11 September 2022 Current Affairs

Spread the love

यह 11th September 2022 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा।

PDF Download : Click here

1. किस शहर में आयोजित SCO समिट में नरेंद्र मोदी, जिनपिंग, पुतिन व शाहबाज सहित कई लीडर शामिल होंगे?

a. दिल्‍ली
b. ताशकंद
c. समरकंद
d. बीजिंग

Answer: c. समरकंद

– समरकंद, उज्‍बेकिस्‍तान का शहर है। राजधानी ताशकंद से 300 किलोमीटर की दूरी पर है।

– 15 और 16 सितंबर को उज्बेकिस्तान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग आमने-सामने होंगे।
– इस समिट में SCO के 8 सदस्‍य देशों के प्रमुख – रूस, चीन, भारत, पाकिस्‍तान, कजाकिस्‍तान, किर्गिस्‍तान, ताजिकिस्‍तान और उज्‍बेकिस्‍तान के लीडर हिस्‍सा ले रहे हैं।
– 14 सितंबर को पीएम मोदी यहां के लिए रवाना होंगे और 16 सितंबर को वापस लौंटेंगे।
– लाइन ऑफ एक्‍चुअल कंट्रोल (LAC) पर तनाव के बीच यह समिट महत्‍वपूर्ण है।
– आखिरी बार जब मोदी और शी जिनपिंग 2019 में ब्राजील में आयोजित ब्रिक्स शिखर सम्मेलन के दौरान आमने-सामने थे।
– मई 2020 से पूर्वी लद्दाख में LAC पर भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच सैन्य टकराव के बाद दोनों देशों के बीच संबंधों को झटका लगा था।

उज्‍बेकिस्‍तान
प्रेसिडेंट – शौकत मिर्जियोयेव
करेंसी – उज्‍बेक सोम
कैपिटल – ताशकंद

—————–
2. चीन और भारत की सेनाओं ने ‘गोगरा-हॉट स्प्रिंग्‍स’ इलाके में पीछे हटना शुरू किया, यह किस राज्‍य / केंद्र शासित प्रदेश में स्थित है?

a. जम्‍मू कश्‍मीर
b. लद्दाख
c. उत्‍तराखंड
d. सिक्किम

Answer: b. लद्दाख

– खास बात है कि यह सब SCO (शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गेनाइजेशन) की लीडर्स समीट से ठीक पहले हुआ है।
– इसमें भारत के पीएम नरेंद्र मोदी और चीन के प्रेसिडेंट शी जिनपिंग आमने-सामने होने वाले हैं।

सेना पीछे हटी
– गोगरा-हॉट स्प्रिंग्‍स, ईस्‍टर्न लद्दाख में स्थित है। इसे पेट्रोल पॉइंट-15 भी कहा जाता है।
– पिछले दो साल से यहां दोनों देशों की सेनाओं के बीच स्‍टैंडऑफ था।
– इस गतिरोध को हल करने के लिए दोनों सेनाओं ने कोर कमांडर स्तर की 16 बैठकें की।
– अब दोनों देशों की सेनाओं ने पीछे हटन का फैसला किया।
– अब 8 सितंबर 2022 को भारत और चीन की तरफ से जारी संयुक्त बयान जारी हुआ।
– इसमें कहा गया कि 16वें दौर की कोर कमांडर स्तर के बीच बनी सहमति के हिसाब से यह फैसला लिया गया।
– यह सीमाई इलाके में शांति के लिए अच्छा है।
– ईस्टर्न लद्दाख में ही पैंगोंग, गोगरा, हॉट स्प्रिंग्स एरिया से सैनिक पीछे हट गए हैं, लेकिन चुनौती अब भी कई हैं।
– जब दो साल पहले तनाव शुरू हुआ तो युद्ध स्तर की तैयारी के तहत भारी संख्या में सैनिक तो तैनात किए ही गए, साथ ही तोप, टैंक, मिसाइल, रॉकेट लॉन्चर, फाइटर जेट भी तैनात हुए।

