22 & 23 May 2022 Current Affairs

22 & 23 May 2022 Current Affairs

Spread the love

यह 22 & 23 May 2022 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. ऑस्‍ट्रेलिया के नए प्रधानमंत्री कौन बनें?

a. एंथनी अल्बनीज
b. मैल्कम टर्नबुल
c. टोनी एबट
d. केविन रुड

Answer: a. एंथनी अल्बनीज

– एंथनी अल्बनीज को 23 मई 2022 को गवर्नर-जनरल डेविड हर्ले प्रधानमंत्री पद की शपथ दिलाई।
– उन्‍होंने स्‍कॉट मॉरिसन की जगह ली।
– वह लेबर पार्टी के नेता हैं। उम्र 59 वर्ष है।
– लेबर पार्टी के नेता एंथनी अल्बनीज को उनके अपने ‘अल्बो’ नाम से बुलाते हैं।
– एंथनी का जन्म 2 मार्च, 1963 को ऑस्ट्रेलिया के शहर कैंपरडॉउन में हुआ।
– एंथनी अल्बनीज का बचपन बेहद तंगहाली में बीता।
– उनकी मां दिव्यांग थीं, जिसके चलते उन्हें पेंशन मिलती थी।
– इससे एंथनी का पालन-पोषण हुआ।
– वह अपने परिवार से स्कूल जाने वाले पहले व्यक्ति हैं।

बेटे पर नाजायज का ठप्पा न लगे, इसलिए मां ने बोला झूठ
– वह सिंगल पैरेंट चाइल्ड और अपनी मां के इकलौते बेटे हैं।
– मां ने एंथनी को बचपन में बताया कि उनके पिता कार एक्सीडेंट में नहीं रहे, लेकिन मंत्री बनने के बाद पिता जिंदा मिले।
– दरअसल, उनकी मां और पिता की कभी शादी ही नहीं हुई।
– कहा जाता है कि मां ने ऐसा इसलिए कहा था ताकि सोसायटी में बेटे पर नाजायज का ठप्पा न लगे।
– एंथनी जब 14 साल के हुए, तब मां ने बताया कि पिता जिंदा हैं।
– मां की भावनाओं की कद्र करते हुए अल्बनीज ने उनके जिंदा रहते कभी पिता को खोजने की कोशिश नहीं की।
– साल 2002 में मां का निधन हो गया। इसके बाद मंत्री बनने पर एक यात्रा के दौरान इटली गए और वहां अपने पिता से मिले।

—————–
2. QUAD समिट मई 2022 में किस शहर में आयोजित हुई?

a. दिल्‍ली
b. न्‍यूयार्क
c. सिडनी
d. टोक्‍यो

Answer: d. टोक्‍यो (जापान की राजधानी)

– यह मीटिंग 23 और 24 मई 2022 को है।
– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसमें शामिल होने के लिए 23 मई को टोक्‍यो पहुंचे।

क्‍वाड क्‍या है?
– QUAD यानी क्वाड्रीलेट्रल सिक्योरिटी डायलॉग।
– क्वाड्रीलेटरल शब्द चतुर्भुज से लिया गया है और इस तरह यहां इसका मतलब निकला चतुर्पक्षीय सुरक्षा संवाद। जैसे बाइलैट्रल या द्विपक्षीय और ट्राईलैट्रल या त्रिपक्षीय होता है वैसे ही क्वाड्रीलेट्रल मतलब चतुर्पक्षीय अर्थात चारपक्षीय या चतुष्कोणीय।
– मैप में इंडिया, जापान, अमेरिका और ऑ‍स्‍ट्रेलिया का चतुर्भुज बनता है।
– क्वाड मूल रूप से इंडो-पैसिफिक रीजन के लिए काम कर रहा है ताकि समुद्री रास्तों से व्यापार जारी रहे।
– असल में हिंद-प्रशांत क्षेत्र इन चारों देशों के लिए एक व्यापारिक समुद्री मार्ग भी है।
– चीन ने दक्षिण चीन सागर पर भी कब्जे की मुहिम छेड़ रखी है।
– यहां तक कि वो कुछ छद्म या नकली द्वीप बनाकर अपने सैनिक तैनात कर रहा है।
– ये सब अंतर्राष्ट्रीय कानूनों की अनदेखी करके किया जा रहा है ।
– चीन को क्वाड फूटी आंख भी नहीं सुहाता।
– वो शुरू से इसके पीछे पड़ा हुआ है ।
– वो इसे बीजिंग विरोधी गुट कहता रहा है।

