28 August 2022 Current Affairs

Spread the love

यह 28 August 2022 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा।

PDF Download : Click here

1. भारत के 49वें मुख्य न्यायाधीश (CJI) के रूप में किसने शपथ ली?

a. जस्टिस अजय रस्‍तोगी
b. जस्टिस के एम जोसेफ
c. जस्टिस हेमंत गुप्‍ता
d. जस्टिस यूयू ललित

Answer: d. जस्टिस यूयू ललित

– जस्टिस उदय उमेश ललित ने 27 अगस्त 2022 को भारत के 49वें मुख्य न्यायाधीश (CJI) के रूप में शपथ ली।
– राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने राष्ट्रपति भवन में शपथ दिलाई।
– CJI के रूप में, जस्टिस ललित का कार्यकाल 74 दिनों का होगा और 65 वर्ष की आयु प्राप्त करने पर वह 8 नवंबर 2022 को पद छोड़ देंगे।
– उन्हें जस्टिस एनवी रमना की जगह इस पद पर नियुक्त किया गया है।

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस बनने की प्रक्रिया क्या है?
– ‘मेमोरेंडम ऑफ प्रोसीजर ऑफ अपॉइंटमेंट ऑफ सुप्रीम कोर्ट जजेज’ में कहा गया है कि “भारत के मुख्य न्यायाधीश के कार्यालय में नियुक्ति सर्वोच्च न्यायालय के वरिष्ठतम न्यायाधीश की होनी चाहिए, जिसे पद धारण करने के लिए उपयुक्त माना जाए”।

जस्टिस यूयू ललित
– उन्होंने अपने करियर की शुरुआत बॉम्बे हाईकोर्ट से की।
– इसके बाद जनवरी 1986 में अपनी प्रैक्टिस दिल्ली में शुरू की।
– अप्रैल 2004 में, उन्हें शीर्ष अदालत द्वारा एक वरिष्ठ अधिवक्ता के रूप में नामित किया गया।
– न्यायमूर्ति ललित कई ऐतिहासिक निर्णयों का हिस्सा रहे हैं।
– जैसे कि मुसलमानों के बीच तत्काल ट्रिपल तलाक।
– न्यायाधीश के रूप में उनकी पदोन्नति से पहले, उन्हें 2जी स्पेक्ट्रम आवंटन मामले में सुनवाई करने के लिए सीबीआई के लिए एक विशेष लोक अभियोजक नियुक्त किया गया था।
– उनके दादा रंगनाथ ललित वकील थे।
– उनके पिता UR ललित बॉम्‍बे हाई कोर्ट के जज रह चुके हैं।

—————
2. भारत का नेट जीरो (शुद्ध-शून्य कार्बन उत्सर्जन) लक्ष्य वर्ष बताएं?

a. 2036
b. 2060
c. 2065
d. 2070

Answer: d. 2070

– नेट जीरो या शुद्ध शून्य, या कार्बन न्यूट्रल बनने का अर्थ है वातावरण में ग्रीनहाउस गैसों की मात्रा में वृद्धि नहीं करना।
– मतलब कि कार्बन का उर्त्‍सजन उतना ही करना, जितना हमारे देश के पेड़ और वातावरण इसे सोख सकें।
– वर्ष 2070 तक भारत को नेट जीरो या कार्बन न्‍यूट्रल करने का ऐलान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ग्‍लोस्‍गो (स्‍कॉटलैंड का शहर) में COP26 कार्यक्रम में किया था।

अब फिर से नेट जीरो की चर्चा क्‍यों
– दरअसल, एशिया सोसायटी पॉलिसी इंस्‍टीट्यूट ने इस संबंध में रिपोर्ट ‘Getting India to Net Zero’ जारी की है।
– इसके अनुसार यदि भारत को वर्ष 2070 तक नेट जीरो लक्ष्‍य प्राप्‍त करना है तो 10.1 ट्रिलियन डॉलर के व्‍यापक निवेश की जरूरत होगी।
– इसके लिए जीडीपी में 4.7 प्रतिशत तक बढ़ाना होगा।
– वर्ष 2023 तक नए कोयले के उपयोग को समाप्त करना और 2040 तक कोयला शक्ति का प्रयोग 20वीं शताब्दी के मध्य के करीब शुद्ध शून्य उत्सर्जन तक पहुँचने के लिये विशेष रूप से प्रभावशाली होगा।

