16 & 17 June 2022 Current Affairs

Spread the love

यह 16 & 17 June 2022 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. भारत, अमेरिका, यूएई और इजरायल ने कौन सा नया ग्रुप बनाया?

a. C2U2
b. I2U2
c. P2K2
d. QUAD2

Answer: b. I2U2

– भारत, इजराइल, अमेरिका और UAE के नए समूह I2U2 की पहली वर्चुअल समिट जुलाई में होगी।
– इस ग्रुप को अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने बनाया है।
– इस समूह में I2 इंडिया और इजराइल के लिए, जबकि U2 अमेरिका और UAE के लिए इस्तेमाल किया गया है।

क्या I2U2 वेस्टर्न एशिया का Quad है?
– अक्टूबर 2021 में भारत-इजराइल-अमेरिका-UAE के बीच समुद्री सुरक्षा, बुनियादी ढांचे, डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर और परिवहन जैसे अहम मुद्दों पर चर्चा हुई थी।
– उस वक्त, चर्चा की एक बड़ी वजह इजराइल और UAE के बीच अच्छे संबंध बनाना था।
– उस वक्‍त भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर भी इस बैठक में हिस्सा लेने के लिए इजरायल गए थे।
– उस दौरान इस ग्रुप को ‘इंटरनेशनल फोरम फॉर इकोनॉमिक कोऑपरेशन’ नाम दिया गया था।
– लेकिन अब इस ग्रुप का नाम I2U2 कर दिया गया है।
– इसे वेस्‍टर्न एशिया का क्‍वाड भी कहा जा रहा है।

शीर्ष नेताओं की पहली वर्चुअल I2U2 समिट कब होगी?
– अमेरिका राष्ट्रपति जो बाइडेन अगले महीने 12 से 16 जुलाई के बीच पश्चिम एशिया का दौरा करेंगे।
– इस दौरान शीर्ष नेताओं का I2U2 का पहला वर्चुअल समिट आयोजित किया जायेगा।
– जो बाइडेन इस समिट की मेजबानी करेंगे।
– इस मीटिंग में अमेरिकी प्रेसिडेंट जो बाइडेन, भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, इजरायल के प्रधानमंत्री नेफ्ताली बेनेट और यूएई के राष्ट्रपति मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान शामिल होंगे।

समिट में किन मुद्दो पर बातचीत होगी?
– फूड सिक्योरिटी और कोऑपरेशन के अन्य क्षेत्रों पर बातचीत होगी।
– डिफेंस क्षेत्र और दूसरी वैश्विक दिक्कतों पर चर्चा होगी।

राष्ट्रपति जो बाइडेन द्वारा लॉन्च किए गए अंतरराष्ट्रीय समूह/पहल
– बाइडेन ने जनवरी 2021 से क्वाड (भारत, अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया)
– AUKUS (ऑस्ट्रेलिया, यूके और यूएस)
– अफगानिस्तान, पाकिस्तान और उज्बेकिस्तान के साथ एक चतुर्भुज वार्ता सहित कई बहुपक्षीय पहलों को लॉन्च और अपग्रेड किया है।

—————
2. थोक महंगाई दर ने 30 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया, मई 2022 में यह दर कितनी रही?

a. 15.56%
b. 15.67%
c. 15.72%
d. 15.88%

Answer: d. 15.88%

– वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्रालय (Ministry of commerce and industry) ने 14 जून 2022 को यह आंकड़ा जारी किया।
– इस आंकड़े के अनुसार मई 2022 में महंगाई दर 15.88%
– इससे पहले अप्रैल 2022 में यह महंगाई दर 15.08% रही।
– यह लगातार 14 वां महीना है जब भारत में थोक मूल्य आधारित महंगाई 10% से ऊपर रही है।
– हालांकि इससे पहले रिटेल महंगाई में थोड़ी कमी देखने को मिली थी। रिटेल महंगाई दर मई 2022 में 7.04% थी।

