14 September 2022 Current Affairs

Spread the love

यह 14 September 2022 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा।

PDF Download : Click here

1. भारत, G-20 शिखर सम्मेलन की मेजबानी अगले वर्ष 2023 में नई दिल्ली में कब करेगा?

a. 09 और 10 सितंबर 2023
b. 09 और 10 अगस्त 2023
c. 09 और 10 जुलाई 2023
d. 09 और 10 जून 2023

Answer: a. 09 और 10 सितंबर 2023

– इस बात की जानकारी विदेश मंत्रालय ने 13 सितंबर 2022 को एक बयान जारी करके दी।
– भारत G-20 समिट का आयोजन प्रगति मैदान (दिल्ली) में करेगा।
– विदेश मंत्रालय के अनुसार उम्मीद है कि शिखर सम्‍मेलन से पहले और बाद में देशभर में 200 से अधिक G-20 बैठकों की भी मेजबानी करेगा।
– G20 की बैठकें दिसंबर 2022 में शुरु हो जाएंगी।
– एक बैठक जम्‍मू-कश्‍मीर में भी होने की उम्‍मीद है।
– भारत पहली बार 01 दिसंबर 2022 से लेकर 30 नवंबर 2023 तक G20 की अध्यक्षता करने वाला है।

नोट : जम्मू-कश्मीर समेत देश के अन्य राज्यों में सिर्फ G-20 की बैठकों की मेजबानी की जाएगी और नई दिल्ली में G-20 शिखर सम्मेलन की मेजबानी की जायेगी।

—————
2. भारत ने G-20 शिखर सम्‍मेलन 2023 में आमंत्रित करने के लिए कितने देशों को गेस्‍ट कंट्री (अतिथि देश) का दर्जा दिया?

a. पांच
b. सात
c. नौ
d. दस

Answer: c. नौ

2023 के समिट में नौ गेस्‍ट कंट्री भी शमिल होंगे
– बांग्लादेश, मिस्र, मॉरीशस, नीदरलैंड, नाइजीरिया, ओमान, सिंगापुर, स्पेन और यूएई इस कार्यक्रम में “अतिथि देश” होंगे।
– जी-20 के सदस्‍यों के अलावा इन देशों के राष्‍ट्रध्‍यक्ष भी समिट में अतिथि के तौर पर हिस्‍सा लेंगे।
– G20 शिखर सम्मेलन के लिए “अतिथि देशों” की सूची में बांग्लादेश एकमात्र दक्षिण एशियाई पड़ोसी देश होगा।

G-20 के सदस्य
– भारत, अर्जेंटीना, जर्मनी, इंडोनेशिया, इटली, जापान, कोरिया गणराज्य, मैक्सिको, रूस, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, तुर्की, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, यूनाइटेड किंगडम, संयुक्त राज्य अमेरिका और यूरोपीय संघ।

G-20 के बारे में
– G-2O, 19 देशों और यूरोपीय संघ (ईयू) का एक समूह है।
– अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (International Monetary Fund) और वर्ल्ड बैंक इसके रिप्रेजेंटेटिव (representatives) है।
– इसका कोई स्थायी सचिवालय या मुख्यालय नहीं है। जिस देश को अध्‍यक्ष मिलती है, वहीं पर इसका दफ्तर हो जाता है।
– G2O की सदस्यता में दुनिया की सबसे बड़ी उन्नत और उभरती अर्थव्यवस्थाएं शामिल है।
– जोकि दुनिया की आबादी का लगभग दो-तिहाई, वैश्विक सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का 85%, वैश्विक निवेश का 80% और वैश्विक व्यापार का 75% से अधिक का प्रतिनिधित्व करती है।

G-20 का उद्देश्य
– वैश्विक आर्थिक हासिल करने के लिए अपने सदस्यों के बीच नीति समन्वय स्थिरता, सतत विकास को बढ़ावा देना।
– भविष्य के वित्तीय संकटों को रोकने और जोखिमों को कम करने के लिए वित्तीय नियमों को बढ़ावा देना।
– एक नया अंतरराष्ट्रीय वित्तीय ढांचा तैयार करना।

जी20 शेरपा – अमिताभ कांत, नीति आयोग के पूर्व सीईओ
– शेरपा खास पद है, जिसका काम जी20 के अध्‍यक्ष देश की ओर से कार्यक्रम के व्‍यवस्‍था प्रबंधन को लीड करना है।

—————-
3. देश का पहला सेमीकंडक्‍टर प्‍लांट स्‍थापित के लिए वेदांता ग्रुप और ताइवानी कंपनी फॉक्‍सकॉन ने किस राज्‍य सरकार के साथ MoU साइन किया?

