24 to 26 August 2022 Current Affairs

Spread the love

यह 24 to 26 August 2022 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा।

PDF Download : Click here

1. भारत ने UNSC में यूक्रेन मामले पर पहली बार रूस के खिलाफ वोट दिया, यह वोटिंग किस विषय पर हुई?

a. UNSC में जेलेंस्‍की का संबोधन
b. यूक्रेन में रूसी हमला रोकने
c. रूस के खिलाफ प्रतिबंध
d. इनमें से कोई नहीं

Answer: a. UNSC में जेलेंस्‍की का संबोधन

– भारत ने पहली बार 24 अगस्त 2022 को यूक्रेन पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में “प्रक्रियात्मक वोट” (procedural vote) के दौरान रूस के खिलाफ मतदान किया।

किस मामले में भारत ने रूस के खिलाफ वोट किया
– दरअसल, UNSC में यूक्रेन के राष्‍ट्रपति वोलोडिमिर जेलेंस्‍की को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए आमंत्रित किया गया था। वह UNSC को संबोधित करना चाह रहे थे।
– इसी को लेकर रूस ने इस मामले में वोटिंग की इच्‍छा जता दी।
– तब 15 सदस्‍यीय UNSC में वोटिंग हुई।
– 13 सदस्‍यों ने जेलेस्‍की के संबोधन के पक्ष में वोट किया। इसमें भारत भी शामिल था। मतलब कि रूस की सोच के विरोध में वोट हुआ।
– रूस ने इस निमंत्रण के खिलाफ वोट दिया और चीन ने वोट नहीं दिया।

– इसके बाद UNSC की बैठक को यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमिर ज़ेलेंस्की ने संबोधित किया।
– फरवरी 2022 में रूसी सैन्य कार्रवाई शुरू होने के बाद यह पहली बार है, जब भारत ने यूक्रेन के मुद्दे पर रूस के खिलाफ मतदान किया है।
– अब तक भारत ने यूक्रेन पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भाग नहीं लिया था।
– भारत वर्तमान में दो साल के कार्यकाल के लिए UNSC का एक अस्थायी सदस्य है, जो दिसंबर में समाप्त हो रहा है।

UNSC की बैठक में भारत ने क्या कहा?
– भारत ने यूक्रेन के खिलाफ अपनी आक्रामकता के लिए रूस की आलोचना नहीं की है।
– भारत ने बार-बार रूसी और यूक्रेनी पक्षों से कूटनीति और बातचीत के रास्ते पर लौटने को कहा है।
– दोनों देशों के बीच संघर्ष को समाप्त करने के लिए सभी राजनयिक प्रयासों के लिए अपना समर्थन भी व्यक्त किया है।

UNSC क्या है?
– UNSC, यूनाइटेड नेशंस के 6 प्रमुख अंगों में से एक है।
– इसका काम दुनियाभर में शांति और सुरक्षा को बढ़ावा देकर देशों के बीच मैत्रीपूर्ण संबंधों को प्रोत्साहित करना है।
– दरअसल 20वीं सदी के शुरुआती 5 दशकों में ही दुनिया ने दो विश्व युद्धों की भीषण त्रासदी देखी थी।
– एक ऐसी संस्था की मांग उठने लगी थी जो देशों के बीच शांति और सुरक्षा बढ़ाने की दिशा में काम करे।
– इसी के बाद संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की स्थापना हुई।

सुरक्षा परिषद के सदस्य
– पांच स्‍थायी सदस्‍य – अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, रूस और चीन। इनके पास वीटो पावर।
– 10 अस्थायी सदस्य – इन अस्थायी सदस्यों का चयन क्षेत्रीय आधार पर दो साल के लिए किया जाता है।

संयुक्त राष्ट्र
महासचिव- एंटोनियो गुटेरेस

रूस
प्रेसिडेंट- व्लादिमीर पुतिन
कैपिटल- मास्को

यूक्रेन
प्रेसिडेंट- वोलोडिमिर ज़ेलेंस्की
कैपिटल-कीव

—————
2. दक्षिण अमेरिका के किस देश में भारत के नए दूतावास (एंबेसी) का उद्घाटन विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अगस्त 2022 में किया?

