20 May 2022 Current Affairs

Spread the love

यह 20 May 2022 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. फ्रांस की नई प्रधानमंत्री कौन बनीं?

a. एलिज़ाबेथ बोर्न
b. जीन कास्टेक्स
c. एडौर्ड फिलिप
d. इनमें से कोई नहीं

Answer: a. एलिज़ाबेथ बोर्न

– उन्‍हें प्रेसिडेंट इमैन्‍युएल मैक्रों ने नियुक्‍त किया है।
– पिछले तीन दशकों में पहली बार फ्रांस में एक महिला पीएम बनी हैं।
– वह 61 वर्ष की हैं।

– फ्रांस में सत्‍ता का प्रमुख राष्‍ट्रपति होता है।
– राष्‍ट्रपति के बाद प्रधानमंत्री का स्‍थान होता है।
– फ्रांस में प्रधानमंत्री की निुयक्ति, राष्‍ट्रपति करते हैं।
– हालांकि राष्‍ट्रपति प्रधानमंत्री को नहीं हटा सकते हैं। हां, इस्‍तीफा जरूर मांग सकते हैं।
– प्रधानमंत्री को हटाने का अधिकारी केवल नेशनल असेंबली को होता है।

फ्रांस
राष्‍ट्रपति : इमैन्‍युएल मैक्रों
राजधानी : पेरिस
मुद्रा : यूरो

—————-
2. रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने मई 2022 में किन दो स्‍वदेशी युद्धपोतों (warships) का जलावतरण (लांच) किया?

a. सूरत
b. उदयगिरि
c. ड्रेजर 1
d. a और b

Answer: d. a और b

– रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने 17 मई, 2022 को मुंबई में दो फ्रंटलाइन युद्धपोतों ‘सूरत’ और ‘उदयगिरि’ को लॉन्च किया।
– इसका निर्माण मझगांव डॉक शिपबिल्डिर्स लिमिटेड ने किया है।
– इसी कंपनी के परिसर से दोनों युद्धपोतों का जलावतरण हुआ।
– कुछ वक्‍त के लिए दोनों वॉरशिप को समुद्र में टेस्‍ट किया जाएगा।
– इसके बाद इन्‍हें भारतीय नौसेना में शामिल किया जाएगा। तब इसके नाम के आगे INS (इंडियन नेवल सर्विस) जुड़ जाएगा।

स्‍वदेशी युद्धपोत
– भारतीय नौसेना ने एक बयान में कहा कि दोनों जहाजों के निर्माण के लिए आवश्यक लगभग 75% उपकरण और प्रणालियों को सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों (MSMEs) सहित स्वदेशी फर्मों से प्राप्त किया गया था।

किसने डिजाइन किया?
– दोनों युद्धपोतों का डिजाइन ‘डाइरेक्टरेट ऑफ नेवल डिजाइन’ (DND) ने किया है।

भारतीय नौसेना की क्षमता?
– वर्तमान बेड़े में 130 से अधिक जहाज और पनडुब्बियां और 230 से अधिक विमान शामिल हैं।

नौसेना का आधुनिकीकरण अभी क्यों महत्वपूर्ण है?
– नौसेना की भूमिका हमेशा भारतीय सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण रही है।
– अंतर्राष्‍ट्रीय तौर पर बदल रही परिस्‍थति में 7,500 किलोमीटर से अधिक लंबी तटरेखा और हिंद महासागर क्षेत्र के व्यापक विस्तार के कारण नौसेना का आधुनिकीकरण जरूरी है।
– दो मुख्य कारण भी हैं।
– सबसे पहले, भारत अपने अधिकांश अंतर्राष्ट्रीय व्यापार के लिए हिंद महासागर पर निर्भर है, जिसमें तेल और गैस प्राप्त करना शामिल है।
– दूसरा चीन द्वारा पीपुल्स लिबरेशन आर्मी नेवी (PLAN) का आधुनिकीकरण है।

