडिमिर ज़ेलेंस्की
कैपिटल-कीव

——————–
8. NHRC की लघु फिल्म पुरस्कार प्रतियोगिता में किस मूवी ने प्रथम पुरस्कार जीता?

a. स्ट्रीट स्टूडेंट
b. रज रज चोर
c. पागल
d. कॉलिफ्लोर

Answer: a. स्ट्रीट स्टूडेंट

– यह तेलुगु शॉर्ट फिल्‍म है।
– राष्‍ट्रीय मावाधिकार आयोग (NHRC) ने कुल 190 शॉर्ट फिल्‍म में से इसका चयन किया।
– विजता फिल्‍म ‘स्‍ट्रीट स्‍टूडेंट’ को 2 लाख रुपए नकद दिए गए हैं।
– NHRC लघु फिल्म पुरस्कार योजना का उद्देश्य मानव अधिकारों के संवर्धन (promotion) की दिशा में सिनेमा के प्रयासों को प्रोत्साहित (encouraged) करना है।

मूवी ‘स्‍ट्रीट स्‍टूडेंट’ के बारे में –
– ‘स्ट्रीट स्टूडेंट’ मूवी शिक्षा के अधिकार और समाज को इसका समर्थन करने की आवश्यकता पर संदेश देती है।
– इसमें सड़क पर रहने वाले व्यक्ति की कहानी दिखाई गई है।

दूसरा पुस्‍कार किसे मिला?
– ‘करफ्यू’ मूवी को दूसरे नंबर का पुरस्‍कार मिला है।
– इसका निर्माण श्रीरोमी मैतेई ने किया है।
– अवॉर्ड के तौर इस मूवी को 1.5 लाख रुपये कैश मिले।
– इसमें मूवी में मणिपुर में एक बच्चे की कहानी दिखाई है जो एक बेहतर दुनिया की उम्मीद करती है, जिसमें लोगों के जीवन के अधिकार, स्वतंत्रता, गरिमा और समानता मिले।
– यह अंग्रेजी में उप-शीर्षक के साथ ‘मीटिलॉन’ (मणिपुरी) भाषा में है।

तीसरा पुरस्‍कार
– नीलेश अंबेडकर की ‘मुंघ्यार’ को 1 लाख रुपये के तीसरे पुरस्कार के लिए चुना गया है।
– यह फिल्म जाति और पंथ के आधार पर भेदभाव के शिकार लोगों की एक मार्मिक कहानी है। इसमें बताया गया है कि इस तरह का भेदभाव जीवन, स्वतंत्रता, समानता और गरिमा के अधिकार उल्लंघन के समान है।
– यह मराठी भाषा में अंग्रेजी में उपशीर्षक के साथ है।

NHRC
चेयरमैन – जस्टिस अरुण मिश्रा
स्‍थापना – 12 October 1993
मुख्‍यालय – नई दिल्‍ली

——————
9. महालेखा नियंत्रक (Controller General of Accounts-CGA) का प्रभार किसे दिया गया है?

a. आशी राठौर
b. अमित शिवहरे
c. सोनाली सिंह
d. आशा तेजवानी

Answer: c. सोनाली सिंह

– केंद्र सरकार ने दीपक दास के रिटायर होने के बाद अतिरिक्त लेखा महानियंत्रक सोनाली सिंह को लेखा महानियंत्रक (CGA) का प्रभार दिया है।
– सोनाली को से अतिरिक्‍त प्रभार 1 फरवरी 2022 से दिया गया है।
– सोनाली भारतीय सिविल लेखा सेवा (ICAS) के 1987 बैच की अधिकारी हैं।
– इससे पहले, उन्होंने केंद्रीय सतर्कता आयोग (Central Vigilance Commission) में अतिरिक्त सचिव के रूप में भी काम किया था।

CGA का काम?
– CGA लेखा मामलों पर केंद्र सरकार का प्रधान सलाहकार (Principal Advisor) होता है।
– केंद्र सरकार के खातों (Accounts) को तैयार करने और जमा करने की जिम्मेदारी CGA होती है।
– राजकोष नियंत्रण (exchequer control) और आंतरिक लेखा परीक्षा (internal audits) के लिए भी जिम्मेदार CGA होता है।
– राजकोषीय घाटा भी यही कैल्कुलेट करते हैं।

——————-
10. विश्‍व कैंसर दिवस (World Cancer Day) कब मनाया जाता है?