समिट में कौन नेता शामिल हुए
– भारत के PM नरेंद्र मोदी
– जापान के PM फुमियो किशिदा
– ऑस्‍ट्रेलिया के PM एंथनी अल्बनीज
– USA के प्रेसिडेंट जो बाइडन

समिट का एजेंडा
– इंडो-पैसिफिक रीजन में एक डी-कार्बोनाइज्‍ड ग्रीन शिपिंग नेटवर्क तैयार करना
– स्‍वच्‍छ हाइड्रोजन का उपयोग और इसे सुलभ बनाना
– इंडो-पैसिफिक देशों की जलवायु निगरानी पर मंथन
– इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में चुनौतियों और अवसरों पर चर्चा

—————–
3. वर्ल्‍ड इकोनॉमिक फोरम (WEF) की सालाना बैठक (2022) में भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्‍व किसने किया?

a. पीयूष गोयल
b. निर्मला सीतारमण
c. अजित डोभाल
d. राजनाथ सिंह

Answer: a. पीयूष गोयल

– वर्ल्‍ड इकोनॉमिक फोरम की ईयरली मीटिंग 22 से 26 मई 2022 को दोवोस (स्विटजरलैंड) में आयोजित हो रही है।
– इसमें तमाम देशों के आए लीडर दुनिया की स्थिति को परखते हुए भविष्य के लिए नीति और पार्टनरशिप करेंगे।
– वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल भारतीय डेलिगेशन को लीड करेंगे।
– भारत सरकार के डेलिगेशन में स्वास्थ्य मंत्री मनसुखलाल मंडाविया, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री हरदीप सिंह पुरी और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक और तेलंगाना के छह राज्यों के मुख्यमंत्री और वरिष्ठ मंत्री शामिल होंगे।

वर्ल्‍ड इकोनॉमिक फोरम 2022 का ऐजेंडा
– महामारी से इकोनॉमी को उबारना
– जलवायु परिवर्तन से निपटने के उपाय
– काम के लिए बेहतर भविष्‍य का निर्माण
– स्‍टेकहोल्‍डर कैपिटलिज्‍म (हितधारक पूंजीवाद) को तेज करना
– चौथी औद्योगिक क्रांति पर फोकस करना

WEF के अध्यक्ष बोर्गे ब्रेंडे
मुख्‍यालय – दावोस (स्विटजरलैंड)

————–
4. तीरंदाजी विश्व कप 2022 स्टेज 2 में भारत ने कुल कितने मेडल जीते?

a. चार
b. पांच
c. छह
d. सात

Answer: b. पांच

– तीरंदाजी वर्ल्‍ड कप का आयोजन ग्वांगजू (दक्षिण कोरिया) में 16 से 22 मई 2022 तक आयोजित हुआ।

——————
5. भारत ने सुहल (जर्मनी) में आयोजित ISSF वर्ल्ड कप जूनियर 2022 में कितने गोल्ड मेडल जीते?

a. 10
b. 11
c. 13
d. 15

Answer: c. 13

– भारत ने 09-20 मई को सुहल, जर्मनी में आयोजित हुए इंटरनेशनल शूटिंग स्पोर्ट फेडरेशन (ISSF) जूनियर वर्ल्ड कप 2022 में 13 गोल्ड मेडल जीते।
– भारत ने इस चैम्पियनशिप में कुल 33 मेडल जीते, जिसमे से 13 गोल्ड, 15 सिल्वर और 5 ब्रॉन्ज शामिल है।

