13 September 2022 Current Affairs

Spread the love

यह 13 September 2022 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा।

PDF Download : Click here

1. देश में रिटेल महंगाई दर अगस्‍त 2022 में बढ़कर कितने प्रतिशत तक पहुंच गई?

a. 6.71 प्रतिशत
b. 7.0 प्रतिशत
c. 7.7 प्रतिशत
d. 7.79 प्रतिशत

Answer: b. 7.0 प्रतिशत

खुदरा महंगाई की रिपोर्ट किसने जारी की?
– सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय (MoSPI) के राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (NSO) ने 11 सितंबर 2022 को यह आंकड़ा जारी किया है।
– रिटेल महंगाई दर पिछले तीन महीनों की गिरावट के बाद बढ़कर अगस्त 2022 में 7% हो गई।

पिछले कुछ महीने में रिटेल इन्‍फ्लेशन
– अप्रैल : 7.79%
– मई : 7.04%
– जून : 7.01%
– जुलाई : 6.71%
– अगस्‍त : 7%

क्‍यों बढ़ी महंगाई
– खाने-पीने का सामान खास तौर पर दाल-चावल, गेहूं और सब्जियों की कीमतों के बढ़ने की वजह से महंगाई बढ़ी है।
– अगस्त में फूड इन्फ्लेशन 7.62% हो गई। यह जुलाई में 6.69% थी। जून में 7.75% रही थी। मई में यह 7.97% और अप्रैल में 8.38% थी।

ज्‍यादा महंगाई
– रिटेल महंगाई दर लगातार 8 महीनों से RBI की 6% की ऊपरी लिमिट के पार बनी हुई है।
– नियम के अनुसार महंगाई 4% तक ही रहनी चाहिए।
– हाालंकि दो प्रतिशत ऊपर या नीचे होने की गुंजाइश रखी गई है।
– मतलब कि महंगाई की सहनीय स्थिति न्‍यूनतम 2 प्रतिशत और अधिकतम 6 प्रतिशत है।
– इससे ज्‍यादा महंगाई का मतलब है कि आम लोगों और देश की अर्थव्‍यवस्‍था पर नुकसान।

RBI कैसे कंट्रोल करती है महंगाई?
– महंगाई कम करने के लिए बाजार में पैसों के बहाव (लिक्विडिटी) को कम किया जाता है।
– इसके लिए RBI रेपो रेट बढ़ाता है। बढ़ती महंगाई से चिंतित RBI ने हाल ही में रेपो रेट में 0.50% इजाफा किया है। इससे रेपो रेट 4.90% से बढ़कर 5.40% हो गया है।

– अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍तर पर कच्‍चे तेल में कीमत 15 प्रतिशत तक गिर चुकी है, लेकिन आम लोगों को इसका फायदा नहीं मिल रहा है।

महंगाई कैसे प्रभावित करती है?
– महंगाई का सीधा संबंध पर्चेजिंग पावर से है।
– उदाहरण के लिए, यदि महंगाई दर 7% है, तो अर्जित किए गए 100 रुपए का मूल्य सिर्फ 93 रुपए होगा।

महंगाई की गणना कैसे होती है?
– महंगाई की गणना कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स (CPI) से की जाती है।
– इस इंडेक्स में अलग-अलग कैटेगरी होती है।
– इस इंडेक्स की तीन मुख्य कैटेगरी- खाद्य वस्तुएं (Food Items), ईंधन और प्रकाश (Fuel & Light) और कोर सेक्टर (core) [अन्य मुख्य वस्तुएं]
– इंडेक्स में खाद्य वस्तुएं (46%), ईंधन और प्रकाश (7%) और कोर (47%) होती है।

—————-
2. किस शहर में आयोजित ‘वर्ल्‍ड डेयरी समिट’ का उद्घाटन PM नरेंद्र मोदी ने किया?

a. लखनऊ
b. चेन्‍नई
c. दिल्‍ली
d. ग्रेटर नोएडा

Answer: d. ग्रेटर नोएडा

– आयोजन का पूरा नाम – Dairy Federation World Dairy Summit है।
– समिट का विषय : Dairy for Nutrition & Livelihood (पोषण और आजीविका के लिए डेयरी)
– कब से कब तक चलेगा : 12 से 15 सितंबर 2022
– इस समिट में भारत और दुनियाभर भर से डेयरी से जुड़े लोग हिस्सा ले रहे हैं।
– सम्‍मेलन में 50 देशों के करीब 1500 प्रतिभागियों के हिस्‍सा लिया।
– भारत में 48 साल बाद वर्ल्‍ड डेयरी समिट का आयोजन हुआ है।
– इससे पहले भारत में 1974 में वर्ल्‍ड डेयरी समिट आयोजित हुआ था।

