18 & 19 May 2022 Current Affairs

Spread the love

यह 18 & 19 May 2022 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. पुतिन को झटका देते हुए किन पड़ोसी देशों ने सैन्‍य गठबंधन ‘NATO’ में शामिल होने के लिए आवेदन जमा किए?

रूस के किन पड़ोसी देशों ने सैन्‍य गठबंधन ‘NATO’ में शामिल होने के लिए आवेदन जमा किए?

a. फिनलैंड और स्‍वीडन
b. फिनलैंड और बेलारूस
c. स्‍वीडन और आइसलैंड
d. इनमें से कोई नहीं

Answer: a. फिनलैंड और स्‍वीडन

– अमेरिकी दबदबे वाले सैन्य गठबंधन ‘NATO’ की सदस्‍यता के लिए फिनलैंड और स्‍वीडन ने आवेदन कर दिया है।
– दोनों देशों ने यह आवेदन नाटो सेक्रेटरी जनरल जेन्स स्‍टोल्‍टेनबर्ग को सौंपा।
– NATO में 18 मई 2022 तक 30 सदस्‍य हैं। मुख्‍यालय ब्रुसेल्‍स (बेल्जियम) में है।

स्‍वीडन
– राजधानी : स्‍टॉकहोल्‍म
– पीएम : मैग्डेलेना एंडरसन

फिनलैंड
– राजधानी : हेल्‍सिंकी
– प्रेसिडेंट : सौली निनिस्टो
– पीएम : सना मारिन

– स्वीडन और फिनलैंड के ‘NATO’ से जुड़ने की घोषणा को पुतिन के लिए दोहरे झटके के रूप में देखा जा रहा है।
– इसका कारण है कि स्वीडन और फिनलैंड 200 साल से तटस्थ रुख अपनाए हुए थे।
– स्वीडन और फिनलैंड की घोषणा से न सिर्फ पुतिन की अंतरराष्ट्रीय छवि, बल्कि घर के अंदर भी उनकी इमेज को धक्का पहुंचा है।
– दरअसल, यूक्रेन पर पुतिन की सैन्य कार्रवाई के बाद स्वीडन-फिनलैंड अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं और उनके NATO से जुड़ने की सबसे प्रमुख वजह यही मानी जा रही है।

नाटो के मुद्दे पर ही रूस ने किया यूक्रेन पर हमला
– दिसंबर 2021 की बात है।
– यूक्रेन ने अमेरिकी दबदबे वाले सैन्य गठबंधन ‘NATO’ से जुड़ने की इच्छा जाहिर की थी।
– पुतिन को यूक्रेन की ये कोशिश नागवार गुजरी और उन्होंने कीव पर 24 फरवरी 2022 को हमला कर दिया।
– ये NATO में जाने की कोशिश में लगे यूरोपीय देशों के लिए पुतिन की चेतावनी थी।
– हालांकि, यूक्रेन में युद्ध के करीब 3 महीने बाद हालात अब बदल गए हैं।

पुतिन के लिए झटका
– पहला झटका उन्हें अंतरराष्ट्रीय फ्रंट पर लगा है।
– दरअसल, यूक्रेन पर हमले के बावजूद रूस NATO से जुड़ने के इच्छुक अन्य देशों को ऐसा करने से रोकने में नाकाम होता नजर आ रहा है।
– NATO से जुड़ने से रोकने के लिए रूस की आक्रामक रणनीति कारगर होती नहीं नजर आ रही है।
– उल्टे हाल के वर्षों में रूस की बढ़ती आक्रामकता को ही फिनलैंड और स्वीडन जैसे लंबे समय से तटस्थ रहे देशों के NATO के पाले में जाने की सबसे प्रमुख वजह माना जा रहा है।

—————-
2. अंतर्राष्ट्रीय संग्रहालय दिवस (International Museum Day) कब मनाया जाता है?

a. 16 मई
b. 17 मई
c. 18 मई
d. 19 मई

Answer: c. 18 मई

– 2022 थीम: संग्रहालयों की शक्ति (The Power of Museums)
– इस दिवस की घोषणा इंटरनेशनल काउंसिल ऑफ म्यूजियम (ICOM) ने 1977 में की थी।
– यह दिन किसी भी संस्कृति में संग्रहालयों के महत्व को उजागर करने के लिए मनाया जाता है।

—————-
3. थोक महंगाई दर ने एक दशक से ज्‍यादा वक्‍त का रिकॉर्ड तोड़ दिया, अप्रैल 2022 में यह दर कितनी रही?