1991 की महंगाई का भी रिकॉर्ड टूटा
– होल सेल प्राइस इंडेक्‍स मई 2022 में 15.88 प्र‍तिशत पर चला गया है।
– 2021 के बेस प्राइस से यह सबसे ज्‍यादा तो है ही, लेकिन अगर हम सितंबर 1991 का आंकड़ा देखें तो, सबसे हाइएस्‍ट इन्‍फ्लेशन है।
– आप 1991 की हालत जानते होंगे कि उस समय आर्थिक संकट गंभीर था, प्राइस इंक्रीज हो रहे थे, बैलेंस ऑफ पेमेंट का क्राइसिस था।
– अब थोक महंगाई की हालत उससे भी बेहाल स्थिति में है।

महंगाई को 4 प्रतिशत पर रखना RBI की जिम्‍मेदारी
– सरकार और आरबीआई पर जिम्‍मेदारी है कि इन्‍फ्लेशन भी कंट्रोल करे।
– कानून के अनुसार RBI को खुदरा महंगाई दर को 4% के स्तर पर बनाए रखना आवश्यक है। यह नियम अक्टूबर 2016 में लागू हुआ था।
– लॉ में RBI के लिए महंगाई नियंत्रण के लिए कुछ गुंजाइश रखी गई है। किसी विशेष महीने में, महंगाई दर निर्धारित 4% से 2% घट या बढ़ सकती है।
– लेकिन लगातार 14 वां महीना है जब भारत में थोक मूल्य आधारित महंगाई 10% से ऊपर रही है।

महंगाई दर क्यों बढ़ी?
– खनिज तेलों, क्रूड पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस, खाद्य वस्तुओं, मूलभूत धातुओं, गैर-खाद्य उत्पादों, रसायनों एवं रासायनिक उत्पादों एवं खाद्य उत्पादों की कीमतों में वृद्धि के कारण महंगाई दर है।

महंगाई दर का आंकड़ा
प्रोडक्ट : अप्रैल 2022 – मई 2022
ईंधन और बिजली : 38.7% – 40.62%
मैन्‍युफैक्‍चर्ड प्रोडक्‍ट: 10.85% – 10.11%
फूड प्रोडक्ट : 8.88% – 10.89%
प्राथमिक वस्तुएं : 15.45% – 19.71%

– होलसेल प्राइस इंडेक्‍स का मतलब कि प्रोडक्‍शन का कॉस्‍ट ऑफ इन्‍पुट बढ़ रहा है।
– तो अब प्रोडक्‍ट प्रोड्यूसर होलसेलर से ज्‍यादा चार्ज करेगा। होलसेलर भी रिटेलर से ज्‍यादा चार्ज करेगा और इसका असर कंज्‍यूमर पर होगा।
– आने वाले वक्‍त में रिटेल इंफ्लेशन भी बढ़ सकता है।

रिटेल और थोक महंगाई दर में इतना अंतर क्‍यो?
– दोनों का कंपोजीशन अलग है।
– होलसेल प्राइस इंडेक्‍स में में सर्विस सेक्‍टर शामिल नहीं है।
– जबकि रिटेल प्राइस इन्‍फ्लेशन में सर्विस शामिल है।
– सर्विस में महंगाई नहीं बढ़ी है, इसलिए रिटेल में इतना महंगाई नहीं दिख रही है।

महंगाई का क्‍या असर होगा?
– इससे रुपया लगातार डेप्रीसिएट हो रहा है।
– अब तो 78 तक आ गया है।
– तो हम ऑयल इंपोर्ट कर रहे है, तो ज्‍यादा पेमेंट करना होगा।
– तो इसका इमीडिएट असर होलसेल प्राइस पर होता है।

वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्रालय के मंत्री – पीयूष गोयल

—————
3. पीएम मोदी ने श्रीसंत तुकाराम महाराज शिला मंदिर का उद्घाटन कहां किया?

a. पुणे
b. लखनऊ
c. बरेली
d. पटना

Answer: a. पुणे (महाराष्ट्र)

– पीएम मोदी ने 14 जून 2022 को पुणे के देहू इलाके में श्रीसंत तुकाराम महाराज शिला मंदिर का उद्घाटन किया।

संत तुकाराम
– वह 17वीं शताब्दी के एक वारकरी संत और कवि थे।
– वह देहू में रहा करते थे।
– उन्हें अभंग कविता और कीर्तनों के नाम से चर्चित आध्यात्मिक गीतों के माध्यम से समुदाय केंद्रित पूजा के लिए जाना जाता है।