दो बड़े पॉइंट्स पर बात नहीं
– चीन के साथ गतिरोध के दो बड़े पॉइंट डेमचॉक और डेपसांग अब भी बरकरार हैं।
– हालांकि इन जगहों पर कई साल से भारत और चीन के बीच विवाद चल रहा है।
– चीन का कहना है कि पुराना मसला है, इसलिए इस पर फिलहाल बात नहीं होगी।

क्या SCO समिट में मिलेंगे मोदी-शी?
– भारत-चीन की सेनाओं के अचानक नरम रुख अपनाने के ऐलान के बाद अब सारी नजरें अगले हफ्ते शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) सम्मेलन पर टिक गई हैं।

—————–
3. भारतीय सेना ने ऊंचाई वाले क्षेत्रों में कम वजन के टैंक तैनाती के लिए किस प्रोजेक्‍ट की तैयारी की?

a. प्रोजेक्‍ट जोरावर
b. प्रोजेक्‍ट हिमालय
c. प्रोजेक्‍ट लिटिल
d. प्रोजेक्‍ट टॉप

Answer: a. प्रोजेक्‍ट जोरावर

– प्रोजेक्ट जोरावर एक स्वदेशी प्रोजेक्ट होगा।
– इसमें लाइट टैंको भारत में ही डिजाइन और निर्मित किया जाएगा।

– भारत की उत्तरी सीमाओं पर चीन से “बढ़े हुए खतरे” के “भविष्य में बने रहने की संभावना” के साथ, सेना प्रोजेक्ट जोरावर शुरू कर रही है।
– इसका मकसद उच्च ऊंचाई वाले क्षेत्रों में त्वरित तैनाती और आवाजाही के लिए स्वदेशी कम वजन के टैंकों को शामिल करना।

– इन टैंकों का उपयोग LAC पर बड़ी संख्या में चीनी बख्तरबंद वाहनों की तैनाती का मुकाबला करने के लिए किया जाएगा।

‘प्रोजेक्ट जोरावर’
– इस प्रोजेक्ट के तहत भारतीय सेना को कम वजन के टैंक प्रदान किए जायेंगे।
– ‘प्रोजेक्ट जोरावर’ – का नाम प्रसिद्ध जोरावर सिंह के नाम पर रखा गया है।
– वे एक सैन्य जनरल थे, जिन्होंने जम्मू के राजा गुलाब सिंह के अधीन काम किया था।
– इस प्रोजेक्ट के तहत दिए जाने वाले लाइट टैंको के पास मौजूदा टैंकों की तरह ही मारक क्षमता (फायरपावर) होगी।
– इन लाइट टैंको में मिसाइल-फायरिंग कैपबिलिटी, काउंटर-ड्रोन ऐपरेटस, वॉर्निंग सिस्टम और पॉवर-टू-वेट रेश्यो जैसी सुविधा होगी।

भारतीय सेना लाइट टैंकों में क्या सुविधा चाहती है?
– लाइट टैंक का वजन अधिकतम 25 टन (10% मार्जिन के साथ) होना चाहिए।
– आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, ड्रोन इंटीग्रेशन, एक्टिव प्रोटेक्शन सिस्टम, और कई विशिष्ट टेक्नोलॉजी।
– एक्टिव प्रोटेक्शन सिस्टम।
– मिसाइल फायरिंग सहित मौजूदा टैंक के बराबर मारक क्षमता।
– यह लाइट टैंक उभयचर (धरती और जल में प्रयोग होने वाला) हो।
– ताकि इसे नदी के क्षेत्रों और यहां तक कि पूर्वी लद्दाख में पैंगोंग त्सो झील में भी तैनात किया जा सके।

