11 to 13 July 2022 Current Affairs

Spread the love

यह 11th to 13th July 2022 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. किस महादेश में पाई जाने वाली एसिड मक्खी (नैरोबी मक्खी) का प्रकोप भारत के कुछ राज्यों में फैला?

a. दक्षिणी अमेरिका
b. यूरोप
c. अफ्रीका
d. उत्‍तरी अमेरिका

Answer: c. अफ्रीका (खास तौर पर पूर्वी अफ्रीका)

किन राज्‍यों में नैरोबी मक्‍खी
– नैरोबी मक्खी का पहला संक्रमण सिक्किम में जून 2022 में देखने को मिला।
– पूर्वी सिक्किम के एक इंजीनियरिंग कॉलेज के लगभग 100 छात्रों में नैरोबी मक्खियों के संपर्क में आने के बाद त्वचा में संक्रमण देखने को मिला।
– इसके अलावा जुलाई 2022 में नॉर्थ बंगाल यूनिवर्सिटी, सिलीगुड़ी के छात्रों में इस मक्खी का संक्रमण देखने को मिला।
– छात्रों में त्वचा संबंधी समस्याएं देखने को मिली हैं।
– नैरोबी मक्खी संक्रमण के मामले बिहार में भी रिपोर्ट किए गए हैं।

नैरोबी मक्खी
– यह मक्खी पूर्वी अफ्रीका में पाई जाती है।
– इन मक्खियों को केन्याई मक्खियां या ड्रेगन बग्स भी कहा जाता है।
– नैरोबी मक्खियां छोटे भौंरे जैसे कीड़े की तरह होती है, जो दो प्रजातियों, पेडरस एक्ज़िमियस और पेडरस सबाईस से संबंधित हैं।
– यह मक्खियां नारंगी और काले रंग की होती हैं, और ज्यादा वर्षा वाले क्षेत्रों में पनपती हैं।
– इन मक्खियों को तेज प्रकाश आकर्षित करता है।

कितनी खतरनाक नैरोबी मक्‍खी
– यह मक्खियां न तो काटती हैं और न ही डंक मारती हैं। लेकिन जब यह मक्खी इंसानों की त्वचा पर बैठती है तो यह एक पेडेरिन नामक एसिडिक पदार्थ को त्वचा पर छोड़ती है।
– इस एसिडिक पदार्थ से त्वचा में जलन, सूजन और घाव पैदा होता है।
– मक्खियों के त्वचा से संपर्क में आने के 24 से 48 घंटे में ही त्वचा पर पीले रंग के तरल पदार्थ से भरे फफोले भी हो जाते हैं।
– कभी- कभार यह गंभीर बीमारी का रूप भी ले सकते हैं।

इस मक्खी से आंख की रोशनी भी जा सकती है?
– अगर पेडेरिन पदार्थ मनुष्य के शरीर ज्यादा असर कर रहा है, तो ऐसे में त्वचा के इंफेक्शन के साथ बुखार, जोड़ों में दर्द और उल्टी जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं।
– इसके अलावा अगर यह पदार्थ आंखों में पहुंचता है, तो अंधेपन का भी कारण बन सकता है।

क्या इस मक्खी का प्रकोप पहले भी हुआ है?
– इस मक्खी का प्रकोप केन्या और पूर्वी अफ्रीका के कुछ इलाकों में हो चुका है।
– यह प्रकोप वर्ष 1998 में भारी बरसात के कारण हुआ।
– अफ्रीका के अलावा भारत, जापान, इजरायल और परागुआ में यह प्रकोप पहले भी हो चुका है।

नैरोबी मक्खी से कैसे बचे?
– मच्छरदानी में सोना।
– पूरे आस्तीन के कपड़े पहनना।
– अगर मक्खी शरीर पर बैठ गई है तो इसे ध्यान हटाया जाए ताकि मक्खी पेडेरिन रिलीज न कर पाए।
– त्वचा में खुजली, चकत्ते या दाने हों तो तुरंत डॉक्टर से मिलें।

———–
2. देश के नए केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री कौन हैं?