शिला मंदिर
– 17वीं शताब्‍दी में उनके निधन के बाद एक शिला मंदिर का निर्माण किया गया था।
– लेकिन अब यहां भव्‍य मंदिर का निर्माण किया गया है।
– इसे 36 चोटियों के साथ पत्थर की चिनाई के माध्यम से बनाया गया है और इसमें संत तुकाराम की मूर्ति है।

वारकरी संप्रदाय
– वारकरी हिन्दू धर्म की एक आध्यात्मिक परंपरा है।
– भगवान श्री विट्ठल के भक्त को वारकरी कहते है।
– वारकरी लोग हर वर्ष एक वार्षिक तीर्थ-यात्रा करते है।

महाराष्ट्र
सीएम – उद्धव ठाकरे
गवर्नर – भगत सिंह कोश्‍यारी

————–
4. ‘पावो नूरमी गेम्स’ 2022 में नीरज चोपड़ा ने कौन सा मेडल जीता और नया नेशनल रिकॉर्ड बनाया?

a. गोल्ड
b. सिल्वर
c. ब्रॉन्ज
d. इनमें से कोई नहीं

Answer: b. सिल्वर

‘पावो नूरमी गेम्स’

————-
5. नीरज चोपड़ा ने ‘पावो नूरमी गेम्स’ 2022 में जैवलिन थ्रो (भाला फेंकने) का कितने मीटर का नया नेशनल रिकॉर्ड बनाया?

a. 84.10 मीटर
b. 85.20 मीटर
c. 89.30 मीटर
d. 87.35 मीटर

Answer: c. 89.30 मीटर

– पावो नूरमी गेम्स 2022 फिनलैंड में 14 जून 2022 को आयोजित हुआ।
– इस दौरान नीरज चोपड़ा ने मेन्स जैवलिन थ्रो (भाला फेंक) में सिल्वर मेडल जीता।
– उन्होंने 89.30 मीटर दूर भाला फेंका। यह नया नेशनल रिकॉर्ड बना।
– वह फिनलैंड के ऑलिवर हेलांडेर से पीछे रहे, जो 89.93 मीटर का थ्रो कर पहले स्थान पर रहे।

नीरज चोपड़ा का पिछला नेशनल रिकॉर्ड
– इससे पहले उन्‍होंने वर्ष 2021 में पटियाला में आयोजित इंडियन ग्रां प्री में 88.07 मीटर का नेशनल रिकॉर्ड बनाया था।

ओलंपिक गोल्‍ड विजेता रह चुके हैं नीरज
– नीरज चोपड़ा ने टोक्‍यो ओपलंपिक 2020 (वर्ष 2021 में आयोजित) में जेवलिन थ्रो खेल में गोल्‍ड मेडेल जीता था।
– अब 10 महीने बाद पावो नूरमी गेम्स (फिनलैंड में आयोजित) में नया नेशलन रिकॉर्ड बनाया।

—————————-
6. भारत ने पैरा शूटिंग विश्व कप 2022 में कितने गोल्ड मेडल जीते?

a. सात
b. छह
c. पांच
d. चार

Answer: b. छह

– पैरा शूटिंग विश्‍व कप 2022 का आयोजन 04-13 जून 2022 तक चेटौरौक्स, फ्रांस में हुआ।
– भारत ने इस विश्व कप में छह गोल्ड, पांच सिल्वर और एक ब्रॉन्ज सहित कुल 12 मेडल जीते।
– विश्‍व कप में सबसे ज्‍यादा चीन ने 16 मेडेल जीते। दूसरे स्‍थान पर भारत रहा।

गोल्ड
कैटेगरी- खिलाड़ी- मेडल
R2-वुमेन्स 10मी एयर राइफल स्टैंडिंग एसएच1- अवनि लेखरा- गोल्ड
R4-मिक्सड 10मी एयर राइफल स्टैंडिंग एसएच2- श्रीहर्ष देवरद्दी और रामकृष्ण- गोल्ड
R8-वुमेन्स 50मी राइफल 3 पोजिशन एसएच1- अवनि लेखरा- गोल्ड
P5- मिक्सड 10मी एयर पिस्टल स्टैंडर्ड एसएच1(टीम)- राहुल जाखर, दीपेंद्र सिंह और आकाश (तीनों ने मिलकर जीता)- गोल्ड
P5-मिक्सड 10मी एयर पिस्टल स्टैंडर्ड एसएच1(सिंगल इवेंट)- राहुल जाखर- गोल्ड
P6-मिक्सड टीम 10मी पिस्टल एसएच1- रुबीना फ्रांसिस और मनीष नरवाल (दोनों ने मिलकर जीता)- गोल्ड