a. गुजरात
b. पंजाब
c. महाराष्‍ट्र
d. मध्‍य प्रदेश

Answer: a. गुजरात

– गुजरात के अहमदाबाद में भारत का पहला सेमीकंडक्टर प्लांट स्‍थापित होगा।
– वेदांता ग्रुप और ताइवान की कंपनी फॉक्सकॉन साथ मिलकर सेमीकंडक्टर प्रोडक्शन के लिए गुजरात में प्लांट लगाएंगे।
– इसके लिए ग्रुप ने गुजरात सरकार के साथ दो मेमोरेंडम ऑफ अंडरस्टैंडिंग (MoUs) साइन किए हैं।

प्रोजेक्‍ट के बारे में
– अहमदाबाद में 1000 एकड़ जमीन पर ये प्लांट लगाए जाएंगे।
– इस प्‍लांट में सेमीकंडक्टर फेब्रिकेशन यूनिट, डिसप्ले फेब्रिकेशन यूनिट और सेमीकंडक्टर असेम्बलिंग एंड टेस्टिंग यूनिट होंगे।
– इस प्रोजेक्ट के लिए दोनों कंपनी 1.54 लाख करोड़ रुपए का निवेश करेंगी।
– बताया जा रहा है कि इस प्रोजेक्ट से लगभग 1 लाख लोगों को रोजगार भी मिलेगा।

पीएम का ट्वीट
– इस प्रोजेक्ट को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया।
– उन्‍होंने कहा – ‘यह MoU भारत की सेमी-कंडक्टर मैन्युफैक्चरिंग महत्वाकांक्षाओं को गति देने वाला एक महत्वपूर्ण कदम है।
– यह सहायक इंडस्ट्रीज के लिए एक बड़ा इकोसिस्टम भी बनाएगा और हमारे MSMEs की मदद करेगा।

ज्वाइंट वेंचर में वेदांता की 60% की हिस्सेदारी
– इस ज्वाइंट वेंचर में वेदांता की 60% और फॉक्सकॉन की 40% हिस्सेदारी है।
– दोनों कंपनियां मिलकर अगले दो सालों में सेमीकंडक्टर मैन्युफैक्चरिंग प्लांट का सेटअप करना चाहती हैं।

सेमीकंडक्टर पॉलिसी
– सरकार ने जुलाई 2022 में गुजरात सरकार ने सेमीकंडक्टर पॉलिसी 2022-27 की अनाउंसमेंट की थी
– इसमें सेमीकंडक्टर प्‍लांट में इन्वेस्ट करने के इच्छुक लोगों के लिए बिजली, पानी और भूमि शुल्क पर भारी सब्सिडी देने का प्रस्ताव रखा था।

केंद्र सरकार का इंडिया सेमीकंडक्टर मिशन
– केंद्रीय कैबिनेट ने दिसंबर 2021 में ‘इंडिया सेमीकंडक्टर मिशन’ को मंजूरी दी थी।
– इसके तहत सरकार ने 76 हजार करोड़ रुपए की प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव (PLI Scheme) को मंजूरी दी है।
– मकसद है, भारत को सेमीकंडक्‍टर निर्माण में ग्लोबल हब बनाना।
– इस मिशन के तहत देश में सेमीकंडक्टर और डिस्प्ले मैन्युफैक्चरर्स के पूरे इकोसिस्टम को स्थापित करने का प्‍लान है।

गुजरात
सीएम – भूपेंद्र पटेल
गवर्नर – आचार्य देवव्रत
Ministry of Electronics and Information Technology मंत्री – अश्‍वनि वैष्‍णव.

—————–
4. मशहूर फिल्‍म निर्देशक जीन-ल्‍यूक गोडार्ड का निधन 13 सितंबर 2022 को हो गया, उन्‍होंने अपनी मौत के लिए क्‍या तरीका चुना?

a. इच्‍छामृत्‍यु
b. असिस्टेड सुसाइड
c. प्राकृतिक
d. इनमें से कोई नहीं

Answer: b. असिस्टेड सुसाइड

– उन्‍हें महान (Legendary) फिल्‍म डायरेक्‍टर के रूप में जाना जाता था।
– खासकर फ्रांसीसी फिल्‍म में क्रांतिकारी बदलाव का गॉडफादर माना जाता है। इस बदलाव (1950 के दशक में) को फ्रेंच न्‍यू वेव (French New Wave) के नाम से जाना जाता है।

