31 July 2022 Current Affairs

Spread the love

यह 31st July 2022 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स 2022 में भारत को पहला गोल्‍ड मेडेल किस खिलाड़ी ने दिलाया?

a. संकेत महादेव
b. लवलीना बोरगेहेन
c. मीराबाई चानू
d. शिव थापा

Answer: c. मीराबाई चानू

– कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स 28 जुलाई 2022 को यूनाइटेड किंगडम के बर्मिंघम में शुरू हुआ।
– इसके दूसरे दिन ही 30 जुलाई 2022 को वेटलिफ्टर मीराबाई चानू ने गोल्‍ड मेडेल जीता।
– उन्‍होंने यह मेडेल 49 KG वेट कैटेगरी में जीता।
– उन्होंने स्नैच और क्लीन एंड जर्क मिलाकर कुल 201 KG वेट उठाते हुए गेम्स रिकॉर्ड के साथ पहला स्थान हासिल किया।
– मॉरिशस की मैरी रनाइवोसोवा ने 172 KG वेट के साथ सिल्वर और कनाडा की हाना कामिंस्की ने 171 KG वेट उठाकर ब्रॉन्ज मेडल जीता।

मीराबाई चानू
– उन्‍होंने टोक्‍यो ओलंपिक में भी भारत को पहला मेडेल दिलाया था। तब उन्‍होंने सिल्‍वर मेडेल जीता था।

मणिपुर की मीराबाई चानू
– मीराबाई चानू मणिपुर की इंफाल से 200 किलोमीटर दूर एक छोटे से गांव की रहने वाली हैं।
– उनका जन्‍म 8 अगस्त 1994 को हुआ था।
– गाँव में ट्रेनिंग सेंटर नहीं था तो 50-60 किलोमीटर दूर ट्रेनिंग के लिए जाया करती थीं।
– ट्रक से लिफ्ट लेकर वह ट्रेनिंग सेंटर तक जाती थीं।
– टोक्‍यो ओलंपिक में सिल्‍वर मेडल जीतने के बाद इनमे से कई ट्रक ड्राइवर्स को ढूंढकर मीराबाई चानू ने उन्‍हें सम्‍मानित किया था।
– 11 साल में वो अंडर-15 चैंपियन बन गई थीं और 17 साल में जूनियर चैंपियन।
– शुरुआती दौर में डाइट में रोज़ाना दूध और चिकन चाहिए था, लेकिन एक आम परिवार की मीरा के लिए वो मुमकिन न था। उन्होंने इसे भी आड़े नहीं आने दिया।
– मणिपुर सरकार ने जनवरी 2022 में अतिरिक्‍त पुलिस अधीक्षक ASP (खेल) के पद पर नियुक्‍त किया।

चानू ने कब-कब मेडल जीते हैं?
– टोक्‍यो ओलंपिक 2020 में 49 किलोग्राम भारवर्ग में सिल्‍वर मेडेल जीता।
– मीराबाई चानू ने वर्ष 2018 कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीता था।
– वर्ष 2014 के ग्लासगो कॉमनवेल्थ गेम्स में 49 किलो वेट कैटेगरी में सिल्वर मेडल जीता था।
– वर्ष 2017 में उन्‍होंने 194 किलोग्राम वजन उठाकर वर्ल्ड वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप में गोल्ड जीता था।
– वह वर्ल्ड वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप में मेडल जीतने वाली पहली भारतीय वेटलिफ्टर हैं।
– 2020 एशियाई भारोत्तोलन चैम्पियनशिप में कांस्य पदक भी जीता।

—————
2. कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स 2022 में भारत को पहला मेडेल किस खिलाड़ी ने दिलाया?

a. संकेत महादेव
b. लवलीना बोरगेहेन
c. मीराबाई चानू
d. शिव थापा

Answer: a. संकेत महादेव

– भारतीय वेटलिफ्टर संकेत महादेव ने मेंस 55 KG वेट कैटेगरी में देश को सिल्वर मेडल दिलाया है।
– वह स्‍नैच और क्‍लीन एंड जर्क में कुल 248 KG वजन उठाकर दूसरे स्थान पर रहे।
– संकेत महादेव से गोल्ड मेडल की उम्मीद थी।
– वह 248 किलो मीटर वेट उठा कर टॉप पर चल रहे थे, लेकिन फाइनल वेट उठाने के दौरान उनके हाथ में इंजरी हो गई। मेडेल पाते समय उनके हाथ में प्‍लास्‍टर बंधा था।
– इस कैटेगरी में मलेशिया के मोहम्मद अनीद ने इस कैटेगरी का गोल्ड जीता।