एक दशक से ज्‍यादा का रिकॉर्ड तोड़कर थोक महंगाई दर अप्रैल 2022 में कितनी रही?

a. 16.01%
b. 15.08%
c. 14.03%
d. 13.02%

Answer: b. 15.08%

– इससे पहले मार्च 2022 में महंगाई दर 14.55% थी।

– महंगाई का आंकड़ा काफी खतरनाक आया है। अप्रैल 2005 के बाद यह सबसे ज्‍यादा है।
– आप कहेंगे कि कुछ दिन पहले भी महंगाई का आंकड़ा आया था, और उसने 8 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया था। तो यह क्‍या है?
– तो पिछला आंकड़ा खुदरा महंगाई दर का था।
– खुदरा महंगाई दर अप्रैल 2022 में वर्ष 2014 के बाद सबसे ऊंचाई पर यानी 7.79% था।
– अब यह अगल तरह की महंगाई है। यह है थोक महंगाई यानी होलसेल इंफ्लेशन।

महंगाई नया रिकॉर्ड बना रही है
– नया रिकॉर्ड (15.08%) बन गया है होल सेल प्राइस इंडेक्‍स का।
– लगातार 13वां महीना है, जब दो डिजिट से ऊपर महंगाई है। मतलब 10 प्रतिशत से ज्‍यादा।
– अप्रैल 2022 में थोक महंगाई दर 15.1 प्रतिशत रही।
– आप किसी भी बैंक में पैसा जमा करते हैं, वहां आपको कितना ब्‍याज मिलता पता लगा लीजिए। लगभग 3 से 6 प्रतिशत।
– अगर आप सोच रहे हैं कि ब्‍याज से कुछ कमाई कर लेंगे, तो आप नुकसान में हैं।
– महंगाई की वजह से बैंक में मौजूद पैसा दरअसल, बढ़ नहीं रहा है, बल्कि उसकी वैल्‍यु कम हो रही है, क्‍योंकि इससे तेजी से महंगाई बढ़ रही है।
– महंगाई कम करने के लिए आरबीआई ने 40 बेसिस प्‍वाइंट रेपो रेट बढ़ाया था। लेकिन वह भी बेअसर रहा।
– अब विशेषज्ञों का का कहना है कि आरबीआई रेपो रेट और बढ़ा सकता है।

महंगाई दर का आंकड़ा
प्रोडक्‍ट अप्रैल 2022 मार्च 2022
– ईंधन और बिजली : 38.66% 34.5%
– मैन्‍युफैक्‍चर्ड प्रोडक्‍ट: 10.85% 10.7%
– फूड प्रोडक्‍ट : 8.88% 8.7%

सवाल है कि महंगाई की वजह क्‍या है?
– आर्थिक विशेषज्ञ आलोक जोशी का मानना है कि महंगाई की सबसे बड़ी वजह बला की गर्मी।
– अप्रैल में गर्मी ने 122 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया।
– इसकी वजह से जो भी खराब होने वाले आइटम है, सब्‍जी, फल, दूध के दाम अचानक बढ़ गए हैं। गेहूं की फसल पर नुकसान हुआ और उत्‍पादन कम होने का अनुमान है।
– कुछ वक्‍त पहले नींबू की बात कर रहे थे, कुछ सस्‍ता हुआ है, लेकिन अभी भी एक नींबू 20 रुपए का है।
– इसका भी असर है कि महंगाई यहां पहुंच गई है।
– जो किसान हैं उनपर महंगाई का असर हुआ तो, उन्‍होंने इसे आगे बढ़ा दिया।
– इसके अलावा ईंधन – पेट्रोल, डीजल, गैस का अंतर्राष्‍ट्रीय बाजार में कीमत बढ़ी।
– मैन्युफैक्चरिंग प्रोडक्‍ट की लागत बढ़ गई।