किसने रिपोर्ट जारी की
– एशिया सोसाइटी पॉलिसी इंस्टीट्यूट के अध्यक्ष केविन रुड (ऑस्‍ट्रेलिया के पूर्व पीएम)
– संयुक्त राष्ट्र के पूर्व महासचिव और ग्लोबल ग्रीन ग्रोथ इंस्टीट्यूट के अध्यक्ष बान की-मून
– इंटरनेशनल फाइनेंस कॉर्पोरेशन के हेड विवेक पाठक
– भारत के पूर्व विदेश सचिव श्‍याम सरन।

कार्बन उर्त्‍सजन में भारत की स्थिति
– BBC की रिपोर्ट के अनुसार, भारत चीन, अमेरिका और यूरोपीय संघ के बाद दुनिया का चौथा सबसे बड़ा कार्बन डाइऑक्साइड उत्सर्जक है।
– लेकिन इसकी विशाल आबादी का मतलब है कि इसका प्रति व्यक्ति उत्सर्जन अन्य प्रमुख विश्व अर्थव्यवस्थाओं की तुलना में बहुत कम है।
– भारत ने 2019 में प्रति व्यक्ति जनसंख्या के लिए 1.9 टन CO2 का उत्सर्जन किया, जबकि उस वर्ष अमेरिका के लिए 15.5 टन और रूस के लिए 12.5 टन था।

2070 तक शुद्ध-शून्य उत्सर्जन प्राप्त करने के लिये भारत द्वारा क्या कदम उठाए गए हैं?
– नवीकरणीय ऊर्जा वर्ष 2030 तक 500 गीगावाट करने का लक्ष्‍य
– वर्ष 2030 तक गैर-जीवाश्म ऊर्जा स्रोतों से 50% स्थापित विद्युत् उत्पादन क्षमता का लक्ष्य
– भारत ने दुनिया की सबसे बड़ी सौर ऊर्जा स्थापना पहलों में से एक शुरू किया है।
– भारत ने ग्रे और ग्रीन हाइड्रोजन के लिये हाइड्रोजन ऊर्जा मिशन की भी घोषणा की है।

—————
3. 31वें व्‍यास सम्‍मान (वर्ष 2021) के लिए किस उपन्‍यासकार और नाटककार को चुना गया?

a. राजेंद्र तिवारी
b. मुकेश फारुखी
c. असगर वजाहत
d. अनीता आनंद

Answer: c. असगर वजाहत

– यह अवॉर्ड केके बिड़ला फाउंडेशन की ओर से दिया जाता है।
– फाउंडेशन ने वर्ष 2021 का व्‍यास सम्‍मान उपन्‍यासकार – नाटककार असगर वजाहट को देने की घोषणा अगस्‍त 2022 में की है।

किस नाटक के लिए अवॉर्ड मिला
– ‘महाबली’
– यह नाटक वर्ष 2019 में प्रकाशित हुई थी।
– नाटक महाबली सत्ता और कला के बीच के संबंधों पर आधारित है। इसमें मुगल सम्राट अकबर और तुलसीदास की बातचीत है। सपने में की गई यह बातचीत सत्ता और कला के संबंधों पर विस्तृत रूप से प्रकाश डालती है।

असगर वजाहत
– असगर वजाहत का जन्म पांच जुलाई 1946 में उत्तर प्रदेश के फतेहपुर में हुआ था।
– वह जामिया मिलिया इस्‍लामिया के हिन्‍दी विभाग के अध्‍यक्ष रह चुके हैं।
– कई उपन्‍यास लिख चुके हैं।

