23rd & 24th February 2022 Current Affairs

Spread the love

23rd & 24th February 2022 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. रूस और यूक्रेन में युद्ध शुरू

रूस के राष्ट्रपति ब्‍लादिमीर पुतिन ने 24 फरवरी की सुबह 5 बजे यूक्रेन पर हमला बोल दिया।
– रूस ने राजधानी कीव सहित कई शहरों में मिसाइल बरसाए हैं।
– यूक्रेन ने रूसी विमान को मार गिराया है। यूक्रेन ने कहा है कि उस पर तीन तरफ से हमला हुआ है।
– रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने नाटो को धमकी दी है कि अगर यूक्रेन का साथ दिया तो नतीजे भुगतने होंगे। उनका इशारा अमेरिका और NATO फोर्सेस की तरफ था।
– पुतिन ने साफ कर दिया है कि उनका यूक्रेन पर कब्जा करने का इरादा नहीं है।
– पूर्वी यूक्रेन में 2014 में बने अलगाववादी इलाकों ने हमसे मदद मांगी थी, उनके कहने पर ही हम यह कदम उठा रहे हैं।
– रूसी राष्ट्रपति का कहना है कि यूक्रेनी सेना हथियार डाले और वापस जाए।

यूक्रेन में हालात क्‍या हैं?
– यूक्रेन में मार्शल लॉ लागू किया गया है, मतलब कि वहां की कानून-व्यवस्था अब सेना ने अपने हाथ में ले ली है।
– यूक्रेन की राजधानी कीव में कई जगहों पर बम धमाके हुए हैं। कीव एयरपोर्ट को खाली कराया जा रहा है।
– यूक्रेन के अधिकारियों का कहना है कि राजधानी कीव में मिसाइल अटैक हुआ है।
– रूसी सेना क्रीमिया के रास्ते यूक्रेन में घुसी है। बॉर्डर पर दो लाख से ज्यादा रूसी सिपाही तैनात हैं।

रूस ने हमले पर क्‍या कहा?
– यूक्रेन में मिसाइल अटैक और धमाकों के बीच रूस ने बयान जारी किया है।
– रूस ने कहा कि हमारे निशाने पर यूक्रेन के शहर नहीं है। हमारे हथियार यूक्रेन के सैन्य ठिकानों, एयरफील्ड, एयर डिफेंस फैसिलिटीज और एविएशन को तबाह कर रहे हैं। यूक्रेन की जनता पर कोई खतरा नहीं है।

यूक्रेन में फंस गए भारतीय
– भारतीयों को लेने यूक्रेन गया इयर इंडिया का विमान रास्ते से ही भारत लौट रहा है। यूक्रेन के एयरस्पेस को बंद करने की वजह से ऐसा हो रहा है।

भारत का रुख क्‍या है?
– ना तो भारत की यूक्रेन से दुश्मनी है, ना ही रूस से, लेकिन यूक्रेन के पीछे अमेरिका खड़ा है, वहीं रूस के साथ चीन खड़ा है।
– भारत के ज्यादा हित रूस से जुड़े हैं, इसलिए युद्ध की स्थिति में भारत को खुद को निष्पक्ष बनाए रखना आसान नहीं होगा।
– ऐसे रूस अब अपने कदम पीछे खींचने से साफ इनकार कर चुका है और वो हर तरह के प्रतिबंध झेलने के लिए तैयार है।

– यूएन में भारत के रिप्रेजेंटेटिव टीएस तिरुमूर्ति ने UNSC में बयान दिया है।
– कहा – “हम तत्काल डी-एस्केलेशन का आह्वान करते हैं; एक बड़े संकट में तब्दील होने का खतरा मंडरा रहा है। यदि सावधानी से संभाला नहीं जाता है, तो यह सुरक्षा को कमजोर कर सकता है। सभी पक्षों की सुरक्षा का ध्यान रखा जाना चाहिए।”