– इंडियन एक्‍सप्रेस ने अपनी रिपोर्ट में लिखा है – नवंबर 2021 में अमेरिकी रक्षा विभाग द्वारा जारी चीन की सेना पर एक रिपोर्ट के अनुसार, चीन के पास “लगभग 355 जहाजों और पनडुब्बियों की कुल युद्ध शक्ति के साथ दुनिया की सबसे बड़ी नौसेना है। इसमें लगभग 145 से अधिक लड़ाकू विमान शामिल हैं”।

नौसेना प्रमुख
एडमिरल आर हरि कुमार

————–
3. इंडियन नेवी के किस प्रोजेक्‍ट के तहत बने गाइडेड मिसाइल डिस्ट्रॉयर युद्धपोत ‘सूरत’ का जलावतरण रक्षा मंत्री ने किया?

a. Project 17A
b. Project 15B
c. Project 16B
d. Project 17B

Answer: b. Project 15B

– यह इंडियन नेवी के Project 15B को विशाखापत्तनम श्रेणी (क्लास) भी कहा जाता है।
– युद्धपोत ‘सूरत’ गाइडेड मिसाइल डिस्ट्रॉयर है।
– मतलब कि इसमें अन्‍य वॉरशिप पर हमला करके नष्‍ट करने की क्षमता है।
– यह Project 15B के तहत बना चौथा युद्धपोत है।
– इसका डिजाइन ‘डाइरेक्टरेट ऑफ नेवल डिजाइन’ (DND) ने किया है।

युद्धपोत Surat के बारे में
– Length: 163 m
– Width: 17.4 m
– Weight: 7383 tonnes
– Speed: Over 30 knots
– Engine: Propelled by four gas turbines

युद्धपोत ‘सूरत’ में कौन से हथियार?
– अत्याधुनिक हथियार, सेंसर, एडवांस्‍ड एक्‍शन इंफॉर्मेशन सिस्‍टम, इंट्रीगेटेड प्‍लेटफॉर्म मैनेजमेंट सिस्‍टम, सतह से सतह पर मार करने वाली सुपरसोनिक मिसाइल प्रणाली
– दुश्‍मन के एयरक्राफ्ट और एंटी-शिप क्रूज मिसाइलों के खतरों से मुकाबला करने के लिए लॉन्‍ग रेंज सरफेस-टू-सरफेस एयर मिसाइल सिस्टम।
– 30 मिलीमीटर रैपिड-फायर गन

————–
4. इंडियन नेवी के किस प्रोजेक्‍ट के तहत बने युद्धपोत ‘उदयगिरि’ का जलावतरण रक्षा मंत्री ने किया?

a. Project 17A
b. Project 15B
c. Project 16B
d. Project 17B

Answer: a. Project 17A

– यह इंडियन नेवी के Project 17A को नीलगिरी श्रेणी (क्लास) भी कहा जाता है।
– इसका डिजाइन ‘डाइरेक्टरट ऑफ नेवल डिजाइन’ (DND) ने किया है।

उदयगिरि फ्रंटलाइन युद्धपोत
– इसका नाम आंध्र प्रदेश की पर्वत श्रृंखला उदयगिरिके नाम पर रखा गया है।
– ‘उदयगिरि’ P17A क्लास का दूसरा स्टील्थ फ्रिगेट है। पहला युद्धपोत INS नीलगिरी है।
– युद्धपोत ‘उदयगिरि’ भारतीय नौसेना का दूसरा स्टील्थ फ्रिगेट है।
– स्‍टील्‍थ, मतलब कि रडार को चकमा देने की क्षमता वाला।

युद्धपोत Udaygiri के बारे में –
– Length: 149.02 m
– Width: 17.8 m
– Weight: 6670 tonnes
– Speed: Over 28 knots
– Engine: Propelled by two gas turbines

युद्धपोत में किस तरह के हथियार?
– अत्याधुनिक हथियार, सेंसर, एडवांस्‍ड एक्‍शन इंफॉर्मेशन सिस्‍टम, इंट्रीगेटेड प्‍लेटफॉर्म मैनेजमेंट सिस्‍टम, सतह से सतह पर मार करने वाली सुपरसोनिक मिसाइल प्रणाली
– दुश्‍मन के एयरक्राफ्ट और एंटी-शिप क्रूज मिसाइलों के खतरों से मुकाबला करने के लिए लॉन्‍ग रेंज सरफेस-टू-सरफेस एयर मिसाइल सिटम।
– 30 मिलीमीटर रैपिड-फायर गन

—————
5. राजीव गांधी हत्याकांड के दोषी एजी पेरारिवलन को सुप्रीम कोर्ट ने संविधान के किस अनुच्छेद का प्रयोग करते हुए रिहा किया?