व्‍यास सम्‍मान
– यह सम्‍मान 10 वर्ष की अवधि में प्रकाशित किसी भी भारतीय नागरिक की हिन्‍दी की एक उत्‍कृष्‍ट साहित्‍यिक कृति को दिया जाता है।
– अवॉर्ड की शुरुआत वर्ष 1991 में हुई थी।
– विजेता को इस सम्‍मान में चार लाख रुपए और प्रशस्ति व प्रतीक चिन्‍ह भेंट किया जाता है।
– फाउंडेशन का उद्देश्य साहित्य (विशेष रूप से हिन्दी साहित्य) और कलाओं के विकास को प्रोत्साहित करना है।

व्‍यास सम्‍मान के विजेता
वर्ष : रचनाकार : रचना : विधा
2021 : असगर वजाहत : महाबली : नाटक
2020 : शरद पगारे : पाटलिपुत्र की सम्राज्ञी : उपन्यास
2019 : नासिरा शर्मा : कागज की नाव : उपन्यास
2018 : लीलाधर जगूड़ी : जितने लोग उतने प्रेम : कविता संग्रह
2017 : ममता कालिया : दुक्खम सुक्खम : उपन्यास
– पहली बार व्यास सम्मान 1991 में ‘डॉ. रामविलास शर्मा’ (Dr. Ram Vilas Sharma) को उनके उपन्यास ‘भारत की प्राचीन परिवार और हिंदी’ के लिए प्रदान किया गया था।

के.के. बिड़ला फाउंडेशन द्वारा दिए जाने वाले पुरस्कार
सरस्वती सम्मान
व्यास सम्मान
बिहारी पुरस्कार
शंकर पुरस्कार
वाचस्पति पुरस्कार
घनश्यामदास बिड़ला पुरस्कार

—————
4. यूपी सरकार की कैबिनेट ने किस जिले के वन क्षेत्र में नाइट सफारी पार्क स्थापित करने को मंजूरी दी?

a. पीलीभीत
b. लखनऊ
c. आगरा
d. रामपुर

Answer: b. लखनऊ

– यूपी कैबिनेट ने 16 अगस्त 2022 को यह फैसला लिया।
– राजधानी लखनऊ के कुकरैल फॉरेस्‍ट एरिया को डेवलप किया जाएगा।
– कुकरैल फॉरेस्‍ट एरिया के 350 एकड़ क्षेत्र में नाइट सफारी की स्थापना की जाएगी।
– 75 एकड़ में तेंदुआ सफारी, 60 एकड़ में भालू सफारी और 75 एकड़ में टाइगर सफारी बनाने की योजना है।
– 150 एकड़ में जूलॉजिकल पार्क की स्थापना की जायेगी।

नाइट सफारी पार्क में कौन सी सुविधाएं होंगी?
– ट्रेन की सवारी और जीप की सवारी
– कैनोपी वाक, कैंपिंग गतिविधि, माउंटेन बाइक ट्रैक, दीवार पर्वतारोहण और फूड कोर्ट

उत्तर प्रदेश
राजधानी: लखनऊ
सीएम: योगी आदित्यनाथ
राज्यपाल: आनंदीबेन पटेल

—————
5. फीफा ने ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन (AIFF) का निलंबन 12 दिन बाद खत्म किया, ऐसा भारत के किस कदम पर किया गया?

a. AIFF को फिर से प्रशासनिक अधिकार
b. वर्ल्डकप की मेजबानी
c. AIFF के बोर्ड में बदलाव
d. इनमें से कोई नहीं

Answer: a. AIFF को फिर से प्रशासनिक अधिकार

– फीफा परिषद के ब्यूरो ने 26 अगस्त 2022 (ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन) AIFF पर से निलंबन हटा दिया है।
– फीफा ने 14 अगस्त को थर्ड पार्टी के अनुचित प्रभाव के कारण AIFF पर निलंबन लगाया था।
– फीफा ने AIFF से निलंबन सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद हटाया।
– सुप्रीम कोर्ट ने AIFF की कमेटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर (CoA) को समाप्त कर दिया।
– CoA के समाप्त होने AIFF प्रशासन को पूर्ण नियंत्रण मिल गया और इसी के चलते फीफा ने निलंबन हटाया।