भारत के लिए दुविधा की स्थिति
– अगर रूस पर इकोनॉमिक सैग्‍शंस और ज्‍यादा हो जाते हैं, तो भारत पर असर हो सकता है।
– भारत सैन्‍य हथियार खरीदने में दिक्‍कत हो सकती है।
– तेल की कीमत बढ़ गई है। इलेक्‍शन के बाद तेल के दाम बहुत ज्‍यादा बढ़ जाएंगे।

रूस पर प्रतिबंधों का ज्‍यादा असर नहीं
– रूस की एनर्जी पर यूरोप डिपेंडेंट है। इस वजह से यूरोपीय देश बहुत कठोर नहीं हो पा रहे हैं।
– रूस पर प्रतिबंध का असर होता, उससे आगे बढ़कर रूस ने हमला कर दिया।

अमेरिकी प्रभुत्‍व वाली दुनिया पर एक तरफ चीन इंडो पैसेफिक में दादागिरी कर रहा है, दूसरी ओर रूस यूरोप में दिखा रहा है।
– अब सवाल है कि अमेरिका के सामने जो चुनौती है, उसका जवाब वह कैसे देगा।

—————–

2. किस देश ने ऑस्ट्रेलिया के सैन्‍य विमान पर लेजर फायर फरवरी 2022 में किया?

a. फिलीपींस
b. न्यूजीलैंड
c. चीन
d. अमेरीका

Answer: c. चीन

– आस्ट्रेलियन डिफेंस डिपार्टमेंट कहा है कि चीन ने 17 फरवरी 2022 को उसके P-8A Poseidon plane (निगरानी विमान) पर लेजर फायर किया।
– लेजर का पता प्लेन पर लेजर द्वारा डाले गए प्रकाश से पता चला है।
– ऑस्‍ट्रेलिया ने पुष्टि करते हुए कहा कि यह लेजर फायर चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) के नेवी जहाज से किया गया।

ऑस्ट्रेलिया ने चीन के इस कृत्य की निंदा
– ऑस्ट्रेलिया ने लेजर फायर को अनप्रोफेशनल और अनसेफ मिलिट्री कंडक्ट बताया।
– ऑस्ट्रेलिया ने कहा कि वह इसकी कड़ी निंदा करता है।
– कहा कि इस लेजर फायर से पायलट की जान को खतरा भी हो सकता था।

चीन ने लेजर फायर वाले आरोप से किया इनकार
– चीन के विदेश मंत्री वांग वेनबिन ने कहा कि हमने इस लेजर फायर वाले कांड की जांच की और जांच में पता चला कि इस लेजर फायर में चीन के कोई जहाज शामिल नहीं थे।
– ऑस्ट्रेलिया के आरोप बिलकुल बेबुनियाद हैं।
– उन्होंने ने कहा कि चीनी जहाज सामान्य रूप से समुद्र में था, जोकि अंतरराष्ट्रीय कानूनों और प्रेक्टिसेस के अनुरूप था और पूरी तरह से वैध था।

चीन पर पहले भी लग चुके है लेजर फायर के आरोप
– वर्ष 2019 में साउथ चाइना सी में अभ्यास के दौरान ऑस्ट्रेलियाई नौसेना के हेलीकॉप्टर पायलट्स पर चीन के द्वारा लेजर फायर करना का मामला सामने आया था।
– वर्ष 2018 में यूएस ने चीनी सरकार को जिबूती मिलिट्री बेस पर लेजर फायर की एक फोमर्ल कमप्लेंट भी की थी, जिसमें अमेरिका के दो पायलट घायल हो गए थे।

साउथ चाइना सी विवाद
– साउथ चाइना सी को लेकर काफी तनाव है।
– चीन साउथ चाइना सी पर अपना पूर्ण अधिकार बताता है।
– जबकि अमेरीका और उसके ऑस्ट्रेलिया जैसे समर्थक देश अंतरराष्ट्रीय वाटर्स में नेवीगेशन और ओवरफ्लाइट की आजादी की बात करते है।
– क्वाड नेशंस भी इस मुद्दे को बार-बार उछलते रहते है।
– इसीलिए चीन इसी तरह से छोटे मोटे समुद्री हमले करके दूसरे देशों को डरता रहता है।