a. राकेश कपूर
b. स्मृति ईरानी
c. नितिन गडकरी
d. अर्जुन मुंडा

Answer: b. स्मृति ईरानी

– इससे पहले अल्‍पसंख्‍यक कार्य मंत्रालय, मुख्‍तार अब्‍बास नकवी के पास था।
– मुख्‍तार अब्‍बास नकवी का राज्‍यसभा सदस्‍य का कार्यकाल पूरा हो गया और दोबारा उन्‍होंने चुनाव नहीं लड़ा।
– इस वजह से उन्‍होंने 7 जुलाई को मंत्री पद से इस्‍तीफा दे दिया।
– केंद्र सरकार ने उनकी जगह स्मृति ईरानी को अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार सौंप दिया।
– स्मृति ईरानी के पपास पहले से महिला एवं बाल विकास मंत्रालय का प्रभार है।

————-
3. देश के नए केंद्रीय इस्पात मंत्री कौन हैं?

a. विजयेंद्र सिंह
b. भूपेंद्र यादव
c. ज्योतिरादित्य सिंधिया
d. गिरिराज सिंह

Answer: c. ज्योतिरादित्य सिंधिया

– इससे पहले यह मंत्रालय रामचंद्र प्रसाद सिंह (RCP सिंह) के पास था।
– उनके राज्‍यसभा सदस्‍य का कार्यकाल जुलाई में समाप्‍त हो गया। उन्‍होंने चुनाव भी नहीं लड़ा है।
– इसलिए उन्‍होंने मंत्री पद से 7 जुलाई को राष्‍ट्रपति को इस्‍तीफा सौंप दिया।
– इसके बाद केंद्र सरकार ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को इस्पात मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार सौंपा है।
– उनके पास पहले से नागर उड्डयन मंत्रालय (मिनिस्ट्री ऑफ सिविल एविएशन) का प्रभार है।

—————
4. UN की रिपोर्ट ‘वर्ल्ड पॉपुलेशन प्रोस्पेक्ट्स 2022: समरी ऑफ रिजल्ट्स’ के अनुसार वर्ष 2021 में वैश्विक जीवन प्रत्याशा (Global life expectancy) कितनी रही?

a. 69 वर्ष
b. 70 वर्ष
c. 71 वर्ष
d. 72 वर्ष

Answer: c. 71 वर्ष

– यह रिपोर्ट 11 जुलाई 2022 को रिलीज हुई।

जन्म के समय वैश्विक जीवन प्रत्याशा (Life expectancy at birth)
– वर्ष 2021 : 71 वर्ष
– वर्ष 2019 : 72.8 वर्ष
नोट – वर्ष 2021 के वैश्विक जीवन प्रत्याशा में गिरावट आने का कारण COVID-19 महामारी रही।

2021 में महिला – पुरुष की जीवन प्रत्याशा
– महिला : 73.8 वर्ष
– पुरुष : 68.4 वर्ष

वैश्विक जीवन प्रत्याशा सबसे ज्यादा कहां?
महादेश- वैश्विक जीवन प्रत्याशा
– ऑस्ट्रेलिया/न्यूजीलैंड- 84.2 वर्ष
– यूरोप एंड नॉर्दर्न अमेरिका- 77.2 वर्ष
– ईस्टर्न एंड साउथ-ईस्टर्न एशिया- 76.5
– लैटिन अमेरिका और कैरेबियन- 72.2
– नॉदर्न अफ्रीका एंड वेस्टर्न एशिया- 72.1 वर्ष
– सेन्ट्रल एंड सदर्न एशिया- 67.7
– ओशिनिया- 67.1
– सब-सहारा अफ्रीका- 59.7

————
5. UN की रिपोर्ट ‘वर्ल्ड पॉपुलेशन प्रोस्पेक्ट्स 2022: समरी ऑफ रिजल्ट्स’ के अनुसार वर्ष 2022 के अंत तक दुनिया की आबादी कितनी हो जायेगी?

a. नौ अरब
b. आठ अरब
c. सात अरब
d. छह अरब

Answer: b. आठ अरब

——-
6. UN की रिपोर्ट ‘वर्ल्ड पॉपुलेशन प्रोस्पेक्ट्स 2022: समरी ऑफ रिजल्ट्स’ के अनुसार भारत, चीन को पछाड़कर दुनिया का सबसे ज्यादा आबादी वाला देश कब तक बन जायेगा?