a. अर्जेंटीना
b. पराग्वे
c. ब्राजील
d. चिली

Answer: b. पराग्वे

– भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने 22 अगस्त 2022 को पराग्वे में भारत के नए दूतावास का उद्घाटन किया।
– उन्होंने यह उद्घाटन पराग्वे के विदेश मंत्री जूलियो सीजर एरिओला के साथ किया।
– जयशंकर पराग्वे की यात्रा करने वाले पहले भारतीय विदेश मंत्री हैं।
– पराग्वे में भारतीय दूतावास ने जनवरी 2022 से काम करना शुरू कर दिया था।
– यह भारत का पराग्वे में नया दूतावास है।
– अब तक भारत का प्रतिनिधित्व पराग्वे में ब्यूनस आयर्स, अर्जेंटीना के दूतावास के माध्यम से किया जाता था।

भारत-पराग्वे के द्विपक्षीय संबंध
– पराग्वे में लगभग 600 भारतीय रहते है।
– भारत, पराग्वे को कार्बनिक रसायन, वाहन, ऑटो पार्ट्स, सौंदर्य प्रसाधन, मशीनरी, फार्मा, प्लास्टिक, एल्यूमीनियम, रबर उत्पाद आदि निर्यात की प्रमुख वस्तुएं हैं।
– भारत, पराग्वे से प्रचुर मात्रा में सोया और सूरजमुखी तेल का आयात करता है।

भारत के पराग्वे के साथ अच्छे संबंध होना जरूरी क्यों?
– भारत को कई अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर संयुक्त राष्ट्र और बहुपक्षीय निकायों के लिए उम्मीदवारी की जरूरत पड़ती है।
– ऐसे में पराग्वे भारत को इन मुद्दों पर वोट देकर समर्थन जता सकता है।
– इसीलिए पराग्वे के साथ अच्छे संबंध होना जरूरी हो जाता है।

पराग्वे
– पराग्वे अर्जेंटीना, ब्राजील और बोलीविया के बीच एक लैंडलॉक्ड देश है।
– पराग्वे की राजधानी असुन्सियोन है।

पराग्वे
राष्ट्रपति: मारियो अब्दो बेनिटेज़

——————
3. पीएम मोदी ने अत्याधुनिक अमृता अस्पताल का उद्घाटन कहां किया?

a. लखनऊ
b. भोपाल
c. फरीदाबाद
d. पटना

Answer: c. फरीदाबाद

– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 अगस्त 2022 को हरियाणा के शहर फरीदाबाद में अत्याधुनिक अमृता अस्पताल का उद्घाटन किया।
– माता अमृतानंदमयी मठ द्वारा संचालित सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल 2600 बिस्तरों से लैस होगा।
– यह अस्पताल 130 एकड़ में फैला हुआ है।
– इस अस्पताल का निर्माण माता अमृतानंदमयी मठ के तहत छह वर्षों की अवधि में किया गया है।
– अस्पताल निर्माण की लागत करीब 6000 करोड़ रुपए है।

हरियाणा
राजधानी: चंडीगढ़
सीएम: मनोहर लाल खट्टर
राज्यपाल: बंडारू दत्तात्रेय

—————–
4. अंडर-20 रेसलिंग वर्ल्ड चैंपियनशिप 2022 में भारत ने कुल कितने मेडल जीते?

a. 12
b. 13
c. 15
d. 16

Answer: d. 16

– भारत ने अंडर-20 रेसलिंग वर्ल्ड चैंपियनशिप 2022 में कुल 16 मेडल जीते।
– इन 16 मेडल में एक गोल्ड, चार सिल्वर और ग्यारह ब्रॉन्ज मेडल शामिल हैं।
– भारत की तरफ से अंतिम पंघाल ने इकलौता गोल्ड मेडल जीता।
– यह चैंपियनशिप 15-21 अगस्त 2022 के बीच सोफिया, बुल्गारिया में आयोजित हुई।

गोल्ड
– अंतिम पंघाल

सिल्वर
– सोनम मलिक
– प्रियंका
– प्रिया मलिक
– महेंद्र गायकवाड़

ब्रॉन्ज
– प्रियांशी प्रजापत
– सीतो
– रीतिका
– अभिषेक ढाका
– मोहित कुमार
– सुजीत कलकल
– मुलायम यादव
– सागर जगलान
– नीरज भारद्वाज
– सुमित
– रोहित दहिया

————
5. गलती से लॉन्‍च होकर ब्रह्मोस मिसाइल के पाकिस्तान में गिरने के मामले में भारतीय वायुसेना ने तीन अधिकारियों को बर्खास्‍त कर दिया, यह घटना कब हुई थी?

