30 April 2022 Current Affairs

Spread the love

यह 30 April 2022 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. देश के 29वें आर्मी चीफ का प्रभार किसने लिया?

a. बीएस राजू
b. राकेश वर्मा
c. मनोज पांडे
d. दीपक हुड्डा

Answer: c. मनोज पांडे

– उन्‍होंने 30 अप्रैल 2022 को नए आर्मी चीफ का चार्ज लिया।
– वह देश के 29वें आर्मी चीफ बन गए।
– दरअसल, 28वें सेनाध्‍यक्ष एमएम नरवणे 30 अप्रैल को रिटायर हो गए। उन्‍होंने यह पद जनरल मनोज पांडे को सौंपा।

सेना प्रमुख बनने वाले पहले इंजीनियर
– इस पद पर पहुंचने वाले वह पहले इंजीनियर हैं।
– अब तक इन्फैंट्री, आर्मर्ड और आर्टिलरी अधिकारी ही आर्मी चीफ बनते रहे हैं। लेकिन पहली एक आर्मी इंजीनियर सेना प्रमुख बना।

मनोज पांडे
– उनका जन्‍म 6 मई 1962 को नागपुर में हुआ था।
– 1982 में भारतीय सेना के कोर ऑफ इंजीनियर्स (द बॉम्‍बे सैपर्स) में कमीशन हुए थे।

पाकिस्‍तान और चीन से सटे इलाकों में ऑपरेशन का नेतृत्‍व किया
– मनोज पांडे, चीन से सटे सिक्किम और लद्दाख बॉर्डर पर कई ऑपरेशन का नेतृत्व कर चुके हैं।
– मनोज पांडे चीन से सटे ईस्टर्न कमांड में कमांडर के पद पर काम कर चुके हैं।
– वह अंडमान-निकोबार थिएटर कमांड में बतौर कमांडर भी काम कर चुके हैं।
– पांडे परम विशिष्ट मेडल से सम्मानित हो चुके हैं।

अन्‍य सेनाएं
इंडियन एयरफोर्स चीफ : विवेक राम चौधरी
इंडियन नेवी चीफ : आर हरि कुमार

—————–
2. रक्षा मंत्रालय ने थल सेना का उप प्रमुख किसे नियुक्‍त किया?

a. परमजीत सिंह
b. बी एस राजू
c. डीपी पांडेय
d. मनोज पांडेय

Answer: b. बी एस राजू

– लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू का पूरा नाम बग्गावल्ली सोमशेखर राजू है।
– वह एक मई 2022 को वाइस चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ का पद संभालेंगे।
– लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू, उप सेना प्रमुख के तौर पर मनोज पांडे की जगह ले रहे हैं।
– मनोज पांडे नए सेना प्रमुख नियुक्‍त हुए हैं। वह कोर ऑफ इंजीनियर के पहले अधिकारी होंगे जो थल सेना के प्रमुख होंगे।

DGMO रह चुके हैं
– नई जिम्‍मेदारी से पहले वह DGMO (डायरेक्‍टर जनरल मिलिटरी ऑपरेशंस) के पद पर थे। सेना के बड़े ऑपरेशन की प्‍लानिंग DGMO की निगरानी में होती है।
– बीएस राजू की जगह अब लेफ्टिनेंट जनरल मनोज कुमार कटियार को नया DGMO बनाया गया है।

राजू का उप सेनाप्रमुख बनाना दुर्लभ मामला
– द हिन्‍दू न्‍यूजपेपर के अनुसार, यह एक दुर्लभ मामला है जहां एक अधिकारी जो सेना कमांडर नहीं रहा है, वह वाइस चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ के रूप में कार्यभार संभालेगा।
– सेना में ऐसे उदाहरण बहुत कम हैं।
– भारतीय सेना के सात कमांड हैं।
1. Western Command: चांदी मंदिर (हरियाणा)
2. Eastern Command: Kolkata
3. Northern Command: Udhampur
4. Southern Command: Pune
5. Central Command: Lucknow
6. Army Training Command: Shimla
7. South-Western Command: Jaipur