अंतर्राष्‍ट्रीय परिस्थिति की वजह से महंगाई कैसे बढ़ी?
– इसके पीछे रूस और यूक्रेन का विवाद है।
– शुरु में रूस ने जब हमला किया था, तो लग रहा था कि वो बड़ी ताकत है और तुरंत इसे जीत जाएगा।
– लेकिन अब लगता है कि रूस भी उलझ गया है फंसा हुआ है।
– यूक्रेन तो बर्बाद हो गया है, लेकिन रूस भी फंसा हुआ है। इसकी वजह से पूरी दुनिया फंसी हुई है।
– मेटल, क्रूड ऑयल और गैस की कीमत बढ़ गई।
– रूस और यूक्रेन गेहूं का बड़ा उत्‍पादक है, लेकिन विवाद की वजह से वह निर्यात नहीं कर पा रहा है।
– यही वजह है कि गेहूं के निर्यात पर सरकार को प्रतिबंध लगाना पड़ा।
– हालांकि सरकार ने अब यह कहा है कि जिनका कंसाइनमेंट हो चुका है, उतना गेहूं जाने दिया जाएगा।
– भारत ने गेहूं का निर्यात बंद किया, तो दुनिया में गेहूं का रेट बढ़ गया है, उसका असर यहां घूमकर आने वाला है।

डॉलर महंगा होने से भी महंगाई
– डॉलर महंगा हो रहा है, तो इसकी वजह से भी महंगाई बढ़ रही है।
– डॉलर महंगा क्‍यों हो रहा है, क्‍योंकि शेयर बाजार से विदेशी निवेश अपनी रकम निकाल रहा है।
– महंगाई के मोर्चे पर राहत मिलने के आसार फिलहाल नहीं दिख रही है।
– थोक का आंकड़ा डराने वाला है क्‍योंकि थोक के व्‍यापारी को महंगा पड़ रहा है, तो अगले महीने रिटेल में ट्रांसफर होगा।

किसने जारी किया थोक महंगाई का आंकड़ा – Ministry of Commerce and Industry
– हालांकि खुदरा महंगाई दर संख्यिकी कार्यान्‍वयन मंत्रालय का एनएसओ जारी करता है।

————–
4. देश के पहले अमृत सरोवर का उद्घाटन किस जिले में हुआ?

a. रामपुर
b. पीलीभीत
c. गोपालगंज
d. अरियालुर

Answer: a. रामपुर

– उत्तर प्रदेश के जिले रामपुर के ग्राम पटवई में देश का पहला “अमृत सरोवर” स्‍थापित हुआ है।
– इसका उद्घाटन केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी और उत्तर प्रदेश के जल शक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने 13 मई 2022 को किया।
– रामपुर में अमृत सरोवर, मूल रूप से 789 तालाबों में से एक है, जिनका उत्तर प्रदेश सरकार अभी निर्माण कर रही है।
– इस सरोवर के निर्माण में लगभग 60 लाख रुपये खर्च किए गए है।

अमृत सरोवर
– सरकार ने आजादी के अमृत महोत्सव योजना के तहत तालाबों को अमृत सरोवर के रुप में विकसित करने की शुरुआत की है।
– इसके तहत देश के हर जिले में अमृत सरोवर बनाया जाएगा।
– यह अमृत सरोवर पर्यावरण को संरक्षित करेगा।
– पानी को कंजर्व करेगा।
– यहां बोटिंग करने की सुविधा भी उपलब्ध है।

————–
5. बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) का नया चेयरमैन किसे नियुक्त किया गया?

a. एस. एस. मूंदड़ा
b. विक्रमजीत सेन
c. अजीत नायर
d. दिव्य जाटव

Answer: a. एस. एस. मूंदड़ा

– BSE ने 17 मई 2022 को एस. एस. मूंदड़ा को अपना नया चेयरमैन नियुक्त किया।
– मूंदड़ा को जस्टिस विक्रमजीत सेन की जगह चुना गया है।

एस. एस. मूंदड़ा
– वह बैंक ऑफ बड़ौदा के डायरेक्टर और RBI के डिप्टी गर्वनर भी रह चुके है।

BSE
– मुख्यालय: मुंबई
– सीईओ: आशीष कुमार चौहान

————–
6. भारत ने किस देश को हराकर इतिहास में पहली बार थॉमस कप 2022 जीता?