a. जनवरी 2022
b. फरवरी 2022
c. मार्च 2022
d. अप्रैल 2022

Answer: c. मार्च 2022

– इन तीनों ऑफिसर (ग्रुप कैप्टन, विंग कमांडर और स्क्वाड्रन लीडर) की सेवाएं तत्‍काल प्रभाव से समाप्‍त कर दी गई हैं।
– केंद्र सरकार ने तीनों अफसर को वर्खास्‍त करने का आदेश 23 अगस्‍त 2022 को दिया।
– केंद्र सरकार ने मार्च 2022 को इस घटना को बेहद गंभीरता से लेते हुए उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए थे।
– वायुसेना की जांच रिपोर्ट में तीनों अधिकारियों को एसओपी (SOP) का पालन ना करने का दोषी पाया गया है।

यह एक्सिडेंटल फायरिंग कब हुई?
– दरअसल, 9 मार्च 2022 को भारत की एक मिसाइल पाकिस्तान के इलाके में 124 किलोमीटर अंदर गिरी थी।
– यह मिसाइल भारत के सिरसा से दागी गई थी।
– टाइमिंग और मैप के लिहाज से देखें तो इस प्रोजेक्टाइल (बिना हथियारों की मिसाइल) ने 7 मिनट में 261 किलोमीटर दूरी तय की।
– इसकी रफ्तार 2 से 3 मैक (ध्‍वनि की रफ्तार से 2 से 3 गुना) थी।
– इस मिसाइल में किसी तरह के हथियार या बारूद नहीं था। लिहाजा, किसी तरह की तबाही नहीं हुई।
– यह तेजी से मियां चन्नू इलाके में गिरी। बॉर्डर से पाकिस्तान पहुंचने में इसे 3 मिनट लगे।

कैसे सामने आया मामला?
– पाकिस्तानी सेना के मीडिया विंग इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशन्स (ISPR) के DG मेजर जनरल बाबर इफ्तिखार ने घटना के दिन एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसका खुलासा किया था।
– बाबर ने कहा था- भारत की तरफ से जो मिसाइल हमारे देश पर दागी गई, उसे आप सुपरसोनिक फ्लाइंग मिसाइल कह सकते हैं।

पाकिस्तानी जर्नलिस्ट ने किया था मिसाइल का खुलासा
पाकिस्तानी जर्नलिस्ट मोहम्मद इब्राहिम काजी ने कहां कि यह बेहद खतरनाक कदम था, क्योंकि जिस वक्त यह मिसाइल फायर की गई, उस वक्त भारत और पाकिस्तान के एयरस्पेस में कई फ्लाइट ऑपरेशनल थीं और कोई बड़ा हादसा हो सकता था।
– मोहम्मद इब्राहिम काजी ने सोशल मीडिया पर दावा किया कि भारत से छोड़ी गई मिसाइल का नाम ब्रह्मोस (रेंज 290 किमी.) है।
– इंडियन एयरफोर्स इसका स्टॉक राजस्थान के श्रीगंगानगर में रखती है।
– हालांकि पाकिस्तानी फौज का दावा है कि यह मिसाइल हरियाणा के सिरसा से दागी गई।

पाकिस्‍तान का एयर डिफेंस सिस्‍टम नहीं रोक पाया
– पाकिस्‍तान जब मिसाइल गिरा, तो कई घंटे तक यही बात होती रही कि कोई प्राइवेट प्‍लेन इंडिया से आकर गिरा है।
– जब पाकिस्‍तानी मिलिटरी हादसे के स्‍थल पर पहुंची, तब उसे इसका एहसास हुआ।
– पाकिस्‍तान ने चाइनीज एयर डिफेंस सिस्‍टम ‘HQ-16’ को तैनात किया हुआ, लेकिन वह फेल हो गया।
– ब्रह्मोस को रोक नहीं पाया।
– काफी देर तक पाकिस्‍तानी मिलिटरी को कुछ समझ में ही नहीं आ सका।
– ब्रह्मोस तीन मिनट 40 सेकेंड तक रहा, लेकिन वह कुछ नहीं कर सका।