बी एस राजू
– बीएस राजू हेलीकॉप्‍टर पायलट हैं।
– वह सैनिक स्कूल बीजापुर (कर्नाटक) और नेशनल डिफेंस एकेडमी के स्‍टूडेंट रह चुके हैं।
– वह सेना में 15 दिसंबर, 1984 को नियुक्त हुए थे।
– वह श्रीनगर स्थित 15 कोर का नेतृत्व कर चुके हैं।
– जम्मू-कश्मीर में ‘ऑपरेशन पराक्रम’ के दौरान अपनी बटालियन की कमान संभाली थी।

—————–
3. पहली एयरलाइन कंपनी, जिसने अपना विमान स्‍वदेशी नेविगेशन सिस्‍टम ‘गगन’ के इस्‍तेमाल से लैंड किया?

स्‍वदेशी नेविगेशन सिस्टम ‘गगन’ का इस्‍तेमाल करके विमान उतारने वाली पहली एयरलाइन कंपनी कौन बनी?

a. एअर इंडिया
b. गो फर्स्ट
c. इंडिगो
d. स्पाइसजेट

Answer: c. इंडिगो

– इंडिगो 27 अप्रैल 2022 को स्‍वदेशी नेविगेश्‍न सिस्टम से एयरक्राफ्ट को लैंड करवाने वाली देश की पहली एयरलाइन कंपनी बन गई।

सवाल
– स्‍वदेशी नेविगेशन सिस्‍टम क्‍या है?
– भारत के कितने स्‍वदेशी नेविगेशन सिस्‍टम हैं?
– नेविगेशन सिस्‍टम नाविक और गगन कैसे काम करता है।
– इसके लिए कितने सैटेलाइट हैं?
– एयरक्राफ्ट को कैसे नेविगेशन में मदद मिलेगी।

इंडिगो ने अपने किस एयरक्राफ्ट पर इस सिस्टम का प्रयोग किया?
– विमान को 27 अप्रैल 2022 राजस्थान के किशनगढ़ हवाई अड्डे पर जीपीएस-एडेड जियो-अग्यूमेंटेड नेविगेशन (गगन) [GAGAN] का प्रयोग करके लैंड कराया गया।

सभी एयरक्राफ्टस को गगन सिस्टम को लगाना होगा
– डायरेक्ट्रेट जनरल ऑफ एविएशन (DGCA) ने 1 जुलाई, 2021 के बाद भारत में पंजीकृत सभी विमानों को गगन उपकरण से लैस करने का आदेश जारी किया है।

भारत का नेविगेशन सिस्‍टम
– इसरो ने दो तरह के नेविगेशन सिस्‍टम को डेवलप किया है।
– नाविक और गगन

NavIC
– नाविक (Navigation with Indian Constellation) : इसे इसरो ने डेवलप किया है और इसी की कमर्शियल कंपनी ‘एंट्रिक्‍स’ इसकी सर्विस देती है।
– इसे IRNSS (इंडियन रीजनल नेविगेशन सेटेलाइट सिस्‍टम) भी कहते हैं।
– क्‍या काम है इसका : आपके पास गूगल मैप का ऑप्‍शन आता है। आप जीपीएस के जरिए कहीं भी जा सकते हैं। यह जीपीएस अमेरिका का बनाया हुआ है।
– तो जीपीएस की जगह इसरो के नाविक को कई मोबाइल सेट कंपनियों ने इस्‍तेमाल शुरू किया है।
– नाविक कैसे काम करता है – इसके लिए इसरो ने अंतरिक्ष में सात सैटेलाइट स्‍थापित की हुई हैं।
– इन सैटेलाइट का फोकस इंडिया और आस-पास का लगभग 1500 किलोमीटर का।
– नाविक की ग्‍लोबल रीच नहीं है, लेकिन साउथ एशिया में जीपीएस की तरह का काम कर सकता है।
– जबकि अमेरिकन जीपीएस ने दुनियाभर में 24 सैटेलाइट तैनात किए हुए हैं।