सुप्रीम कोर्ट ने संविधान के किस अनुच्छेद का प्रयोग करते हुए राजीव गांधी हत्याकांड के दोषी ‘एजी पेरारिवलन’ को रिहा किया?

a. अनुच्छेद 142
b. अनुच्छेद 144
c. अनुच्छेद 161
d. अनुच्छेद 213

Answer: a. अनुच्छेद 142

– एजी पेरारिवलन को सुप्रीम कोर्ट ने 18 मई 2022 को संविधान के अनुच्छेद 142 का प्रयोग करते हुए रिहा कर दिया।
– एजी पेरारिवलन को 31 साल पहले 11 जून 1991 को 19 वर्ष की उम्र में गिरफ्तार किया गया था।
– उन्हें पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या के मामले में दोषी पाया गया था।
– जबकि फांसी की सजा सुनाए जाने के 24 साल बाद उन्‍हें रिहा किया गया।

अनुच्छेद 142
– अनुच्छेद 142 भारतीय संविधान के भाग 5 (संघ) के अध्याय 4 (संघ की न्यायपालिका) में आता है।
– यह अनुच्छेद सुप्रीम कोर्ट को ‘पूर्ण न्याय’ करने का विशेषाधिकार देता है।
– इसके अंतर्गत किसी मामले में अगर अन्य कानून लागू नहीं हुआ, तो कोर्ट का फैसला सर्वोपरि माना जायेगा।
– इस अनुच्छेद को दो भागों में बांटा गया है।
– अनुच्छेद 142(1) और अनुच्छेद 142(2)
– अनुच्छेद 142(1) सुप्रीम कोर्ट को विशेषाधिकार देता है कि अगर किसी मामले में मौजूदा कानून से पूर्ण न्याय नहीं हो पा रहा, तो सुप्रीम कोर्ट इस कानून से हटकर अलग आदेश दे सकता है।
– यह आदेश तब तक लागू रहेगा जब तक मामले के संबंध में सरकार या संसद कोई खास प्रोवीजन न दे।
– अनुच्छेद 142(2) सुप्रीम कोर्ट को व्यक्ति को बुलाने, दस्तावेज मंगाने और दोषी के मामले की जांच करने का अधिकार देता है।
– इसके अलावा दोषी को दंडित करने का भी अधिकार देता है।

राजीव गांधी हत्याकांड मामला
– 21 मई 1991 तमिलनाडु के शहर श्रीपेरंबदुर में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी बम से हत्या की गई।
– महिला सुसाइड बॉम्बर धनु ने एक बम वाली फूलों की माला से राजीव गांधी और 16 अन्य लोगों की हत्या की।
– इस हत्याकांड का मास्टरमांइड LTTE (लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम) का एजेंट शिवरासन था।

एजी पेरारिवलन का राजीव गांधी की हत्या से क्या संबंध?
– पेरारिवलन को राजीव गांधी की हत्या के मास्टरमांइड शिवरासन के लिए 9 वोल्ट की दो ‘गोल्डन पावर’ बैटरी सेल खरीदने का दोषी पाया गया था।

एजी पेरारिवलन पर TADA लगाया गया
– पेरारिवलन को 11 जून 1991 को CBI ने गिरफ्तार किया।
– उनपर और अन्य दोषियों पर टेररिज्म एंड डिसरप्टिव एक्टिविटीज (प्रीवेन्शन) एक्ट [TADA] तहत मामला दर्ज किया गया।