चीन और ऑस्ट्रेलिया विवाद
– साउथ चाइना सी के अलावा चीन और ऑस्ट्रेलिया में AUKUS पैक्ट को लेकर तनाव चल रहा है।
– AUKUS पैक्ट के तहत यूके और यूएसए, ऑस्‍ट्रेलिया को चीन से सुरक्षा के लिए यूएस न्यूक्लियर सबमरीन्स अधिग्रहण करवायेंगे।
– चीन ने इस पैक्ट का विरोध किया है।
– बताया जा रहा है कि यह लेजर फायर भी इस पैक्ट को लेकर किया गया है।

लेजर वेपन
– एक वेपन जिसमे में टारगेट को मारने के लिए मिसाइल की जगह पर हाई-पॉवर लेजर बीम का प्रयोग उसे लेजर वेपन कहते है।
– चीन ने भी इसी लेजर वेपन से लेजर फायर किया है।
– लेजर वेपन भिन्न-भिन्न प्रकार के होते है।
– लेजर वेपन से काफी मात्रा में ऊर्जा निकलती है, जोकि काफी खतरनाक होती है।

क्या भारत के पास लेजर हथियार हैं?
– वर्ष 2018 में डिफेंस रिसर्च ऐंड डिवेलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (DRDO) ने लेजर के प्रकार वाले हथियारों का सफल परीक्षण किया था।
– कर्नाटक के चित्रदुर्ग में लेजर वाले वेपन्स का परीक्षण किया गया था।
– डीआरडीओ के अनुसार 1 KV (किलोवाट) की ये लेजर किरणें वाले वेपन्स 250 मीटर की दूरी तक वार कर सकते हैं और किसी भी मेटल में 30 सेकंड के अंदर तेजी से छेंद कर सकते हैं।

——————
3. महिला खिलाड़ी वी. आर. वनिता ने क्रिकेट के किस प्रारूप से सन्‍यास ले लिया?

a. एक दिवसीय
b. टेस्‍ट
c. टी20
d. उपरोक्‍त सभी

Answer: d. उपरोक्‍त सभी

– उन्‍होंने संन्यास की घोषणा ट्वीटर पर की।
– उन्होंने कहा कि 19 साल पहले, जब मैंने खेलना शुरू किया था, मैं सिर्फ एक छोटी लड़की थी जिसे खेल से बहुत प्यार था।
– मेरा दिल कहता है खेलना जारी रखो, मेरा शरीर कहता है रुक जाओ और मैंने बाद वाले को सुनने का फैसला किया है।

क्रिकेट करियर
– वनिता ने वर्ष 2014 में श्री लंका के खिलाफ हुए मैच से अपना डेब्‍यू किया था।
– 2014 से 2016 के बीच छह एकदिवसीय और 16 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले।
– अब तक कुल 301 रन का स्‍कोर बनाया है।
– बता दें कि घरेलू क्रिकेट में, वनिता ने अपने गृह राज्य कर्नाटक का प्रतिनिधित्व किया।

——————
4. भारत और यूएई के बीच फरवरी 2022 में कौन-सा ट्रेड एग्रीमेन्ट साइन हुआ?

a. CEPA
b. FTA
c. RTA
d. SAFTA

Answer: a. CEPA (Comprehensive Economic Partnership Agreement)