a. भारत
b. चीन
c. रूस
d. इंडोनेशिया

Answer: d. इंडोनेशिया

– भारतीय पुरुष बैडमिंटन टीम ने 15 मई 2022 को पहली बार थॉमस कप जीत लिया।
– थॉमस कप का आयोजन बैंकॉक में हुआ।
– इस दौरान भारतीय टीम ने 14 बार के विजेता इंडोनेशिया को हराया।
– भारत ने थॉमस कप के 73 साल के इतिहस में पहली बार जीत हासिल की।

इन खिलाड़ियों ने दिलाई जीत
– लक्ष्य सेन ने एंथनी गिनटिंग को 8-21, 21-17, 21-16 से हराकर भारत को मजबूत शुरुआत दी।
– युगल जोड़ी सात्विक और चिराग ने अहसान-सुकामुल्जो को 18-21, 23-21, 21-19 से हराकर भारत का स्कोर 2-0 किया।
– फिर तीसरे गेम में किदांबी श्रीकांत ने जोनाथन क्रिस्टी को 21-15, 23-21 से हराकर स्कोर 3-0 कर भारत को जीत दिलाई।

थॉमस कप
– इस चैंपियनशिप को वर्ष 1949 में शुरु किया गया था।
– थॉमस कप, जिसे कभी-कभी विश्व पुरुष टीम चैंपियनशिप कहा जाता है।
– यह बैडमिंटन वर्ल्ड फेडरेशन (BWF) के सदस्य देशों का प्रतिनिधित्व करने वाली टीमों के बीच एक अंतरराष्ट्रीय बैडमिंटन प्रतियोगिता है।
– चैंपियनशिप 1982 से हर दो साल में आयोजित की जाती है।
– थॉमस कप 2022 टूर्नामेंट 08 से 15 मई 2022 तक बैंकॉक, थाईलैंड में इम्पैक्ट एरिना में आयोजित किया गया था।

————-
7. शेयर बाजार में लिस्ट होते ही LIC बाजार पूंजीकरण के मामले में देश में कौन-से स्‍थान पर पहुंच गई?

a. पहले
b. तीसरे
c. चौथे
d. पांचवें

Answer: d. पांचवें

– शेयर बाजार में लाइफ इंश्योरेंस कॉरपोरेशन (LIC) 17 मई 2022 को लिस्‍ट हुआ।
– लिस्ट होने के बाद इसका मार्केट कैपिटलाइजेशन (बाजार पूंजीकरण) 5.48 लाख करोड़ रुपए हो गया।
– इससे LIC अब देश की टॉप-5 वैल्यूबल कंपनियों में शामिल हो गई है।
– LIC देश की वैल्यूबल कंपनियों में पांचवें स्थान पर पहुंच गई है।

टॉप-5 वैल्यूबल कंपनियां
       कंपनी                – मार्केट कैप
1. रिलायंस इंडस्ट्रीज   -16.66 लाख करोड़ रुपए
2. टीसीएस                – 12.34 लाख करोड़ रुपए
3. एचडीएफसी बैंक   -7.21 लाख करोड़ रुपए
4. इंफोसिस              – 6.26 लाख करोड़ रुपए
5. LIC                      – 5.48 लाख करोड़ रुपए

मार्केट कैप (Market Capitalization)
– Market Capitalization का मतलब किसी कंपनी के स्टॉक के बकाया शेयरों का टोटल डॉलर मार्केट वेल्यू।
– उदाहरण के लिए, एक कंपनी जिसके 10 मिलियन शेयर 100 डॉलर में बिक रहे हैं, उसका मार्केट कैप $1 बिलियन होगा
– Market Capitalization को मुख्यतः मार्केट कैप के रूप में जाना जाता है।

LIC ने अपने शेयर्स कितने रेट पर लिस्ट किए?
– नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE): 872 रुपए प्रति शेयर (इश्‍यू रेट 949 रुपए पर 8.11% छूट)
– बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE): 867.20 रुपए प्रति शेयर
(इश्‍यू रेट 949 रुपए से 8.62% कम)

इश्‍यू रेट से कम रेट पर क्यों लिस्ट किया?
– बिजनेस इनसाइडर इंडिया के अनुसार बढ़ती महंगाई, मुद्रा की कमजोरी और रूस-यूक्रेन विवाद के कारण LIC ने शेयर्स को कम रेट पर लिस्ट किया।
– इसके अलावा मार्केट को बैलेंस करने के लिए ऐसा किया गया।