भारतीय सेना को लाइट टैंक की आवश्यकता क्यों?
– सेना को पूर्वी लद्दाख में गतिरोध के समय परिचालन क्षेत्रों में काफी संख्या में T-72 (45 टन) और T-90 (46 टन) टैंकों को शामिल करना पड़ा था।
– इन टैंकों ने विरोधी को पीछे हटने के लिए मजबूर भी किया था।
– हालांकि, इन टैंकों को मुख्य रूप से मैदानी और रेगिस्तानी इलाकों में संचालन के लिए डिज़ाइन किया गया है।
– पूर्वी लद्दाख में सीमा रेखा पर गतिरोध जारी है।
– चीन पूर्वी लद्दाख में लाइट टैंकों को स्थापित कर रहा है जोकि भारत के लिए एक खतरे की बात है।
– इसके कारण से भारतीय सेना को लाइट टैंकों की जरूरत पड़ रही है।
– क्योंकि 25 टन से अधिक वजन वाले टैंकों को ऊपर पहाड़ पर ले जाना काफी कठिन कार्य होता है और काफी समय भी लेता है।

भारतीय सेना में मौजूद टैंक
– अर्जुन एमके 1A (68.5 टन)
– T-90 (46 टन)
– T-72 (45 टन)

—————
4. भारतीय मूल की किस महिला को UK कैबिनेट में गृह सचिव (गृह मंत्री) का पद मिला?

a. प्रीति पटेल
b. सुएला ब्रेवरमैन
c. ऋषि सुनक
d. बेन वालसे

Answer: b. सुएला ब्रेवरमैन

– यूनाइटेड किंगडम की पीएम लिज ट्रस ने अपने कैबिनेट में सुएला ब्रेवरमैन को शामिल किया है।
– उन्‍हें होम सेक्रेट्री की जिम्‍मेदारी दी गई है। यह पद भारत के होम मिनिस्‍टर के बराबर होता है।
– उन्‍होंने भारतीय मूल की साथी प्रीति पटेल की जगह ली।

– सुएला ब्रेवरमैन, बैरिस्‍टर हैं। 42 वर्ष की हैं।
– इससे पहले बोरिस जॉनसन के नेतृत्व वाली सरकार में वह अटॉर्नी जनरल के पद पर काम कर रही थीं।
– उनकी मां हिंदू तमिल और पिता गोवा के मूल निवासी हैं।
– वर्ष 2018 में उन्होंने रायल ब्रेवरमैन से शादी की थी।

– सुएला ब्रेवरमैन के पिता क्रिस्टी फर्नांडीस ने गोवा पुलिस को कंप्‍लेन किया है कि उनकी दो पुश्तैनी संपत्तियां (13,900 वर्ग मीटर) पर किसी ने कब्‍जा कर लिया है।
– पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

—————-
5. क्वाड सीनियर ऑफिशियल मीटिंग (SOM) सितंबर 2022 में कहां आयोजित हुई?

a. ऑस्ट्रेलिया
b. जापान
c. भारत
d. अमेरिका

Answer: c. भारत

– क्वाड सीनियर ऑफिशियल मीटिंग (SOM) भारत की राजधानी नई दिल्ली में 05-06 सितंबर 2022 को आयोजित की गई।
– इस मीटिंग में ऑस्ट्रेलिया, भारत, जापान और अमेरिका के विदेश मंत्रालयों के वरिष्ठ अधिकारियों ने हिस्सा लिया।

मीटिंग में क्या हुआ?
– मीटिंग में हिंद महासागर क्षेत्र और प्रशांत द्वीप पर चीन के कदमों पर चिंताओं से लेकर श्रीलंका की स्थिति तक कई मुद्दों पर चर्चा की गई।
– टोक्यो में इस वर्ष आयोजित हुए क्वाड शिखर सम्मेलन के दौरान ऑस्ट्रेलिया, भारत, जापान और अमेरिका के नेताओं द्वारा सहमत परियोजनाओं की समीक्षा भी की गई।
– इसके अलावा अगले वर्ष भारत में होने वाली चार देशों की मंत्रिस्तरीय बैठक के लिए मुद्दे निर्धारित किए गए।

चीन को लेकर जताई चिंता
– श्रीलंका के हंबनटोटा बंदरगाह में चीन के युआन वांग 5 के आगमन को लेकर चिंता व्यक्त की गई।
– इसके अलावा इंडो-पैसिफिक में चीन की घुसपैठ को लेकर भी चिंता जताई गई।

