3 & 4 June 2022 Current Affairs

Spread the love

यह 3 & 4 June 2022 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. जापान के सुपरकंप्यूटर ‘फुगाकू’ को पछाड़कर दुनिया का सबसे तेज सुपरकंप्यूटर कौन बना?

a. परम सिद्धि AI
b. फ्रंटियर
c. लुमी
d. परम पोरुल

Answer: b. फ्रंटियर

– दुनिया में हर तरह की रेस जारी है। ऐसी ही एक रेस कंप्यूटर की दुनिया में है।
– दुनिया के 500 सबसे तेज सुपरकंप्यूटर की लिस्ट जारी हुई है।
– जून 2022 की TOP 500 लिस्‍ट के अनुसार अब ‘फ्रंटियर’ दुनिया का सबसे तेज सुपरकंप्‍यूटर बन गया है।
– यह सुपरकंप्यूटर अमेरिका का है।

सुपर कंप्‍यूटर की स्‍पीड
– ‘फ्रंटियर’ ने जापान के सुपरकंप्यूटर ‘फुगाकू’ (स्‍पीड 442 पेटाफ्लॉप) को पछाड़ दिया।
– सुपरकंप्‍यूटर ‘फ्रंटियर’ ने एक एक्साफ्लॉप (exaflops) से ज्यादा की स्‍पीड प्राप्‍त कर ली है।
– इसकी स्‍पीड 1.102 एक्साफ्लॉप रिकॉर्ड की गई।
– इसने ‘फुगाकू’ की स्पीड का रिकॉर्ड तोड़ दिया है।
– एक एक्साफ्लॉप=1000 पेटाफ्लॉप होता है।

फ्रंटियर
– इस सुपरकंप्यूटर को अमेरिकी ऊर्जा विभाग के ओक रिज नेशनल लेबोरेटरी (ORNL) के लिए बनाया गया है।
– इसमें कुल 8,730,112 कोर (छोटे सीपीयू या प्रोसेसर) है।
– यह नए HPE Cray EX235a आर्किटेक्चर पर बनाया गया है।
– यह AMD EPYC 64C 2 GHz प्रोसेसर के साथ काम करता है।
– ग्रीन 500 सूची में ‘फ्रंटियर’ को दुनिया के सबसे अधिक ऊर्जा-कुशल (ग्रीन लिस्‍ट) सुपरकंप्यूटर के रूप में भी नंबर एक स्थान दिया गया है।
– क्योंकि यह प्रति वाट 52.23 गीगा फ्लॉप प्रदर्शन के साथ सुपरकंप्यूटिंग ऊर्जा उपयोग और दक्षता (efficiency) को मापता है।
– इससे यह 32% अधिक ऊर्जा-कुशल बन जाता है।

फ्रंटियर की स्पीड और भी बढ़ सकती है
– ऐसा मानना है कि इस सुपरकंप्यूटर की स्पीड 2 एक्साफ्लॉप तक हो सकती है।

दुनिया के टॉप-10 तेज सुपरकंप्यूटर
1. फ्रंटियर (स्पीड: 1.102 एक्साफ्लॉप) [अमेरिका]
2. फुगाकू (स्पीड: 442 पेटाफ्लॉप) [जापान]
3. लुमी (स्पीड: 151.9 पेटाफ्लॉप) [फिनलैंड]
4. समिट (स्पीड: 148.8 पेटाफ्लॉप) [अमेरिका]
5. सिएरा (स्पीड: 94.6 पेटाफ्लॉप) [अमेरिका]
6. सनवे ताइहुलाइट (स्पीड: 93 पेटाफ्लॉप) [चीन]
7. पर्लमटर (स्पीड: 64.6 पेटाफ्लॉप) [अमेरिका]
8. सेलेन (स्पीड: 63.4 पेटाफ्लॉप) [अमेरिका]
9. टियान-2 ए (मिल्की वे-2ए) (स्पीड: 61.4 पेटाफ्लॉप) [चीन]
10. एडस्ट्रा (स्पीड: 46.1 पेटाफ्लॉप) [फ्रांस]

—————-
2. भारत के सबसे तेज सुपरकंप्‍यूटर का नाम बताएं?

a. परम सिद्धि AI
b. प्रत्युष
c. मिहिर
d. परम अनंत

Answer: a. परम सिद्धि AI

– इसकी स्‍पीड 4.62 पेटाफ्लॉप है।
– इसका निर्माण सी-डैक ने किया है।

————–
3. सुपरकंप्‍यूटर की ‘TOP 500’ लिस्‍ट (जून 2022) में भारत के सबसे तेज सुपरकंप्‍यूटर परम सिद्धि AI की रैंकिंग बताएं?