गोल्ड जीतने वाले खिलाड़ियो की सूची

————-
6. केन्द्र सरकार ने एमपी लोकल एरिया डेवलपमेंट स्कीम (MPLADS) फंड के ब्याज उपयोग पर रोक लगा दी, अब यह ब्याज कहां जमा होगा?

a. CFI
b. PAI
c. AFI
d. इनमें से कोई नहीं

Answer: a CFI (कोन्सीलडैटड फंड ऑफ इंडिया)

– केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने MPLADS के नियमों में संशोधन का आदेश दिया।
– इस संशोधन के अनुसार प्रत्येक सांसद को विकास कार्यों के लिए आवंटित 5 करोड़ रुपये के वार्षिक फंड पर अर्जित ब्याज को वापस करना होगा।
– यह ब्याज केंद्र सरकार के CFI को वापस करना होगा।

MPLADS के बारे में
– इस योजना को दिसंबर 1993 में प्रधानमंत्री पी.वी. नरसिम्हा राव ने लॉन्च किया था।
– योजना को सांसदों को उनके निर्वाचन क्षेत्रों में विकास कार्यों की सुविधा के लिए धन उपलब्ध कराने के लिए लाया गया था।
– MPLADS को फंड केन्द्र सरकार देती है।
– प्रारंभ में, सांसदों को अपने निर्वाचन क्षेत्र में कार्यों को करने के लिए प्रत्येक को 5 लाख रुपये आवंटित किए गए थे।
– बाद में 1994-95 में बढ़ाकर 1 करोड़ रुपये कर दिया गया और 1997-98 में इसे बढ़ाकर 2 करोड़ रुपये कर दिया गया।
– वर्ष 2011 में, MPLADS फंड में को 2 करोड़ रुपये से 5 करोड़ रुपये कर दिया गया।
– सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय (मंत्री RAO INDERJIT SINGH) इस फंड को रिलीज करता है।

फंड का उपयोग कौन कर सकता है?
– सभी लोकसभा या राज्यसभा सांसद (नामित सदस्यों सहित) अपने नोडल जिले में संबंधित जिला प्राधिकरण को विकास परियोजनाओं की सिफारिश कर सकते हैं।
– सभी लोकसभा सदस्यों को नोडल जिले के रूप में एक जिले का चयन करना होता है।
– यदि निर्वाचन क्षेत्र में कई जिले हैं, तो नोडल जिला प्राधिकरण को धनराशि जारी की जाती है, जो फिर अन्य जिलों में धन ट्रांसफर करता है।
– एक राज्यसभा सांसद उस राज्य के एक से अधिक जिलों में परियोजनाओं की सिफारिश कर सकता है, जहां से वह निर्वाचित हुआ था।
– नामांकित सदस्य, इस बीच, किसी एक राज्य से एक या अधिक जिलों का चयन कर सकते हैं।
– यदि कोई निर्वाचित सांसद अपने निर्वाचन क्षेत्र या राज्य/केंद्र शासित प्रदेश के बाहर MPLADS फंड में योगदान करना चाहता है, तो वे एक वित्तीय वर्ष में 25 लाख रुपये तक के काम की सिफारिश कर सकते हैं।

MPLADS में नए बदलाव
– MPLADS के तहत जारी फंड से होने वाली ब्याज आय को अब फंड में नहीं जोड़ा जाएगा और विकास कार्यों के लिए इस्तेमाल किया जाएगा।
– इसके बजाय, अर्जित ब्याज को अनिवार्य रूप से भारत के CFI में जमा करना होगा।

वर्ष 2019 से अब तक कितना फंड रिलीज हुआ?
– भारत सरकार ने 2019 से 12 मई 2022 तक MPLADS योजना के तहत 3,167 करोड़ रुपये जारी किए हैं।

—————
7. राष्‍ट्रपति ने किन दो नए जजों को सुप्रीम कोर्ट में नियुक्‍त किया?

a. सुधांशु धूलिया और जमशेद बी पारदीवाला
b. सुधांशु धूलिया और विवेक अग्रवाल
c. राकेश अस्‍थाना और जमशेद बी पारदीवाला
d. इनमें से कोई नहीं