क्वाड वैक्सीन इनिशिएटिव
– मार्च 2021 में घोषित क्वाड वैक्सीन पहल के मुद्दों पर भी संक्षेप में चर्चा की गई।
– इस पहल के अंतर्गत वर्ष 2023 के अंत तक, जॉनसन एंड जॉनसन वैक्सीन सहित COVID-19 टीकों की 1 बिलियन खुराक का उत्पादन करने का इरादा बनाया गया है।

क्वाड क्या है?
– QUAD यानी क्वाड्रीलेटरल सिक्योरिटी डायलॉग।
– क्वाड्रीलेटरल शब्द चतुर्भुज से लिया गया है और इस तरह यहां इसका मतलब निकला चतुर्पक्षीय सुरक्षा संवाद। जैसे बाइलैट्रल या द्विपक्षीय और ट्राईलैट्रल या त्रिपक्षीय होता है वैसे ही क्वाड्रीलेट्रल मतलब चतुर्पक्षीय अर्थात चारपक्षीय या चतुष्कोणीय।
– मैप में इंडिया, जापान, अमेरिका और ऑ‍स्‍ट्रेलिया का चतुर्भुज बनता है।
– क्वाड मूल रूप से इंडो-पैसिफिक रीजन के लिए काम कर रहा है ताकि समुद्री रास्तों से व्यापार जारी रहे।
– असल में हिंद-प्रशांत क्षेत्र इन चारों देशों के लिए एक व्यापारिक समुद्री मार्ग भी है।
– चीन ने दक्षिण चीन सागर पर भी कब्जे की मुहिम छेड़ रखी है।
– यहां तक कि वो कुछ छद्म या नकली द्वीप बनाकर अपने सैनिक तैनात कर रहा है।
– ये सब अंतरराष्ट्रीय कानूनों की अनदेखी करके किया जा रहा है ।
– चीन को क्वाड फूटी आंख भी नहीं सुहाता।
– वो शुरू से इसके पीछे पड़ा हुआ है ।
– वो इसे बीजिंग विरोधी गुट कहता रहा है।

——————
6. भारत-जापान के बीच सितंबर 2022 में 2+2 मीटिंग किस शहर में आयोजित हुई?

a. नई दिल्ली
b. टोक्यो
c. मुंबई
d. शिकागो

Answer: b. टोक्यो

– यह मीटिंग 08 सितंबर 2022 को जापान की राजधानी टोक्यो में आयोजित हुई।
– इस बैठक में भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री एस जयशंकर, जापान के विदेश मंत्री हयाशी योशिमासा और रक्षा मंत्री हमादा यासुकाजू ने हिस्सा लिया।

मीटिंग में क्या हुआ?
– दोनों देशों ने क्षेत्रीय और वैश्विक महत्वपूर्ण मुद्दों पर विचार साझा किए।
– अंतरराष्ट्रीय कानून के अनुरूप विवादों के शांतिपूर्ण समाधान की आवश्यकता पर सहमति बनाई।
– रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत का इंडो-पैसिफिक ओशिएन इनिशिएटिव (IPOI) जापान के फ्री एंड ओपन इंडो-पैसिफिक (FOIP) के साथ कई समानताएं साझा करता है।
– उन्होंने जापानी रक्षा कंपनियों को इंडियन डिफेंस कोरिडॉर्स में निवेश के लिए भी आमंत्रित किया।

2+2 मीटिंग
– 2+2 मीटिंग रणनीतिक और सुरक्षा मुद्दों पर भारत और उसके सहयोगियों के विदेश और रक्षा मंत्रियों की मीटिंग का एक फॉर्मेट है।
– एक 2+2 मीटिंग में देश के नेता विश्व और अपने-अपने देशों को लेकर सही ढंग से विचार रख पाते है।
– भारत के चार प्रमुख रणनीतिक साझेदारों के साथ 2+2 मीटिंग हुई हैं: अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, जापान और रूस.