a. 65
b. 89
c. 106
d. 111

Answer: d. 111

भारत के सुपरकंप्‍यूटर की रैंकिंग (जून 2022)

रैंक – सुपरकंप्यूटर – स्पीड
111 – परम सिद्धि AI – 4.62 पेटाफ्लॉप
132 – प्रत्युष – 3.76 – पेटाफ्लॉप
249 – मिहिर – 2.57 – पेटाफ्लॉप

नवंबर 2021 की रैंकिंग में भारतीय सुपरकंप्‍यूटर
स्थान – सुपरकंप्यूटर – स्पीड
102 – परम सिद्धि AI – 4.62 पेटाफ्लॉप
121 – प्रत्युष – 3.76 – पेटाफ्लॉप
228 – मिहिर – 2.57 – पेटाफ्लॉप

– भारत का पहला सुपरकंप्यूटर परम 8000 था।
– यह 1991 में बना था।
– इसके बाद भारत ने कई सुपरकंप्‍यूटर बनाए। जैसे – परम शिवाय, परम शक्ति, परम ब्रह्मा, परम युक्ति, परम अनंत, परम पोरुल।

राष्ट्रीय सुपरकंप्यूटिंग मिशन (National Supercomputing Mission)
– भारत सरकार ने इस मिशन को वर्ष 2015 में शुरू किया था।
– इस मिशन को विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (DST) और इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MeitY) द्वारा संचालित किया जा रहा है।
– इसे सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ एडवांस कंप्यूटिंग (सी-डैक), पुणे और आईआईएससी, बंगलूरू द्वारा कार्यान्वित किया जा रहा है।

सुपर कंप्यूटर का प्रयोग कहाँ किया जाता है?
– मौसम, समुद्री हलचल, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस, स्‍पेस रिसर्च, एटमिक रिसर्च, इंजीनियरिंग और डिजाइन में प्रयोग होता है।

——————
4. उत्‍तर प्रदेश की किस नदी के नाम से प्रसिद्ध युद्धपोत को भारतीय नौसेना ने मई 2022 में सेवामुक्‍त किया?

a. INS गंगा
b. INS गोदावरी
c. INS यमुना
d. INS गोमती

Answer: d. INS गोमती

– आईएनएस गोमती का नाम जीवंत नदी गोमती से लिया गया था।
– इसे 16 अप्रैल 1988 को तत्कालीन रक्षा मंत्री केसी पंत ने मुंबई के मझगांव डॉक लिमिटेड में नेवी में कमीशन (शामिल) किया था।
– यह गोदावरी क्लास गाइडेड-मिसाइल फ्रिगेट्स का युद्धपोत है।
– इसे 34 साल की सेवा के बाद 29 मई 2022 को सेवामुक्‍त किया गया।

——————
5. उत्‍तर प्रदेश सरकार ने गोमती नदी के किनारे किस सेवामुक्‍त युद्धपोत का ओपन-एयर म्‍यूजियम बनाने का फैसला किया?

a. INS गोमती
b. INS गोदावरी
c. INS विक्रांत
d. INS वीर

Answer: a. INS गोमती

लखनऊ में ओपन एयर संग्रहालय
– INS गोमती के सेवामुक्त होने के बाद इसकी याद में एक ओपन-एयर म्‍यूजियम बनाया जाएगा।
– यह लखनऊ में गोमती नदी के किनारे स्थित होगा।
– चूंकि, जहाज यहां नहीं लाया जा सकता, इसलिए उसके हेलीकाप्टर, राडार, मिसाइल, गन सहित उसमें लगे सभी सैन्य उपकरणों को लखनऊ लाया जाएगा।
– उसके कई युद्ध प्रणालियों को सैन्य और युद्ध अवशेषों के रूप में प्रदर्शित किया जाएगा।
– इसके लिए पर्यटन विभाग के प्रमुख सचिव मुकेश मेश्राम ने भारतीय नौसेना के साथ MoU साइन किया।

इंडियन नेवी
– चीफ : एडमिरल आर हरि कुमार

उत्‍तर प्रदेश
सीएम- योगी आदित्‍यनाथ
गवर्नर – आनंदी बेन पटेल

—————–
6. लोकपाल के अध्‍यक्ष का अतिरिक्‍त प्रभार किसे मिला?