पेरारिवलन को मौत की सजा
– 28 जनवरी 1998 को लंबी सुनवाई के बाद TADA कोर्ट ने पेरारीवलन समेत 26 आरोपियों को मौत की सजा सुनाई।
– पेरारिवलन व अन्य दोषियों को 9 सितंबर, 2011 को फांसी दी जानी थी, लेकिन मद्रास हाईकोर्ट ने फांसी के आदेश पर रोक लगा दी।

सीबीआई के एसपी का बयान
– वर्ष 2013 में सीबीआई के पूर्व एसपी वी त्यागराजन, जिन्होंने टाडा हिरासत में पेरारिवलन का कबूलनामा लिया था।
– त्यागराजन ने खुलासा किया कि उन्होंने इस कबूलनामे को स्वीकारोक्ति बयान के रूप में प्राप्त करने के लिए इसे बदल दिया था।
– उन्होंने कहा कि पेरारिवलन ने कभी नहीं कहा कि उसे पता है कि जो बैटरी उसने खरीदी है उसका इस्तेमाल बम बनाने में किया जाएगा।

मौत की सजा उम्रकैद की सजा में बदली
– CBI के SP के बयान के बाद सुप्रीम कोर्ट ने 21 जनवरी 2014 को राजीव गांधी मामले में पेरारिवलन व अन्य दो दोषियों की मौत की सजा को उम्रकैद में बदल दिया।

पेरारिवलन ने रिहाई की मांग की
– तमिलनाडु में पेरारिवलन की रिहाई को लेकर राजनीति भी हुई।
– 09 सितंबर 2018 को तत्कालीन मुख्यमंत्री एडप्पादी के पलानीस्वामी की अध्यक्षता वाली तमिलनाडु कैबिनेट ने सभी सात दोषियों को रिहा करने की सिफारिश की ।
– लेकिन राज्यपाल के दफ्तर में सिफारिश की फाइल रुकी रही।

सुप्रीम कोर्ट का हस्तक्षेप
– वर्ष 2021 में सुप्रीम कोर्ट ने रिहाई के मामले पर फैसला लेने का आदेश दिया।
– 18 मई 2022 को सुप्रीम कोर्ट ने गिरफ्तारी के 31 साल बाद पेरारीवलन को रिहा करने का आदेश दिया।

—————
6. नाटो के किस सदस्य देश ने स्वीडन और फिनलैंड को इस सैन्‍य गठबंधन में शामिल करने के प्रस्ताव पर ऐतराज जताया?

स्वीडन और फिनलैंड के नाटो में शामिल होने के ऐलान पर रूस के बाद अब किस देश ने ऐतराज जताया?

a. डेनमार्क
b. फ्रांस
c. तुर्की
d. इटली

Answer: c. तुर्की

– स्‍वीडन और फिनलैंड, नाटो में शामिल होने के लिए आवेदन दे चुके हैं।
– इसका विरोध सबसे पहले रूस के राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन किया और चेतावनी कि यह एक ‘गलती’ होगी।
– इसी बीच अब नाटो सदस्य तुर्की ने भी स्वीडन और फिनलैंड के इस ऐलान पर ऐतराज जताया है।
– यह ऐतराज भी गंभीर है, क्‍योंकि नाटो की सदस्‍यता के लिए जरूरी है कि इसके सभी सदस्‍य देशों की मंजूरी मिले।
– एक सदस्‍य ने भी मना कर दिया तो, फिनलैंड और स्‍वीडन को नाटो की सदस्‍यता नहीं मिल पाएगी।
– हालांकि माना जा रहा है कि अमेरिका, तुर्की को समझा लेगा।

तुर्की ने क्यों जताई आपत्ति?
– बीबीसी के अनुसार तुर्की का आरोप है कि स्वीडन और फिनलैंड कुर्दिस्तान वर्किंग पार्टी (PKK) को सपोर्ट करते है।
– तुर्की PKK को आतंकवादी संगठन मानता है। इस संगठन ने वर्षों से तुर्की की सरकार के खिलाफ हथियारबंद लड़ाई छेड़ी हुई है।
– तुर्की ने भी यह कहा कि वह किसी को नाटो में शामिल होने को लेकर धमकी नहीं दे रहा है।