भारत दूध का बड़ा उत्‍पादक देश
– भारत के दूध उत्पादन की वैश्विक दूध में 23 प्रतिशत हिस्सेदारी है।
– देश में हर साल करीब 210 मिलियन टन दूध का उत्पादन होता है।
– इससे 8 करोड़ डेयरी किसान सशक्त हो रहे हैं।

—————–
3. किस वायरस के संक्रमण की वजह से देश के कई राज्‍यों के 57 हजार से ज्‍यादा मवेशियों की मौत हो गई?

a. हंटा वायरस
b. कोरोना वायरस
c. पुमाला वायरस
d. कैपरी पॉक्स वायरस

Answer: d. कैपरी पॉक्स वायरस

बीमारी का नाम – लंपी स्किन डिजीज

– देश के 12 राज्यों में लंपी स्किन डिजीज (LSD) नामक बीमारी पशुओं को निगल रही है।
– खासकर, राजस्थान में इसका कहर टूट रहा है।
– केंद्र सरकार ने 8 सितंबर को कहा – देश के कई राज्‍यों में इस वायरस से 57 हजार मवेशी की मौत हो चुकी है।
– इसके अलावा, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश, हरियाणा और पंजाब समेत देश के अन्य राज्यों में वायरस के संक्रमण के मामले हैं।
– केंद्र सरकार ने कहा है कि लंपी वायरस से निपटने के लिए सभी 12 राज्यों से कोऑर्डिनेशन स्थापित किया जा रहा है।

क्या है लंपी स्‍किन डिजीज?
– कैपरी पॉक्स वायरस को लंपी वायरस के तौर पर जाना जाता है।
– बीमारी को Lumpy skin disease (LSD) कहते हैं।
– इसे ढेलेदार त्वचा रोग वायरस भी कहते हैं।
– इस वायरस की शुरुआत पॉक्सविरिडाए डबल स्ट्रैंडेड डीएनए वायरस परिवार से होती है।
– पॉक्सविरिडाए को पॉक्स वायरस भी कहते हैं।
– हालांकि लंपी वायरस केवल मवेशियों में असर दिखाता है।

कहां से आया वायरस
– लंपी का ओरिजन अफ्रीका बताया जाता है।
– करीब 94 वर्ष पहले 1929 में इसका पहला मामला सामने आया था।
– अप्रैल 2022 में इस बीमारी का वायरस पाकिस्‍तान के रास्‍ते राजस्‍थान और गुजरात में पहुंचा।
– इसके बाद अब तक 12 राज्‍यों में फैल चुका है।

लंपी वायरस के लक्षण
– पशुओं की खाल पर गांठें पढ़ जाती है फिर उनमें पस पड़ जाता है।
– घाव आखिर में खुजली वाली पपड़ी बन जाते हैं, जिस पर वायरस महीनों तक बना रहता है।
– वायरस फैलने का बड़ा कारण मक्खियां व मच्छर हैं। इन्हीं के कारण लंपी बीमारी एक से दूसरे पशु में फैल रही है।

केंद्र सरकार के उपाय
– केंद्र सरकार का कहना है कि लंपी स्किन डिजीज को लेकर सभी 12 राज्यों की मांग के अनुसार गोट पॉक्स वैक्सीन उपलब्ध करा दी गई है।

घट गया दूध उत्पादन
– पंजाब में प्रगतिशील डेयरी किसान संघ (पीडीएफए) ने कहा है कि इस बीमारी की वजह से राज्य में दूध उत्पादन 15 से 20 प्रतिशत तक घट गया है।
– इससे वे किसान बुरी तरह प्रभावित हुए हैं जो अपनी आजीविका के लिए पूरी तरह मवेशियों पर निर्भर हैं।

भारत दूध का बड़ा उत्‍पादक देश
– भारत के दूध उत्पादन की वैश्विक दूध में 23 प्रतिशत हिस्सेदारी है।
– देश में हर साल करीब 210 मिलियन टन दूध का उत्पादन होता है।
– इससे 8 करोड़ डेयरी किसान सशक्त हो रहे हैं।