क्या मिसाइल टेस्टिंग को लेकर दुनिया में कोई सिंगल प्रोटोकॉल या ट्रीट्री है?
– पूरी दुनिया के लिए कोई सिंगल प्रोटोकॉल तो नहीं है, हां लेकिन बाइलेट्रल ट्रीट्री होती हैं।
– भारत और पाकिस्तान के बीच ‘लाहौर डिक्लियरेशन, फरवरी 1999’ के तहत मिसाइल टेस्टिंग की जानकारी एक-दूसरे को देने का प्रावधान है। लेकिन इससे ज्यादा कुछ नहीं है।
– भारत और पाकिस्तान जैसे देशों में जब तक जंग का खतरा न हो तब तक न्यूक्लियर वॉर हेड को मिसाइल में लगाकर नहीं रखा जाता है।
– ब्रह्मोस मिसाइल में न्यूक्लियर और कन्वेंशनल दोनों तरह के हथियार ले जा सकती है।

ब्रह्मोस मिसाइल पर एक नजर
– यह सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल है।
– इसे पनडुब्बी, शिप, एयरक्राफ्ट या जमीन कहीं से भी छोड़ा जा सकता है।
– इस मिसाइल को भारतीय सेना के तीनों अंगों, आर्मी, नेवी और एयरफोर्स को सौंपा जा चुका है।
– ब्रह्मोस मिसाइल का नाम भारत की ब्रह्मपुत्र और रूस की मॉस्क्वा नदियों के नामों को मिलाकर बनाया गया है।
– जमीन या समुद्र से दागे जाने पर ब्रह्मोस 290 किलोमीटर की रेंज में मैक 2 से 3 स्पीड (2500किमी/घंटे) की स्पीड से अपने टारगेट को नेस्तनाबूद कर सकती है।
– पनडुब्बी से ब्रह्मोस मिसाइल को पानी के अंदर से 40-50 मीटर की गहराई से छोड़ा जा सकता है। पनडुब्बी से ब्रह्मोस मिसाइल दागने की टेस्टिंग 2013 में हुई थी।

————-
6. वर्ष 2022 में विश्‍व जल सप्‍ताह (World Water Week) कब मनाया गया है?

a. 20 अगस्‍त से 27 अगस्‍त तक
b. 22 अगस्त से 29 अगस्‍त तक
c. 23 अगस्त से 1 सितंबर तक
d. 24 अगस्‍त से 2 सितंबर तक

Answer: c. 23 अगस्त से 1 सितंबर तक

– विश्व जल सप्ताह (World Water Week) वैश्विक जल मुद्दों और अंतर्राष्ट्रीय विकास से संबंधित चिंताओं को दूर करने के लिए 1991 से स्टॉकहोम अंतर्राष्ट्रीय जल संस्थान द्वारा आयोजित एक वार्षिक कार्यक्रम है।

वर्ष 2022 की थीम “Seeing the unseen: The value of water” है।

(Stockholm International Water Institute – SIWI)
कार्यकारी निदेशक: टॉर्गनी होल्मग्रेन
मुख्यालय: स्टॉकहोम, स्वीडन
स्थापना: 1991

————-
7. इंटरनेशनल ओलंपियाड ऑन एस्ट्रोनॉमी एंड एस्ट्रोफिजिक्स (IOAA) 2022 में भारत ने कितने गोल्ड मेडल जीते?

a. चार
b. तीन
c. दो
d. एक

Answer: b. तीन

– भारत ने इस ओलंपियाड में कुल पांच मेडल जीते।
– इन पांच मेडल में तीन गोल्ड और दो सिल्वर मेडल शामिल हैं।
– यह ओलंपियाड 14 से 21 अगस्त 2022 तक जॉर्जिया के कुटैसी में आयोजित हुआ।

गोल्ड
– राघव गोयल
– मो. साहिल अख्तर स्वर्ण
– मेहुल बोराद

नोट: राघव गोयल ने सबसे चुनौतीपूर्ण सैद्धांतिक प्रश्न के सर्वश्रेष्ठ समाधान के लिए विशेष पुरस्कार जीता।

सिल्वर
– मलय केडिया
– अथर्व नीलेश महाजन

—————–
8. इंटरनेशनल ओलंपियाड ऑन एस्ट्रोनॉमी एंड एस्ट्रोफिजिक्स (IOAA) 2022 में भारत कौन से स्थान पर रहा?

a. पहले
b. दूसरे
c. तीसरे
d. चौथे

Answer: c. तीसरे

– भारत ने 15वें इंटरनेशनल ओलंपियाड ऑन एस्ट्रोनॉमी एंड एस्ट्रोफिजिक्स (IOAA) की पदक तालिका में तीसरा स्थान हासिल किया है।
– भारत, सिंगापुर के साथ संयुक्त रूप से तीसरे स्थान पर रहा।