a. 5 फरवरी
b. 4 फरवरी
c. 3 फरवरी
d. 2 फरवरी

Answer: b. 4 फरवरी

– कैंसर रोगियों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार लाने और बीमारी के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए एक अलग विषय के साथ ये दिवस मनाया जाता है।
– फ्रांस (पेरिस) में न्यू मिलेनियम के लिए विश्व कैंसर सम्मेलन के दौरान 4 फरवरी, 2000 को यह दिन अस्तित्व में आया।

वर्ष 2022 की थीम- “क्लोज द केयरगैप” (Close The Care Gap)

—————–
11. ‘स्टैच्यू ऑफ इक्वैलिटी’ नाम से PM नरेंद्र मोदी ने वैष्‍णव संप्रदाय के किस संत की मूर्ति (216 फीट ऊंची) का उद्घाटन किया?

a. स्‍वामी रामानुजाचार्य
b. स्‍वामी विवेकानंद
c. स्‍वामी राघवेंद्राचार्य
d. स्‍वामी विश्‍वेश्‍वरानंद

Answer: a. स्‍वामी रामानुजाचार्य

– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 5 फरवरी 2022 को इस मूर्ति का इनॉगरेशन किया।
– इस मूर्ति की स्‍थापना तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में हुई है।
– मूर्ति को ‘स्टैच्यू ऑफ इक्वैलिटी’ नाम दिया गया है।
– इस मूर्ति का उद्घाटन, रामानुजाचार्य की 1000वीं जयंती समारोह का एक भाग है।
– प्रतिमा बनाने में 1800 टन से अधिक पंच लोहा का उपयोग किया गया है।
– पार्क के चारों ओर 108 दिव्यदेशम या मंदिर बनाए गए हैं।

स्वामी रामानुजाचार्य
– स्वामी रामानुजाचार्य वैष्णव संप्रदाय के संत थे।
– उनका जन्म एक हजार साल पहले वर्ष 1017 में तमिलनाडु के श्रीपेरंबुदूर में हुआ था।
– रामानुजाचार्य ने आस्था, जाति और पंथ सहित जीवन के सभी पहलुओं में समानता के विचार को बढ़ावा दिया था।
– इसलिए इस मूर्ति को स्‍टेच्‍यू आफ इक्विलिटी का नाम दिया गया।
– आपको बता दें कि यह प्रतिमा ‘पंचलोहा’ से बनी है।

– इस प्रोजेक्ट पर 1400 करोड़ रुपए से भी ज्यादा खर्च हुए हैं।
– जो अयोध्या में 1100 करोड़ की लागत से बन रहे राम मंदिर से भी ज्यादा हैं।

तेलंगाना
सीएम – के चंद्रशेखर राव
गवर्नर – तमिलसाई सौंदरराजन

——————
12. रिजर्व बैंक ने (RBI) ने इंडिपेंडेंस को-ऑपरेटिव बैंक का लाइसेंस रद्द किया, ये किस राज्‍य में है?

a. महाराष्ट्र
b. उत्‍तर प्रदेश
c. मध्‍य प्रदेश
d. राजस्‍थान

Answer: a. महाराष्ट्र

– RBI ने महाराष्ट्र के नासिक जिले के इंडिपेंडेंस को-ऑपरेटिव बैंक का लाइसेंस रद्द किया।
– केंद्रीय बैंक ने कहा है कि इस सहकारी बैंक के पास न तो पर्याप्त पूंजी है और न ही इसकी ओर से कमाई की कोई खास संभावनाएं हैं।
– इस वजह से यह कदम उठाया गया।
– RBI ने 3 फरवरी 2022 से ही बैंक की गतिविधियां बंद कर दीं।
– बताया गया है कि लिक्विडेशन (परिसमापन) के बाद बैंक के जमाकर्ता को जमा बीमा और ऋण गारंटी निगम (डीआईसीजीसी) से पांच लाख रुपये तक की सीमा में जमा बीमा राशि मिलेगी।

——————
13. अंतरराष्ट्रीय मानव बंधुत्व दिवस (International Day of Human Fraternity) कब मनाया जाता है?

a. 7 फरवरी
b. 6 फरवरी
c. 5 फरवरी
d. 4 फरवरी

Answer: d. 4 फरवरी

– इस दिन का उद्देश्य कई संस्कृतियों धर्मों के बारे में जागरूकता बढ़ाना है।
– संयुक्त राष्ट्र (UN) ने 4 फरवरी 2019 को अबू धाबी में पोप फ्रांसिस और शेख अहमद अल-तैयब के साथ एक प्रस्‍ताव पर हस्‍ताक्षर कर इस दिवस को घोषित किया।
– इसका मकसद अंतरधार्मिक और बहुसांस्कृतिक समझ का उत्सव मनाना है।


Free Download Notes PDF of Toady’s Current Affairs : – Click Here


Buy eBooks & PDF