– भारत और UAE (यूनाईटेड अरब एमिरेट्स) ने 18 फरवरी 2022 को एक Comprehensive Economic Partnership Agreement (CEPA) पर साइन किया।
– इस एग्रीमेंट को हिन्‍दी में ‘व्यापक आर्थिक भागीदारी समझौता’ कहेंगे।
– इस एग्रीमेन्ट में वस्तुओं (goods), सेवाओं (services) और डिजिटल व्यापार को शामिल है।
– इस एग्रीमेन्ट के तहत यूएई के लिए भारत का 90% निर्यात ड्यूटी फ्री होगा।
– एग्रीमेंट को कॉमर्स और इंडस्ट्री मिनिस्टर पीयूष गोयल और यूएई के इकोनॉमी मिनिस्टर अब्दुल्ला बिन तौक अल मैरिक के बीच साइन किया गया।
– इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अबू धाबी के क्राउन प्रिंस हिज हाइनेस शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान के बीच एक वर्चुएल समिट भी हुई।

सात साल का सबसे बड़ा ट्रेड एग्रीमेंट
– वर्ष 2014 से फरवरी 2022 तक के समय में यह भारत का सबसे बड़ा ट्रेड एग्रीमेन्ट है।
– वर्ष 2014 में पॉवर में आने के बाद पीएम मोदी के द्वारा साइन की गई यह डील सबसे बड़ी ट्रेड डील है।
– इस 880 पन्नों के एग्रीमेंट को 88 दिन के नेगोशिएसन के बाद साइन किया गया है।
– CEPA को मई 2022 के पहले हफ्ते में लागू कर दिया जायेगा।

CEPA से क्या फायदा?
– भारत सरकार के अनुसार यह एग्रीमेन्ट देश के आभूषण, मेडिकल डिवाइसेस, प्लास्टिक, फर्नीचर, एग्री गुड्स, आटोमोबाइल्स, इंजीनियरिंग गुड्स और वस्त्रों के निर्यात को बढ़ावा देगा।
– CEPA युवाओं के लिए कम से कम 10 लाख नौकरियां जनरेट करेगा।
– यूएई, जम्मू और कश्मीर में निवेश करेगा।
– और अगले पांच वर्षों में 100 बिलियन डॉलर तक व्यापार भी बढ़ाएगा।

CEPA के तहत विभिन्न क्षेत्रों में विकास
– Economic Partnership : इंडियन मार्ट की स्‍थापना जेबेल अली फ्री जोन (दुबई में स्थित) में होगी। – भारतीय इन्‍वेस्‍टर्स के लिए आबूधाबी में स्‍पेशिलाइज्‍ड इंडस्ट्रियल एडवांस्‍ड टेक्‍नोलॉजी जोन बनेंगे।
– Emerging Technologies : क्रीटिकल टेक्‍नोलॉजी में कोऑपरेशन बढ़ेगा। ई-बिजनेस और ई-पेमेंट सोल्‍यूशन होंगे। स्‍टार्टअप को प्रमोट करेंगे।
– Energy Partnership : भारत की एनर्जी जरूरतों (न्‍यू एनर्जी सहित) को सहायता के लिए दोनों देश सहयोग के लिए नई अपॉच्‍युनिटी तैयार ढूंढेंगे।
– Climate Action and Renewables : ग्रीन हाइड्रोजन के लिए ज्‍वाइंट हाड्रोकार्बन स्‍टाक फोर्स बनेगा।
– Defence and Security : समुद्री सुरक्षा सहयोग बढ़ेगा। अलगाववाद, आतंकवाद और क्रॉस बॉर्डर टेररिज्‍म के खिलाफ लड़ेंगे।
– Cultural Cooperation : इंडिया-यूएई कल्चर कांउसिल का गठन होगा।
– Education Cooperation : यूएई में एक इंडियन इंसिट्यूट ऑफ टैक्नोलोजी (IIT) को स्थापित होगा।
– Health Cooperation : दोनों देश वैक्सीन्स की रिलाइबल सप्लाई चैन्स के लिए रिसर्च, प्रोडक्शन और डेवलपमेंट में सहयोग करेंगे।
– Skills Cooperation : प्रोफेशनल स्टेंर्ड्स और स्कील्स फ्रेमवर्क को डेवलेप करेंगे।
– Food Security : फूड सिक्योरिटी के इन्फ्रास्ट्रक्चर और लोजिस्टिक्स सर्विसेज में बेहतरी करना। ताकि बंदरगाह से फाइनल डेस्टिनेशन तक सामान आसानी से पहुंच सके।