सरकार को क्या फायदा हुआ?
– सरकार ने IPO के माध्यम से LIC में 22.13 करोड़ से अधिक शेयर या 3.5% हिस्सेदारी बेची है।
– LIC ने एक सफल IPO की पेशकश के बाद अपने शेयरों का इशू प्राइस ₹949 प्रति शेयर तय किया था।
– इससे सरकार को ₹20,557 करोड़ मिले।

—————
8. पहले आम-भारतीय (Indian Layman), जिन्हें पोप ने संत की उपाधि दी?

a. देवसहायम पिल्लई
b. राजेंद्र पिल्‍लई
c. विमल कुमावत
d. अल्‍फ्रेड फ्रेडरिक

Answer: a. देवसहायम पिल्लई

– 15 मई 2022 को उन्‍हें संत की उपाधि दी।
– रोम में स्थित वेटिकन सिटी में पोप फ्रांसिस ने देवसहायम पिल्लई के साथ नौ अन्य को यह उपधि दी।
– संत की उपाधि पाने वाले देवसहायम पहले आम भारतीय नागरिक है।
– इससे पहले मदर टरेसा को 19 अक्‍टूबर 2003 को संत की उपाधि मिली थी।
– वर्ष 2004 में कोट्टार सूबा, तमिलनाडु बिशप्स काउंसिल और कॉन्फ्रेन्स ऑफ कैथोलिक बिशप्स ऑफ इंडिया ने देवसहायम को संत की उपाधि दी जानी की रिक्वेस्ट की थी।
– इसके बाद फरवरी 2020 में देवसहायम को संत की उपाधि दिए जाने की मंजूरी दी गई थी।

देवसहायम पिल्लई
– देवसहायम पिल्लई का जन्म 23 अप्रैल 1712 में कन्याकुमारी (तमिल नाडु) के नट्टालम जिले में हिन्दू परिवार में हुआ था।
– उन्होंने त्रावणकोर के महाराजा मरेंद्र वर्मा के कोर्ट में नौकरी की।
– यहीं उनकी मुलाकात एक डच नौसैनिक कमांडर से हुई, जिन्होंने उन्हें कैथोलिक धर्म के बारे में सिखाया।
– 1745 में धर्म परिवर्तन के बाद उन्होंने अपना नाम लाजरेस कर लिया।
– धर्म परिवर्तन करते ही उन्हें त्रावणकोर राज्य के प्रकोप का सामना करना पड़ा।
– राज्य उनके धर्म परिवर्तन के खिलाफ था।
– धर्म परिवर्तन के चार साल बाद 1749 में उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।
– 14 जनवरी 1752 को देवसहायम की अरालवीमोझी के जंगल में गोली मारकर हत्या कर दी गई।
– तब से दक्षिण भारत के ईसाई समुदाय में उन्हें शहीद के तौर पर याद किया जाता है।
– उनका पार्थिव शरीर अब कोट्टार के सेंट फ्रांसिस जेवियर कैथेड्रल में रखा हुआ है।
– फरवरी 2020 में जब देवसहायम को संत की उपाधि देने का ऐलान हुआ तो उस वक्त वेटिकन ने एक नोट जारी किया था – “उनका धर्म परिवर्तन उनके राज्य के प्रमुखों को अच्छा नहीं लगा। जो खुद हिन्दू थे। धर्म बदलने की वजह से उनके ऊपर जासूसी और राजद्रोह के झूठे आरोप लगाए गए। उन्हें राज्य सरकार की नौकरी से भी हाथ धोना पड़ा। उन्हें जेल में डाल दिया गया और कठोर यातनाएं दी गईं।’’

—————–
9. सुप्रीया जाटव ने यूएस ओपन कराटे चैंपियनशिप 2022 में कौन से पदक जीते?

a. गोल्‍ड व सिल्‍वर
b. गोल्‍ड व ब्रॉंज
c. सिल्‍वर व ब्रॉंज
d. इनमें से कोई नहीं

Answer: b. गोल्‍ड व ब्रॉंज (स्‍वर्ण और कांस्‍य)

– यूएस ओपन कराटे चैंपियनशिप में सुप्रीया जाटव ने दो मेडेल जीते। – उन्‍होंने गोल्‍ड मेडेल टीम स्‍पर्धा में जीता।
– इस स्‍पर्धा में उनके साथ दीपिका धीमान, अनिकेत गुप्ता भी थे। तीनों को संयुक्‍त रूप से गोल्‍ड मिला।
– बाद में एक अन्‍य स्‍पर्धा में सुप्रीया जाटव ने ब्रॉंज मेडल जीता।
– सुप्रीया, मध्‍य प्रदेश से हैं।