—————
9. भारतीय रेलवे ने 3.5 किलोमीटर लंबी रेल (सबसे लंबी मालगाड़ी) का परीक्षण किया, इसका नाम बताएं?

a. ‘सुपर वातुकी’
b. ‘सुपर वासुकी’
c. ‘सुपरएक्‍स कावेरी’
d. ‘सुपर वीरांगना’

Answer: b. ‘सुपर वासुकी’

– रेलवे ने आजादी का अमृत महोत्सव समारोह के हिस्से के रूप में 15 अगस्त को अपनी सबसे लंबी मालगाड़ी सुपर वासुकी का परीक्षण किया।
– इस मालगाड़ी ने छत्तीसगढ़ के कोरबा और नागपुर के राजनांदगांव के बीच लगभग 267 किलोमीटर की दूरी तय की और इसे दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे (एसईसीआर) द्वारा चलाया गया।

‘सुपर वासुकी’ की क्षमता
– रेलवे द्वारा चलाई गई यह अब तक की सबसे लंबी और सबसे भारी मालगाड़ी है।
– राष्ट्रीय ट्रांसपोर्टर ने कहा, ट्रेन को एक स्टेशन को पार करने में लगभग चार मिनट लगते हैं।
– 3.5 किलोमीटर लंबी इस ट्रेन में 27,000 टन से अधिक कोयला ढोया जा सकता है।
– अधिकारियों ने कहा कि सुपर वासुकी द्वारा ढोए गए कोयले की मात्रा 3,000 मेगावाट पावर प्‍लांट को एक पूरे दिन में आग लगाने के लिए पर्याप्त है।
– यह मौजूदा रेलवे रेक की क्षमता का तीन गुना है (प्रत्येक में 100 टन वाली 90 कारें)
जो एक यात्रा में लगभग 9,000 टन कोयला ले जाता है।
– मालगाड़ियों के पांच रेकों को एक इकाई के रूप में मिलाकर ट्रेन का निर्माण किया गया था।

—————-
10. तमिलनाडु के मंदिर से कवि और संत संबंदर की चोल काल की प्राचीन मूर्ति किस देश के नीलामी घर में पाई गई, जो 1971 में चोरी हो गई थी?

a. फ्रांस
b. रूस
c. अमेरिका
d. इंग्लैंड

Answer: c. अमेरिका

– तमिलनाडु पुलिस की आइडल विंग सीआईडी ने अगस्त 2022 में कवि और संत संबंदर की एक मूर्ति का पता लगाया।
– इस मूर्ति का पता अमेरिका में क्रिस्टी के नीलामी घर में लगा।
– यह मूर्ति तमिलनाडु के कुंभकोणम तालुका के एक गांव से चोरी हुई थी।
– कुंभकोणम तालुक के थांदनथोटम गांव में काम कर रहे एक कल्याण संघ के प्रमुख के. वासु की शिकायत के बाद मूर्तिकला का पता लगाना शुरू हुआ था।

कब चोरी हुई मूर्ति?
– के. वासु ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि 12 मई 1971 की रात को मंदिर के ताले तोड़कर पांच प्राचीन मूर्तियां चोरी की गई थी।
– इन पांच मूर्तियों में संबंदर, कृष्ण कलिंग नर्तनम, अय्यनार, अगस्तियार और गांव के नादानपुरेश्वरर सिवन मंदिर मूर्ति शामिल है।

मूर्ति का पता कैसे लगा?
– वर्ष 2019 में, आइडल विंग सीआईडी ने शिकायत के बाद मामला दर्ज किया और जांच शुरू की।
– 11 अगस्त 2022 को उन्होंने पार्वती की मूर्ति को अमेरिका के न्यूयॉर्क में बोनहम के नीलामी घर में खोजा।
– फ्रेंच इंस्टीट्यूट ऑफ पुदुचेरी (IFP) ने 1950 के दशक में संबंदर की मूर्ति की तस्वीर खींची थी।
– जांच अधिकारी इंदिरा ने इस मूर्ति का प्रयोग करते हुए विदेशों में विभिन्न संग्रहालयों और नीलामी घरों में चोल काल की संबंदर मूर्तिकला की खोज की।
– दोनों तस्वीरों की जांच और तुलना करने के बाद, विशेषज्ञों ने सीआईडी को पुष्टि की कि यह दोनों इमेजों में मूर्तियां समान थीं।
– विंग अब मूर्तिकला को पुनः प्राप्त करने के लिए कदम उठा रही है।