संकेत महादेव के बारे में
– संकेत के पिता महादेव सरगर महाराष्ट्र में सांगली के मेन मार्केट में पान और चाय की दुकान चलाते हैं।
– संकेत भी पापा के कामों में हाथ बंटाते हैं।
– वह पहले सिंगापुर इंटरनेशनल 2022 में भी गोल्ड मेडल जीत चुके हैं।

—————
3. कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स 2022 में वेटलिफ्टर गुरुराजा पुजारी ने मेंस 61 KG कैटेगरी में कौन सा मेडेल जीता?

a. गोल्‍ड
b. सिल्‍वर
c. ब्रॉन्‍ज
d. इनमें से कोई नहीं

Answer: c. ब्रॉन्‍ज

– वेटलिफ्टर गुरुराजा पुजारी ने स्‍नैच और क्‍लीन एंड जर्क में कुल 267 किलोग्राम का भार उठाया। उन्‍होंने ब्रॉन्‍ज मेडेल जीता।
– वह कर्नाटक के उडीपी जिले के रहने वाले हैं।
– उनके पिता महाबाला पुजारी एक ट्रक ड्राइवर हैं।
– गुरुराजा पांच भाइयों में सबसे छोटे हैं।
– गुरुराजा का बचपन काफी अभावों में बीता, लेकिन इस वजह से खेल के प्रति उनका लगाव कभी कम नहीं हुआ। पिता ने कर्ज लिया, ताकि गुरुराजा की ट्रेनिंग में बाधा न आए।
– गुरुराजा ने 2010 में वेटलिफ्टिंग करियर शुरू किया था।

गुरुराजा पुजारी का कॅरियर
– वर्ष 2016 में गुरुराजा पुजारी ने साउथ एशियन गेम्स में 56 किलोग्राम भार वर्ग में गोल्ड मेडल जीता।
– वर्ष 2018 में हुए गोल्डकोस्ट कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप में 56 किलोग्राम भार वर्ग में सिल्वर पदक जीता।
– वर्ष 2018 में हुए कामनवेल्थ गेम्स में गुरुराजा ने भारत के लिए सिल्वर मेडल जीता।

————-
4. कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स 2022 के उद्घाटन समारोह में किन खिलाडि़यों ने ध्‍वजवाहक की भूमिका निभाई?

a. मनप्रीत सिंह और पीवी सिंधु
b. पीवी सिंधु और नीरज चोपड़ा
c. मीराबाई चानू और गुरुराजा
d. संकेत महादेव और मनप्रीत सिंह

Answer: a. मनप्रीत सिंह और पीवी सिंधु

– 22वें कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स का उद्घाटन 28 जुलाई 2022 को इंग्‍लैंड के बर्मिंघम में हुआ। यह गेम्‍स 8 अगस्‍त तक चलेगा।
– भारत के 213 खिलाड़ी 16 खेलों में शिरकत की है।
– ओपनिंग सेरेमनी में बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु और हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह भारत के ध्वजवाहक रहे।
– नीरज चोपड़ा के चोटिल होने के कारण पीवी सिंधु ध्वजवाहक बनीं।

————–
5. कारगिल युद्ध में चर्चित चोटी ‘प्वाइंट 5140’ का नया नाम क्या रखा गया?

a. वीर जवान हिल
b. घातक हिल
c. शहीद हिल
d. गन हिल

Answer: d. गन हिल

– चोटी ‘प्वाइंट 5140’ कारगिल के द्रास में है।
– रक्षा मंत्रालय ने इसका नया नाम ‘गन हिल’ दिया है।
– इसकी जानकारी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने 30 जुलाई 2022 को मीडिया को दी।

प्वाइंट 5140
– यह वही चोटी है जहां से परमवीर चक्र कैप्टन विक्रम बत्रा ने ‘यह दिल मांगे मोर’ कहा था।

नया नाम क्यों रखा गया?
– ‘ऑपरेशन विजय’ पर भारतीय सशस्त्र बलों की जीत का जश्न मनाने और इस ऑपरेशन में गनर्स के सर्वोच्च बलिदान को श्रद्धांजलि देने के लिए चोटी को नया नाम दिया गया है।