सिल्वर
कैटेगरी- खिलाड़ी- मेडल
P1-मेन्स 10मी एयर पिस्टल एसएच1(टीम)- मनीष नरवाल, सिंहराज अधाना
और निहाल सिंह (तीनों ने मिलकर जीता)- सिल्वर
P2-वुमेन्स 10मी एयर पिस्टल एसएच1(टीम)- रुबीना फ्रांसिस, सुमेधा पाठक और निशा कंवार (तीनों ने मिलकर जीता)- सिल्वर
P3-मिक्सड 25मी पिस्टल एसएच1 (टीम) – राहुल जाकर,सिंहराज अधाना और निहाल सिंह (तीनों ने मिलकर जीता)- सिल्वर
P4-मिक्सड 25मी पिस्टल एसएच1 (टीम) – आकाश, सिंहराज अधाना, मनीष नरवाल (तीनों ने मिलकर जीता)- सिल्वर
P5-मिक्सड 10मी एयर पिस्टल स्टैंडर्ड एसएच1(सिंगल इवेंट)- रुबीना फ्रांसिस- सिल्वर

ब्रॉन्ज
कैटेगरी- खिलाड़ी- मेडल
P2-वुमेन्स 10मी एयर पिस्टल एसएच1- रुबीना फ्रांसिस- ब्रॉन्ज

—————
7. रूस और चीन ने अपने पहले रोड ब्रिज का अनावरण जून 2022 में किया, यह रोड ब्रिज किस नदी पर बना है?

a. अमूर
b. डॉन
c. ली जियांग
d. सालवीन

Answer: a. अमूर

– इस रोड ब्रिज का नाम ब्लागोवेशचेंस्क- हेहे ब्रिज है।
– अमूर नदी पर बना यह एक किलोमीटर लंबा ब्रिज है।
– यह ब्रिज रूसी शहर ब्लागोवेशचेंस्क को अमूर नदी के पार चीनी शहर हेहे (Heihe) को जोड़ता है।
– ब्रिज की लागत 19 बिलियन रूबल (342 मिलियन डॉलर) [26.6 हजार करोड़ रुपए]
– इस ब्रिज का निर्माण वर्ष 2016 में शुरू हुआ था और वर्ष 2020 में जाकर पूरा हुआ।

ब्रिज से क्या फायदा होगा?
– चीन और रूस का व्यापार बढ़ेगा।
– एक मिलियन टन से अधिक का सामान का व्यापार हो सकेगा।
– माल वाले ट्रक आसानी जा सकेंगे।

अमूर नदी
– अमूर नदी (चीनी भाषा में हेइलोंग जियांग) दुनिया की दसवीं सबसे लंबी नदी है।
– यह नदी चीन और रूस के बीच में बॉर्डर बनाती है।
– यह नदी 2,824 किलोमीटर लंबी है।

चीन और रूस के बीच लड़ाई अमूर नदी की सहायक नदी उससुरी रिवर पर एक द्वीप को लेकर वर्ष 1969 में हुई थी।
– इसमें बहुत सारे सैनिक मारे गए थे। कुछ स्रोत 70 तो कुछ 700 से ज्‍यादा मृतक सैनिकों के आंकड़े देते हैं।
– विवाद अमूर नदी को लेकर भी हुआ था।

—————-
8. केन्द्र सरकार ने ‘भ्रामक विज्ञापनों की रोकथाम और अनुमोदन-2022’ के लिए नई गाइडलाइन जारी की है, इसमें किस तरह के विज्ञापनों पर बैन लगाया गया है?