– उनका निधन स्विट्जरलैंड में हुआ। वह 91 वर्ष के थे।
– उनके लीगल एडवाइजर ने कहा है कि जीन-ल्‍यूक गोडार्ड कई बीमारियों से जूझ रहे थे। अपनी मौत के लिए गोडार्ड ने असिस्‍टेड सुसाइड (सहायता प्राप्‍त आत्‍महत्‍या) का तरीका चुना।
– कुछ परिस्थितियों में स्विटजरलैंड में असिस्‍टेड सुसाइड कानूनी है।

जीन-ल्यूक गोडार्ड
– जन्म 03 दिसंबर 1930 को पेरिस में हुआ था।
– जीन-ल्यूक गोडार्ड ने साल 1950 के दशक में एक फिल्म समीक्षक के रूप में अपने करियर की शुरुआत की थी।
– वर्ष 1954 में उन्होंने ने फिल्म निर्देशन शुरू किया। कुछ शॉर्ट-फिल्‍म बताए।
– वर्ष 1960 में अपनी पहली ही फिल्म फीचर ‘ब्रीदलेस’ से सिनेमा में क्रांति ला दी थी।
– लीक से हटकर सिनेमा जगत में एक युग की शुरूआत की । उन्होंने कैमरा, साउंड और कथात्मकता (स्‍टोरी-टेलिंग) के नए नियम गढ़े।
– उनकी विवादास्पद फिल्म ‘हेली मैरी’ तब सुर्खियों में आ गयी जब पोप जॉन पॉल द्वितीय ने 1985 में उसकी निंदा की।
– उन्होंने ने अपनी आखिरी फिल्म ‘द इमेज बुक’ वर्ष 2018 में निर्देशित की थी।

असिस्‍टेड सुसाइड (सहायता प्राप्‍त आत्‍महत्‍या)
– गंभीर बीमारी का सामना करने वाले मरीज अपनी आत्‍महत्‍या के लिए मेडिकल स्‍टाफ (फिजिशियन) की मदद लेते हैं, तो इसे असिस्‍टेड सुसाइड कहा जाता है।
– दुनिया के कई देशों में यह लीगल है। लेकिन ऐसा करने के लिए लंबी कानूनी प्रक्रिया का पालन करना होता है।
– हालांकि दुनियाभर में इस बात को लेकर डिबेट है कि क्‍या ऐसा करना सही है?
– असिस्‍टेड सुसाइड के समर्थक इसे ‘राइट टू डाई’ से जोड़कर देखते हैं।
– भारत में असिस्‍टेड सुसाइड लीगल नहीं है।
– स्विटजरलैंड जैसे कुछ देशों में असिस्‍टेड सुसाइड की अनुमति ऐसे मरीज के लिए है, जिनकी जिंदगी छह महीने या इससे कम रहने की आशंका हो।

इच्‍छामृत्‍यु (euthanasia) और सहायता प्राप्‍त आत्‍महत्‍या (assisted suicide) में अंतर
– दोनों में अंतर “मूल रूप से दवा कौन देता है इससे जुड़ा है”।
– इच्छामृत्यु के मामले में स्वास्थ्य कर्मी (डॉक्टर) की ओर से दवा दी जाती है, जो मृत्यु का कारण बनती है।
– वहीं सहायता प्राप्त आत्महत्या के मामले में रोगी खुद से दवाई लेता है, जो कि अन्य व्यक्ति द्वारा प्रदान की जाती है।

किन देशों में असिस्‍टेड सुसाइड की अनुमति
– ऑस्ट्रिया, बेल्जियम, कनाडा, जर्मनी, लक्ज़मबर्ग, नीदरलैंड, न्यूजीलैंड, स्पेन, स्विटजरलैंड, यूएसए के कुछ राज्‍य, और ऑस्ट्रेलिया के कुछ हिस्सों में मेडिकल असिस्‍टेड सुसाइड कानूनी है।
– कोलंबिया, जर्मनी और इटली की संवैधानिक अदालतों ने सहायता प्राप्त आत्महत्या को वैध कर दिया है, लेकिन उनकी सरकारों ने अभी तक इस प्रथा को लीगलाइज नहीं किया गया है।
– फ्रांस में भी इसे लीगल बनाने के लिए डिबेट शुरू हुई है। वहां की प्रेसिडेंट इमैनुएल मैक्रों ने इस डिबेट को शुरू करने का ऐलान किया।

