Sarkari Job News, Current Affairs

14 & 15 April 2022 Current Affairs

Spread the love

यह 14th & 15th April 2022 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. गृहमंत्री अमित शाह ने किस योजना के तहत गुजरात के नडाबेट में इंडियन-पकिस्तान बॉर्डर ‘व्यू पाइंट’ का उद्धाटन किया?

a. आत्मनिर्भर भारत
b. सीमा दर्शन प्रोजेक्ट
c. पर्यटक विकास
d. इनमें से कोई नहीं

Answer: b. सीमा दर्शन प्रोजेक्ट

– केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने 10 अप्रैल 2022 को इसका उद्घाटन किया।
– नडाबेट में मौजूद इंडो-पाक बॉर्डर व्‍यू प्‍वाइंट की दूरी अहमदाबाद से लगभग 188 किलोमीटर है।
– यह कच्छ के रण क्षेत्र में स्थित है।
– प्रोजेक्ट को राज्य और केंद्र सरकारों द्वारा संयुक्त रूप से ₹125 करोड़ के निवेश के साथ विकसित किया गया है।

सीमा दर्शन प्रोजेक्ट
– सीमा दर्शन प्रोजेक्ट राज्य सरकार के पर्यटन विभाग और बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (BSF) गुजरात फ्रंटियर की एक संयुक्त पहल है।
– कम आबादी और दुर्लभ वनस्पति वाले इस क्षेत्र में सीमा-पर्यटन (बॉर्डर टूरिज्म) को विकसित करने पर ध्यान केंद्रित किया गया है।
– गृहमंत्री शाह ने कहा है कि यह प्रोजेक्ट न केवल पर्यटन को बढ़ावा देगा बल्कि सीमा पार के गांवों से भारत की ओर पलायन को भी रोकेगा।

गुजरात का वाघा
– BSF के डीआईजी एमएल गर्ग ने कहा, ‘हम नडाबेट को ‘गुजरात का वाघा’ भी कह सकते हैं।
– हालाँकि, एक अंतर है कि बीएसएफ पंजाब में अटारी-वाघा सीमा पर हर शाम सूर्यास्त के समय परेड आयोजित करती है।
– लेकिन यहां पर इस तरह की कोई भी परेड आयोजित नहीं होती है।

व्यू पांइट पर क्या देख सकते है?
– यह व्यू पांइट यात्रियों को भारत की सीमा पर एक सैन्य चौकी के कामकाज को देखने का अवसर प्रदान करता है।
– इसके अलावा BSF के जवानों की परेड, पहाड़ी पर चढ़ाई व अन्य मजेदार एक्टिविटीज देखने को मिलेगी।
– परिसर में एक हथियार प्रदर्शन और फोटो गैलरी शामिल है। – इसमें बंदूकें, बख्तरबंद टैंक और सीमाओं और अंतर्देशीय सुरक्षित रखने के लिए तैनात अन्य उपकरण शामिल हैं।
– एक कैमेल शो भी है।

सीमा सुरक्षा बल (BSF)
मुख्यालय-नई दिल्ली
महानिदेशक- पंकज कुमार सिंह

—————
2. कितनी रकम का विदेशी कर्ज न चुकाने का ऐलान करके श्रीलंका दिवालिया (Bankrupt) हो गया?

दिवालिया हो गए श्रीलंका ने कितनी रकम का विदेशी कर्ज न चुकाने की स्थिति का ऐलान किया?

a. 51 बिलियन डॉलर
b. 55 बिलियन डॉलर
c. 61 बिलियन डॉलर
d. 71 बिलियन डॉलर

Answer: a. 51 बिलियन डॉलर (तीन लाख 88 हजार करोड़ रुपए)

– श्रीलंका के वित्‍त मंत्रालय ने 12 अप्रैल 2022 को विदेशी लोन के डिफ़ॉल्ट (न चुकाने) की घोषणा कर दी।
– श्रीलंका ने कहा है कि वह अंतर्राष्‍ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) से बातचीत कर रहा है। वर्तमान पर‍िस्थिति में उसके लिए संभव नहीं है कि वह लोन रीफंड करे। हालांकि यह अस्‍थाई है।
– श्रीलंका ने विदेश में बसे श्रीलंकाइयों से डॉलर में सहयोग देने की अपील की है।

