23 & 24 June 2022 Current Affairs

Spread the love

यह 23 & 24 June 2022 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. संयुक्त राष्ट्र में भारत का नया स्थायी प्रतिनिधि (Ambassador) किसे नियुक्त किया गया है?

a. टी.एस. तिरुमूर्ति
b. रुचिरा कंबोज
c. पीयूष श्रीवास्तव
d. नम्रता एस कुमार

Answer: b. रुचिरा कंबोज

– रुचिरा कंबोज को 21 जून 2022 को भारत का स्थायी प्रतिनिधि (UN ambassador) नियुक्त किया गया।
– उन्हें टी.एस. तिरुमूर्ति की

जगह इस पद पर नियुक्त किया गया है।
– जल्द ही यूनाइटेड नेशंस में कार्यभार ग्रहण करेंगी।

– यूनाइटेड नेशंस में भारत के मौजूदा राजदूत टी.एस. तिरुमूर्ति का विस्तारित कार्यकाल जल्द ही खत्म होने को है।

रुचिरा कंबोज
– रुचिरा कंबोज 1987 बैच की IFS ऑफिसर है।
– भूटान में राजदूत बनने से पहले वह दक्षिण अफ्रीका में भारत की उच्चायुक्त, यूनेस्को में भारत की राजदूत/स्थायी प्रतिनिधि के तौर पर काम कर चुकी हैं।
– रुचिरा भूटान में भारत की पहली महिला राजदूत हैं।
– मूलत: लखनऊ की रहने वाली हैं।

यूएन में स्थायी प्रतिनिधि (Permanent representative)
– यूएन के जितने मेंबर कंट्री हैं। उनके डिप्लोमेटिक मिशन के हेड को यूएन में परमानेंट मेंबर कहते हैं।
– उनका दफ्तर अमेरिका के न्यूयॉर्क सिटी में यूएन बिल्डिंग में होता है।

संयुक्त राष्ट्र
महासचिव- एंटोनियो गुटेरेस
मुख्यालय- न्यूयॉर्क, अमेरिका

—————-
2. वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल (WGC) की रिपोर्ट ‘गोल्ड रिफाइनिंग एंड रीसाइक्लिंग’ के अनुसार भारत वर्ष 2021 में गोल्ड की रीसाइक्लिंग करने के मामले में कौन से स्थान पर रहा?

a. पहले
b. दूसरे
c. तीसरे
d. चौथे

Answer: d. चौथे

—————
3. वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल (WGC) की रिपोर्ट के अनुसार भारत ने वर्ष 2021 में कितना गोल्ड रीसायकल किया?

a. 70 टन
b. 75 टन
c. 80 टन
d. 85 टन

Answer: b. 75 टन

– यह रिपोर्ट (गोल्ड रिफाइनिंग एंड रीसाइक्लिंग) 21 जून 2022 को पब्लिश हुई।
– भारत इस रिपोर्ट की सूची में चौथे स्थान पर रहा।
– वर्ष 2021 में भारत गोल्ड को रीसायकल करने के मामले में विश्व का चौथा सबसे बड़ा देश बना है।
– भारत ने वर्ष 2021 में 75 टन गोल्ड रीसायकल किया है।
– हालांकि अगर वर्ष 2019 से तुलना करें तो रीसायकलिंग कम हुई है।
– वर्ष 2019 में 120 टन, वर्ष 2020 में 96 टन और वर्ष 2021 में 75 टन सोना रीसायकल हुआ।

वर्ष 2021 में गोल्ड को रीसायकल करने वाले टॉप-5 देश
चीन- 168 टन
इटली- 80 टन
अमेरिका- 78 टन
भारत- 75 टन
तुर्की- 52 टन

गोल्ड रीसायकल के स्त्रोत
– गोल्ड रीसायकल करने के तीन स्रोत हैं : ज्वेलरी, मैन्युफैक्चरिंग स्क्रैप (कबाड़) और औद्योगिक स्क्रैप