a. वर्ष 2025
b. वर्ष 2024
c. वर्ष 2023
d. वर्ष 2022

Answer: c. वर्ष 2023

– संयुक्‍त राष्‍ट्र ने यह रिपोर्ट 11 जुलाई 2022 को रिलीज की।
– इस रिपोर्ट के अनुसार 15 नवंबर 2022 को दुनिया की आबादी 8 अरब होने का अनुमान है।
– इसके अलावा अनुमान है कि भारत वर्ष 2023 तक चीन को पछाड़कर दुनिया का सबसे ज्यादा आबादी वाला देश बन जायेगा।

बुजुर्गों की बढ़ती आबादी
– दुनिया में वृद्ध व्यक्तियों की आबादी, संख्या में काफी बढ़ रही है।
– 65 वर्ष या उससे अधिक आयु की वैश्विक जनसंख्या का हिस्सा 2022 में 10% से बढ़कर 2050 में 16% होने का अनुमान है।
– रिपोर्ट में चेतावनी दी गई है कि वृद्ध आबादी वाले देशों को सार्वजनिक कार्यक्रमों को अपनाने के लिए कदम उठाने चाहिए।
– इसके अलावा सोशल सिक्योरिटी और पेंशन सिस्टम भी बेहतर करना होगा।

संयुक्त राष्ट्र का अनुमान कितना विश्वसनीय है, और भारत की जनगणना के हिसाब कितना ठीक बैठता है?
– इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार यूएन की यह रिपोर्ट एक प्रामाणिक स्रोत है और इसकी विश्वसनीयता के बारे में कोई संदेह नहीं है।
– भारत में, रजिस्ट्रार जनरल जनगणना के आधार पर जनसंख्या अनुमान के आंकड़ों को जारी करते हैं।
– पिछला ऐसा प्रक्षेपण 2019 में जारी किया गया था और यह 2011 की जनगणना पर आधारित था।
– हालांकि, जनगणना का अनुमान यूएन के अनुमान से थोड़ा कम है।
– जनगणना के अनुसार अगर 2023 में नहीं तो अगले कुछ सालों में भारत दुनिया के सबसे अधिक आबादी वाले देश के रूप में चीन को पछाड़ देगा।

यूएन के इन आंकड़ों के हिसाब से भारत को क्या करना चाहिए?
– पहले से ही 25-64 आयु वर्ग के लोगों के लिए, नई स्किल्स सिखाने की आवश्यकता है।
– नई स्किल्स से ही लोगों को रोजगार और बेहतर इनकम मिल सकती है।
– बुजर्गो की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ रही है और यह एक बड़ी चुनौती है।
– बुजुर्गों के लिए सोशल सिक्योरिटी एक बड़ी चुनौती है।
– यह चुनौती आगामी सरकारों के लिए बड़ी समस्या बन सकती है क्योंकि सरकार इन बुजुर्गों का बोझ उठाने में सक्षम नहीं दिख रही है।
– इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार अगर सरकार पर बोझ कम करना है तो हमे अपने परिवारों के साथ रहना होगा या फिर संयुक्त परिवार वाले पुराने कल्चर को वापस लाना होगा।

———-
7. नीति आयोग के सीईओ का पदभार किसने संभाला?

a. परमेश्वरन अय्यर
b. अमिताभ कांत
c. शशांक बाजपेयी
d. अभिजीत कृष्ण विषेन

Answer: a. परमेश्वरन अय्यर

– परमेश्वरन अय्यर ने 11 जुलाई 2022 को नीति आयोग के सीईओ का पदभार संभाला।
– केंद्र सरकार ने 24 जून 2022 को परमेश्वरन अय्यर को नीति आयोग का नया सीईओ नियुक्त किया था।
– उन्हें अमिताभ कांत की जगह इस पद पर नियुक्त किया गया था।
– अय्यर सीईओ के पद पर दो वर्ष तक अपनी सेवा देंगे।

परमेश्वरन अय्यर
– वह उत्तर प्रदेश कैडर के 1981 बैच के IAS अधिकारी है।
– उन्होंने संयुक्त राष्ट्र में एक वरिष्ठ ग्रामीण जल स्वच्छता विशेषज्ञ के रूप में भी काम किया है।

नीति आयोग
– मुख्यालय: नई दिल्ली
– उपाध्यक्ष : सुमन बेरी

————-
8. नेशनल हाई-स्पीड रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (NHSRCL) का प्रबंध निदेशक (MD) किसे नियुक्‍त किया गया?