श्रीलंका के पास कितनी विदेशी मुद्रा भंडार मौजूद
– फॉरन रिजर्व 1.94 बिलियन डॉलर रहा गया है।
– श्रीलंका ने कहा है कि मौजूद विदेशी मुद्रा का उपयोग जरूरी फूड आयटम, ईंधन, दवाओं सहित आवश्‍यक वस्‍तुओं के आयात के लिए होगा।

श्रीलंका पर कितना कर्ज?
– श्रीलंका के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि 1948 में ब्रिटेन से आज़ादी मिलने के बाद उसके क़र्ज़ों की अदायगी का एक ‘बेदाग रिकॉर्ड’ रहा है.
– श्रीलंका पर कुल कर्ज 35 अरब डॉलर है।
– इसमें से 51 बिलियन डॉलर, अप्रैल और अगले कुछ महीनों में चुकाना था। जिसे चुकाने से मना कर दिया।
– श्रीलंका ने कहा है कि सभी कर्जदारों के साथ फेयर एंड इक्‍वल ट्रीटमेंट कर रहा है। इसलिए सभी की कर्ज वापसी को सस्‍पेंड कर दिया गया है।
– हालांकि इससे श्रीलंकाई रुपया बुरी तरह टूट गया है। एक डॉलर की कीमत 320 श्रीलंकाई रुपया हो गया है।

51 अरब डॉलर में किसका कितना कर्ज
– मार्केट बॉरोइंग्‍स : 47% (डॉलर बांड के जरिए)
– चीन : 10%
– ADB : 13%
– जापान : 10%
– वर्ल्‍ड बैंक : 9%
– भारत : 2%
– अन्‍य : 9%

नोट – कोई भी सरकार मार्केट बॉरोइंग्‍स से लोन कैसे लेती है – वह डॉलर या यूरो में बॉंड जारी करती है।

क्‍या श्रीलंका दिवालिया हो गया
– एक तरह से कह सकते हैं। क्‍योंकि देश में भी जो लोन नहीं दे पाते हैं, तो वे दीवालिया करार दिए जाते हैं।
– द हिन्‍दू सहित कई प्रतिष्ठित न्‍यूजपेपर ने अपनी खबरों की हेडिंग में श्रीलंका के लिए दिवालिया शब्‍द लिखा है।
– BBC ने अपनी रिपोर्ट जेएनयू में इकोनॉमिक्‍स के प्रोफेसर अरुण कुमार के हवाले से लिखा है – दिवालिया होने का मतलब है कि आपकी क्रेडिट रेटिंग लगातार ख़राब हो रही हो. जैसे अभी श्रीलंका के साथ हो रहा है. अंतरराष्ट्रीय वित्तीय संस्थानों का उस देश से भरोसा उठ जाता है और क़र्ज़दाता क़र्ज़ अदायगी की तारीख़ बढ़ाने से इनकार कर देते हैं. अगर क्रेडिट रेटिंग ख़राब होगी तो क़र्ज़ देने के लिए कोई तैयार नहीं होगा.”

दिवालिया होने से क्‍या फर्क पड़ेगा श्रीलंका पर
– किसी देश के अंदर कोई इंडीवीजुअल अगर दिवालिया होता है, तो उस व्‍यक्ति संपत्ति जब्‍त कर ली जाती है।
– लेकिन देश के मामले में ऐसा नहीं कर सकते। कर्ज देने वाला कोई देश उस देश जाकर संपत्ति जब्‍त नहीं कर सकता है।
– लेकिन हां, अगर कोई संपत्ति विदेश में है, वो हो सकता है कि देश जब्‍त कर ले।
– 2012 में आर्जेटीना बैंकरप्ट हो गया था, वह कर्ज नहीं चुका पा रहा था। तो उस समय घाना में एक ट्रेनिंग शिप पड़ा था। उस ट्रेनिंग शिप को जब्‍त कर लिया गया था।
– जब भी कोई देश डिफॉल्‍ट करता है, तो इसका सॉल्‍युशन निकलता है कि रीनेगोशिएशन होता है। कुछ तो मिल जाए। यह कोशिश रहती है।