a. दिनेश कुमार जैन
b. जस्टिस अभिलाशा कुमारी
c. जस्टिस प्रदीप कुमार मोहंती
d. महेंद्र सिंह

Answer: c. जस्टिस प्रदीप कुमार मोहंती

– लोकपाल एक एंटी करप्शन संवैधानिक संस्था है. इस संस्था के अध्यक्ष को बोलचाल में लोकपाल ही कहा जाता है.
– इसमें एक चेयरपर्सन और 4 सदस्य हैं।
– लोकपाल के पहले अध्‍यक्ष जस्टिस पिनाक चंद्र घोष थे।
– उनके रिटायरमेंट के बाद राष्‍ट्रपति ने जस्टिस प्रदीप कुमार मोहंती को लोकपाल का अतिरिक्‍त प्रभार दिया है।

कौन लोकपाल नियुक्त करता है?
– इसके लिए पांच लोगों की एक कमेटी होती है:
– प्रधानमंत्री
– लोकसभा स्पीकर
– लोकसभा में विपक्ष का नेता.
– भारत के चीफ जस्टिस या उनकी तरफ से नॉमिनेट किया गया हाईकोर्ट का कार्यरत जस्टिस.
– कोई प्रतिष्ठित न्यायवेत्ता, जिसे चार सदस्यों की सिफारिश पर राष्ट्रपति ने नॉमिनेट किया हो.

लोकपाल के काम और ताकत
– लोकपाल के क्षेत्राधिकार में प्रधानमंत्री, मंत्री, सांसद, ग्रेड A, B, C, D अफसर आते हैं. इसके अलावा लोकपाल किसी बोर्ड, कॉरपोरेशन, सोसायटी, ट्रस्ट या स्वायत्त संस्था के चेयरपर्सन, सदस्य, अफसरों और डायरेक्टर्स की भी जांच कर सकता है.
– लोकपाल केंद्र सरकार के अधिकारियों के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच करने के लिए एक शीर्ष निकाय है।

————–
7. राज्य में जातीय जनगणना करवाने का फैसला लेने वाला देश का दूसरा राज्य कौन बना?

a. कर्नाटक
b. बिहार
c. केरल
d. उत्तर प्रदेश

Answer: b. बिहार

– इससे पहले राज्‍य स्‍तर पर कर्नाटक ने वर्ष 2015 में ऐसा किया था, लेकिन जातिगत आंकड़े जारी नहीं किए गए।
– केंद्र सरकार ने भी वर्ष 2011 में Socio Economic and Caste Census (SECC) सर्वे करवाया था। इसके भी जातिगत आंकड़े जारी नहीं हुए।

– बिहार के सीएम नीतीश कुमार के नेतृत्व में 01 जून 2022 को हुई ऑल-पार्टी मीटिंग में यह फैसला लिया गया।
– इसके बाद 3 जून 2022 को बिहार कैबिनेट ने जातीय जनगणना के प्रस्‍ताव को मंजूरी दे दी।
– राज्य में जातीय जनगणना के साथ आर्थिक गणना भी की जाएगी।
– इसके लिए आकस्मिक निधि से 500 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।
– कब तक पूरी होगी जातीय जनगणना : फरवरी 2023 तक.

कैसी होगी जातीय गणना?
– गणना करवाने की जिम्मेदारी अधिकारियों को दी जायेगी।
– जातीय गणना के लिए कर्मचारियों को ट्रेनिंग दी जायेगी।

देश में पिछली बार जातीय गणना कब हुई?
– वर्ष 1931 में ब्रिटिश इंडिया में पहली जातीय गणना हुई थी।
– इसके बाद वर्ष 2011 में सोशियो-इकोनॉमिक एंड कास्ट सेन्सस (SECC) हुई।
– जनगणना भारतीय आबादी को दर्शाती है।
– जबकि SECC का उद्देश्य जाति की आर्थिक और सामाजिक स्थिति को मापना था।
– SECC का अभी तक आधिकारिक डाटा पब्लिश नहीं किया गया है। हालांकि इसके आर्थिक डेटा को जारी किया गया।

बिहार में क्यों कराई जाएगी जातीय गणना?
– दरअसल, देश के कई राजनीतिक दलों ने 2021 की राष्‍ट्रीय जनगणना (सेंसस) को जातिगत जनगणना करवाने की अपील केंद्र सरकार से की।
– लेकिन केंद्र सरकार ने ऐसा करने से मना कर दिया।
– इसके बाद बिहार में यह राजनीतिक मुद्दा बना।
– तब नीतीश कुमार की अध्‍यक्षता में सर्वदलीय बैठक हुई।
– इसमें बीजेपी, जेडीयू, राजद, कांग्रेस सहित सभी राजनीतिक दलों ने जातीगत जनगणना करवाने का फैसला सर्वसम्‍मति से लिया।