संबंदर
– संबंदर, जिन्हें थिरुगनाना संबंदर भी कहा जाता है।
– वह 7 वीं शताब्दी में तमिलनाडु में रहने वाले एक शैव कवि-संत थे।

————-
11. पूर्व खिलाड़ी समर बदरू बनर्जी का निधन 20 अगस्‍त 2022 को हो गया, वह किस खेल से जुड़े थे?

a. क्रिकेट
b. फुटबॉल
c. हॉकी
d. कबड्डी

Answer : b. फुटबॉल

– 92 वर्षीय फुटबॉलर को 27 जुलाई को शहर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था।
– जहां उनकी स्थिति बिगड़ती से उनका निधन हो गया।
– समर बनर्जी के नेतृत्‍व में वर्ष 1956 की भारतीय फुटबॉल टीम ने ओलंपिक में अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है।
– तब भारतीय टीम कांस्य पदक के लिए हुए प्लेऑफ में बुल्गारिया से 0-3 से हारकर चौथे स्थान पर रही थी।

– बनर्जी ने कोलकाता के मशहूर फुटबॉल क्लब मोहन बगान को उसका पहला डूरंड कप (1953), रोवर्स कप (1955) सहित कई ट्रॉफियां जीतने में अहम भूमिका निभाई।
– बनर्जी ने खिलाड़ी के तौर पर दो बार (1953 व 1955) और कोच (1962) के रूप में एक बार संतोष ट्रॉफी भी जीती।
– वह इंडियन फुटबॉल टीम के सिलेक्‍टर भी रहे थे।
– पश्चिम बंगाल सरकार ने बदरू बनर्जी को 2017 में खेलों में लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से सम्मानित किया।

—————
12. सुप्रीम कोर्ट ने बेनामी लेनदेन (निषेध) अधिनियम 1988 की धारा 3(2) को असंवैधानिक बताया, इसमें कितने साल की सजा थी?

a. तीन
b. चार
c. पांच
d. दस

Answer: a. तीन

– सुप्रीम कोर्ट ने 23 अगस्‍त 2022 को बेनामी प्रॉपर्टी (Benami Property)कानून को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई की।
– जो ‘बेनामी’ लेनदेन में लिप्त (indulge) लोगों के लिए अधिकतम तीन साल की जेल की सजा या जुर्माना या दोनों का प्रावधान करता है।

सुप्रीम कोर्ट के किन जजो ने फैसला सुनाया-
– सुप्रीम कोर्ट ने इस प्रावधान को “स्पष्ट रूप से मनमाना” होने के आधार पर “असंवैधानिक” करार दिया।
– मुख्य न्यायाधीश एनवी रमना और न्यायमूर्ति सी.टी. रविकुमार और हिमा कोहली ने कहा कि “हम बेनामी लेनदेन (निषेध) अधिनियम, 1988 की धारा 3(2) को असंवैधानिक मानते हैं,”

सुप्रीम कोर्ट ने क्या फैसला दिया?
– क़ानून की धारा 3 “बेनामी लेनदेन का निषेध” के मुद्दे से संबंधित है और इसकी उप-धारा (2) कहती है: “जो कोई भी बेनामी लेनदेन में प्रवेश करता है, उसे एक अवधि के लिए कारावास, जिसे तीन साल तक बढ़ाया जा सकता है या जुर्माना या दोनों के साथ दंडनीय होगा।”
– फैसला कलकत्ता उच्च न्यायालय के फैसले को चुनौती देने वाली केंद्र की अपील पर आया जिसमें यह माना गया था कि 2016 में 1988 के अधिनियम में किए गए संशोधन संभावित प्रभाव से लागू होंगे।
– 1988 का अधिनियम ‘बेनामी’ लेनदेन और ‘बेनामी’ होने वाली प्रॉपर्टी की वसूली के अधिकार को प्रतिबंधित करने के लिए बनाया गया था।

वर्ष 2016 में कौन सा कानून लागू हुआ था?
– कुछ न्‍यूज रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारत में बढ़ते काले धन की समस्या से निजात पाने के लिए केंद्र सरकार ने नवम्बर 2016 में नोटबंदी लागू की।
– इसी दिशा में केंद्र सरकार ने एक कदम और आगे बढ़ाकर बेनामी प्रॉपर्टी कानून, 1988 में परिवर्तन कर इसमें संशोधन किया।
– इस संशोधित कानून को 1 नवम्बर, 2016 से लागू किया।
– इस संशोधित विधेयक में ही बेनामी प्रॉपर्टीज को जब्त करने और उन्हें सील करने का अधिकार है।