अब लोन कैसे चुकेगा
– अब लोन री स्‍ट्रक्‍चर किया जाएगा। ताकि लोन देने वालों को कुछ थोड़ा वापस मिल सके।
– आर्जेटीना ने 2011 में 81 बिलियन डॉलर का पेमेंट डिफॉल्‍ट किया था, तब उसने तय किया कि एक तिहाई ही पेमेंट करेगा।
– इससे बहुत नेगेटिव इंपैक्‍ट होता है। देश के अंदर इन्‍फ्लेशन बढ़ जाता है। अनइंप्‍लॉयमेंट बढ़ जाता है।
– इंटरनली बैंकों के प्रति लोगों का फेथ कम होने लगता है।
– आईएमएफ से बातचीत चल रही है, अगर बात बन जाए, तो हो सकता है कि श्रीलंका कर्ज को वापस कर दे।

श्रीलंका की हालत
– स्‍टॉक मार्केट नहीं चल रहा है क्‍योंकि बिजली नहीं है।
– लोग सड़क पर आ गए हैं, प्रेसिडेंट गोटाबाया राजपक्षे और पीएम महिंदा राजपक्षे से इस्‍तीफा मांग रहे हैं।
– 14 घंटे बिजली कटौती हो रही है। एग्‍जाम नहीं हो रहे हैं, क्‍योंकि कागज आयात करने को डॉलर नहीं हैं।

क्‍यों ऐसी हालत हुई – कई वजह हैं
– कोविड-19 में पर्यटन ठप होना।
– अचानक पूरे देश में जैविक खेती का तुगलकी आदेश देना और केमिकल फर्टिलाइजर पर प्रतिबंध लगाना। इससे खाद्य उत्‍पादन गिरा। चाय का निर्यात ठप हुआ।
– बेहद ज्‍यादा कर्ज ले लेना।
– श्रीलंका के कर्ज के जाल में फंसना।

—————-
3. झारखंड की किस पहाड़ी पर ‘रोपवे केबल कार’ दुर्घटना हुई, जहां एयरफोर्स ने लोगों को रेस्‍क्‍यू किया?

a. नीलगिरी पर्वत
b. त्रिकूट पर्वत
c. अरावली पर्वत
d. विंध्‍याचल पर्वत

Answer: b. त्रिकूट पर्वत

– यह घटना झारखंड के जिले देवघर में त्रिकुट की पहाड़ियों पर 10 अप्रैल 2022 को हुई।

भारत का सबसे ऊंचा वर्टिकल रोपवे
– त्रिकूट पर्वत की ऊंचाई 392 मीटर है।
– इसपर चढ़ने के लिए रोपवे बना हुआ है।
– यह लगभग 766 मीटर लंबा है और इसमें 25 केबल कारें हैं।
– झारखंड पर्यटन विभाग के अनुसार त्रिकुट रोपवे भारत का सबसे ऊंचा वर्टिकल रोपवे है।
– इसका कुछ हिस्‍सा 80 डिग्री तक वर्टिकल है।

केबल कार कैसे टकराई?
– यहीं पर रोपवे है। इसमें दो केबल कार टकरा गईं।
– यह हादसा रोपवे की पुली (pulley) की टूटने की वजह से हुआ।
– पुली के टूटने के कारण अन्य केबल कार काफी देर तक हवा में रही है।
– ऊंचाई की वजह से हेलीकॉप्टरों को छोड़कर बचाव कार्य मुश्किल हुआ।
– हेलीकॉप्‍टर को भी दिक्‍कत हुई, क्‍योंकि यह 80 डिग्री वर्टिकल था। ऐसे में हेलीकॉप्‍टर को केबल कार से काफी ऊंचा रखना पड़ा।
– रोपवे के केबल कार में कुल 59 लोग सवार थे।
– शुरुआती टक्कर में दो लोगों की मौत हो गई थी। एक व्‍यक्ति की मौत हेलिकॉप्‍टर से रेस्‍क्‍यू के दौरान हो गई।
– लोगाें को निकालने के लिए एयरफोर्स को 48 घंटे से ज्‍यादा समय तक रेस्‍क्‍यू अभियान चलाना पड़ा।