a. सरोगेट विज्ञापन
b. प्रलोभन विज्ञापन
c. अनुनेय विज्ञापन
d. इनमें से कोई नहीं

Answer: a. सरोगेट विज्ञापन

– डिपार्टमेंट ऑफ कंज्यूमर अफेयर्स के सेंट्रल कंज्यूमर प्रोटेक्शन अथॉरिटी (CCPA) ने 10 जून 2022 को इन गाइडलाइन को जारी किया।
– इन गाइडलाइन के अनुसार सरोगेट विज्ञापनों को बैन कर दिया गया है।
– बच्चों को टारगेट करने वाले विज्ञापनों को भी रेग्युलेट किया गया है।
– इसके अलावा उन विज्ञापनों के लिए सख्त मानदंड लागू किए है, जो छूट और मुफ्त दावों की पेशकश कर उपभोक्ताओं को लुभाने का प्रयास करते है।

सरोगेट विज्ञापन
– सरोगेट विज्ञापन जो एक ही ब्रांड के दूसरे उत्पाद को बढ़ावा देने के लिए एक उत्पाद की ब्रांड इमेज की नकल करता है।
– उदाहरण के तौर पर शराब के ब्रांड का विज्ञापन सोडा ड्रिंक के नाम पर करना, या तंबाकू के ब्रांड का विज्ञापन, इलायची के नाम पर करना।

गाइडलाइन का उल्लंघन करने पर कितना जुर्माना?
– CCPA किसी भी भ्रामक विज्ञापन के लिए निर्माताओं, विज्ञापनदाताओं और प्रचारक (एंडोर्सर्स) पर 10 लाख रुपये तक का जुर्माना लगा सकता है।
– इसके बाद फिर से उल्लंघन करने पर जुर्माने की यह राशि 50 लाख रुपये तक हो सकती है।

भ्रामक विज्ञापनों की रोकथाम और अनुमोदन-2022 (गाइडलाइंस ऑन प्रीवेन्शन ऑफ मिसलीडिंग एडवर्टाइजमेंट्स एंड एंडोर्समेंट्स फॉर मिसलीडिंग एडवर्टाइजमेंट्स-2022)
– केंद्र सरकार ने कंज्यूमर प्रोटेक्शन एक्ट, 2019 का प्रयोग करते हुए यह गाइडलाइन जारी किया।

कंज्यूमर प्रोटेक्शन एक्ट, 2019
– कंज्यूमर प्रोटेक्शन एक्ट, 2019 भारत सरकार का एक कंज्यूमर प्रोटेक्शन कानून है।
– इस एक्ट को देश के उपभोक्ताओं के हितों की रक्षा के लिए और उनके साथ होने वाली धोखाधड़ी रोकने के लिए लाया गया था।
– मोदी सरकार ने 2019 में इस एक्ट को पारित किया था।
– इस एक्ट को पुराने कंज्यूमर प्रोटेक्शन एक्ट, 1986 की जगह पारित किया गया है।

ऑनलाइन सट्टेबाजी का विज्ञापन न करने की सलाह
– सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने 13 जून 2022 को ऑनलाइन सट्टेबाजी को लेकर एक चेतावनी जारी की।
– इसमें प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और डिजिटल मीडिया को ऑनलाइन सट्टेबाजी प्लेटफार्मों के विज्ञापन से बचने के लिए कहा गया है।
– इसके अलावा ऑनलाइन विज्ञापन पब्लिशर्स सहित ऑनलाइन और सोशल मीडिया को भारत में ऐसे विज्ञापन प्रदर्शित नहीं करने की सलाह दी है।
– साथ ही भारतीय दर्शकों को ऐसे विज्ञापनों से टारगेट ना करने की भी सलाह दी गई है।
– यह चेतावनी व्यापक जनहित में जारी की गई है।

क्यों जारी की गई यह चेतावनी?
– प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक, सोशल और ऑनलाइन मीडिया में ऑनलाइन सट्टेबाजी वेबसाइटों/प्लेटफार्मों के विज्ञापनों के अनेक मामले पाए जाने के बाद यह चेतावनी जारी की गई है।
– देश के अधिकांश हिस्सों में सट्टेबाजी और जुआ अवैध है।
– ऑनलाइन सट्टेबाजी उपभोक्ताओं, विशेष रूप से युवाओं और बच्चों के लिए अत्यधिक वित्तीय और सामाजिक-आर्थिक जोखिम पैदा करती हैं।
– ऑनलाइन सट्टेबाजी के विज्ञापन भ्रामक हैं।

—————-
9. भारतीय नौसेना ने किस देश के साथ समन्वित गश्त (IND-INDO CORPAT) ने जून 2022 में आयोजित किया?