इन देशों में क्‍या है कानून प्रक्रिया
– असिस्‍टेड सुसाइड चाहने वाला मरीज एक लाइलाज बीमारी से पीडि़त होना चाहिए।
– उसे यह साबित करना होगा कि वे स्वस्थ दिमाग के हैं, स्वेच्छा से और बार-बार मरने की इच्छा व्यक्त करते हैं।
– संयुक्त राज्य अमेरिका के कुछ हिस्‍सों में, फिजिशियन असिस्‍टेड सुसाइड उन लोगों तक सीमित है जिनके पास जीने के लिए छह महीने या उससे कम का पूर्वानुमान है।
– कनाडा में, कोई भी विकलांग व्यक्ति चिकित्सक द्वारा सहायता प्राप्त आत्महत्या द्वारा मरने के योग्य है।

——————
5. AEBC (अमेरिकन एक्सप्रेस बैंकिंग कॉर्पोरेशन) इंडिया का नया सीईओ किसे नियुक्त किया गया?

a. ध्रुव सिंह
b. विजय राठौर
c. संजय खन्ना
d. देव वर्मा

Answer: c. संजय खन्ना

– अमेरिकन एक्‍सप्रेस बैंकिंग कॉर्पोरेशन (AEBC) ने 12 सितंबर 2022 को संजय खन्‍ना को इंडिया के लिए नया सीईओ और कंट्री मैनेजर एप्‍वाइंट किया है।

संजय खन्ना
– खन्ना ने वर्ष 1996 में फाइनेंस मैनेजर के रूप में अमेरिकन एक्सप्रेस को जॉइन किया था। उन्हें इस कंपनी में 27 वर्ष पूरे हो चुके है।

सितंबर में RBI ने पाबंदी हटाई थी
– सितंबर 2022 में RBI ने अमेरिकन एक्‍सप्रेस कार्ड से प्रतिबंध हटाया है।
– दरअसल, भारत के ग्राहकों का डेटा भारतीय सर्वर में न रखने की वजह से RBI ने एक मई 2021 को प्रतिबंध लगाया था।
– अब यह कंपनी भारत में नए ग्राहकों के लिए कार्ड बना सकेगा।

AEBC (अमेरिकन एक्सप्रेस बैंकिंग कॉर्पोरेशन)
– यह अमेरिकी मल्‍टीनेशनल कार्पोरेशन है।
– यह पेमेंट कार्ड सर्विस में स्‍पेशिलाइज्‍ड है।
– इसका क्रेडिट कार्ड सबसे अधिक मशहूर है क्योंकि यह सबसे अधिक ट्रांजैक्शन करने की अनुमति देता है
– मुख्‍यालय न्‍यूयार्क, यूएसए
– कंपनी की स्‍थापना 1850 में हुई थी।
– इसका मालिकाना हक बर्कशायर हैथवे के पास है।

—————-
6. इंडियन आर्मी और एयरफोर्स ने संयुक्‍त अभ्‍यास ‘गगन स्‍ट्राइक’ सितंबर 2022 में किस राज्‍य में आयोजित किया?

a. बिहार
b. उत्‍तर प्रदेश
c. हरियाणा
d. पंजाब

Answer: d. पंजाब

– इंडियन आर्मी की खड़गा कोर और वायु सेना ने पंजाब में संयुक्त अभ्यास ‘गगन स्ट्राइक’ किया।
– यह मिलिटरी एक्‍सरसाइज चार दिनों तक चला।
– अभ्यास में शामिल थल सैनिकों के समर्थन के लिए अटैक हेलीकॉप्टर को तैनात किया गया था।
– इस मिलिटरी एक्‍सरसाइज का मकसद जरूरत पड़ने पर आर्मी और एयरफोर्स के बीच तालमेल हासिल करना है।
– इससे भारतीय सेना की बेहतर आक्रामक क्षमता बढ़ती है।

इंडियन आर्मी चीफ : जनरल मनोज पांडे
इंडियन एयरफोर्स चीफ : एयरचीफ मार्शल विवेक राम चौधरी

पंजाब
चीफ मिनिस्‍टर – भगवंत मान
गवर्नर – बनवारी लाल पुरोहित

—————-
7. सैन्‍य अभ्‍यास ‘पर्वत प्रहार’ किस केंद्र शासित प्रदेश में हुआ, जिसकी समीक्षा सेनाध्‍यक्ष जनरल मनोज पांडे ने की?

a. चंडीगढ़
b. लद्दाख
c. जम्‍मू – कश्‍मीर
d. अंडमान – निकोबार

Answer: b. लद्दाख

– इस अभ्यास में चिनूक हेवी लिफ्ट हेलीकॉप्टर और K9-वज्र हॉवित्जर तोप का इस्‍तेमाल हुआ।
– सेनाध्‍यक्ष जनरल मनोज पांडे ने इस युद्धाभ्‍यास की समीक्षा की।
– युद्धाभ्‍यास ‘पर्वत प्रहार’ ऐसे समय में हुआ, जब भारत और चीन की सेना पूर्वी लद्दाख के ‘गोगरा – हॉट स्प्रिंग्‍स’ में मौजूद पेट्रोल प्‍वाइंट 15 से पीछे हटी है।