GAGAN
– गगन – जीपीएस-एडेड जीयो ऑगमेंटेड नेविगेशन
– गगन को AAI (एयरपोर्ट्स अथोरिटी ऑफ इंडिया) और ISRO (इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन) ने मिलकर डेवलप किया है।
– इसका प्राइम रोल हमारे एविएशन सेक्‍टर के लिए है।
– इंडिया में जो विमान लैंड करते हैं, टेकऑफ करते हैं, तो उसे नेविगेशन की आवश्‍यकता होती है।
– इस काम को पूरा करेगा गगन।
– विमान लैंडिंग के लिए रनवे के पास आता है, तब इस दौरान गगन का उपयोग लैटरल और वर्टिकल गाइडेंस प्रदान करने के लिए किया जाता है।
– इस सिस्टम की सटीकता छोटे हवाई अड्डों पर उपयोगी है, क्योंकि वहां पर मुख्यत: इंस्ट्रयूमेंटल लैंडिंग सिस्टम (ILS) स्थापित नहीं होता है।

गगन की तकनीक
– यह एक प्रकार का रीजनल सैटेलाइट बेस्‍ड ऑग्‍मेंटेड सिस्‍टम है।
– यह एयरक्राफ्ट को इंडियन एयर स्‍पेस में एक्‍यूरेट लैंडिंग के लिए हेल्‍प करता है।
– सवाल है कि इंडिया से बाहर ये विमान जाएंगे, तो वहां भी इस तरह का रीजनल नेविगेशन सिस्‍टम हैं।
– तो अलग-अलग देशों में अलग-अलग एविएशन नेविगेशन सिस्‍टम हैं।
– जैसे यूएसए के पास WAAS, यूरोप के पास EGNOS, रूस के पास SDCM, चीन के पास BDSBAS, जापान के पास MSAS, QZSS-SBAS है।
– ये कई सैटेलाइट बेस्‍ड नेविगेशन सिस्‍टम है, जिससे विमान को सटीक लैंड करने में मदद मिलती है।
– गगन का काम भारतीय और आस-पास के क्षेत्र में नेविगेशन करना है।
– इसके अलावा गगन का एक और काम है, आयनोस्‍फेयर (जहां पृथ्वी का वायुमंडल अंतरिक्ष से मिलता है) का स्‍टडी करना।
– दरअसल, सोलर विंड पृथ्‍वी के आयनोस्फीयर को गर्म कर सकते हैं। इससे सिग्‍नल में दिक्‍कत आती है।
– गगन के जरिए स्‍टडी की जा रही है कि सैटेलाइट से जो सिग्‍नल यूजर तक भेजी जा रही है, उसमें आयनोस्‍फेयर कितना इंटरफेयर करता है। मतलब सिग्‍नल को कम या ज्‍यादा करता है, तो कितना।
– आयनोस्‍फेयर धरती से 60 किलोमीटर से एक हजार किलोमीटर तक होता है।

गगन से क्या फायदा?
– भारत के नागरिक उड्डयन क्षेत्र में, गगन हवाई क्षेत्र का आधुनिकीकरण करेगा।
– उड़ान में देरी को कम करेगा और ईंधन की बचत करेगा।
– इसके अलावा फ्लाइट सिक्योरिटी में सुधार करेगा।

——————
4. वैक्‍यूम आधारित सीवर सिस्‍टम वाला देश का पहला शहर कौन बना?