a. बांग्लादेश
b. इंडोनेशिया
c. जापान
d. अमेरिका

Answer: b. इंडोनेशिया

– भारत और इंडोनेशिया के बीच 38वीं भारत-इंडोनेशिया समन्वित गश्त (IND-INDO CORPAT) 13 से 24 जून 2022 को आयोजित हुई।
– यह गश्त अंडमान सागर और मलक्का जलडमरूमध्य में चल रही है।
– इस गश्त में भारतीय नौसेना की अंडमान और निकोबार कमांड (ANC) इकाई और इंडोनेशिया की नौसेना भाग लिया।

भारत-इंडोनेशिया समन्वित गश्त (IND-INDO CORPAT)
– वर्ष 2002 में दोनों देशों के बीच इस गश्त की शुरुआत हुई थी।
– तब दोनों देश की नौसेना अपनी अंतरराष्ट्रीय समुद्री सीमा रेखा (IMBL) के साथ इस गश्त का संचालन कर रही हैं।
– इससे दोनों नौसेनाओं के बीच आपसी समझ बढ़ाने में सहायता मिली है।
– यह गश्त अवैध फिशिंग, मादक पदार्थों की तस्करी, समुद्री आतंकवाद, लूट तथा समुद्री डकैती को रोकने में कारगर रही है।

भारतीय नौसेना
स्थापना- 26 जनवरी 1950
नौसेना प्रमुख- आर हरि कुमार

—————
10. वैश्‍विक पवन दिवस (Global Wind Day) कब मनाया जाता है?

a. 12 May
b. 12 June
c. 15 June
d. 18 June

Answer: c. 15 June

– पहला पवन दिवस 2007 में यूरोपीय पवन ऊर्जा संघ (EWEA) द्वारा मनाया गया था।
– ग्लोबल विंड डे 2022 का थीम: “पवन ऊर्जा के लाभों का आनंद लेने और दुनिया को बदलने के लिए पवन ऊर्जा की शक्ति और क्षमता के बारे में व्यक्तियों को शिक्षा प्रदान करना।”

—————
11. विश्‍व बुजुर्ग दुर्व्‍यवहार जागरूकता दिवस (World Elder Abuse Awareness Day) कब मनाया जाता है?

a. 11 June
b. 12 June
c. 15 June
d. 16 June

Answer: c. 15 June

वर्ष 2022 की थीम: “बुजुर्ग दुर्व्यवहार का मुकाबला”

—————
12. वर्ष 2022 में NCPCR का बाल श्रम उन्मूलन सप्ताह कब मनाया गया?

a. 12 से 20 जून
b. 15 से 18 जून
c. 13 से 17 जून
d. 15 से 21 जून

Answer: a. 12 से 20 जून

– इस सप्‍ताह के आयोजन के समय बालश्रम की समस्या पर ध्यान देने और इसे खत्म करने के तरीके को खोजने पर महत्व दिया जाएगा।

NCPCR (National Commission for Protection of Child Rights)
स्थापना: मार्च 2007
अध्यक्ष: प्रियांक कानूनगो
मुख्यालय: नई दिल्ली

—————
13. विश्व रक्तदाता दिवस (World Blood Donor Day) कब मनाया जाता है?

a. 13 June
b. 14 June
c. 15 June
d. 16 June

Answer: b. 14 June

– विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 2004 में कार्ल लैंडस्टीनर की जयंती (14 जून) को विश्व रक्तदाता दिवस के रूप में शुरू किया।

– वर्ष 2022 की थीम: “रक्‍तदान करना एकजुटता का कार्य है। प्रयास में शामिल हों और जीवन बचाएं”।

—————
14. विश्व प्रत्यायन दिवस कब मनाया जाता है?

a. 9 June
b. 10 June
c. 11 June
d. 12 June

Answer: a. 9 June

वर्ष 2022 की थीम: “प्रत्यायन: आर्थिक विकास और पर्यावरण में स्थिरता” है।

अंतर्राष्ट्रीय प्रत्यायन फोरम की स्थापना: 28 जनवरी 1993
अंतर्राष्ट्रीय प्रयोगशाला प्रत्यायन सहयोग स्थापित: अक्टूबर 1977


Leave a Reply