—————–
10. भारत ने यूएसए ओपन कराटे चैंपियनशिप 2022 में कितने गोल्ड मेडल जीते?

a. एक
b. तीन
c. चार
d. पांच

Answer: d. पांच

– भारत ने यूएसए ओपन कराटे चैंपियनशिप 2022 में पांच गोल्ड मेडल जीते।
– भारत ने इस चैंपियनशिप की पांच अलग-अलग कैटेगरी में गोल्ड जीता।
– यूएसए ओपन कराटे चैंपियनशिप 2022 लास वेगास, अमेरिका में 13-17 अप्रैल 2022 को आयोजित हुई।

किन खिलाड़ियों ने किस कैटेगरी में गोल्ड जीता?
Kata Int/Adv कैटेगरी (उम्र 18-34 वर्ष)
– इस कैटेगरी में भारत के तीन कराटे प्लेयर्स दीपिका धीमान, अनिकेत गुप्ता, सुप्रिया जाटव ने मिलकर गोल्ड जीता।

बेज/नोव मेल क्यूमाइट कैटेगरी (उम्र 12-13 वर्ष)
– भारत को इस कैटेगरी में गोल्ड मेडल मिला।
– कार्तिक अरबंदी, सर्वेश प्रीफली और धर्य विज ने मिलकर गोल्ड जीता।

मेल इण्टरमीडिएट काटा (Kata) कैटेगरी
– मेडल: गोल्ड
– विजेता: अपूर्व अरोड़ा

मेल Int/Adv विजूअली इम्पेर्ड पैरा-काटा (Kata) कैटेगरी
– मेडल: गोल्ड
– विजेता: कार्तिकेय गोयल

मेल Int/Adv फिजिकल डिसैबल्ड पैरा-काटा (Kata) कैटेगरी
– मेडल: गोल्ड
– विजेता: कार्तिकेय गोयल

भारत ने चैंपियनशिप में गोल्ड के अलावा अन्य कौनसे मेडल जीते?

खिलाड़ी                      – स्पर्धा                                               – मेडल
दीपिका धीमान             – फीमेल एलिट-61 किलोग्राम क्यूमाइट   – ब्रॉन्ज
सुप्रिया जाटव               – फीमेल एलिट-61 किलोग्राम क्यूमाइट   – ब्रॉन्ज
भुवनेश्वरी सूरी जाधव     – फीमेल एलिट-68 किलोग्राम क्यूमाइट   – ब्रॉन्ज
भुवनेश्वरी सूरी जाधव     – फीमेल एलिट ओपन क्यूमाइट              – ब्रॉन्ज
कार्तिकेय गोयल           – मेल Int/Adv पैरा वेपन्स                     – सिल्वर

बेज/नोव मेल क्यूमाइट कैटेगरी (उम्र 8-9 वर्ष)
– भारत को इस कैटेगरी में ब्रॉन्ज मेडल मिला।
– यह ब्रॉन्ज मेडल गुरवंश, मालाकार, अयामी ने मिलकर जीता।

मेल एलीट काटा (Kata) कैटेगरी ( उम्र 16 प्लस)
– इस कैटेगरी में ब्रॉन्ज मिला।
– अख्तर, अनिकेत गुप्ता और यशपाल सिंह ने मिलकर ब्रॉन्ज जीता।

—————-
11. विश्व उच्च रक्तचाप दिवस (world hypertension day) कब आयोजित होता है?

a. 16 मई
b. 17 मई
c. 18 मई
d. 19 मई

Answer: b. 17 मई

– उच्च रक्तचाप को “साइलेंट किलर” के रूप में जाना जाता है।
– 2022 का थीम – Measure Your Blood Pressure Accurately, Control it, Live Longer
– भोजन में नमक का सेवन सीमित करने और फलों और सब्जियों का सेवन बढ़ाने जैसे जीवनशैली में बदलाव के माध्यम से सामान्य आबादी में उचित रक्तचाप बनाए रखना बेहद फायदेमंद होगा।


1 thought on “18 & 19 May 2022 Current Affairs

Comments are disabled.