क्या है पूरा मामला?
– दरअसल, दिसंबर 2020 से ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन (AIFF) का चुनाव नहीं हुआ था।
– इसकी वजह से सुप्रीम कोर्ट ने प्रफुल्ल पटेल को इसके अध्यक्ष पद से हटा दिया।
– सुप्रीम कोर्ट ने फेडरेशन के संचालन के लिए सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश ए आर दवे की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय प्रशासकों की समिति (CoA) का गठन किया था।
– इसके बाद से AIFF व्यवस्थित नहीं था और प्रशासकों द्वारा चलाया जा रहा था।
– फीफा ने कभी अपनी सदस्य इकाइयों के मामलों में थर्ड पार्टी के हस्तक्षेप की अनुमति नहीं दी थी।
– AIFF के इसी हस्तक्षेप के चलते फीफा ने AIFF को निलंबित कर दिया था।
– इसके बाद केन्द्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट का रुख किया।
– केन्द्र सर ने एक याचिका दायर कर सुप्रीम कोर्ट से CoA के आदेश को खत्म करने का अनुरोध किया था।
– केंद्र सरकार के अनुरोध को स्वीकार करते हुए, सुप्रीम कोर्ट ने 22 अगस्त 2022 को CoA को समाप्त करने के आदेश पारित किया।
– इसी फैसले के बाद फीफा ने AIFF से निलंबन हटाया है।

——————-
6. फीफा अंडर-17 महिला विश्वकप 2022 किस देश में आयोजित होगा, जिसपर फीफा ने पहले रोक लगा दी थी?

a. पाकिस्तान
b. भारत
c. नेपाल
d. अमेरिका

Answer: b. भारत

– फीफा ने 14 अगस्त 2022 को थर्ड पार्टी के दखल के चलते भारत से फीफा अंडर-17 महिला विश्वकप की मेजबानी वापस ले ली।
– लेकिन सुप्रीम कोर्ट के फैसले बाद फीफा ने AIFF (ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन) से निलंबन हटा दिया है।
– निलंबन हट जाने के बाद अब वर्ल्डकप की मेजबानी भारत ही करेगा।
– भारत अंडर-17 महिला विश्व कप की मेजबानी 11 से 30 अक्टूबर 2022 तक करेगा।

—————–
7. उत्तर प्रदेश सरकार ने किस जिले को इत्र (परफ्यूम) पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने का फैसला किया?

a. आगरा
b. लखनऊ
c. कन्नौज
d. बरेली

Answer: c. कन्नौज

– कन्नौज, इत्र के लिए मशहूर है। भारत से होने वाले पर्फ्यूम एक्सपोर्ट में कन्‍नौज की बड़ी भूमिका है।
– राज्य सरकार ने इत्र उद्योग को बढ़ावा देने के लिए दिसंबर 2022 में कन्नौज में अंतरराष्ट्रीय इत्र मेला आयोजित होगा।
– इसके जरिए कन्‍नौज में इत्र पर्यटन को बढ़ावा दिया जाएगाृ।
– इस बात की जानकारी राज्य के MEME एवं निर्यात प्रोत्साहन के अतिरिक्त मुख्य सचिव, नवनीत सहगल ने 24 अगस्त 2022 को दी।
– उन्होंने ने कहा कि कन्नौज में इत्र पार्क बन रहा है और इसका फर्स्ट फेज 15 नवंबर 2022 तक पूरा कर लिया जाएगा।
– यूपी सरकार ने अंतरराष्ट्रीय बाजार में कन्नौज के इत्र को बढ़ावा देने की योजना बनाई है।
– सरकार का उद्देश्य 250 करोड़ रुपए के इत्र कारोबार को 25,000 करोड़ रुपए तक ले जाना है।
– सरकार ने व्यापारियों को अपने इत्र निर्यात को बढ़ावा देने के लिए निर्यात नीति में बदलाव भी किए हैं।
– अगर इत्र के कारोबार से जुड़ा कोई व्यापारी विदेश में किसी मेले में हिस्सा लेता है, तो उसकी यात्रा और सैंपल के परिवहन का खर्च राज्य सरकार उठाएगी।
– कन्नौज का इत्र ‘एक जिला, एक उत्पाद’ पहल के तहत आता है और अंतरराष्ट्रीय बाजार में इसकी मांग है।
– इत्र उद्योग को बढ़ावा देने के लिए इत्र पार्क को 15 नवंबर 2022 तक चालू कर दिया जायेगा।