UAE
प्रेसिडेंट – खलीफा बिन जायद अल नाह्यान
प्राइम मिनिस्‍टर – मोहम्‍मद बिन राशिद अल मखतूम
राजधानी – आबू धाबी

——————-
5. दादा साहब फाल्के इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल अवॉर्ड्स 2022 में बेस्ट एक्‍ट्रेस (female) के लिए किसे चुना गया?

a. सारा अली खान
b. कृति सेनन
c. कंगना रनौत
d. भूमि पेडनेकर

Answer: b. कृति सेनन

– 20 फरवरी 2022 को अवॉर्ड का छठा संस्‍करण मुंबई में हुआ, जिसमें कई कैटेगरी में इस अवॉर्ड की घोषणाएं हुई थीं।
– कृति सेनन को फिल्म ‘मिमी’ के लिए बेस्ट एक्ट्रेस का पुरस्कार मिला।

(Note : ये अवार्ड वो नहीं है जो सरकार देती है। यह दादा साहब फाल्‍के के नाम पर एक संगठन बना है, वह इसे आयोजित करता है।)

————
6. दादा साहब फाल्के इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल अवॉर्ड्स 2022 में बेस्ट एक्‍टर (male) के लिए किसे चुना गया?

a. अजय देवगन
b. वरुण धवन
c. अक्षय कुमार
d. रणवीर सिंह

Answer: d. रणवीर सिंह

– मूवी ’83’ के लिए रणवीर सिंह को ये पुरस्‍कार मिला है।
– इस मूवी की कहानी भारत के 1983 किक्रेट वर्ल्ड कप की जीत के सफर पर आधारित थी।
– इस मूवी को कबीर खान ने निर्देशित किया है।

—————-
7. दादा साहब फाल्के इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल अवॉर्ड्स 2022 में ‘फिल्म ऑफ द ईयर’ का अवॉर्ड किसे मिला?

a. पुष्पा
b. सरदार उधम
c. बेल बॉटम
d. शेरशाह

Answer: a. पुष्पा

– पुष्पा मूवी में अल्लू अर्जुन ने मुख्य भूमिका निभाई।
– मूवी में रश्मिका मंदाना मुख्य अभिनेत्री थी।
– मूवी को सूकुमार ने डायरेक्ट किया था।

—————–
8. दादा साहब फाल्के इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल अवॉर्ड्स 2022 List