तुर्की ने स्वीडन और फिनलैंड से की यह मांग
– स्वीडन और फिनलैंड को आतंकवाद (PKK) का सर्मथन बंद कर देना चाहिए।
– सिक्योरिटी गांरटी देकर तुर्की से निर्यात प्रतिबंध को भी तुंरत हटा देना चाहिए।

फिनलैंड तुर्की से बातचीत करने को तैयार
– बीबीसी के अनुसार फ़िनलैंड के राष्ट्रपति सौनी नीनिस्तो तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तैय्यप अर्दोआन के साथ बातचीत करने के लिए तैयार हैं।

अमेरिका ने स्वीडन और फिनलैंड को किया सपोर्ट
– अमेरिका ने दोनों देशों को नाटो में शामिल होने के ऐलान को लेकर सर्मथन दिया है।
– अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने कहा है कि नाटो में दोनों देशों के शामिल होने को लेकर कई देशों ने सर्मथन दिया है।
– इसके अलावा उनकी तुर्की के विदेश मंत्री के साथ भी बातचीत हुई है।

—————-
7. कर्नल धर्मवीर का निधन 16 मई 2022 को हो गया, वह 1971 के युद्ध के दौरान किस जगह की लड़ाई में वीरता के लिए चर्चित थे?

a. लोंगेवाला
b. बसंतर
c. गरीबपुर
d. गाजीपुर

Answer: a. लोंगेवाला

– पाकिस्तान के साथ 1971 के युद्ध में लोंगेवाला की लड़ाई के नायक कर्नल धर्मवीर का गुड़गांव में निधन हो गया।

लोंगेवाला की लड़ाई में योगदान
– दरअसल, लोंगेवाला पोस्ट पर 04 दिसंबर 1971 की रात में पाकिस्तानी आर्मी हमला करने वाली थी।
– इस हमले की भनक कर्नल धर्मवीर को लग गई।
– इसके बाद उन्होंने तुरंत अपने सीनियर मेजर चांदपुरी को अगाह कर दिया।
– लेकिन इंडियन आर्मी और एयरफोर्स तुंरत सहायता देने में असमर्थ थी।
– धर्मवीर के साथ सिर्फ 20-22 सैनिक थे।
– इतने कम सैनिकों होने के बावजूद उन्होंने पाकिस्तानी आर्मी को उलझाए रखा।
– सुबह होते ही फिर इंडियन एयरफोर्स सहायता देने के लिए आ गई।

लोंगेवाला की लड़ाई पर बनी फिल्म ‘बॉर्डर’
– वर्ष 1997 में आई फिल्म बॉर्डर लोंगेवाला की लड़ाई पर ही आधारित थी।
– फिल्म में कर्नल धर्मवीर का किरदार अभिनेता अक्षय खन्ना ने निभाया था।
– हालांकि फिल्म को फिक्शनल मोड देने के लिए कर्नल धर्मवीर के किरदार को शहीद दिखाया गया था।
– लेकिन असल में कर्नल धर्मवीर लड़ाई के दौरान जीवित थे।
– फिल्म में मेजर चांदपुरी का किरदार सनी देओल ने निभाया था।

1971 का युद्ध
– भारत और पाकिस्तान के बीच 03 दिसंबर से 16 दिसंबर 1971 तक युद्ध चला।
– भारतीय सेना ने पाकिस्तानी आर्मी को घुटनों पर ला दिया।
– भारतीय सेना ने पाकिस्तान के 93,000 सैनिकों को कब्जे में ले लिया।
– इसके बाद भारत ने बांग्लादेश को आजादी दिलाई।

————-
8. लद्दाख में लगभग 3.5 करोड़ वर्ष पुराने किस दुर्लभ प्रजाति के सांप के जीवाश्म (फोजिल) पाए गए?

a. एक्रोकॉर्डिडे
b. मैडसोइइडे
c. अनिलिडे
d. कोलुब्रिडे

Answer: b. मैडसोइइडे (Madtsoiidae)

– वैज्ञानिकों ने लद्दाख (हिमालय) में पहली बार मैडसोइइडे प्रजाति के सांप के जीवाश्म पाए है।
– यह जीवाश्म पर्वत के पास पत्थरों के ढेर में मिले है।
– यह खोज (रिसर्च) 03 मई 2022 को जर्नल ऑफ वर्टिब्रेट पेलियोन्टोलॉजी में पब्लिश हुई।