—————
4. किस प्रोजेक्‍ट के तहत बने स्‍वदेशी स्‍टेल्‍थ फ्रिगेट ‘तारागिरी’ को समुद्र में लॉन्‍च किया गया?

a. प्रोजेक्‍ट 75
b. प्रोजेक्‍ट 17A
c. प्रोजेक्‍ट 75 अल्‍फा
d. प्रोजेक्‍ट 21

Answer: b. प्रोजेक्‍ट 17A (Project 17 Alpha)

– इसे युद्धपोत को मुंबई में जलावतरण (पानी में लॉंच) किया गया।
– करीब एक साल तक इसका परीक्षण होगा, इसके बाद इंडियन नेवी को सौंपा जाएगा। इसके बाद तारागिरी के नाम के आगे INS जुड़ जाएगा।

कितने तरह के वॉरशिप
– एयरक्राफ्ट कैरियर (यह चलता फिरता एयर स्ट्रिप है)
– डिस्‍ट्रॉयर (विध्वंसक) – फ्रिगेट के मुकाबले डिस्ट्रॉयर लगभग डेढ़ गुना बड़ा होता है।
– फ्रिगेट (सुपरसोनिक मिसाइल से लैस)
– कॉर्वेट (छोटा युद्धपोत)

स्‍टेल्‍थ फ्रिगेट तारागिरी
– यह शिवालिक क्‍लास फ्रिगेट है।
– लंबाई : 149 मीटर
– चौड़ाई : 17.8 मीटर
– डिजाइन किसने किया : ब्यूरो ऑफ नेवल डिजाइन
– निर्माण किसने किया : मझगांव शिपबिल्‍डर्स लिमिटेड
– यह दो गैस टर्बाइन और दो मुख्य डीजल इंजनों से चलता है।
– इन गैस टर्बाइन और डीजल इंजन 28 नॉट (knot) की स्पीड जनरेट कर सकते है।
– इस युद्धपोत में अत्याधुनिक हथियार, सेंसर, एडवांस एक्शन इंफॉर्मेशन सिस्टम, प्लेटफॉर्म मैनेजमेंट सिस्टम जैसी सुविधाएं होंगी।
– युद्धपोत को सुपरसोनिक मिसाइल सिस्टम (ब्रह्मोस) से लैस किया जायेगा।
– इसके अलावा दो 30mm रेपिड-फायर गन्स, SRGM (सुपर रेपिड गन माउंट) गन और रॉकेट लॉन्चर से भी लैस किया जायेगा।

स्‍टेल्‍थ फिग्रेट
– यह देश के पांचवां स्‍टेल्‍थ फ्रिग्रेट है।
– स्‍टेल्‍थ का मतलब कि रडार को चकमा देने वाला। यह युद्धपोत रडार की पकड़ में आने से बच सकता है।
– फ्रिगेट पर खास तरह की कोटिंग की गई है, जो रडार के रेडियो सिग्‍नल को ऑब्‍जर्व कर लेता है।
– दरअसल, रडार रेडियो फ्रिक्‍वेंसी फैलाता है, अगर कोई वस्‍तु आसमान में या समुद्र में इससे टकराती है, तो फ्रिक्‍वेंसी वापस रडार तक पहुंचती है। ऐसे में रडार से वस्‍तु का पता चल जाता है।

युद्धपोत का नाम कैसे रखा गया?
– ‘तारागिरी’ नाम उत्‍तराखंड के गढ़वाल में मौजूद एक पहाड़ के नाम पर रखा गया है।
– दरअसल, प्रोजेक्‍ट 17 अल्‍फा के जहाजों का नाम पहाड़ों के नाम पर तय किया जाता है।

Project 17A (P17A)
– इस प्रोजेक्‍ट के लिए केंद्र सरकार ने 2015 में मंजूरी दी थी।
– स्‍टेल्‍थ फ्रिगेट के निर्माण के लिए इंडियन नेवी वर्ष 2019 में प्रोजेक्‍ट 75 अल्‍फा को शुरू किया था।
1. नीलगिरी (28 सितंबर, 2019 को लॉन्च)
2. हिमगिरी (14 दिसंबर, 2020 को लॉन्‍च)
3. उदयगिरी (17 मई 2022 को लॉन्च)
4. दूनागिरी (15 जुलाई 2022 को लॉन्‍च)
5. तारागिरी (11 सितंबर 2022 को लॉंन्‍च)