अवॉर्ड – विजेता
– फिल्म ऑफ द ईयर – ‘पुष्पा’
– बेस्ट फिल्म- शेरशाह
– बेस्ट एक्टर- रणवीर सिंह ( फिल्म 83 के लिए)
– बेस्ट एक्टर- सिद्धार्थ मल्होत्रा (फिल्म शेरशाह के लिए)
– बेस्ट एक्ट्रेस- कृति सेनन ( मिमी के लिए)
– बेस्ट वेब सीरीज एक्टर- मनोज बाजपेयी ( द फैमिली मैन 2 के लिए)
– बेस्ट वेब सीरीज एक्ट्रेस- रवीना टंडन (अरण्यक के लिए)
– क्रिटिक्स बेस्ट फिल्म- सरदार उधम
– क्रिटिक्स बेस्ट एक्टर- सिद्धार्थ मल्होत्रा (फिल्म शेरशाह के लिए)
– क्रिटिक्स बेस्ट एक्ट्रेस- कियारा आडवाणी (शेरशाह के लिए)
– फिल्म इंडस्ट्री में उत्कृष्ट योगदान- आशा पारेख
– बेस्ट इंटरनेशनल फीचर फिल्म- अनादर राउंड
– बेस्ट डायरेक्टर- केन घोष (फिल्म स्टेट ऑफ सीज: टेंपल अटैक’ के लिए)
– बेस्ट सिनेमेटोग्राफर- जयकृष्ण गुम्मड़ी ( फिल्म हसीना दिलरुबा के लिए)
– बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर- सतीश कौशिक (फिल्म कागज के लिए)
– बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस- लारा दत्ता (फिल्म बेल बॉटम के लिए)
– बेस्ट निगेटिव रोल एक्टर- आयुष शर्मा (फिल्म अंतिम: द फाइनल ट्रुथ के लिए)
– पीपुल्स चॉइस बेस्ट एक्टर- अभिमन्यु दसानी
– पीपुल्स चॉइस बेस्ट एक्ट्रेस- राधिका मदान
– बेस्ट डेब्यू एक्टर- अहान शेट्टी (फिल्म तड़प के लिए)
– बेस्ट प्लेबैक सिंगर मेल- विशाल मिश्रा
– बेस्ट प्लेबैक सिंगर फीमेल- कनिका कपूर
– बेस्ट कोरियोग्राफर- जयकृष्णा गुम्माडी
– बेस्ट वेब सीरीज- कैंडी
– बेस्ट शॉर्ट फिल्म- पौली

दादा साहब फाल्के इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल-
– दादासाहेब फाल्के इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल सबसे रचनात्मक फिल्म निर्माताओं को सम्मानित करने और इस क्षेत्र में दिए गए उनके योगदान को सराहने का एक प्रतिष्ठित मंच है।

(Note : ये अवार्ड वो नहीं है जो सरकार देती है दादा साहब फाल्‍के के नाम पर एक संगठन बना है, वह इसे आयोजित करता है।)

——————
9. भारत और फ्रांस ने फरवरी 2022 को किस क्षेत्र के विकास को बढ़ाने के लिए रोडमैप पर साइन किया?

a. ब्लू इकोनॉमी एंड ओशियन गवर्नेंस
b. ग्रीन इकोनॉमी एंड सोशल गवर्नेंस
c. औरेंज इकोनॉमी एंड हेंडक्राफ्ट्स गवर्नेंस
d. पर्पल इकोनॉमी एंड कल्चरल गवर्नेंस

Answer: a. ब्लू इकोनॉमी एंड ओशियन गवर्नेंस

– भारत और फ्रांस ने द्विपक्षीय संबंधो का बेहतर करने के लिए एक रौडमेप पर साइन किया है।
– इस रोडमैप पर भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर और फ्रांस के विदेश मंत्री जीन-यवेस ले ड्रियन ने साइन किया।

रोडमैप के अंतर्गत क्या-क्या शामिल होगा?
– समुद्री व्यापार, नौसेना उद्योग, मछली पालन, मरीन टेक्नोलॉजी वैज्ञानिक अनुसंधान, ओसियन औबर्जवेशन और समुद्री जैव विविधता
– मरीन इको-बेस्ड मैनेजमेंट और इंटिग्रेटेड कोस्टल मैनेजमेंट, एकीकृत तटीय प्रबंधन, समुद्री पर्यावरण पर्यटन, अंतर्देशीय जलमार्ग
– सिविल मैरीटाइम की समस्यों को सलुझाना
– समुद्री मुद्दे, समुद्री स्थानिक योजना के साथ-साथ समुद्र के अंतरराष्ट्रीय कानून और संबंधित बहुपक्षीय वार्ता