a. अहजाज अहमद
b. राजेंद्र प्रसाद
c. गुप्‍तेश्‍वर गुप्‍ता
d. रजनीश तिवारी

Answer: b. राजेंद्र प्रसाद

– राजेंद्र प्रसाद अब बुलेट ट्रेन प्रोजेक्‍ट के चीफ होंगे।
– इससे पहले इस पद पर सतीश अग्निहोत्री थे।
– हालांकि केंद्र सरकार ने भ्रष्टाचार के आरोपों पर उन्‍हें बर्खास्त कर दिया।
– उनकी जगह पर राजेंद्र प्रसाद को तीन महीने के लिए नियुक्‍त किया गया।
– वह मुंबई अहमदाबाद हाई-स्पीड रेल प्रोजेक्ट यानि बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट के प्रभारी भी होंगे।

————-
9. विंबलडन 2022 टेनिस चैंपियनशिप में मेन्स सिंगल्स का खिताब किसने जीता?

a. जिमी कोनर्स
b. नोवाक जोकोविच
c. राफेल नडाल
d. निक किर्गियोस

Answer: b. नोवाक जोकोविच

– सर्बियाई टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविच ने 10 जुलाई 2022 को ऑस्ट्रेलिया के निक किर्गियोस को हराकर मेन्स सिंगल्स जीता।
– नोवाक ने 4-6, 6-3, 6-4, 7-6 के स्कोर से निक किर्गियोस को हराया।
– नोवाक की यह सातवीं विंबलडन जीत है और 21वां ग्रैंड स्लेम है।
– विंबलडन 2022 टेनिस चैंपियनशिप 27 जून-10 जुलाई 2022 तक लंदन, इंग्लैंड में आयोजित हुई।

नोट
– ग्रैंड स्लैम चार प्रकार के होते है – ऑस्ट्रेलियन ओपन, फ्रेंच ओपन, विंबलडन और यूएस ओपन।

—————
10. विंबलडन 2022 टेनिस चैंपियनशिप में वुमेन्स सिंगल्स का खिताब किसने जीता?

a. एलिस मर्टेंस
b. शुआई झांगो
c. ऐलेना रयबकिना
d. केटरीना सिनियाकोवा

Answer: c. ऐलेना रयबकिना

– कजाकिस्तान की एलेना रयबकिना ने ट्यूनीशिया की ओन्स जबेउर को हराकर वुमेन्स सिंगल्स जीता।
– रयबकिना ने 3-6, 6-2, 6-2 के स्कोर से ओन्स जबेउर को हराया।
– इसी के साथ वह ग्रैंड स्लैम सिंगल्स चैंपियनशिप जीतने वाली कजाकिस्तान की पहली टेनिस खिलाड़ी बन गई हैं।

मेन्स डबल्स, वुमेन्स डबल्स और मिक्स्ड डबल्स के विजेता-
– पुरुष एकल : नोवाक जोकोविच
– महिला एकल : ऐलेना रयबकिना
– मेन्स डबल्स : मैथ्यू एबडेन (ऑस्ट्रेलिया) और मैक्स परसेल (ऑस्ट्रेलिया)
– वुमेन्स डबल्स : केटरीना सिनियाकोवा (चेक गणराज्य) और बारबोरा क्रेज़िकोवा (चेक गणराज्य)
– मिक्स्ड डबल्स : देसीरा क्राव्ज़िक (अमेरिका) और नील स्कूप्स्की (ब्रिटेन)

————-
11. किस राज्य की कैबिनेट ने जुलाई 2022 में पेसा कानून (PESA)[Panchayat (Extension to Scheduled Areas) Act] को लागू करने के लिए ड्राफ्ट रूल्स की मंजूरी दी?

a. उत्तर प्रदेश
b. हिमाचल प्रदेश
c. केरल
d. छत्तीसगढ़

Answer: d. छत्तीसगढ़

– छत्तीसगढ़ कैबिनेट ने 07 जुलाई 2022 को राज्य में पेसा कानून (PESA) को लागू करने के लिए ड्राफ्ट रूल्स की मंजूरी दी।
– मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में पेसा कानून के ड्राफ्ट रूल्स को मंजूरी दी गई।
– विधानसभा में इस कानून को पेश किया जाएगा और वहां से पारित होने के बाद राज्यपाल इस पर साइन करेंगे और तब यह कानून राज्य में लागू कर दिया जाएगा।