‘ऑपरेशन विजय’
– कारगिल जंग के ‘ऑपरेशन विजय’ को 26 जुलाई 1999 को भारतीय सेना ने सफलतापूर्वक अंजाम दिया था।
– भारतीय सेना ने लद्दाख में कारगिल की बर्फीली ऊंचाइयों पर पाकिस्तानी सैनिकों के साथ लगभग तीन महीने की लंबी लड़ाई के जीत हासिल की थी।
– जीत के बाद कारगिल के द्रास सेक्टर की 5140 चोटी पर तिरंगा फहराया था।
– कारगिल का यह युद्ध 18 हजार फीट की ऊंचाई पर तकरीबन 2 महीने तक चला था।

————–
6. राजस्थान के बाड़मेर जिले में जुलाई 2022 में किस फाइटर एयरक्राफ्ट का क्रैश हुआ, जिसमें दो पायलटों का निधन हो गया?

a. बोइंग 707
b. डोर्नियर 228
c. MiG-21
d. मिराज 2000

Answer: c. MiG-21

– MiG-21 ट्रेनर एयरक्राफ्ट 28 जुलाई 2022 की रात को क्रैश हुआ।
– क्रैश में दो पायलट, विंग कमांडर एम राणा और फ्लाइट लेफ्टिनेंट अद्वितीय बल का निधन हो गया।
– एम राणा हिमाचल प्रदेश के मंडी के थे, जबकि अद्वितीय बल जम्मू के रहने वाले थे।
– दोनों पायलट एयरक्राफ्ट पर ट्रेनिंग मिशन पर थे।
– IAF ने क्रैश के कारणों का पता लगाने के लिए कोर्ट ऑफ इंक्वायरी का आदेश दिया है।

अब तक कितने मिग-21 विमान क्रैश हुए हैं?
– पिछले 20 महीनों में छह मिग 21 क्रैश हुए हैं, जिसमें 2021 में पांच क्रैश हुए और 2022 में एक क्रैश हुआ।
– इन क्रैश में पांच पायलटों की मौत हो गई है।

————-
7. इंडियन एयरफोर्स (IAF) ने मिग-21 स्क्वाड्रनों को कब तक रिटायर करने का फैसला किया?

a. वर्ष 2025 तक
b. वर्ष 2030 तक
c. वर्ष 2035 तक
d. वर्ष 2040 तक

Answer: a. वर्ष 2025 तक

– IAF वर्ष 2025 तक बचे हुए चार मिग-21 स्क्वाड्रन को रिटायर करेगी।
– इसमें से एक मिग-21 स्क्वाड्रन 30 सितंबर 2022 को रिटायर कर दिया जायेगा।
– सितंबर में रिटायर होने वाला इस स्क्वाड्रन का नाम 51 स्क्वाड्रन है, जोकि श्रीनगर में स्थित है।
– इंडियन एयरफोर्स के अधिकारियों के अनुसार स्क्वाड्रनों को रिटायर जुलाई 2022 में राजस्थान में हुए क्रैश के कारण नहीं किया जा रहा।
– बल्कि स्क्वाड्रनों को रिटायर IAF के आधुनिकीकरण अभियान के अंतर्गत किया जा रहा है।
– IAF इन स्क्वाड्रनों को स्वदेशी लाइट कॉम्बेट एयरक्राफ्ट (LCA) तेजस के साथ सेवा में वापस लाने की दिशा में देख रहा है।
– इसके अलावा IAF ने अगले पांच वर्षों में मिग-29 लड़ाकू जेट के तीन स्क्वाड्रनों को रिटायर करने की भी योजना बनाई है।

मिग-21 स्क्वाड्रन की लड़ाई में भागीदारी
– यह स्क्वाड्रन, ‘स्वॉर्डआर्म्स’ के नाम से भी जाना जाता है।
– यह वर्ष 1999 में कारगिल संघर्ष के दौरान ‘ऑपरेशन सफेद सागर’ का हिस्सा था।
– इसके अलावा वर्ष 2019 में पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक में भी काम आया था।