ब्‍लू इकोनॉमी में कैसे सहयोग बढ़ेगा
– “EU-India Strategic Partnership: A Roadmap to 2025” और the EU strategy for cooperation in the Indo-Pacific के तहत भारत और फ्रांस भारत की ब्लू इकोनॉमी और ओसियन गवर्नेंस और यूरोपियन यूनियन के बीच सहयोग बढ़ायेंगे।
– भारत और फ्रांस समुद्र के अंतरराष्ट्रीय कानून को मजबूत करने और नई चुनौतियों के अनुकूल होने के लिए बहुपक्षीय निकायों और वार्ता में अपनी स्थिति का समन्वय (coordinate) करेंगे।
– दोनों देश 2022 में संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण सभा के पांचवें सत्र में अपने समन्वय (coordination) को भी बढ़ाएंगे ताकि समुद्री प्लास्टिक कचरे और माइक्रोप्लास्टिक पर वैश्विक समझौते के लिए बातचीत शुरू करने में सहायता मिल सके।

दोनों देश मिलकर क्या-क्या विकास करेंगे?
– भारत और फ्रांस दोनों मिलकर एक-दूसरे की ब्लू इकोनॉमी का विकास करेंगे।
– रूल ऑफ लॉ के तहत दोनों देश वैज्ञानिक ज्ञान और ओसियन कंजर्वेशन को बढ़ावा देंगे।
– दोनों देश सुनिश्चित करेंगे कि महासागर एक वैश्विक साझा, स्वतंत्रता और व्यापार का स्थान बना रहे।
– दोनों देश संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास एजेंडा (Sustainable Development Goal) के सतत विकास (Sustainable Development) लक्ष्य में योगदान देना चाहते हैं।
– इस लक्ष्य का उद्देशय महासागरों, समुद्रों और समुद्री संसाधनों का संरक्षण और सतत (sustainably) उपयोग करना है।
– दोनों देशों ने मछली (fishing) पकड़ने के लिए एक sustainable approach पर सहमति जताई है।
– यह अप्रोच फिशिंग सेक्टर के प्रोफेशनल्स की स्थिति को बेहतर करेगी।
– फ्रांस और भारत नई कृषि प्रौद्योगिकियों के वाणिज्यिक विकास (commercial development) के लिए काम करेंगे।
– भोजन के लिए समुद्री जीवों की खेती में संयुक्त विकास करेंगे।
– फार्मास्यूटिकल्स और आभूषण जैसे अन्य उत्पादों पर काम करेंगे।
– दोनों देश वर्तमान के पोर्ट्स (बंदरगाह) के इन्फ्रास्ट्रक्चर को बेहतर करेंगे।
– इसके अतिरिक्त डोमेस्टिक वाटरवेज विकसित करने में सहयोग करेंगे, जोकि infrastructure development के क्षेत्र में भारत की प्राथमिकताओं में से एक है।
– भारत और फ्रांस समुद्री सुरक्षा पर एक उच्च गुणवत्ता वाले संवाद को विकसित करेंगे, जो उन्हें भारत-प्रशांत (Indo-Pacific) में रणनीतिक मुद्दों को उठाने में सक्षम बनाएगा।

वैज्ञानिक सहयोग (scientific cooperation)
– भारत और फ्रांस अपने वैज्ञानिक सहयोग के साथ-साथ छात्रों और शोधकर्ताओं के आदान-प्रदान को भी बढ़ाएंगे।
– दोनों देश द्विपक्षीय वैज्ञानिक सहयोग को बढ़ावा देने के लिए समय-समय पर शिखर सम्मेलन का आयोजन करवाने के लिए प्रतिबद्ध रहेंगे।
– दोनों देश संयुक्त परियोजनाओं (joint projects) का बढ़वा देने के लिए एक रिसर्च एंड डेवलपमेंट केंद्र को स्थापित करेंगे, जिसके लिए प्राइवेट फंडिग जुटाई जायेगी।
– वीजा जारी करना और रिसर्च में शामिल लोगों के लिए आवश्यक प्राधिकरण( authorisations) जैसी सुविधाएं होंगी।