किसने चलाया बचाव अभियान
– इंडियन आर्मी, एयरफोर्स, नेशनल डिजास्टर रिस्पान्स फोर्स, भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) और जिला प्रशासन ने आपस में मिलकर करीब 46 घंटे तक के लंबे ‘रेस्‍क्‍यू ऑपरेशन’ चलाया।

केबल कार दुर्घटना पर जांच के आदेश
– झारखंड उच्च न्यायालय ने देवघर रोपवे घटना का अपने आप संज्ञान लिया है।

—————–
4. 56वें ज्ञानपीठ पुरस्कार से किसे सम्मानित किया गया?

a. दामोदर मौज़ो
b. नीलमणि फूकन
c. प्रतिभा राय
d. सुरंजन दास

Answer: b. नीलमणि फूकन

– ज्ञानपीठ पुरस्‍कार देश का सर्वोच्‍च साहित्‍यक सम्‍मान होता है।
– नीलमणि फूकन असम के कवि हैं।
– असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिसवा ने 11 अप्रैल 2022 को उन्‍हें 56वां ज्ञानपीठ पुरस्‍कार प्रदान किया।
– इस पुरस्कार में एक प्रशस्ति पत्र, एक शॉल और 11 लाख रुपये दिए गए।

नीलमणि फूकन
– उन्हे वर्ष 1990 में पद्म श्री मिला।
– वर्ष 2002 में साहित्य अकादमी फेलोशिप मिली।
– उन्होंने सूर्य हेनु नामी आहे ए नोडियेदी, गुलापी जमुर लग्न और कोबिता जैसी रचानाएं लिखी है।

ज्ञानपीठ पुरस्कार
– ज्ञानपीठ पुरस्कार भारतीय साहित्य के लिए दिया जाने वाला सर्वोच्च भारतीय साहित्यिक पुरस्कार है।
– भारत का कोई भी नागरिक, जो आठवीं अनुसूची में मौजूद 22 भाषाओं में से किसी में भी लिखता है, वह इस पुरस्कार के लिए पात्र है।

——————
5. सरस्वती सम्मान 2021 के लिए किसे चुना गया है?

a. राजेंद्र जोशी
b. रामदरश मिश्र
c. वासदेव मोही
d. वजुवेंद्र तिवाड़ी

Answer: b. रामदरश मिश्र

– वह वरिष्ठ कवि और लेखक हैं।
– यह सम्मान उनके काव्य संग्रह ‘मै तो यहां हूं’ के लिए चुना गया है।
– इसकी घोषणा केके बिरला फाउंडेशन ने 04 अप्रैल 2022 को की।

रामदरश मिश्र
– रामदरश मिश्र का जन्म डुमरी गांव, गोरखपुर, उत्तर प्रदेश में 14 अगस्त 1924 को हुआ था।
– उनकी कविताएं मुख्यतः ग्रामीण परिवेश पर आधारित है।
– उनका पहला कविता संग्रह “पथ के गीत” था।

—————-
6. भारत और अमेरिका के बीच चौथी 2+2 मीटिंग किस शहर में हुई?

a. नई दिल्ली
b. वाशिंगटन डीसी
c. मुंबई
d. शिकागो

Answer: b. वाशिंगटन डीसी (USA)

– भारत और अमेरिका के बीच 11 अप्रैल 2022 को यह मीटिंग हुई।
– टू प्‍लस टू वार्ता का आयोजन अमेरिका के स्‍टेट डिपार्टमेंट (विदेश मंत्रालय) के ऑफिस में हुआ।
– इसमें भारत के डिफेंस मिनिस्‍टर राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री एस जयशंकर और अमेरिका के डिफेंस सेक्रेटरी लॉयड ऑस्टिन, सेक्रेटरी ऑफ स्टेट एंटनी ब्लिंकेन ने हिस्सा लिया।
– दोनो देश के प्रतिनिधियों के बीच कई मुद्दो पर बातचीत हुई।