Project 17A के तहत कितने युद्धपोत और बनने हैं?
– इस प्रोजेक्ट के तहत नौसेना के लिए कुल सात नीलगिरी क्लास युद्धपोत बनाए जाने हैं।
– इनमें से चार मुंबई (Mumbai) के मझगांव डॉकयार्ड में तैयार किए जा रहे हैं।
– बाकी तीन कोलकता स्थित गार्डन रिच शिपबिल्डर्स एंड इंजीनियर्स (GRSE) शिपयार्ड में।

इंडियन नेवी चीफ : एडमिरल आर हरि कुमार

—————-
5. एशिया कप 2022 किस देश की टीम ने जीता?

a. भारत
b. श्रीलंका
c. पाकिस्तान
d. बांग्लादेश

Answer: b. श्रीलंका

– श्रीलंका ने 11 सितंबर 2022 को पाकिस्तान को फाइनल में हराकर एशिया कप जीत लिया।
– श्रीलंका ने छठी बार खिताब अपने नाम किया है।
– फाइनल मैच दुबई इंटरनेशनल क्रिकेट स्‍टेडियम, दूबई में आयोजित हुआ।

श्रीलंका टीम के कप्‍तान – दासुन शनाका
पाकिस्‍तान टीम के कप्‍तान – बाबर आजम

एशिया कप 2022 अवॉर्ड
– विजेता टीम श्रीलंका को प्राइज मनी : 1.5 लाख डॉलर (1.20 करोड़ इंडियन रुपी)
– रनर-अप टीम पाकिस्‍तान को प्राइज मनी : 75 हजार डॉलर (60 लाख इंडियन रुपी)
– प्लेयर ऑफ द सीरीज : वानिंदु हसरंगा (श्रीलंका)
– मैन ऑफ द मैच (फाइनल) : भानुका राजपक्षे (श्रीलंका)

भारत का क्या हाल रहा
– टीम इंडिया इस बार अपने पहले दोनों सुपर 4 मुकाबले हारकर फाइनल में जगह बनाने में नाकाम रही।

—————
6. भारत ने किस तरह के चावल के निर्यात पर रोक लगा दी?

a. साबूत चावल
b. टूटे चावल
c. a और b
d. इनमें से कोई नहीं

Answer: b. टूटे चावल

– सितंबर 2022 में भारत ने टूटे हुए चावल के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया।
– इसके साथ-साथ गैर-बासमती चावल के निर्यात पर 20% शुल्क लगाया गया है।
– ऐसा खरीफ मौसम में धान की फसल के क्षेत्र में गिरावट के बीच घरेलू आपूर्ति को बढ़ावा देने और कीमत को स्‍थाई रखने के लिये किया गया है।

चावल निर्यात में भारत का स्‍थान
– भारत दुनिया में चावल का सबसे बड़ा निर्यातक है।
– वैश्विक चावल निर्यात में 40% से अधिक का योगदान है।
– भारत, विश्व बाज़ार में थाईलैंड, वियतनाम, पाकिस्तान तथा म्याँमार के साथ प्रतिस्पर्द्धा करता है।
– चीन वर्ष 2021-22 में भारतीय टूटे चावल का शीर्ष खरीदार (15.85 लाख मैट्रिक टन) था।

टूटे हुए चावल का महत्त्व:
– यह आमतौर पर छोटे जानवरों और पालतू जानवरों के लिये फूड आइटम बनाने उपयोग किया जाता है।
– इसके अलावा इसका उपयोग सभी प्रकार के पशुधन के लिये किया जाता है।
– इसका उपयोग शराब बनाने वाले उद्योग में भी किया जाता है, जहाँ इसे जौ के साथ मिलाया जाता है और अरक (अम्लीय मादक पेय, आसुत, रंगहीन पेय) का उत्पादन होता है।

घरेलू बाज़ार में कमी
– भारत में टूटे चावल पोल्ट्री फीड या इथेनॉल, जिसके लिये टूटे हुए चावल या क्षतिग्रस्त खाद्यान्न का उपयोग किया जा रहा है।
– लेकिन अब इसकी कमी होने लगी है।
– इस बार चावल के उत्पादन में एक करोड़ टन का नुकसान हो सकता है, हालाँकि अगर सबसे खराब स्थिति रहती है तो इस साल 1.2 करोड़ टन कम चावल का उत्पादन हो सकता है।

वैश्विक मांग में वृद्धि – भू-राजनीतिक परिदृश्य के कारण टूटे चावल की वैश्विक मांग में वृद्धि हुई है, जिसने वस्तुओं के मूल्य को प्रभावित किया है।