ज्वेलरी : पुरानी बची- खुची ज्वेलरी
मैन्युफैक्चरिंग स्क्रैप : ज्वेलरी के बचे हुई पार्ट्स
औद्योगिक स्क्रैप : इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट्स में यूज होने वाले ज्वेलरी के पार्ट्स

गोल्ड को रीसायकल कैसे किया जाता है?
– गोल्ड को ज्वेलरी, मैन्युफैक्चरिंग स्क्रैप (कबाड़) और औद्योगिक स्क्रैप से रिफाइनरीज में रिफाइन करके रीसायकल किया जाता है।

—————-
4. केन्द्र सरकार ने 01 जुलाई 2022 से किस तरह के सिंगल-यूज प्लास्टिक वस्तुओं पर बैन लगा दिया है?

a. प्लास्टिक स्टिक
b. कटलेरी आइटम
c. पैकेजिंग/रैपिंग फिल्‍म
d. उपरोक्त सभी

Answer: d. उपरोक्त सभी

– पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने वर्ष 2021 में एक गजट अधिसूचना जारी कर इस प्रतिबंध की घोषणा की थी। इसे एक वर्ष बाद लागू होना था।
– अब 2022 में बैन की गई वस्तुओं की लिस्ट को जारी किया गया है।

सिंगल यूज प्लास्टिक वस्तुएं
– वह प्लास्टिक वस्तुएं जिनका एक बार प्रयोग करके फेंक दिया जाता है और दोबारा प्रयोग नहीं किया जाता है।

01 जुलाई से बैन सिंगल-यूज प्लास्टिक वस्तुएं

1. प्लास्टिक स्टिक
– ईयरबड, बैलून स्टिक, कैंडी स्टिक, आइस-क्रीम स्टिक (इन वस्तुओं में प्रयोग होने वाली प्लास्टिक स्टिक्स)

2. कटलेरी आइटम
– प्लेट, कप, गिलास, कांटे, चम्मच, चाकू, ट्रे

3. पैकेजिंग / रैपिंग फिल्‍म
– मिठाई का डिब्बा, निमंत्रण कार्ड, सिगरेट पैकेट

4. अन्य वस्तुएं
– पीवीसी बैनर 100 माइक्रोन से कम, डेकोरेशन के लिए पॉली स्टाइरीन

इन सिंगल-यूज प्लास्टिक वस्तुओं पर बैन क्यों लगाया गया?
– इन वस्तुओं को इकट्ठा करना और रीसायकल करने में दिक्कत होती है।
– यह प्लास्टिक पर्यावरण में काफी लंबे समय तक रहती है और माइक्रोप्लास्टिक में तब्दील हो जाती है।
– माइक्रोप्लास्टिक जोकि हमारे भोजन से शरीर में पहुंचती है और यह शरीर को नुकसान पहुंचाती है।
– इन्हीं समस्याओं को ध्यान में रखकर यह बैन लगाया गया है।

बैन कैसे लागू होगा?
– केंद्र से केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) और राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (SPCB) इस बैन की निगरानी करेंगे।
– SPCB नियमित रूप से केंद्र को रिपोर्ट करेगा।
– पेट्रोकेमिकल इंडस्ट्री को निर्देश दिए गए है कि जो इंडस्ट्री इन बैन वस्तुओं को बनाती है, उन्हें कच्चा माल ना दिया जाए।

बैन का उल्लंघन करने वालों पर कितना जुर्माना?
– पांच की साल की सजा या एक लाख का जुर्माना या दोनों हो सकता है।

सिंगल-यूज प्लास्टिक वेस्ट (कचरा) जनरेशन में भारत का स्‍थान?
– इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार भारत सिंगल-यूज प्लास्टिक वेस्ट जनरेशन में टॉप-100 देशों में आता है।
– भारत इस सूची में 94वें स्थान पर है।
– भारत में एकल उपयोग वाले प्लास्टिक कचरे का शुद्ध उत्पादन 5.6 MMT है, और प्रति व्यक्ति उत्पादन 4 किलो है।