उत्तर प्रदेश
राजधानी: लखनऊ
सीएम: योगी आदित्यनाथ
राज्यपाल: आनंदीबेन पटेल

—————
8. भारत ने अफगानिस्‍तान में तालिबान सत्‍ता के एक वर्ष बाद फिर से किस शहर में दूतावास खोल दिया?

a. कंधार
b. मजार ए शरीफ
c. काबुल
d. जलालाबाद

Answer: c. काबुल

– भारत ने अगस्‍त 2022 में अफगानिस्‍तान की राजधानी काबुल में फिर से दूतावास खोल दिया।
– वर्तमान में 60 से 70 अधिकारियों और कर्मचारियों की टीम काबुल दूतावास में तैनात है।
– हालांकि आधिकारिक तौर पर भारत ने अभी तक तालिबान की अंतरिम सरकार के साथ कोई संबंध स्थापित नहीं किया है।

भारतीय दूतावास खुलते ही तालिबान विरोधी धड़े की बेचैनी बढ़ी
– अफगानिस्तान में भारत के दूतावास खोलते ही नई दिल्ली में तालिबान विरोधी अफगान धड़े की बेचैनी बढ़ गई है।
– यह लोकतांत्रिक धड़ा 2001 में अफगानिस्तान की सत्ता पर काबिज होने के बाद भारत की हर सरकार का करीबी बना रहा है।
– तालिबान शुरू से ही लोकतंत्र और मानवाधिकारों का दमन करने के लिए कुख्यात रहा है।
– वर्तमान में भी उसने सत्ता में आने से पहले किए गए किसी भी वादे को पूरा नहीं किया है।
– महिलाओं को अभी तक नौकरी की आजादी नहीं मिली और ना ही लड़कियों की शिक्षा के लिए स्कूल और कॉलेज खोले गए।

भारत ने दूतावास खोल एक तीर से साधे दो निशाने
– दूतावास खोले जाने से तालिबान के साथ भारत के संबंध थोड़े मजबूत हुए हैं।
– इसके साथ – साथ तालिबान शासन को मान्यता न देने के अंतरराष्ट्रीय सहमति को बनाए रखा है।
– दुनियाभर के देशों पहले ही कह चुके हैं, कि तालिबान सरकार को मान्यता पाने के लिए शर्तों को पूरा करना होगा।
– इसमें ऐसी सरकार का गठन भी शामिल है, जिसमें सभी पक्षों की भागीदारी हो। मानवाधिकार लागू हो।

भारत ने क्यों खोला काबुल का दूतावास
– दरअसल, काबुल में चीन, रूस, ईरान, यूरोपीय संघ और अधिकांश मध्य एशियाई देशों ने पहले से ही अपने दूतावासों को खोल दिया था।
– ऐसे में भारत के लिए भी अफगानिस्तान में अपनी उपस्थिति को बनाना महत्वपूर्ण हो गया था।
– तालिबान शासन को इस समय पैसे और समर्थन की बहुत जरूरत है। – ऐसे में चीन और पाकिस्तान एक साथ मिलकर तालिबान पर अपनी पकड़ मजबूत कर रहे थे।
– इससे मध्य एशियाई देशों में भारत की पकड़ कमजोर होने का अंदेशा था।
– अगर पाकिस्तान और चीन का प्रभाव तालिबान पर बढ़ जाता तो अफगानिस्तान में भारत की अरबों डॉलर की अधर में लटकीं परियोजनाओं को भी खतरा हो सकता था।