आजाद भारत में क्‍यों नहीं हुई जातीय जनगणना
– आजादी के बाद देश में पहली बार वर्ष 1951 में जनगणना हुई।
– इस वर्ष से अब तक हुई सात जनगणनाओं में हमेशा SC और ST के जातीय आंकड़ो को प्रकाशित किया जाता है।
– आंकड़े न होने की वजह से OBC की आबादी का अनुमान का पता नहीं लग पाता है।
– SC और ST वर्ग को आरक्षण उनकी आबादी के आधार पर मिलता है।
– परंतु OBC आरक्षण के लिए वर्तमान में कोई भी विशेष आधार नहीं है।
– इसलिए जातिगत गणना होगी, जिससे कि OBC आरक्षण के लिए ठोस आधार मिल सकेगा।

जातीय गणना से क्या फायदा होगा?
– OBC वर्ग के लोगों की शिक्षा, सामाजिक, राजनीतिक और आर्थिक क्षेत्र के हालातों का पता चल सकेगा।
– इसके अलावा लोगों के लिए सही पॉलिसी लाई जा सकेंगी।
– वर्ष 1980 में मंडल कमीशन के सामने सबसे बड़ी समस्‍या ओबीसी की संख्‍या को लेकर थी। क्‍योंकि आखिरी बार जातिगत जनगणना 1931 में हुई थी। इसके अनुसार ओबीसी की आबादी देश में 52 प्रतिशत थी।
– तब मंडल कमीशन ने 1931 की जनगणना के आधार पर भी अपनी रिपोर्ट सरकार को दी।
– इसके आधार पर 27 प्रतिशत आरक्षण लागू किया गया।
– अगर जातीय गणना होती है तो वंचित लोगों की पहचान हो सकेगी।

केंद्र सरकार क्यों नहीं करना चाहती जनगणना?
– यूपी-बिहार में ओबीसी वर्ग के लोग क्षेत्रीय दलों के भारी समर्थक है।
– बीजेपी की पहुंच सवर्ण जातियों में अच्छी है।
– लेकिन ओबीसी जातियों में उतनी अच्छी पकड़ नहीं है।
– अगर जातीय गणना होती है तो क्षेत्रीय दल केंद्र पर नौकरियों और अन्य चीजों के लिए OBC कोटे का दबाव डाल सकेंगे।
– इससे देश में 1980 के मंडल कमीशन वाले हालात पैदा हो सकते है, जिसका फायदा क्षेत्रीय दलों को मिलेगा।

—————–
8. विश्व तंबाकू निषेध दिवस (World No Tobacco Day) कब मनाया जाता है?

a. 29 मई
b. 30 मई
c. 31 मई
d. 01 जून

Answer: c. 31 मई

2022 के लिए विषय
– Tobacco: Threat to our environment.
– तंबाकू: हमारे पर्यावरण के लिए खतरा है।

—————–
9. तंबाकू की खपत पर नियंत्रण के लिए भारत के किस राज्य को WHO का ‘वर्ल्ड नो टबैको डे (WNTD) अवॉर्ड-2022’ मिला?

a. उत्तर प्रदेश
b. गुजरात
c. बिहार
d. झारखंड

Answer: d. झारखंड

– वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन ( WHO) ने 31 मई 2022 को यह अवॉर्ड दिया।
– झारखंड को WNTD अवॉर्ड-2022 राज्य में तंबाकू की खपत को नियंत्रित करने के लिए मिला।
– विश्व तंबाकू निषेध दिवस (31 मई) को नई दिल्ली में राज्य के स्वास्थ्य विभाग के ‘स्टेट टोबैको कंट्रोल सेल’ ने यह पुरस्कार प्राप्त किया।