रूस-यूक्रेन विवाद पर क्या बात हुई?
– एंटनी ब्लिंकेन ने सशक्त देशों से युद्ध समाप्त करने के लिए रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पर दबाव डालने के लिए कहा।
– एस जयशंकर ने कहा कि अमेरिका और भारत ने फूड और एनर्जी सप्लाई पर यूक्रेन की स्थिति की वजह से हुई दिक्‍कतों को कम करने के तरीकों पर चर्चा की।
– मीटिंग में जयशंकर इस मामले पर कहा कि भारत ने दुनिया को पहले ही गेहूं और चीनी की सप्लाई के साथ-साथ बाकी कमी को पूरा करने में मदद करना शुरू कर दिया है।
– यूक्रेन की स्थिति पर, ब्लिंकेन ने कहा कि भारत ने यूक्रेन में नागरिकों की हत्या की निंदा करते हुए “बहुत कड़े बयान” दिए है।

रूस से तेल खरीद वाले सवाल पर भारत का करारा जवाब
– मीडिया के सवाल पर रूस से तेल खरीद वाले सवाल पर जवाब देते हुए जयशंकर ने कहा कि हम कुछ ऊर्जा खरीदते हैं जो हमारी ऊर्जा सुरक्षा के लिए आवश्यक है।
– लेकिन यूरोप के आंकड़ों को देखे, तो संभवत: महीने के लिए हमारी कुल खरीदारी यूरोप की एक दोपहर में की गई खरीद की तुलना में कम होगी।
– तो आप इसके बारे में विचार कर सकते है।

नोट – इस बयान पर जर्मनी में तीखी प्रतिक्रिया देखी गई। जर्मनी में जी7 समिट होना है। मीडिया में खबर आई कि जर्मनी इसमें भारत को गेस्‍ट के रूप में इन्‍वाइट न करने का मन बना रहा है। हालांकि कुछ घंटे बाद ही जर्मनी की सरकार ने इस खबर का खंडन कर दिया। कहा कि मीडिया में आई खबर गलत है।

इंडिया यूएस एग्रीमेंट
– आउटर स्पेस में सहयोग को आगे बढ़ाने के लिए भारत और अमेरिका ने 11 अप्रैल 2022 को स्पेस सिचुएशनल अवेयरनेस समझौते ज्ञापन पर भी हस्ताक्षर किए।
– इसी पर डिफेंस सेक्रेटरी लॉयड ऑस्टिन ने कहा कि दोनों देशों ने “युद्ध लड़ने वाले क्षेत्रों” में क्षमताओं को विकसित करने के लिए न केवल आउटर स्पेस में बल्कि साइबर स्पेस में भी सहयोग को बेहतर करने पर बात की है।

अफ़ग़ानिस्तान, पकिस्तान और श्रीलंका पर हुई बातचीत
– दोनों देशों ने अफगानिस्तान में तलिबान, श्रीलंका की कंगाली और पकिस्तान के वर्तमान राजनैतिक मुद्दो पर भी बातचीत हुई।
– हांलाकि, ब्लिंकेन ने अफगानिस्तान पर डायरेक्टली कोई बात नहीं की।

चीन के खिलाफ अमेरिका भारत के साथ
– डिफेंस सेक्रेटरी ऑस्टिन ने कहा कि चीन भारत के साथ सीमा पर “ड्यूल-यूज इन्फ्रास्ट्रक्चर ” का निर्माण कर रहा है।
– लेकिन अमेरिका भारत के संप्रभु हितों की रक्षा के लिए हमेशा भारत के साथ खड़ा रहेगा।

2+2 मीटिंग
– 2+2 मीटिंग रणनीतिक और सुरक्षा मुद्दों पर भारत और उसके सहयोगियों के विदेश और रक्षा मंत्रियों की मीटिंग का एक फॉर्मेट है।
– एक 2+2 मीटिंग में देश के नेता विश्व और अपने-अपने देशों के लेकर सही ढंग से विचार रख पाते है।
– भारत के चार प्रमुख रणनीतिक साझेदारों के साथ 2+2 मीटिंग हुई हैं: अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, जापान और रूस।