दुनिया के दूसरे देशों ने प्लास्टिक बैन करने के लिए क्या किया?
– वर्ष 2002 में बांग्लादेश, प्लास्टिक बैग्स को बैन करने वाला दुनिया का पहला देश बना।
– वर्ष 2019 में न्यूजीलैंड ने भी देश में प्लास्टिक बैग्स को बैन किया।
– चीन ने भी वर्ष 2020 में प्लास्टिक बैग्स को बैन किया।
– जुलाई 2019 तक 68 देशों ने प्लास्टिक बैग्स को बैन कर दिया है।
– वर्ष 2014 में अमेरिका के आठ राज्यों ने सिंगल-यूज प्लास्टिक बैग्स को बैन कर दिया।
– सिएटल 2018 में प्लास्टिक स्ट्रॉ पर प्रतिबंध लगाने वाला पहला प्रमुख अमेरिकी शहर बना।
– वर्ष 2021 में यूरोपियन यूनियन में भी सिंगल-यूज प्लास्टिक को लेकर कुछ बैन लगाए गए थे।

पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय
केंद्रीय मंत्री – भूपेंद्र यादव

—————-
5. प्रेस कांउसिल ऑफ इंडिया (PCI) की पहली महिला अध्यक्ष कौन बनी?

a. रंजना प्रकाश देसाई
b. मुस्कान अग्रवाल
c. एम ज्योति प्रकाश
d. अंजनि अय्यर

Answer: a. रंजना प्रकाश देसाई

– रंजना प्रकाश देसाई को 17 जून 2022 को PCI का नया अध्यक्ष नियुक्त किया गया।
– वह PCI की पहली महिला अध्यक्ष बनी है।

रंजना प्रकाश देसाई
– वह 72 वर्ष की हैं।
– वह बॉम्बे हाई कोर्ट की जज रह चुकी है।
– इसके अलावा वह 13 सितंबर 2011 से 29 अक्टूबर 2014 तक सुप्रीम कोर्ट में न्यायाधीश रही।
– उन्होंने ने हाल ही में जम्मू और कश्मीर पर परिसीमन आयोग का नेतृत्व किया था, जिसे केंद्र शासित प्रदेश के विधानसभा क्षेत्रों को फिर से बनाने के लिए स्थापित किया गया था।

प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया
– भारतीय प्रेस परिषद (PCI) का गठन 1978 में प्रेस परिषद अधिनियम 1978 के तहत किया गया था।
– यह देश में प्रेस के नियमन के लिए एक शीर्ष निकाय है।
– यह एक स्वतंत्र निकाय के रूप में कार्य करता है।

भारतीय प्रेस परिषद की संरचना
– PCI का नेतृत्व एक अध्यक्ष करता है। परंपरा के अनुसार, सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज इसके अध्‍यक्ष बनते हैं।
– अध्यक्ष के अलावा, इस परिषद में 28 सदस्य भी होते हैं।
– इनमें से 20 सदस्‍य प्रेस और प्रेस एजेंसियों का प्रतिनिधित्व करते हैं।

परिषद के 28 सदस्‍य
– राज्यसभा के दो सदस्य
– लोकसभा के तीन सदस्य
– सात कार्यरत पत्रकार (समाचार पत्र संपादकों के अलावा)
– छह अखबारों के संपादक
– तीन सार्वजनिक मामलों का व्यापक ज्ञान रखने वाला व्यक्ति।
– एक समाचार संगठन का प्रभारी व्यक्ति
– अखबारों के प्रबंधन के व्यवसाय में लगे 6 व्यक्ति