—————–
8. 74वें प्राइमटाइम एमी अवॉर्ड्स 2022 में ड्रामा सीरीज में बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड किसने जीता?

a. टॉम क्रूज
b. ली जंग जे
c. जॉनी डेप
d. टॉम हॉलैंड

Answer: b. ली जंग जे

– कोरियन सीरीज ‘स्क्विड गेम’ के एक्टर ‘ली जंग जे’ को इस ड्रामा सीरीज के लिए बेस्ट एक्टर के अवॉर्ड से सम्मानित किया गया।
– ली जंग जे एक साउथ कोरियन अभिनेता है।
– टीवी सिरीज ‘स्क्विड गेम’ नेटफ्ल‍िक्‍स पर उपलबध है।

एमी पुरस्कार के बारे में:
– एमी पुरस्कार, या एमी, एक अमेरिकी पुरस्कार है।
– यह अवॉर्ड दुनियाभर के टेलीविजन इंडस्‍ट्री के कलाकारों के लिए है।

——————
9. प्राइमटाइम एमी अवॉर्ड्स 2022 में ड्रामा सीरीज में बेस्ट एक्ट्रेस का अवॉर्ड किसने जीता?

a. जैसिका चैस्टेन
b. डुआ लिपा
c. रेनी ज़ेल्वेगर
d. जेंडया

Answer: d. जेंडया

– अमेरिकन सीरीज ‘यूफोरिया’ के लिए जेंडया ने ड्रामा सीरीज में बेस्ट एक्ट्रेस एमी अवॉर्ड जीता।
– जेंडया एक अमेरिकन एक्ट्रेस हैं।

—————–
10. प्राइमटाइम एमी अवॉर्ड्स 2022 विनर्स की लिस्ट

– बेस्ट ड्रामा सीरीज: सक्सेशन
– बेस्ट कॉमेडी सीरीज: टेड लासो
– बेस्ट लीड एक्टर इन कॉमेडी सीरीज: जेसन सुदेकिस (सीरीज ‘टेड लासो’)
– बेस्ट लीड एक्ट्रेस इन कॉमेडी सीरीज: जीन स्मार्ट (सीरीज ‘हैक्स’)
– बेस्ट लीड एक्ट्रेस इन ड्रामा सीरीज: जेंडया (यूफोरिया)
– बेस्ट लीड एक्टर इन ड्रामा सीरीज: ली जंग जे (स्क्विड गेम)
– बेस्ट लिमिटेड ऑर एंथोलॉजी सीरीज: द व्हाइट लॉटस
– बेस्ट लीड एक्टर इन लिमिटेड ऑर एंथोलॉजी सीरीज ऑर मूवी: माइकल कीटन (डॉपसिक)
– बेस्ट लीड एक्ट्रेस इन लिमिटेड ऑर एंथोलॉजी सीरीज ऑर मूवी: अमांडा सेफ्राइड (द ड्रॉपआउट)
– बेस्ट लीड एक्टर इन लिमिटेड ऑर एंथोलॉजी सीरीज ऑर मूवी: मरे बार्टलेट (द व्हाइट लोटस)
– बेस्ट लीड एक्ट्रेस इन लिमिटेड ऑर एंथोलॉजी सीरीज ऑर मूवी: जेनिफर कूलिज (द व्हाइट लोटस)
– बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर इन कॉमेडी सीरीज: ब्रेट गोल्डस्टीन (टेड लासो)
– बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर इन ड्रामा सीरीज: मैथ्यू मैकफैडेन (सक्शेसन)
– बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस इन ड्रामा सीरीज: जूलिया गार्नर (ओजार्क)
– बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस इन कॉमेडी सीरीज: शेरिल ली राल्फ (एबट एलेमेंट्री)
– बेस्ट वैरायटी स्केच सीरीज: सेटरडे नाइट लाइव
– बेस्ट वैरायटी टॉक सीरीज: लास्ट वीक टूनाइट विद जॉन ऑलिवर
– बेस्ट कॉम्पटीशन प्रोग्राम: लीज्जो वॉच आउट फॉर द बिग गर्ल्स

प्राइम टाइम एमी अवॉर्ड्स 2022
– 74वें प्राइम टाइम एमी अवॉर्ड्स 2022 का आयोजन 12 सितंबर 2022 को अमेरिका में स्थित माइक्रोसॉफ्ट थिएटर में किया गया।