मोदी-बाइडन वार्ता
– टू प्‍लस टू मीटिंग से पहले भारत के पीएम नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्‍ट्रपति जो बाइडन के बीच वर्चुअल बातचीत हुई।
– दोनों देशों ने एक-दूसरे को सहयोग की बात कही।

किन देशों के साथ भारत की 2+2 मीटिंग
– वर्ष 2018: अमेरिका के साथ पहली मीटिंग
– वर्ष 2019: जापान के साथ पहली मीटिंग
– वर्ष 2021: ऑस्ट्रेलिया के साथ पहली मीटिंग (सितंबर)
– वर्ष 2021: रूस के साथ पहली मीटिंग (दिसंबर)

————–
7. आंबेडकर जयंती कब मनाई जाती है?

a. 14 अप्रैल
b. 15 अप्रैल
c. 16 अप्रैल
d. 17 अप्रैल

Answer: a. 14 अप्रैल

– इसी दिन 14 अप्रैल 1891 को बाबासाहेब डॉ भीम राव आम्बेडकर का जन्‍म हुआ था।
– इस दिन को भीम जयंती भी कहते हैं।
– आंबडेकर, भारत संविधान ड्राफ्टिंग कमेटी के चेयरमैन थे। बाद में देश के पहले कानून मंत्री बने।
– बचपन से उन्‍होंने दलितों से होने वाले छूआ-छूत और भेदभाव को झेला और इसके विरोध में मुखर रहे।
– उन्‍हें 1990 में मरणोपरांत देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया था।

—————-
8. विश्व चगास रोग दिवस कब मनाया जाता है?

a. 14 अप्रैल
b. 15 अप्रैल
c. 16 अप्रैल
d. 17 अप्रैल

Answer: a. 14 अप्रैल

– वर्ल्‍ड हेल्‍थ एसेंबली ने इस दिवस को वर्ष 2019 में घोषित किया था।
– इस बीमारी को अमेरिकन ट्रिपैनोसोमियासिस भी कहते हैं।
– यह बीमारी ट्रायटोमाइन नामक परजीवी के शरीर में प्रवेश से होती है।
– कीट के काटने से यह परजीवी मनुष्‍य के शरीर में प्रवेश कर सकता है।
– इससे बुखार होता है और लोगों की हमौत भी हो सकती है।

डब्ल्यूएचओ
मुख्यालय: जिनेवा, स्विट्जरलैंड।
महानिदेशक: टेड्रोस एडनॉम।

—————-
9. FIH जूनियर महिला हॉकी विश्व कप 2021 किस देश की टीम ने जीता?

a. भारत
b. नीदरलैंड
c. फ्रांस
d. जर्मनी

Answer: b. नीदरलैंड

– नीदरलैंड की टीम चौथी बार जूनियर महिला हॉकी विश्‍व कप की विजेता बनी।
– दूसरे स्‍थान पर जर्मनी और तीसरे पर इंग्‍लैंड की टीम रही।
– भारतीय टीम चौथे स्‍थान पर रही।
– मैच का आयोजन साउथ अफ्रीका में एक से 12 अप्रैल को हुआ।

नीदरलैंड
राजधानी: एम्स्टर्डम
मुद्रा: यूरो
प्रधानमंत्री: मार्क रूटे

—————-
10. जलियावाला बाग हत्‍याकांड की 103वीं बरसी कब मनाई गई?

a. 12 अप्रैल
b. 13 अप्रैल
c. 14 अप्रैल
d. 15 अप्रैल

Answer: b. 13 अप्रैल

– इस साल हम उस आतंक की 103वीं बरसी मना रहे हैं।
– इस नरसंहार ने पूरे देश को हिला कर रख दिया था।
– 13 अप्रैल 1919 को पंजाब के अमृतसर के जलियांवाला बाग में हजारों की संख्या में लोग जमा हुए थे।
– जनरल डायर ने इस दिन कर्फ्यू लगाया हुआ था।
– उसने सैनिकों के साथ पहुंचकर गोली चलवा दी। फायरिंग के वक्त वहां करीब 25 हजार लोग मौजूद थे। यहां से निकलने को एक ही रास्‍ता था, जहां से गोलियों की बौछार हो रही थी।