Answer: a. सुधांशु धूलिया और जमशेद बी पारदीवाला

– गुवाहाटी हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस सुधांशु धूलिया और गुजरात हाईकोर्ट के जज जमशेद बी पारदीवाला को जज के तौर पर नियुक्त किया गया है।
– इससे पहले 5 मई को चीफ जस्टिस एनवी रमना की अध्यक्षता वाली कोलेजियम ने केंद्र को दोनों जजों के नाम की सिफारिश की थी।
– केंद्र सरकार की मंजूरी के बाद राष्‍ट्रपति ने नियुक्ति पत्र पर साइन कर दिए।

– जस्टिस पारदीवाला देश के अगले चीफ जस्टिस भी हो सकते हैं।
– मई 2028 में वो चीफ जस्टिस बनाए जा सकते हैं। चीफ जस्टिस के तौर पर उनका कार्यकाल सवा दो साल का होगा।

सुप्रीम कोर्ट
– सुप्रीम कोर्ट भारत की सर्वोच्‍च आदालत है।
– यह 26 जनवरी 1950 को अस्तित्‍व में आया।
– इससे पहले फेडरल कोर्ट काम करता था।
– सुप्रीम कोर्ट के जज की नियुक्ति राष्‍ट्रपति करते हैं।
– कार्यकाल 65 वर्ष की उम्र तक का होता है।
– सुप्रीम कोर्ट के जज को हटाने के लिए संसद के दोनों सदनों को दो तिहाई बहुमत से प्रस्‍ताव पास कराना होता है।

—————
8. बांग्‍लादेश ने भारत को अपने किस बंदरगाह के उपयोग की पेशकश की?

a. चटगांव
b. मोंगला
c. पायरा
d. मातरबारी

Answer: a. चटगांव

– बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने अप्रैल 2022 में भारत को चटगांव बंदरगाह के उपयोग करने की पेशकश की थी।
– यह बंदरगाह भारत के (नॉर्थईस्टर्न) पूर्वोत्तर राज्यों, विशेष रूप से असम और त्रिपुरा के लिए लाभकारी होगा।
– बांग्लादेश की सीमा से लगे दो अन्य पूर्वोत्तर राज्यों – मेघालय और मिजोरम – को भी बंदरगाह से लाभ पहुंचेगा।

विभाजन ने (नॉर्थईस्ट ) पूर्वोत्तर में व्यापार को कैसे प्रभावित किया?
– आजादी से पहले पूर्वोत्तर राज्यों की सीपोर्ट्स (मुख्यतः चटगांव) पर पहुंच आसान थी।
– 1947 में विभाजन ने इन नदियों और स्थानीय स्तर के सीमा व्यापार के माध्यम से चाय, लकड़ी, कोयले और तेल के परिवहन को तुरंत प्रभावित नहीं किया।
– इससे 1950 के दशक की शुरुआत तक अविभाजित असम हाईएस्ट पर कैपिटा इनकम वाले राज्य के रूप में बना रहा।
– लेकिन व्यापार की मात्रा भारत और पाकिस्तान के बीच संबंधों में खटास के साथ घटने लगी (बांग्लादेश तब पूर्वी पाकिस्तान था)।
– इसके अलावा 1965 भारत-पाकिस्तान के युद्ध से पहले पूर्वोत्तर राज्यों को बांट दिया गया।
– पूर्वी पाकिस्तान से समुद्री पहुंच को रोक दिया गया, जिससे पश्चिम बंगाल से सामान लाना महंगा पड़ गया।