भारत का एक्सक्‍लूसिव इकोनॉमिक जोन (EEZ)
– एक्‍सक्‍लूसिव इकोनॉमिक जोन तट से 200 नॉटिकल माइल्‍स तक होता है। हालांकि इस दायरे में अगर कोई देश आ जाता है, तो यह आधा-आधा बंट जाता है।
– भारत का एक्सक्‍लूसिव इकोनॉमिक जोन लगभग 2 मिलियन वर्ग किलोमीटर है, जोकि काफी बड़ा है।
– इस रोडमैप के तहत भारत अपने EEZ के दायरे में ज्यादा से ज्यादा ब्लू इकोनॉमी में विकास करना चाहता है।
– भारत की कोस्टलाइन (समुद्री तटरेखा) लगभग 7.5 हज़ार किलोमीटर लंबी है।
– इस कोस्टलाइन में नौ राज्य और दो केन्द्रशासित प्रदेश आते है।

ब्लू इकोनॉमी के बारे में
– इकोनॉमिक ग्रोथ, बेहतर जीवन, नौकरी और ओसियन इकोसिस्टम हेल्थ के लिए समुद्री संसाधनों का सतत प्रयोग करना ही ब्लू इकोनॉमी है।
– ब्लू इकोनॉमी के अंतर्गत समुद्रों की सफाई और विकास की बात की जाती है।
– रिन्यूवल एनर्जी, फिर्शीज (मछली पालन), मेरीटाइम ट्रान्सपोर्ट(समुद्री ट्रान्सपोर्ट), ट्यूरजम, क्लाइमेट चेंज और वैस्ट मैनेजमेंट भी इसमें शामिल है।
– ब्लू इकोनॉमी सामाजिक समावेश, पर्यावरणीय स्थिरता के साथ महासागर अर्थव्यवस्था के विकास के एकीकरण पर जोर देती है, जोकि नए बिजनेस मॉडल के साथ संयुक्त है।

फ्रांस
प्रेसिडेंट – इमैन्‍युएल मैक्रों
राजधानी – पेरिस

——————
10. यूएस ग्रीन बिल्डिंग काउंसिल 2021 ग्लोबल लिस्ट रैंक में भारत कौन-से स्थान पर रहा?

a. प्रथम
b. दूसरा
c. तीसरा
d. चौथा

Answer: c. तीसरा

– यह स्थान भारत को वर्ष 2021 में बेहतर Leadership in Energy and Environmental Design (LEED) के लिए मिला।
– भारत में कुल 146 LEED प्रमाणित भवन और स्थान हैं।
– यह लगभग 2.8 मिलियन ग्रोस स्क्वायर वर्ग मीटर (GSM) की जगह है।
– वर्ष 2021 में LEED प्रमाणित भवन और स्थानों में वर्ष 2020 के मुकाबले 10% ज्यादा रहा।
– LEED एक ग्रीन बिल्डिंग सर्टिफिकेशन प्रोग्राम है। यह दुनियाभर में सर्टिफिकेशन देता है।

यूएस ग्रीन बिल्डिंग काउंसिल (USGBC)
– USGBC हर साल उन देशों की रैकिंग, जो स्वस्थ, टिकाऊ और resilient भवन डिजाइन, निर्माण और संचालन में महत्वपूर्ण प्रगति कर रहे हैं।
– इसका मुख्य उद्देश्‍य है ग्रीन बिल्डिंग्स का निर्माण।

टॉप 10 देश
– देश : प्रोजेक्ट
– मैनलैंड चीन : 1,077
– कनाडा : 205
– भारत : 146
– द. कोरिया : 42
– स्पेन : 100
– यूएई : 73
– ब्राजील : 89
– इटली : 106
– मेक्सिकों : 47
– ताइवान : 31

यूएस ग्रीन बिल्डिंग काउंसिल
अध्यक्ष और सीईओ: पीटर टेम्पलटन
मुख्यालय: वाशिंगटन, डी.सी., यू.एस.


Free Download Notes PDF of Toady’s Current Affairs : – Click Here