सदस्य तीन साल की अवधि के लिए सेवा करते हैं।
परिषद का एक सेवानिवृत्त सदस्य एक से अधिक कार्यकाल (अधिकतम 2 लगातार वर्ष) के लिए पुनर्नामांकन के लिए पात्र है।

पीसीआई अध्यक्ष का चयन इनकी कमेटी करती है –
– लोकसभा अध्यक्ष
– राज्यसभा के सभापति
– पीसीआई के एक सदस्य

प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया के कार्य
– आम जनता के लिए समाचार की गुणवत्ता सुनिश्चित करना।
– ऐसी चीजों पर नजर रखना जो, सूचना या समाचार के मुक्त प्रवाह को प्रतिबंधित कर सकती है।
– पत्रकारों के लिए एक आचार संहिता बनाना।
– समाचार एजेंसियों के लिए आचार संहिता बनाना।
– इसका एक लक्ष्य तकनीकी और अन्य समाचार-संबंधित अनुसंधान को प्रोत्साहित करना है।
– कोशिश करना कि न्‍यूजपेपर स्वतंत्र रूप से संचालित होते रहें।

भारतीय प्रेस परिषद की शक्तियां
– Press Council Of India के निर्णय अंतिम होते हैं और किसी न्यायालय में अपील नहीं की जा सकती।
– कोई भी संपादक या पत्रकार किसी संपादक या पत्रकार द्वारा पेशेवर कदाचार या पत्रकारिता नैतिकता के उल्लंघन के बारे में प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया (PCI) से शिकायत कर सकता है।
– पीसीआई इसे प्राप्त होने वाली शिकायतों के बारे में पूछताछ करने के लिए जिम्मेदार है।
– गवाहों को बुला सकता है, सार्वजनिक रिकॉर्ड की प्रतियां मांग सकता है।

भारतीय प्रेस परिषद की शक्तियों की सीमाएं
– इसके पास केवल प्रिंट मीडिया पर मानकों को लागू करने की शक्ति है।
– इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर मानकों को लागू करने की कोई शक्ति नहीं है।
– रेडियो, टेलीविजन, इंटरनेट इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के अंतर्गत आता है।
– जबकि पत्रिकाएं, समाचार पत्र आदि प्रिंट मीडिया की श्रेणी में आते हैं।
– इसके पास बहुत सीमित शक्तियाँ हैं। यह दिशानिर्देशों के उल्लंघन के लिए किसी को दंडित नहीं कर सकता है।

————–
6. केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी को मंजूरी दी, कुल कितने स्पेक्ट्रम की नीलामी की जायेगी?

a. 69,097.85 MHz
b. 70,979.85 MHz
c. 71,097.85 MHz
d. 72,097.85 MHz

Answer: d. 72,097.85 MHz (मेगाहर्ट्ज)

– पीएम मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 14 जून 2022 को कुल 72097.85 MHz (72 GHz) स्पेक्ट्रम की नीलामी करने की मंजूरी दी।
– स्पेक्ट्रम की नीलामी 26 जुलाई, 2022 से शुरू की जाएगी।
– स्पेक्ट्रम की वैधता 20 वर्ष की है।
– स्पेक्ट्रम की नीलामी तीन कैटेगरी में होगी- लो (निम्न), मिड और हाई।
– नीलामी लो (निम्न) (600 मेगाहर्ट्ज, 700 मेगाहर्ट्ज, 800 मेगाहर्ट्ज, 900 मेगाहर्ट्ज, 1800 मेगाहर्ट्ज, 2100 मेगाहर्ट्ज, 2300 मेगाहर्ट्ज),
– मिड (3300 मेगाहर्ट्ज)
– हाई (26 गीगाहर्ट्ज) फ्रीक्वेंसी बैंड