झारखंड में तंबाकू पर नियंत्रण के आकड़े
– भारत सरकार ने वर्ष 2007-08 में 11वीं पंचवर्षीय योजना के दौरान नेशनल टोबैको कंट्रोल सेल कार्यक्रम (NTCP) शुरू किया।
– इसका उद्देश्य तंबाकू सेवन के हानिकारक प्रभावों के बारे में जागरूकता पैदा करना और तंबाकू के उत्पादन में कमी करना था।
– NTCP को झारखंड में वर्ष 2012 में लॉन्च किया गया था।
– इस दौरान राज्य में तंबाकू का व्याप्त दर 51.1 प्रतिशत था।
– ग्लोबल एडल्ट टोबैको सर्वे (GATS)-1 की रिपोर्ट के अनुसार, इसमें 48 प्रतिशत धूम्रपान रहित उपयोगकर्ता थे।
– वर्ष 2018 में प्रकाशित हुई गैट्स-2 रिपोर्ट में कहा गया है कि राज्य में तंबाकू सेवन करने वालों की संख्या घटकर 38.9 प्रतिशत हो गई।
– इनमें से 35.4 प्रतिशत धूम्रपान रहित उपयोगकर्ता थे।
– इसे और नीचे लाने के लिए, झारखंड ने 2018 और 2022 के बीच कई उपायों की शुरुआत की।

वर्ल्ड नो टबैको डे (WNTD) अवॉर्ड
– WHO हर साल छह WHO क्षेत्रों में से प्रत्येक व्यक्तियों या संगठनों को तंबाकू नियंत्रण के क्षेत्र में उनकी उपलब्धियों को देखता है।
– इन्हीं उपलब्धियों आधार पर यह WNTD पुरस्कार मिलता है।

झारखंड
राजधानी- रांची
मुख्यमंत्री- हेमंत सोरेन

—————–
10. ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन सिक्योरिटी (BCAS) का नया महानिदेशक किसे नियुक्त किया गया?

a. एसएल थाओसेन
b. संजय अरोड़ा
c. विजय प्रसाद आप्टे
d. जुल्फिकार हसन

Answer: d. जुल्फिकार हसन

– वह इस पद पर 31 अक्टूबर 2024 तक अपनी सेवा देंगे।

जुल्फिकार हसन
– वह 1988 बैच के IPS ऑफिसर है।
– वर्तमान में वह स्पेशल डीजी के तौर पर सेन्ट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स (CRPF) में कार्यरत है।

ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन सिक्योरिटी (BCAS)
– यह भारत का सिविल एविएशन सिक्‍योरिटी अथॉरिटी है।
स्थापना- 1978
मुख्यालय- नई दिल्ली

—————-
11. सशस्त्र सीमा बल (SSB) का नया महानिदेशक किसे नियुक्त किया गया?

a. एसएल थाओसेन
b. संजय अरोड़ा
c. कुमार राजेश चंद्रा
d. वीरेन्द्र पटनायक

Answer: a. एसएल थाओसेन

– वह इस पद पर 30 नवंबर 2023 तक अपनी सेवा देंगे।
– डीजी कुमार राजेश चंद्रा के पिछले वर्ष 31 दिसंबर को सेवानिवृत्त होने के बाद से एसएसबी महानिदेशक का पद खाली पड़ा था।
– भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) के DG संजय अरोड़ा तब से सशस्त्र सीमा बल महानिदेशक का अतिरिक्त प्रभार संभाल रहे थे।

एसएल थाओसेन
– वह 1988 बैच के IPS ऑफिसर है।
– वर्तमान में वह बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (BSF) के स्पेशल डीजी के तौर पर कार्यरत हैं।

सशस्त्र सीमा बल
– यह बल भारत की सीमा की रक्षा करता है। इसके जिम्‍मे उत्‍तराखंड, उत्‍तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम और अरुणाचल प्रदेश से जुड़ी अंतर्राष्‍ट्रीय सीमा की सुरक्षा का दायित्‍व है।
– स्थापना- 1963
– मुख्यालय- नई दिल्ली

—————
12. विश्व दुग्ध दिवस (World Milk Day) कब मनाया जाता है?

a. 29 मई
b. 30 मई
c. 31 मई
d. 01 जून

Answer: d. 01 जून

2022 का विषय
– Dairy Net Zero
– विषय का मतलब : जलवायु परिवर्तन संकट पर ध्यान आकर्षित करना और डेयरी क्षेत्र ग्रह पर इसके प्रभाव को कैसे कम कर सकता है।
– इस दिवस को ‘फूड एंड एग्रीकल्‍चर ऑर्गेनाइजेशन’ (FAO) ने घोषित किया हुआ है।

—————–
13. विश्व साइकिल दिवस (World Bicycle Day) कब मनाया जाता है?

a. 01 जून
b. 02 जून
c. 03 जून
d. 04 जून

Answer: c. 03 जून

– इस दिवस को संयुक्त राष्ट्र ने घोषित किया हुआ है।