पेसा कानून (PESA) [Panchayat (Extension to Scheduled Areas) Act]
– वर्ष 1995 में भूरिया समिति की सिफारिशों के बाद पेसा अधिनियम 1996 अस्तित्व में आया।
– इस अधिनियम को 24 दिसम्बर 1996 को राष्ट्रपति द्वारा अनुमोदित किया गया था। यह अधिनियम संविधान के भाग 9 के पंचायत से जुड़े प्रावधानों को संशोधनों के साथ अनुसूचित क्षेत्रों तक विस्तारित करता है।
– इस अधिनियम का उद्देश्य आदिवासी समुदाय को स्वशासन का अधिकार प्रदान करना है।
– इस अधिनियम के तहत आदिवासी समुदाय के कल्चर और रिति-रिवाज का संरक्षण करना शामिल है।
– हालांकि राज्‍यों को इसे लागू करने के लिए वहां की विधानसभा से पास करवाना होता है।

छत्तीसगढ़ में पेसा कानून लागू होने से क्या फायदा होगा?
– इस कानून का प्रभाव सरगुजा, रायगढ़, बस्तर और कांकेर लोकसभा क्षेत्र सहित 29 विधानसभा क्षेत्रों पर होगा।
– इसके अलावा 80 लाख जनसंख्या वाले 85 जनपद पंचायतों में आदिवासियों का प्रभुत्व होगा।
– नए पेसा नियमों के अनुसार अनुसूचित क्षेत्रों की 85 जनपदों की कमेटियों में 50 प्रतिशत या इससे अधिक आदिवासी होंगे।

छत्तीसगढ़
राजधानी- रायपुर
सीएम- भूपेश बघेल
राज्यपाल- अनुसुइया उइके

————
12. जम्मू-कश्मीर में स्थित किस तीर्थस्थल पर 08 जुलाई 2022 को बेहद ज्‍यादा बारिश (बादल फटने) से तबाही हो गई?

a. माता वैष्णो देवी
b. अमरनाथ
c. रघुनाथ मंदिर
d. भैरो बाबा मंदिर

Answer: b. अमरनाथ

– जम्मू-कश्मीर के गांदरबली जिले में अमरनाथ गुफा मंदिर के पास बादल फटने से लगभग एक दर्जन से अधिक लोगों की मौत हो गई और कई लोग लापता हो गए हैं।
– बेहद तेज बारिश (बादल फटने) की घटना 8 जुलाई 2022 की शाम को कैंप से काफी दूर हुई।
– हालांकि उसका पानी और पत्‍थर का मलबे के बाढ़ ने गुफा के पास कैंप का एक हिस्सा बहा दिया।
– हालांकि, भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD)ने 08 जुलाई 2022 को कहा कि अमरनाथ गुफा मंदिर के पास तबाही अत्यधिक स्थानीय बारिश की घटना के कारण हुआ, न कि बादल फटने के कारण।
– मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार, 08 जुलाई 2022 को शाम 4.30 बजे से शाम 6.30 बजे के बीच मंदिर में 31 मिमी बारिश दर्ज की गई,
– जोकि बादल फटने की श्रेणी में आने के लिए काफी कम है।
– IMD के अनुसार बादल फटना तब होता है जब एक घंटे में 100 मिमी बारिश हो।

अमरनाथ गुफा
– यह गुफा जम्मू-कश्मीर के गांदरबल जिले की लिद्दर वैली में अमरनाथ पर्वत पर स्थित है।
– मीडिया रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 1850 में बूटा मलिक नाम के मुस्लिम गड़रिए ने इस गुफा की खोज की थी।
– यह गुफा चूना पत्थर और जिप्सम से बनी है।
– गुफा की लंबाई 19 मीटर, चौड़ाई 16 मीटर और ऊंचाई 11 मीटर है।
– गुफा में स्थित शिवलिंग एक स्टैलेग्माइट संरचना है।
– स्टैलेग्माइट एक गुफा के फर्श पर टपकने वाले पानी की बूंदों के जमने से बनता है।
– मतलब गुफा के अंदर बर्फ ऊपर की ओर जम जाती है।
– यह शिवलिंग मई- जून के महीने के बीच बनता है और जुलाई-अगस्त तक इसका आकार घट जाता है।
– आकार घटने की वजह घाटी का ग्लेशियरों से घिरा होना और तापमान में बदलाव होता है।
– इस बर्फ के शिवलिंग के बाईं तरफ दो छोटी बर्फ की संरचनाएं भी बनती है।
– इन संरचनाओं को माता पार्वती और भगवान गणेश का प्रतीक माना जाता है।