किन देशों के साथ भारत की 2+2 मीटिंग
– वर्ष 2018: अमेरिका के साथ पहली मीटिंग
– वर्ष 2019: जापान के साथ पहली मीटिंग
– वर्ष 2021: ऑस्ट्रेलिया के साथ पहली मीटिंग (सितंबर)
– वर्ष 2021: रूस के साथ पहली मीटिंग (दिसंबर)

—————
7. गृह मंत्रालय ने किस राज्‍य के उग्रवादी समूह ‘NSCN (K) निकी’ ग्रुप के साथ संघर्ष विराम समझौते (सीजफायर एग्रीमेंट) को एक वर्ष के लिए आगे बढ़ाया?

a. कर्नाटक
b. नागालैंड
c. सिक्किम
d. जम्‍मू-कश्‍मीर

Answer: b. नागालैंड

– गृह मंत्रालय ने (नेशनल सोशलिस्ट काउंसिल ऑफ नागालैंड)’ NSCN (K) निकी’ के साथ संघर्ष विराम समझौते (सीजफायर एग्रीमेंट) को एक वर्ष के लिए बढ़ा दिया है।
– इस समझौते को 8 सितंबर 2022 से 07 सितंबर 2023 तक एक वर्ष की अवधि के लिए बढ़ा दिया गया है।
– यह संघर्ष विराम समझौता पिछले वर्ष 2021 में साइन हुआ था।

– (नेशनल सोशलिस्ट काउंसिल ऑफ नागालैंड) NSCN (K) निकी ग्रुप के चीफ सुमी पर जून 2015 में मणिपुर के चंदेल जिले में 18 सैनिकों की हत्या का आरोप है।
– नेशनल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी (NIA) ने सुमी की गिरफ्तारी पर 10 लाख रुपये का इनाम का रखा है।

नागालैंड
– राजधानी: कोहिमा
– सीएम: नेफियू रियो
– राज्यपाल: जगदीश मुखी (असम के भी राज्यपाल हैं)

——————
8. प्रो. बीबी लाल का निधन 10 सितंबर 2022 को हो गया, वह इनमें से क्‍या थे?

a. संगीतकार
b. खिलाड़ी
c. पुरातत्‍वविद्
d. राजनीतिज्ञ

Answer: c. पुरातत्‍वविद्

– उन्‍हें वर्ष 2021 में पद्म विभूषण सम्‍मान मिला था।
– बीबी लाल का पूरा नाम ब्रजबासी लाल था।
– वह 1968 से 1972 तक भारतीय पुरात्तव सर्वेक्षण विभाग के डायरेक्टर रहे।
– उनकी चर्चा सबसे अधिक राम मंदिर के सबूतों को उजागर किए जाने को लेकर होती रही है।
– उन्होंने बाबरी मस्जिद की नींव पर राम मंदिर खड़ा किए जाने की बात कही थी।

—————
9. विश्व आत्महत्या रोकथाम दिवस (World Suicide Prevention Day) कब मनाया जाता है?

a. 9 सितंबर
b. 10 सितंबर
c. 11 सितंबर
d. 12 सितंबर

Answer: b. 10 सितंबर

– 2022 की थीम : थीम ‘Creating hope through action’ यानी “लोगों में अपने काम के जरिए उम्मीद पैदा करना”

NCRB की रिपोर्ट Accidental Deaths & Suicides in India 2021 के अनुसार वर्ष 2021 में भारत में 1,64,033 लोगों ने सुसाइड किया

Suicide Victims by Profession During 2021
– Daily wage earner:25.6% (42,004)
– House wife: 14.1% (23,179)
– Self-employed:12.3% (20,231)
– Professionals/Salaried: 9.7% (15,870)
– Unemployed: 8.4% (13,714)
– Students : 8.0% (13,089)
– Farming Sector: 6.6% (10,881)
– Retired Persons: 0.9% (1,518)
– Other: 14.4% (23,547)

—————
10. हिमालय दिवस (Himalaya Day) कब मनाया जाता है?

a. 9 सितंबर
b. 10 सितंबर
c. 11 सितंबर
d. 12 सितंबर

Answer: a. 9 सितंबर

—————