मिग-21 बायसन एयरक्राफ्ट
– भारत को मिग-21 बायसन का पुराना वर्जन मिग-21 एफएल 1963 में मिला।
– मिग-21 बाइसन, मिग-21बी का अपग्रेडेड वर्जन है, जिसे पहली बार 1976 में सेवा में शामिल किया गया था।
– हालांकि, पुराने मिग-21 एफएल को वर्ष 2013 में रिटायर कर दिया गया।
– IAF को पहला अपग्रेडेड मिग-21 बायसन 2001 में प्राप्त हुआ।
– फिर इसके बाद अंतिम अपग्रेडेड वर्जन 2008 में प्राप्त हुआ।

वर्तमान में भारत के पास कितने मिग-21 एयरक्राफ्ट हैं?
– मिग-21 : लगभग 70
– मिग-29 : 50

मिग-21 की जगह किस एयरक्राफ्ट को लाने का प्लान
– मिग-21 बायसन का अच्छा विकल्प देने के लिए रक्षा मंत्रालय ने पिछले वर्ष 2021 में 83 तेजस लड़ाकू विमानों की खरीद के लिए सौदा किया है।
– यह सौदा हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) के साथ 48,000 करोड़ रुपए की कीमत पर किया गया।
– इसके अलावा एयरफोर्स, 114 मल्टीरोल फाइटर एयरक्राफ्ट (MRFA) खरीदने की प्रक्रिया में भी है।

मिग-21 एयरक्राफ्ट को उड़ता ताबूत (फ्लाइंग कॉफिन) क्यों बोलते हैं?
– इस एयरक्राफ्ट के ही सबसे ज्यादा क्रैश के मामले सामने आए हैं।
– 2010 से अब तक 20 से अधिक विमान क्रैश हो चुके हैं और दस वर्षों की अवधि में 2003 और 2013 के बीच 38 विमान क्रैश हुए हैं।
– क्रैश के ज्यादा मामलों के कारण इस विमान को ‘फ्लाइंग कॉफिन’ का निकनेम दिया गया।
– मिग-21 एयरक्राफ्ट के क्रैश की कहानी को फिल्म ‘रंग दे बसंती’ में लिया गया था।
– यह फिल्‍म वर्ष 2006 में रिलीज़ हुई और एक ब्लॉकबस्टर बनी।

————
8. एशिया कप 2022, श्रीलंका की जगह अब किस देश में आयोजित होगा?

a. भारत
b. यूएई
c. बांग्‍लादेश
d. पाकिस्‍तान

Answer: b. यूएई

– श्रीलंका में आर्थिक और राजनैतिक अस्थिरता की वजह से एशियाई क्रिकेट परिषद ने यह फैसला किया।
– एशिया कप टूर्नामेंट टी20 फॉर्मेट में 27 अगस्त से 11 सितंबर 2022 तक खेला जाएगा।
– यह लगातार दूसरी बार है जब यह टूर्नामेंट यूएई में खेला जाएगा।
– भारत ने आखिरी बार 2018 में बांग्लादेश को हराकर खिताब पर कब्जा किया था।

————–
9. किस राज्‍य सरकार ने ‘मुख्यमंत्री नाश्ता योजना’ शुरू की?

a. तमिलनाडु
b. उत्‍तर प्रदेश
c. बिहार
d. मध्‍य प्रदेश

Answer: a. तमिलनाडु

– तमिलनाडु सरकार ने 1,545 सरकारी प्राथमिक विद्यालयों में ‘मुख्यमंत्री नाश्ता योजना’ को लागू किया है।
– इसके तहत कक्षा पहली से पांचवीं तक के 1.14 लाख बच्‍चों को नाश्‍ता मिलेगा।
– मुख्यमंत्री स्टालिन ने छात्रों से कहा कि चूंकि बच्‍चे सुबह का नाश्ता छोड़कर स्कूल आते हैं, इसलिए सरकार ने सरकारी स्कूलों में नाश्ता उपलब्ध कराने का फैसला किया है।

————-
10. डॉक्टर सुशोवन बनर्जी का निधन 26 जुलाई 2022 को हो गया, उन्‍हें पद्मश्री अवॉर्ड कब मिला था?

a. 2020
b. 2021
c. 2022
d. 2018

Answer: a. 2020

– वह पश्‍चिम बंगाल के रहने वाले थे।
– डॉक्टर बनने के बाद 57 साल तक बोलपुर के हरगौरीतला में सिर्फ एक रुपये में मरीजों को देखा करते थे।
– उनकी अनवरत सेवा भाव को देखते हुए सरकार ने साल 2020 में उन्हें पद्मश्री सम्मान से विभूषित किया था।


Leave a Reply