——————-
7. संयुक्‍त राष्‍ट्र का नया मानवाधिकार प्रमुख (यूएन हाई कमिश्नर फॉर ह्यूमन राइट्स) किसे नियुक्त किया गया?

a. वोल्कर टर्क
b. टॉम कूपर
c. मिशेल बाचेलेट
d. जॉन चार्ल्स

Answer: a. वोल्कर टर्क

– 08 सितंबर 2022 को संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा ने यह नियुक्ति की।
– संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने उनके नाम का प्रस्ताव रखा था।
– टर्क को इस पद पर मिशेल बाचेलेट की जगह नियुक्त किया गया है।

वोल्कर टर्क
– वोल्‍कर टर्क, ऑस्ट्रिया से हैं।
– उन्होंने दुनिया भर में शरणार्थियों के लिए संयुक्त राष्ट्र के उच्चायुक्त पद पर काम किया है।

संयुक्त राष्ट्र (यूएन)
महासचिव- एंटोनियो गुटेरेस
मुख्यालय- न्यूयॉर्क, अमेरिका

————–
8. यूएस ओपन 2022 टेनिस चैंपियनशिप में पुरुष एकल (मेन्स सिंगल) का खिताब किसने जीता?

a. जिमी कोनर्स
b. नोवाक जोकोविच
c. राफेल नडाल
d. कार्लोस अल्कारेज

Answer: d. कार्लोस अल्कारेज

– वह स्‍पेन से हैं, 19 वर्ष के हैं।
– अल्कारेज का यह पहला ग्रैंड स्लैम है।
– उन्‍होंने 11 सितंबर को यह खिताब जीता।
– फाइनल में नॉर्वे के कैस्पर रूड को हराया।
– यूएस ओपन 2022 चैंपियनशिप 23 अगस्त-12 सितंबर 2022 को न्यूयॉर्क, अमेरिका में आयोजित हुई।

नोट
– ग्रैंड स्लैम चार प्रकार के होते है
– ऑस्ट्रेलियन ओपन (मेलबर्न)
– फ्रेंच ओपन (पेरिस)
– विंबलडन (लंदन)
– यूएस ओपन (न्‍यूयार्क)

—————
9. यूएस ओपन 2022 टेनिस चैंपियनशिप में महिला एकल (वुमेन्स सिंगल) का खिताब किसने जीता?

a. एलिस मर्टेंस
b. शुआई झांगो
c. इगा स्वियातेक
d. केटरीना सिनियाकोवा

Answer: c. इगा स्वियातेक

– वह पोलैंड से हैं। उन्‍होंने यह खिताब 10 सितंबर 2022 को जीता।
– उन्होंने ट्यूनीशिया की ओंस जेबुर को हराकर यह खिताब जीता।
– वह पहली बार यूएस ओपन की चैंपियन बनी हैं।
– हालांकि करियर का यह तीसरा ग्रैंड स्लैम है।
– इससे पहले उन्होंने दो बार फ्रेंच ओपन का खिताब जीता है।

US Open में विजेता खिलाड़ी
– पुरुष एकल : कार्लोस अल्कारेज
– महिला एकल : इगा स्वियातेक
– मेन्स डबल्स : राजीव राम (अमेरिका) और जो सैलिसबरी (ब्रिटेन)
– वुमेन्स डबल्स : केटरीना सिनियाकोवा (चेक गणराज्य) बारबोरा क्रेज़िकोवा (चेक गणराज्य)
– मिक्स्ड डबल्स : जॉन पीयर्स और स्टॉर्म सैंडर्स (ऑस्ट्रेलिया)

—————
10. विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस (World First Aid Day) कब मनाया जाता है?

a. सितंबर के पहले शनिवार
b. सितंबर के दूसरे शनिवार
c. सितंबर के तीसरे शनिवार
d. सितंबर के चौथे शनिवार

Answer: b. सितंबर के दूसरे शनिवार

– वर्ष 2022 में यह दिवस 10 सितंबर 2022 को आयोजित हुआ।
– चोटों को रोकने और जीवन को बचाने में प्राथमिक चिकित्सा के महत्व के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए दिवस मनाया जाता है।
– इस दिवस की शुरुआत इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ रेड क्रॉस एंड रेड क्रिसेंट सोसाइटीज (IFRC) ने वर्ष 2000 में की थी।