बेनामी प्रॉपर्टी क्या है?
– कोई व्यक्ति प्रॉपर्टी खरीदने के लिए पेमेंट तो करता है, लेकिन उसे वो अपने नाम से नहीं खरीदता, तो ऐसी प्रॉपर्टी को बेनामी कहा जाता है और ये बेनामी लेन-देन के दायरे में आता है।
– लेकिन इसमें शर्त ये है कि प्रॉपर्टी खरीदने के लिए जो पैसा लगा है, वो उसकी कमाई के ज्ञात स्रोतों से बाहर का होना चाहिए। फिर चाहे वो पेमेंट सीधे तौर पर किया गया हो या घुमा-फिराकर।

——————
13. पूर्व राज्यपाल सिब्ते रजी का निधन 20 अगस्‍त 2022 को हो गया, वह किस राज्‍य के राज्‍यपाल रहे हैं?

a. झारखंड
b. असम
c. बिहार
d. a और b दोनों

Answer: d. a और b दोनों

– वे कांग्रेस पार्टी के कद्दावर नेताओं में से एक रहे थे।
– उन्‍होंने लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के ट्रॉमा सेंटर में आखिरी सांस ली।
– सिब्ते उम्र संबंधी बीमारी से पीडि़त थे, वह 83 साल के थे।

सिब्ते रजी के बारे में-
– इनका जन्म 7 मार्च 1939 को उत्तर प्रदेश के रायबरेली में हुआ था।
– सिब्ते ने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत 1969 में की।
– वह स्‍टूडेंट लाइफ से ही राजनीति से जुड़ गए थे।
– वर्ष 2004 से 2009 तक झारखंड के राज्‍यपाल रहे थे।
– 27 जुलाई 2009 से 10 November 2009 तक असम के राज्‍यपाल रहे।

तीन बार रहे राज्यसभा सदस्य-
– पहली बार 1980 से 1985 तक
– दूसरी बार 1988 से 1992 तक
– तीसरी बार 1992 से 1998 तक

—————
14. यूनाइटेड किंगडम (UK) में भारत का नया उच्चायुक्त (हाई कमिश्नर) किसे चुना?

a. अभिजीत प्रकाश
b. आनंद कुमार यादव
c. विक्रम दोराईस्‍वामी
d. राम मोहन सिंह

Answer: c. विक्रम दोराईस्‍वामी

– 23 अगस्‍त 2022 को विदेश मंत्रालय ने कहा कि विक्रम दोराईस्‍वामी को यूनाइटेड किंगडम में भारत का नया उच्चायुक्त चुना है।
– जल्द ही वह यूके में भारत के उच्चायुक्त के तौर पर कार्यभार संभालेंगे।
– विक्रम वर्तमान में बांग्लादेश में भारतीय उच्चायुक्त के रूप में कार्यरत हैं।
– वह 1992 बैच के एक भारतीय विदेश सेवा (IFS) ऑफिसर हैं।

– उन्होंने उज्बेकिस्तान, दक्षिण कोरिया में भारतीय राजदूत के रूप में काम किया है और अमेरिका के साथ-साथ पीएम के निजी सचिव में भी काम कर चुके हैं।

यूनाइटेड किंगडम
केपिटल: लंदन
प्राइम मिनिस्टर: बोरिस जॉनसन
मुद्रा: पाउंड स्‍टर्लिंग

—————–
15. विश्व गुजराती भाषा दिवस कब मनाया जाता है?

a. 24 अगस्‍त
b. 23 अगस्‍त
c. 22 अगस्‍त
d. 21 अगस्‍त

Answer: a. 24 अगस्‍त

– यह दिवस गुजरात के महान लेखक ‘वीर नर्मद’ की जयंती के उपलक्ष्‍य में मनाया जाता है?
– कवि वीर नर्मद को गुजराती भाषा का निर्माता माना जाता है।
– वीर नर्मद का जन्म 24 अगस्त, 1833 को गुजरात के सूरत में हुआ था।
– नर्मद ने 22 साल में अपनी पहली कविता लिखी।

—————–
16. केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने अगस्त 2022 में भारत के स्वतंत्रता संग्राम पर आधारित ऑनलाइन शैक्षिक गेम्स की श्रृंखला को लॉन्च किया, इसका नाम बताएं?