इंडस्‍ट्री को भी मिलेगा स्‍पेक्‍ट्रम
– सूचना प्रौद्योगिकी समेत कई तरह के उद्योग से जुड़ी कंपनी भी कैप्टिव नॉन-पब्लिक नेटवर्क के लिए स्पेक्ट्रम खरीद सकेगी।
– ये कंपनियां अपनी जरूरत के मुताबिक निजी नेटवर्क स्‍थापित कर सकेंगी।
– इससे पहले तक हुई स्‍पेक्‍ट्रम नीलामी (2G, 3G और 4G) में ऐसा प्रवधान नहीं था।
– सरकार का कहना है कि इंडस्ट्री को स्‍पेक्‍ट्रम लाइसेंस देने से इंडस्ट्रियल एप्‍लीकेशंस को बढ़ावा मिलेगा।
– यह मशीन कम्युनिकेशन, इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IoT) और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस जैसी एप्लीकेशंस को बढ़ावा देगी।

टेलीकॉम कंपनियों ने निराशा जताई
– नॉन-पब्लिक नेटवर्क के लिए इंडस्‍ट्री को स्पेक्ट्रम आवंटित करने के फैसले पर टेलीकॉम कंपनियों ने निराशा जताई है।
– उसका कहना है कि इससे टेलीकॉम कंपनियों के संभावित बिजनेस के विस्‍तार पर असर होगा।
– कंपनियों का कहना है कि 5G स्‍पेक्‍ट्रम नीलामी का बेस प्राइस ज्‍यादा रखा गया है। ऐसे में आम लोगों को महंगी 5G सर्विस मिलने की आशंका है।

5G नेटवर्क के आने से क्या फायदा होगा?
– 5G अगली पीढ़ी की सेलुलर तकनीक है
– यह अल्ट्रा लो लेटेंसी(डाटा के जाने की स्पीड) के साथ तेज और अधिक इंटरनेट प्रदान करेगी।
– 5G नेटवर्क की स्पीड 2-20 Gbps की सीमा में होने की उम्मीद है।
– जबकि वर्तमान 4G नेटवर्क पर लगभग 25 Mbps है।
– भारत में, हालांकि, 4जी की स्पीड औसतन लगभग 6-7 Mbps है।
– 5G तकनीक के साथ, उपभोक्ता कुछ ही सेकंड में डेटा हैवी कंटेंट जैसे 8K मूवी और बेहतर ग्राफिक्स वाले गेम डाउनलोड कर सकेंगे।
– 5G नेटवर्क मशीन कम्युनिकेशन, इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IoT) और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस जैसी तकनीक को बढ़ावा देगा।
– 5G से वर्ष 2035 तक भारत में $1 ट्रिलियन का संचयी आर्थिक प्रभाव पैदा होने की उम्मीद है।

5G नेटवर्क की सेवाएं कब से शुरू की जाएगी?
– द हिंदू के अनुसार 5G नेटवर्क की तैनाती इस साल अगस्त-सितंबर से शुरू होने की संभावना है।
– 5G की सेवाएं इस साल के अंत तक लगभग 20-25 शहरों में शुरू हो जाने की उम्मीद है।

————–
7. कुओर्टेन गेम्स 2022 में किस भारतीय खिलाड़ी ने जैवलिन थ्रो (भाला फेंक) में गोल्ड जीता?

a. नीरज चोपड़ा
b. संदीप चौधरी
c. शिवपाल सिंह
d. अजीत सिंह यादव

Answer: a. नीरज चोपड़ा

– नीरज चोपड़ा ने 18 जून 2022 को कुओर्टेन गेम्स 2022 में मेन्स जैवलिन थ्रो (भाला फेंक) में गोल्ड मेडल जीता।
– उन्होंने 86.69 मीटर का थ्रो करके गोल्ड जीता।
– कुओर्टेन गेम्स 2022 कुओर्टेन, फिनलैंड में 18 जून 2022 को आयोजित हुए।