अफगान नागरिकों की मदद कर रहा भारत
– अगस्त 2021 में तालिबान की सत्ता में वापसी के बाद पिछले 12 महीनों में भारत ने 36,000 मीट्रिक टन गेहूं पाकिस्तान के माध्यम से अफगानिस्तान भेजा।
– इसके साथ – साथ दवाएं और कोविड -19 टीके भी भेजे।

अफगानिस्‍तान में भारतीय परियोजना
– तालिबान ने भारत से अनुरोध किया था कि अफगानिस्‍तान में अधूरी पड़ी परियोजनाओं को पूरा करे। इस अनुरोध को भारत ने स्‍वीकार कर लिया है। जैसे काबुल में शाहतूत बांध परियोजना।
– अफगानिस्‍तान में तीन प्रमुख परियोजनाएं : अफगान संसद, जेराज़-डेलाराम राजमार्ग और अफगानिस्तान-भारत मैत्री बाँध (सलमा बाँध) के साथ-साथ सैकड़ों छोटी विकास परियोजनाओं (स्कूलों, अस्पतालों और जल परियोजनाओं) में 3 बिलियन अमेरिकी डॅालर से अधिक की भारत की सहायता ने अफगानिस्तान में भारत की स्थिति को मज़बूत किया है।
– काबुल में भारतीय दूतावास के बंद होने के समय अफगान नागरिकों को जारी किए गए सभी वीजा को निरस्त कर दिया गया था। सिर्फ ई-वीजा के जरिए चंद लोगों को ही भारत आने की अनुमति दी गई।

अफगानिस्‍तान
सर्वोच्‍च लीडर – हिब्‍दुल्‍ला अखुंदजादा
तालिबान पीएम – हसन अखुंद

—————
9. राष्‍ट्रीय खेल दिवस कब मनाया जाता है?

a. 28 अगस्‍त
b. 29 अगस्‍त
c. 30 अगस्‍त
d. 31 अगस्‍त

Answer: b. 29 अगस्‍त

– हॉकी खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद की जयंती पर हर वर्ष 29 अगस्त को खेल दिवस मनाया जाता है।
– सरकार ने इस महीने की 6 तारीख को मेजर ध्यानचंद के सम्मान में उनके नाम पर राष्ट्रीय खेल रत्न पुरस्कार का नामकरण किया था।

—————–
10. ब्लैक होल के आस-पास की आवाज़ दुनिया पहली बार सुन रही है, आपने सुनी?

ये स्‍पेस में विशालकाय ब्‍लैक होल के आस-पास की आवाज है।
– नासा ने इसे परसियस गैलेक्‍स से रिकॉर्ड किया है।
– जो उससे 20 करोड़ प्रकाश वर्ष दूर है।
– इस साउंड को वैज्ञानिकों ने एडिट किया है, ताकि हम सुन सकें।
– वैज्ञानिकों का कहना है कि ये असल ब्‍लैक होल नहीं है, जो हम सुन रहे हैं।
– जो आवाज हमें ब्‍लैक होल की लग रही है वह उस क्षेत्र को घेरने वाली ऊर्जा की वजह से पैदा होने वाला साउंड है।
– असल में ब्‍लैक होल की खुद की आवाज नहीं है, क्‍योंकि ब्‍लैक होल से कुछ नहीं बचता है।
– ब्‍लैक होल के इर्द-गिर्द क्षेत्र है, जो कई गैलेक्‍सी का बड़ा समूह है।
– वहां पर गैस का घनत्‍व ज्‍यादा है, इससे प्रेशर वेव या साउंड वेव बनती है।
– ये वेव गैस के जरिए ट्रैवल करती है और दोबारा प्रेशर वेव बनाती हैं।
– यह फ्रीक्‍वेंसी के मामले में काफी कम है।
– लेकिन इसे 50 ऑक्‍टेव तक ले जाया गया है, ताकि इंसान इसे सुन सकें।