10 July 2022 Current Affairs

Spread the love

यह 10th July 2022 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. किस पड़ोसी देश के राष्ट्रपति भवन पर हजारों प्रदर्शनकारियों ने कब्जा कर लिया और राष्‍ट्रपति को भागना पड़ा?

a. पाकिस्तान
b. बांग्लादेश
c. श्रीलंका
d. नेपाल

Answer: c. श्रीलंका

– आर्थिक संकट से नाराज हजारों प्रदर्शनकारियों ने 09 जुलाई 2022 को राष्ट्रपति भवन पर कब्जा कर लिया।
– वे राष्‍ट्रपति के इस्‍तीफे की मांग कर रहे हैं।
– हालत बेकाबू होने पर सैनिकों ने हवा में फायरिंग की और तब राष्‍ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे अपने आधिकारिक आवास से भाग सके।
– प्रेसिडेंट ऑफिस ने कहा है कि राष्‍ट्रपति श्रीलंका के नेवल बेस में सुरक्षित हैं।
– दूसरी ओर प्रदर्शनकारियों ने प्रधानमंत्री रानिल विक्रम सिंघे के निजी आवास को जला दिया।
– 9 जुलाई की शाम तक प्रधानमंत्री रानिल विक्रम सिंघे ने कहा कि वह इस्‍तीफा देने को तैयार हैं, ताकि सर्वदलीय सरकार बन सके। वह 12 मई 2022 को ही पीएम बने थे।
– महिंदा राजपक्षे के इस्‍तीफे के बाद रानिल विक्रमसिंघे 12 मई 2022 को प्रधानमंत्री बने थे। लेकिन प्रदर्शनकारी का गुस्‍सा अब उनपर भी है।

– श्रीलंका गंभीर आर्थिक संकट से जूझ रहा है।
– वहां की जनता राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे के खिलाफ लंबे वक्त से ‘Gota Go Gama’ और ‘Gota Go Home’ आंदोलन चला रही है।
– सिंहली भाषा में गामा का मलतब गांव होता है। प्रदर्शनकारी एक जगह जमा होकर तंबू लगाते हैं और गाड़ियों के हार्न बजाते हुए राष्ट्रपति और सरकार के खिलाफ गोटा-गो-गामा का नारा बुलंद करते हैं।

क्‍यों बर्बाद हुई श्रीलंका की अर्थव्‍यवस्‍था
– श्रीलंका को विदेशी मुद्रा का मुख्‍य स्रोत पर्यटन था। कोविड-19 की वजह से यह ठप हो गई। लगभग 25% आबादी टूरिज्म से जुड़ी है।
– कोविड पेंडेमिक के दौरान सरकार ने टैक्‍स की कटौती की। इससे एक तिहाई राजस्व खत्म हो गया।
– टैक्‍स कटौती की वजह से घाटे की भरपाई के लिए नोट छापे गए, यह एक तरह से पागलपन था। इससे महंगाई बढ़ी और श्रीलंकाई रुपया की वैल्‍यू गिरती गई।
– सरकार ने वर्ष 2020 में जैविक खेती का फरमान सुनाया और रासायनिक फर्टिलाइजर के आयात पर रोक लगा दी। इससे कृषि क्षेत्र में 40 से लेकर 60 प्रतिशत तक उत्‍पादन गिरा। चाय का निर्यात ठप हो गया और विदेशी मुद्रा का आगमन रुका।
– इतना सब कुछ होने के बावजूद श्रीलंकाई सरकार अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) के पास जाने में बहुत देर की।