क्या बांग्लादेश बनने के बाद चीजें बदली?
– 1971 में भारत की मदद से बांग्लादेश का निर्माण हुआ।
– लेकिन यह पूर्वोत्तर राज्यों के लिए पारंपरिक नदी और भूमि व्यापार और संचार मार्गों के पुनरुद्धार में तब्दील नहीं हुआ।
– दोनों देशों के बीच अविश्वास, मुख्य रूप से ‘बांग्लादेशी’ मुद्दे और बांग्लादेश में असंख्य पूर्वोत्तर चरमपंथी समूहों द्वारा स्थापित शिविरों के कारण, समुद्री मामलों में मदद नहीं मिली।
– इसके अलावा दोनों देशों ने व्यापार पर भी ध्यान नहीं दिया।
– लेकिन वर्ष 2009 में शेख हसीना के सरकार में आते ही हालात सुधरने लगे।
– दोनों देशों के बीच अविश्वास का भ्रम भी वर्ष 2015 के लैंड बाउंड्री एग्रीमेंट के साइन होते खत्म हुआ और रिश्ते बेहतर हुए।
– दोनों देशों ने जलमार्गों, राजमार्गों और रेलमार्गों को बेहतर बनाने के लिए प्रयत्न किया।
– अबतक ढाका से अगरतला और कोलकाता के लिए बस सर्विस, कार्गो, शिपमेंट जैसी सुविधाओं के ट्रायल हो चुके है।

नॉर्थईस्ट और चटगांव क्यों अहम?
– नॉर्थईस्ट बीते पांच वर्षों में भारत और बांग्लादेश के संबंधों के लिए अहम रहा है।
– भारत की ‘एक्ट ईस्ट’ पॉलिसी जोकि दोनों देशों के बीच क्षेत्र और सहयोग के नए नजरिए पर फोकस करती है, यह नॉर्थईस्ट के विकास को बढ़ावा दे सकती है।
– इससे नॉर्थईस्ट के चार राज्य- असम, मेघालय, त्रिपुरा और मिजोरम में इकोनॉमिक एक्टिविटीज बढ़ेगी।
– यह चारों राज्य बांग्लादेश के साथ 1,879 किमी का बॉर्डर साझा करते है।
– रेलमार्गों और जलमार्गों पर फोकस के अलावा विभाजन से पहले के कई व्यापार मार्गों को पुनर्जीवित किया जा रहा है।
– इनमें से अधिकांश सड़कें चटगांव बंदरगाह तक जाती हैं, जो ऐतिहासिक रूप से इस क्षेत्र के लिए सबसे बड़ा और व्यापार और वाणिज्य के लिए सबसे सुविधाजनक रहा है।

नॉर्थईस्ट को चटगांव बंदरगाह से जोड़ने के लिए क्या किया गया?
– मार्च 2021 में दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों ने मैत्री सेतु (फेनी नदी के ऊपर बना एक ब्रिज) का उद्घाटन किया।
– इस ब्रिज ने त्रिपुरा और चटगांव के बीच की दूरी को कम किया।
– भारत सरकार सड़क और रेल कनेक्टिविटी को शामिल करते हुए त्रिपुरा के शहर सबरूम में एक मल्टी-मोडल ट्रांजिट हब पर काम कर रही है।
– यह हब कुछ ही घंटों में माल को चटगांव बंदरगाह तक पहुंचने में मदद कर सकता है।
– इसके अलावा नॉर्थईस्ट के अन्य राज्यों में अलग-अलग प्रयास किए जा रहे है।

—————
9. इंफोसिस का सीईओ और एमडी दोबारा किसे नियुक्त किया गया?

a. सलिल पारेख
b. अजीत अंजुम
c. विजय राठौड़
d. देवपालिक गुप्ता

Answer: a. सलिल पारेख

– सलिल पारेख को 21 मई 2022 को इस पद पर दोबारा नियुक्त किया गया।
– उनकी नियुक्ति को 31 मार्च, 2027 तक मतलब पांच और वर्षों के लिए तक बढ़ा दिया गया है।
– उन्होंने वर्ष 2018 में कंपनी के सीईओ और एमडी का पद संभाला था।

—————
10. अंतर्राष्ट्रीय जैव विविधता दिवस कब मनाया जाता है?

a. 20 मई
b. 21 मई
c. 22 मई
d. 23 मई

Answer: c. 22 मई

वर्ष 2022 में थीम “सभी जीवन के लिए एक साझा भविष्य का निर्माण”