a. दिल्‍ली
b. लखनऊ
c. चेन्‍नई
d. आगरा

Answer: d. आगरा

– आगरा नगर निगम ने ताजमहल के पास ऐसे 240 घरों को वैक्यूम आधारित सीवर से जोड़ा है, जहां पारंपरिक सीवर सिस्टम का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है।
– ताजमहल से कुछ दूरी पर स्थित ये घर, सड़क और सीवर सिस्‍टम से नीचे हैं, इसलिए इन्‍हें वैक्‍यूम आधारित सीवर लाइन से तैयार किया गया है।
– इस कार्य की अनुमान‍ित लागत 100 करोड़ रुपया है।
– फिलहाल 5 करोड़ रुपये में 240 घरों का वैक्यूम सीवर नेटवर्क बनाया गया है।
– पांच साल तक नीदरलैंड की कंपनी द्वारा रखरखाव और पूरी देखभाल की जाएगी।

उत्तर प्रदेश
राजधानी: लखनऊ
मुख्यमंत्री: योगी आदित्यनाथ
राज्यपाल: आनंदीबेन पटेल

—————
5. आयरनमैन वर्ल्ड चैंपियनशिप के लिए रैंकिंग के आधार पर क्‍वालिफाई करने वाले पहले भारतीय ट्राइथलीट कौन हैं?

a. रघुल शंकरनारायणन
b. दीपक राज
c. अक्षय सामेल
d. महुल वेद

Answer: a. रघुल शंकरनारायणन

– रघुल, चेन्‍नई के रहने वाले हैं।

आयरनमैन वर्ल्‍ड चैंपियनशिप
– यह ट्राइथलॉन ईवेंट कहलाता है।
– इस ईवेंट में 3.8 किलोमीटर की स्‍विमिंग, 180 किलोमीटर साइकिलिंग और 42.2 किलोमीटर दौड़ (मैराथन) आयोजित होता है।

कब होगी चैंपियनशिप
– आयरनमैन वर्ल्‍ड चैंपियनशिप अमेरिका के हवाई राज्‍य के कैलुआ कोना में 8 अक्‍टूबर 2022 से होगा।

पहले भारतीय ने रैंकिंग के आधार पर क्‍वालिफाई किया
– इसके लिए क्‍वालीफायर ईवेंट साउथ अफ्रीका में 3 अप्रैल 2022 को आयोजित हुआ।
– इसी में भारत के रघुल शंकरनारायणन को 68वीं रैंक मिली और वह चैंपियनशिप के लिए क्‍वालिफाई कर गए।
– वह रैंकिंग के आधार पर क्‍वालिफाई करने वाले पहले भारतीय बने।
– इस बात की जानकारी द हिंदू ने 27 अप्रैल 2022 को अपने एक आर्टिकल में दी।

—————–
6. केन्द्र सरकार ने नक्‍सल प्रभावित क्षेत्रों के 2जी मोबाइल स्‍थल को 2,426 करोड़ की लागत से किस नेटवर्क में अपग्रेड करने को मंजूरी दी?

a. 3जी
b. 4जी
c. 5जी
d. B और c

Answer: b. 4जी

– यह फैसला पीएम नरेंद्र मोदी की अध्‍यक्षता में केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में हुआ।
– केन्द्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि LWE (लेफ्ट विंग एक्‍स्‍ट्रीमिज्‍म) [नक्‍सल प्रभावित] एरिया में यूनिवर्सल सर्विस ऑबिलेगेशन फंड (USOF) प्रोजेक्ट की मंजूरी दी गई है।
– इस फंड की टोटल कॉस्‍ट 2,426 करोड़ रुपए होगी।
– इससे 2 जी को 4जी में अपग्रेड किया जाएगा।

अपग्रेडशन का काम कौनसी कंपनी करेगी?
– यह काम भारत संचार निगम लिमिटेड (BSNL) को सौंपा जाएगा।
– 2जी से 4जी अपग्रेडेशन कुल 2343 स्‍थानों पर होगा।

कितने टावर्स का अपग्रेडशन?
– केन्द्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर के अनुसार 2,542 टावर्स का अपग्रेडशन किया जायेगा।
– यह सारे टावर्स वामपंथी उग्रवाद क्षेत्रों के है।
– यह टावर्स 10 राज्यों में फैले है।