श्रीलंका पर कर्ज
– श्रीलंका पर कुल 51 बिलियन डॉलर का विदेशी कर्ज है।
– श्रीलंका के वित्‍त मंत्रालय ने 12 अप्रैल 2022 को विदेशी लोन के डिफ़ॉल्ट (न चुकाने) की घोषणा कर दी।
– इनमें से 10 प्रतिशत हिस्‍सेदारी चीन की है। श्रीलंका चीन के पास इस लोन के रीस्‍ट्रक्‍चरिंग के लिए गया, लेकिन उसने मना कर दिया।
– लोन का ब्‍याज चुकाने के लिए भी श्रीलंका के पास ब्‍याज नहीं है।
– हंबनटोटा पोर्ट बनाने के लिए श्रीलंका ने चीन से 1.4 अरब डॉलर का कर्ज लिया था। कर्ज न चुकाने पर 2017 में श्रीलंका ने इसे चीन को 99 साल के लीज पर दे दिया।

राजपक्षे परिवार ने तबाह कर दिया श्रीलंका को
– राष्‍ट्रवाद और धर्म के नाम पर गोटाबाया राजपक्षे नवंबर 2019 में सत्‍ता में आए।
– खुद गोटाबाया राष्‍ट्रपति बने।
– दूसरे भाई महिंदा राजपक्षे को प्रधानमंत्री बनाया।
– तीसरे भाई बासिल राजपक्षे को फाइनेंस मिनिस्टर बनाया।
– चौथे भाई चामल राजपक्षे को सिंचाई मंत्रालय दिया।
– भतीजा नामल राजपक्षे (महिंदा का बेटा) को खेल और युवा मंत्रालय सौंपा।
– मतलब सरकार का ज्‍यादातर हिस्‍सा राजपक्षे परिवार के कंट्रोल में रहा और आरोप है कि मनमानी करते हुए भ्रटाचार किए।
– आर्थिक कुचक्र में फंसने के बाद जनता के दबाव में राष्‍ट्रपति गोटाबाया को छोड़कर सभी भाइयों और भतीजे ने 9 मई 2022 को इस्‍तीफा दे दिया।
– प्रदर्शनकारियों ने हंबनटोटा में महिंदा राजपक्षे के पुश्तैनी घर सहित 12 से अधिक मंत्रियों के घर जलाए दिए थे।

—————
2. किस देश में आयोजित RIMPAC 2022 नौसैनिक अभ्यास में भारत की नौसेना ने हिस्सा लिया?

a. ब्राजील
b. चीन
c. रूस
d. अमेरिका

Answer: d. अमेरिका

– रिमपैक 2022 का आयोजन अमेरिका के ‘हवाई’ क्षेत्र के पर्ल हार्बर में हुआ।
– भारतीय नौसेना के स्वदेशी युद्धपोत आईएनएस सतपुड़ा और निगरानी विमान P8i ने इस अभ्यास में हिस्सा लिया।

RIMPAC-2022
– यह RIMPAC अभ्यास का 28वां संस्करण है।
– यह अभ्यास छह हफ्तों से अधिक चलेगा।
– इसका उद्देश्य मित्र देशों की नौसेनाओं के बीच विश्वास का निर्माण करना है।
– इस अभ्यास में 28 देश हिस्‍सा ले रहे हैं।
– इसमें 38 युद्धपोत, 9 थल सेना, 31 मानव रहित प्रणाली, 170 विमान और 25,000 से अधिक कर्मी हिस्सा ले रहे हैं।
– इस अभ्यास का समुद्री चरण (सी फेज) 12 जुलाई, 2022 को शुरू होगा और 4 अगस्त, 2022 को समापन समारोह के साथ यह समाप्त होगा।

पर्ल हार्बर का इतिहास
– यह द्वीप अमेरिका का नौसैनिक बेस है और सेकेंड वर्ल्‍ड वॉर से जुड़ा है।
– दरअइसल, सेकेंड वर्ल्‍ड वॉर के शुरुआत में अमेरिका इस युद्ध में सीधे तौर से नहीं जुड़ा था।
– जापानी नौसेना ने 8 December 1941 को पर्ल हार्बर पर 353 फाइटर प्‍लेन से अचानक हमला कर दिया और इस नेवल बेस को नष्‍ट कर दिया।
– इस आक्रमण के परिणामस्‍वरूप अमेरिका भी द्वितीय विश्‍वयुद्ध में कूद पड़ा। इससे मित्र राष्‍ट्र मजबूत हो गया।
– जबकि जापान और जर्मनी समेत कुछ देश धुरी राष्‍ट्र का सैन्‍य गठबंधन बनाया हुआ था, जिसकी हार हुई।