a. विजयपथ
b. आजादी क्वेस्ट
c. स्वतंत्रता संग्राम
d. स्वतंत्रता सेनानी

Answer: b. आजादी क्वेस्ट

– केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने 24 अगस्त 2022 को ऑनलाइन शैक्षिक मोबाइल गेम्स की श्रृंखला ‘आजादी क्वेस्ट’ को लॉन्च किया।
– इस गेम सीरीज को जिंगा इंडिया के सहयोग से विकसित किया गया है।
– आज़ादी क्वेस्ट गेम भारत के लोगों के लिए अंग्रेजी और हिंदी में एंड्रॉइड और आईओएस पर उपलब्ध हैं।
– यह गेम्स सितंबर 2022 से ये दुनिया भर में उपलब्ध होंगे।

आजादी क्वेस्ट गेम सीरीज का क्या फायदा?
– ‘शिक्षा को खेल की तरह बनाने’ की अवधारणा पर आधारित यह गेम सीरीज देश में शिक्षा के क्षेत्र में क्रांति लाएगी।
– आज़ादी क्वेस्ट सीरीज भारत के स्वतंत्रता संग्राम और देश के महान स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में ज्ञान प्रदान करेगी।
– इस गेम को खेलने वालों के मन में गर्व और कर्तव्य की भावना पैदा होगी।

आजादी क्वेस्ट सीरीज में कौन से गेम्स शामिल?
– इस सीरीज में दो गेम शामिल है।
– पहला ‘आजादी क्वेस्ट: मैच 3 पज़ल’
– दूसरा ‘आजादी क्वेस्ट: हीरोज़ ऑफ भारत’

गेमिंग सेक्टर में भारत की स्थिति
– भारत एनिमेशन, विजुअल इफेक्ट्स, गेमिंग एंड कॉमिक (AVGC) में निरंतर आगे बढ़ने के प्रयास कर रहा है।
– भारत गेमिंग सेक्टर में शीर्ष पांच देशों में शामिल हो गया है।
– वर्ष 2021 में गेमिंग के क्षेत्र में 28 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।
– केंद्रीय मंत्री ठाकुर के अनुसार भारत में 2020 से लेकर 2021 तक ऑनलाइन गेम खेलने वालों की संख्या में आठ प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है।
– वर्ष 2023 तक ऐसे गेम खेलने वालों की संख्या 45 करोड़ तक पहुंच जाने की उम्मीद है।

—————–
17. केंद्र सरकार ने आयुष्मान भारत योजना के तहत ट्रांसजेंडर पर्सन को प्रतिवर्ष कितने रुपए का स्वास्थ्य बीमा देने की घोषणा की?

a. सात लाख रुपए
b. छह लाख रुपए
c. पांच लाख रुपए
d. चार लाख रुपए

Answer: c. पांच लाख रुपए

– केंद्र सरकार ने 24 अगस्त 2022 को आयुष्मान भारत योजना के तहत ट्रांसजेंडर पर्सन को हर साल पांच लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा देने की घोषणा की।
– इस बीमा पॉलिसी में सेक्स रीअसाइनमेंट (सेक्स चेंज) सर्जरी भी शामिल होगी।
– स्वास्थ्य मंत्रालय के तहत नेशनल हेल्थ अथॉरिटी ने 24 अगस्त 2022 को सामाजिक न्याय मंत्रालय के साथ इस योजना पर एक समझौता ज्ञापन (MoU) पर हस्ताक्षर किए।
– सेक्स रिअसाइनमेंट सर्जरी कराने के लिए और अस्पतालों को पैनल में शामिल किया जाएगा।
– ट्रांस पर्सन को जारी किए गए स्वास्थ्य कार्ड उनके परिवार के सदस्यों को कवर नहीं करेंगे।

इस योजना के तहत कितने ट्रांसजेंडर पर्सन को फायदा होगा?
– सामाजिक न्याय मंत्रालय के पास 4.8 लाख ट्रांसजेंडर पर्सन का डाटाबेस है।
– इस डाटा को आयुष्मान भारत डेटाबेस में जोड़ा जाएगा ताकि ट्रांसजेंडर पर्सन योजना का लाभ उठा सके।
– यह 4.8 लाख ट्रांसजेंडर व्यक्ति इस योजना के तहत लाभ के पात्र होंगे।
– जो इस डाटाबेस में शामिल नहीं है।
– वे अपने नाम को सामाजिक न्याय मंत्रालय के डेटाबेस में जोड़ सकते हैं या आधार कार्ड का प्रयोग कर योजना का लाभ उठा सकते है।