किस राज्य में कितने टावर्स?
– आंध्र प्रदेश: 346
– बिहार: 16
– छतीसगढ़: 971
– झारखंड: 450
– मध्य प्रदेश: 23
– महाराष्ट्र: 125
– ओडिशा: 483
– पश्चिम बंगाल: 33
– उत्तर प्रदेश: 42
– तेलंगाना: 53

—————
7. माइग्रेशन ट्रैकिंग सिस्टम ऐप विकसित करने वाले पहले राज्य का नाम बताएं?

a. बिहार
b. पंजाब
c. ओडीशा
d. महाराष्‍ट्र

Answer: d. महाराष्‍ट्र

– प्रवासी श्रमिकों की आवाजाही को ट्रैक करने के लिए वेबसाइट-आधारित माइग्रेशन ट्रैकिंग सिस्टम (Migration Tracking System – MTS) एप्लिकेशन विकसित किया गया है।
– इसे महाराष्‍ट्र के वूमन एंड चाइल्‍ड डेवलपमेंट डिपार्टमेंट ने विकसित किया है।
– MTS परियोजना का उद्देश्य प्रवासी लाभार्थियों, जैसे कि 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों, स्तनपान कराने वाली माताओं और आंगनवाड़ी केंद्रों में पंजीकृत गर्भवती महिलाओं के लिए एकीकृत बाल विकास सेवा (Integrated Child Development Services – ICDS) की निरंतरता सुनिश्चित करना है।

महाराष्ट्र
– राजधानी: मुंबई
– राज्यपाल: भगत सिंह कोश्यारी
– मुख्यमंत्री: उद्धव ठाकरे

—————
8. राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग (National Commission for Scheduled Castes – NCSC) के अध्‍यक्ष लगातार दूसरी बार कौन बने?

a. विजय सांपला
b. विश्‍वेंद्र शर्मा
c. आलोक प्रकाश
d. अखिल सिंह

Answer: a. विजय सांपला

– वह भाजपा नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री हैं।
– सांपला ने पंजाब चुनाव से पहले एनसीएससी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था और चुनाव लड़ा था।
– उनकी नियुक्ति का आधिकारिक आदेश राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने ज़ारी किया।

—————–
9. इंडिया फार्मा अवॉर्ड्स 2022 समारोह में Indian Pharma Leader of the Year पुरस्‍कार किस कंपनी को मिला?

a. Cipla
b. Zydus
c. Meril
d. Glenmark

Answer: a. Cipla

– ये अवॉर्ड केंद्रीय रसायन और उर्वरक राज्‍य मंत्री भगवंत खुबा ने अप्रैल 2022 में बांटे।

चिकित्सा और दवा उपकरणों के क्षेत्र में विभिन्न उद्योग की कम्पनियों को पुरस्कार दिए गए-
– Indian Pharma Leader of the Year : Cipla Ltd.
– India Pharma Innovation of the Year : Glenmark Pharmaceuticals Ltd.
– Indian Pharma (Formulation) : Micro Labs Ltd.
– Indian Pharma CSR of the year : Zydus Lifesciences Ltd
– India Medical Device Leader of the Year : Poly Medicure Ltd.
– India Medical Device Company of the Year : Trivitron Healthcare Pvt Ltd.
– India Medical Device MSME of the Year : Nice Neotech Medical Systems Pvt Ltd.
– Indian Medical Device Start-up of the Year : Vanguard Diagnostics Pvt Ltd.
– Indian Medical Device Innovation of the Year : Meril Lifesciences Pvt Ltd.

—————–
10. अंतर्राष्ट्रीय नृत्य दिवस कब मनाया जाता है?

a. 25 अप्रैल
b. 27 अप्रैल
c. 28 अप्रैल
d. 29 अप्रैल

Answer: d. 29 अप्रैल

– नृत्य के मूल्य और महत्व का जश्न मनाया जाता है।