——————
3. पीयूष गोयल की जगह G-20 के लिए भारत का नया शेरपा (Sherpa) किसे नियुक्त किया गया?

a. अमिताभ कांत
b. विजय राव
c. पीयूष गोयल
d. संजय मिश्रा

Answer: a. अमिताभ कांत

– अमिताभ कांत, नीति आयोग के पूर्व CEO हैं।
– वह 1980 बैच के केरल कैडर के IAS अधिकारी हैं।
– केंद्र सरकार ने जुलाई 2022 में उन्‍हें G-20 के लिए भारत का नया शेरपा (Sherpa) नियुक्त कर दिया है।
– उन्हें वाणिज्य और उद्योग मंत्री और शेरपा पीयूष गोयल की जगह इस पद पर नियुक्त किया गया है।

शेरपा
– शेरपा शब्द नेपाली शेरपा लोगों से लिया गया है, जो हिमालय में पर्वतारोहियों के लिए मार्गदर्शक के रूप में काम करते हैं।
– एक शेरपा आमतौर पर G20 और कुछ अन्य समूहों में सदस्य राष्ट्र के लीडर का व्यक्तिगत प्रतिनिधि होता है।
– शेरपा आमतौर पर G20 शिखर सम्मेलन के लिए योजना बनाने, बातचीत करने और कार्यों को इम्प्लीमेंट करता है।
– शेरपा, एजेंडा बनाने और अपने लीडर्स की बात को रखने में मदद करता है।

नया शेरपा क्यों नियुक्त किया गया?
– पीयूष गोयल जिनके पास कई मंत्रालय है, तो वह इस पद बने नहीं रह सकते है।
– भारत, पहली बार 01 दिसंबर 2022 से लेकर 30 नवंबर 2023 तक G-20 की अध्यक्षता करने वाला है।
– तो ऐसे में एक फुल टाइम शेरपा की जरूरत होगी जो सारा काम संभाल सके, इसलिए अमिताभ कांत को इस पद पर नियुक्त किया गया है।

G-20 के बारे में
– G-2O, 19 देशों और यूरोपीय संघ (ईयू) का एक अनौपचारिक समूह है।
– अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (International Monetary Fund) और वर्ल्ड बैंक इसके रिप्रेजेंटेटिव है।
– इसका कोई स्थायी सचिवालय या मुख्यालय नहीं है। जिस देश को इसकी अध्‍यक्षता मिलीती है, वहां सचिवालय बन जाता है।
– G-2O की सदस्यता में दुनिया की सबसे बड़ी उन्नत और उभरती अर्थव्यवस्थाएं शामिल है।
– जोकि दुनिया की आबादी का लगभग दो-तिहाई, वैश्विक सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का 85%, वैश्विक निवेश का 80% और वैश्विक व्यापार का 75% से अधिक का प्रतिनिधित्व करती है।

G-20 के सदस्य
– भारत, अर्जेंटीना, जर्मनी, इंडोनेशिया, इटली, जापान, कोरिया गणराज्य, मैक्सिको, रूस, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, तुर्की, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, यूनाइटेड किंगडम, संयुक्त राज्य अमेरिका और यूरोपीय संघ।

——————
4. भारतीय मूल के किस ब्रिटिश वित्‍त मंत्री ने जुलाई 2022 में इस्तीफा दे दिया?