बादल कैसे फटता है?
– बादल फटना मतलब अत्यधिक मात्रा में बारिश होना।
– इसे बादल विस्फोट या हेवी रेन भी कहते है।
– जब बादल भारी मात्रा में पानी लेकर चलते है तो एक ही जगह पर काफी बारिश होती है।
– इस भारी बारिश से ही बाढ़ आती है और इसे ही बादल फटना कहते है।
– भारी बारिश का मतलब एक क्षेत्र में कई लाख लीटर पानी एक साथ गिरता है।
– इसी से ही बाढ़ आती है। इस दौरान बारिश लगभग 100 मिलीमीटर प्रति घंटा की दर से होती है।
– यह बारिश आमतौर पर समुद्र तल से 1,000-2,500 मीटर की ऊंचाई पर होता है। इसलिए बादल फटने की घटना पहाड़ी क्षेत्रों पर ही होती है।

—————-
13. ISSF शूटिंग वर्ल्डकप ‘चांगवान’ 2022 का पहला गोल्ड मेडल किस भारतीय ने जीता?

a. अर्जुन बबूता
b. पार्थ मखीजा
c. शाहू तुषार माने
d. राहुल जाखर

Answer: a. अर्जुन बबूता

– भारतीय निशानेबाज अर्जुन बबूता ने 11 जुलाई 2022 को कोरिया के चांगवान में चल रहे ISSF वर्ल्ड कप में भारत के लिए गोल्ड मेडल जीता।
– उन्होंने 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में यह गोल्ड जीता।
– अर्जुन ने इस स्पर्धा में अमेरिका के लुकास कोजेंस्की 17-9 के स्कोर से हराया।
– यह वर्ल्डकप 09 जुलाई 2022 को शुरू हुआ है और 21 जुलाई 2022 को इसका समापन होगा।

ISSF
स्‍थापना: 1907
मुख्‍यालय: मुनिच, जर्मनी
प्रेसिडेंट: व्लादिमीर लिसिन

———–
14. विश्‍व पेपर बैग दिवस (World Paper Bag Day) कब मनाया जाता है?

a. 11 जुलाई
b. 12 जुलाई
c. 13 जुलाई
d. 14 जुलाई

Answer: b. 12 जुलाई

वर्ष 2022 की थीम: “यदि आप ‘शानदार’ हैं, तो ‘प्लास्टिक’ को काटने के लिए कुछ ‘नाटकीय’ करें, ‘पेपर बैग’ का उपयोग करें।”

नोट: एक अमेरिकी आविष्कारक फ्रांसिस वोले ने 1852 में पहली पेपर बैग मशीन बनाई थी।

———–
15. विश्‍व मलाला दिवस कब मनाया जाता है?

a. 11 जुलाई
b. 12 जुलाई
c. 13 जुलाई
d. 14 जुलाई

Answer: b. 12 जुलाई

– यह दिवस हर साल मलाला यूसुफजई के जन्‍मदिन के अवसर पर मनाया जाता है।
– संयुक्त राष्ट्र ने महिला शिक्षा की वकालत करने वाली युवती को सम्मानित करने के लिए इस दिन को मलाला दिवस के रूप में चिह्नित करने के लिए नामित किया है।

मलाला के बारे में
– लड़कियों की शिक्षा के लिए आवाज उठाने वाली मलाला पर तालिबानियों ने 9 अक्टूबर 2012 को गोली चलाई गई थी।
– इसके बाद युसुफ मलाला ने लिंग अधिकारों के लिए वकालत की, उन्होंने एक गैर-लाभकारी संस्था मलाला फंड की स्थापना की है।
– जो युवा लड़कियों को स्कूल जाने में मदद करती थी साथ ही अंतर्राष्ट्रीय बेस्टसेलर “I Am Malala” नामक पुस्तक की सह-लेखिका भी है।
– उन्हें पाकिस्तान सरकार ने पहली बार साल 2012 में राष्ट्रीय युवा शांति पुरस्कार से सम्मानित किया था।
– वर्ष 2014 में, वह 17 साल की उम्र में बाल अधिकारों के लिए अपने प्रयासों के लिए नोबेल शांति पुरस्कार पाने वाली सबसे कम उम्र की प्राप्तकर्ता बन गईं।