किन संस्थानों के वैज्ञानिकों ने की खोज
– वाडिया इंस्टीट्यूट ऑफ हिमालयन जियोलॉजी, देहरादून
– पंजाब विश्वविद्यालय चंडीगढ़
– इन्स्टिटूट ऑफ टेक्नोलॉजी, रोपड़
– कोमेनियस यूनिवर्सिटी स्लोवाकिया

मैडसोइइडे
– मैडसोइइडे मध्यम आकार से लेकर बड़े आकार के सांपों का एक विलुप्त समूह है।
– यह समूह सबसे पहले क्रिटेशस पीरियड (14.5 से 6.6 करोड़ वर्ष पूर्व) के दौरान मौजूद था।
– यह समूह ज्यादातर गोंडवान भूमि में फैला हुआ था।
– जीवाश्म के रिकॉर्ड से ऑस्ट्रेलिया को छोड़कर अधिकांश गोंडवान महाद्वीपों में पेलोजेन के मध्य काल में यह पूरा समूह गायब हो गया।
– जहां यह प्लीस्टोसिन के अंत तक अपने अंतिम ज्ञात समूह वोनाम्बी के साथ जीवित रहा।

—————-
9. किस केंद्र शासित प्रदेश के उप राज्‍यपाल अनिल बैजल ने इस्‍तीफा दे दिया?

a. पुदुचेरी
b. लद्दाख
c. जम्‍मू कश्‍मीर
d. दिल्‍ली

Answer: d. दिल्‍ली

– अनिल बैजल दिसंबर 2016 में दिल्‍ली के लेफ्टिनेंट गवर्नर के तौर पर नियुक्‍त हुए थे।
– उन्‍होंने निजी कारणों से इस्‍तीफा दे दिया।
– वह रिटायर्ड IAS अधिकारी थे।
– वर्ष 2004 में वह अटल बिहारी वाजपेई की सरकार में केंद्रीय गृह सचिव रह चुके हैं।

दिल्‍ली
सीएम – अरविंद केजरीवाल
डिप्‍टी सीएम – मनीष सिसोदिया

————–
10. केंद्र सरकार ने किस राज्‍य में स्थित रामगढ़ विषधारी भारत के 52वें बाघ अभयारण्य के रूप में अधिसूचित किया?

a. मध्‍य प्रदेश
b. राजस्‍थान
c. पंजाब
d. कर्नाटक

Answer: b. राजस्‍थान

– इसका ऐलान पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री, भूपेंद्र यादव ने किया।
– यह जैव विविधता के संरक्षण और क्षेत्र में पारिस्थितिक पर्यटन और विकास लाने में मदद करेगा।
– राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण (NTCA) ने पिछले साल 5 जुलाई को रामगढ़ विषधारी वन्यजीव अभयारण्य और आसपास के क्षेत्रों को बाघ अभयारण्य बनाने की सैद्धांतिक मंजूरी दे दी थी।

रामगढ़ विषधारी टाइगर रिजर्व
– यहां बाघ के अलावा भारतीय भेड़िया, तेंदुआ, धारीदार लकड़बग्घा, सुस्त भालू, सुनहरा सियार, चिंकारा, नीलगाय और लोमड़ी जैसे जंगली जानवर देखे जा सकते हैं।
– 2019 में जारी “स्टेटस ऑफ टाइगर्स इन इंडिया” रिपोर्ट के अनुसार, देश भर के 20 राज्यों में 2,967 बाघ हैं।

राजस्‍थान में अन्‍य टाइगर रिजर्व
– सवाई माधोपुर में रणथंभौर टाइगर रिजर्व (RTR)
– अलवर में सरिस्का टाइगर रिजर्व (एसटीआर)
– कोटा में मुकुंदरा हिल्स टाइगर रिजर्व (MHTR)।

राजस्‍थान
सीएम – अशोक गहलोत
गवर्नर – कलराज मिश्र