नीरज चोपड़ा ने पावो नूरमी गेम्स 2022 में जीता सिल्वर
– नीरज चोपड़ा ने 14 जून 2022 को पावो नूरमी गेम्स 2022 में मेन्स जैवलिन थ्रो (भाला फेंक) में सिल्वर मेडल जीता।
– उन्होंने 89.30 मीटर तक की दूरी तक भाला फेंक कर अपना नेशनल रिकॉर्ड तोड़ा।

—————
8. हाले ओपन 2022 टेनिस टूर्नामेंट किसने जीता?

a. रोजर फ़ेडरर
b. राफेल नडाल
c. डेनिल मेदवेदेव
d. ह्यूबर्ट हुर्काज

Answer: d. ह्यूबर्ट हुर्काज

– पौलेंड के ह्यूबर्ट हुर्काज ने 19 जून 2022 को हाले,जर्मनी में ‘हाले ओपन 2022’ टेनिस टूर्नामेंट जीता।
– उन्होंने रूस के डेनिल मेदवेदेव को 6-1, 6-4 से हराकर यह टूर्नामेंट जीता।

‘हाले ओपन 2022’ टेनिस टूर्नामेंट
– 2022 हाले ओपन एक टेनिस टूर्नामेंट है, जो आउटडोर ग्रास कोर्ट पर खेला जाता है।
– इसे ‘टेरा वोर्टमैन ओपन’ के रूप में भी जाना जाता है।
– यह हाले ओपन का 29 वां संस्करण है और 2022 एटीपी टूर की एटीपी टूर 500 श्रृंखला का हिस्सा है।
– यह 13 से 19 जून 2022 के बीच हाले, जर्मनी में आयोजित हुआ।

—————-
9. अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक दिवस (International Olympic Day) कब मनाया जाता है?

a. 21 जून
b. 22 जून
c. 23 जून
d. 24 जून

Answer: c. 23 जून

वर्ष 2000 की थीम
– Together, For a Peaceful World.
– एक साथ शांतिपूर्ण विश्व के लिए

अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति (IOC)
– मुख्यालय: लुसाने, स्विट्जरलैंड
– अध्यक्ष: थॉमस बाख
– स्थापना: 23 जून 1894, पेरिस, फ्रांस
– महानिदेशक: क्रिस्टोफ़ डी केपर

—————-
10. संयुक्त राष्ट्र लोक सेवा दिवस (United Nations Public Service Day) कब मनाया जाता है?

a. 21 जून
b. 22 जून
c. 23 जून
d. 24 जून

Answer:  c. 23 जून

– संयुक्‍त राष्‍ट्र ने इस दिवस को घोषित किया हुआ है।

वर्ष 2022 का विषय
– Building back better from COVID-19 : Enhancing innovative partnerships to meet the Sustainable Development Goal.
– “कोविड-19 से बेहतर तरीके से निर्माण करना: सतत विकास लक्ष्यों को पूरा करने के लिए नवीन साझेदारी को बढ़ाना”

—————-
11. अंतर्राष्ट्रीय विधवा दिवस (International Widows’ Day) कब मनाया जाता है?

a. 21 जून
b. 22 जून
c. 23 जून
d. 24 जून

Answer: c. 23 जून

वर्ष 2022 की थीम
– Sustainable Solutions for Widows Financial Independence.
– विधवाओं की वित्तीय स्वतंत्रता के लिए सतत समाधान

—————-
12. भारतीय महिला क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान मिताली राज पर बनी बायोपिक फिल्‍म का नाम बताएं?

a. शाबाश मिठू
b. शाबाश मिताली
c. शाबाश खिलाड़ी
d. शाबाश इंडियन

Answer: a. शाबाश मिठू

– इस फिल्‍म में मिताली राज का किरदार एक्‍ट्रेस तापसी पन्‍नू ने निभाया है।
– यह फिल्‍म 15 जुलाई को सिनेमाघरों में प्रदर्शित होगी।


Leave a Reply