a. विवेक कुमार
b. ऋषि सुनक
c. राकेश सिंह
d. साजिद आलम

Answer: b. ऋषि सुनक

– भारतीय मूल के ब्रिटिश वित्‍त मंत्री (Treasury chief) ऋषि सुनक ने 05 जुलाई 2022 को अपने पद से इस्तीफा दे दिया।
– ऋषि सुनक इंफोसिस के सह-संस्थापक नारायण मूर्ति के दामाद है।
– इसके अलावा कई और मंत्रियों ने भी इस्तीफा दे दिया है।
– ऋषि सुनक ने प्रधानमंत्री के पद के लिए दावा ठोक दिया है।

क्यों दिया इस्तीफा?
– ऋषि सुनक के अनुसार सरकार को सही ढंग से और गंभीरता से नहीं चलाया जा रहा था।
– इसलिए उन्होंने इस्तीफा दिया है।

जॉनसन पर पद छोड़ने का दबाव
– कई मंत्रियों के इस्तीफे के बाद से ही पीएम जॉनसन पर भी पद छोड़ने का दबाव बढ़ गया है।
– उन्‍होंने कंजर्वेटिव पार्टी के नेता के तौर पर इस्तीफा दे दिया है।
– हालांकि, अक्टूबर में होने वाले पार्टी के सम्मेलन तक वो प्रधानमंत्री बने रहेंगे।
– इस सम्मेलन में संसदीय दल का नया नेता चुना जाएगा और वही प्रधानमंत्री होगा।
– एक महीने पहले ही बोरिस ने वोट ऑफ कॉन्फिडेंस जीता था। खास बात यह है कि पिछले महीने जिन दो सीनियर मिनिस्टर्स ऋषि सुनक और साजिद जाविद ने सरकार बचाने में अहम रोल अदा किया था, अब वे भी जॉनसन का साथ छोड़ चुके हैं।
– रूल्स के हिसाब से 12 महीने तक उनके खिलाफ दूसरा नो-कॉन्फिडेंस मोशन नहीं लाया जा सकता।
– हालांकि अक्‍टूबर में पार्टी का कांफ्रेंस है, ऐस में माना जा रहा है कि जॉनसन अगले प्रधानमंत्री के चुने जाने तक (अक्टूबर तक) काम करते रहेंगे। हालांकि बड़े फैसले नहीं ले सकेंगे।

– इस बीच ऋषि सुनक ने ट्वीटर पर वीडियो जारी करके प्रधानमत्री पद के लिए दावा ठोका है।

—————
5. नाटो के कितने सदस्य देशों ने स्वीडन और फिनलैंड के लिए परिग्रहण (accession) प्रोटोकॉल पर हस्ताक्षर किए?

a. 25
b. 26
c. 28
d. 30

Answer: d. 30

– नाटो के 30 सदस्य देशों ने 05 जुलाई 2022 को स्वीडन और फिनलैंड के लिए परिग्रहण प्रोटोकॉल पर हस्ताक्षर किए।
– दोनों देशों का सदस्यता संबंधी अनुरोध विधायी मंजूरी के लिए गठबंधन की राजधानियों को भेजा गया है।

परिग्रहण (accession) प्रोटोकॉल
– यह प्रोटोकॉल नॉर्थ अटलांटिक ट्रीटी के अनुसार होता है।
– इस प्रोटोकॉल को नाटो के सदस्य देशों द्वारा साइन किया जाता है।
– इस प्रोटोकॉल पर साइन होने के बाद ही कोई देश नॉर्थ अटलांटिक ट्रीटी का हिस्सा बनता है।

स्वीडन और फिनलैंड के लिए तुर्की पैदा कर सकता है दिक्कत
– परिग्रहण (accession) प्रोटोकॉल में समझौते के बावजूद, सदस्य देश तुर्की नाटो में स्वीडन और फिनलैंड को अंतिम रूप से शामिल किए जाने को लेकर अभी भी दिक्कत पैदा कर सकता है।
– अगर तुर्की की संसद समझौते का अनुमोदन करने से इनकार कर देता है, तो स्वीडन और फिनलैंड के लिए नाटो का सदस्य बनाना मुश्किल हो जायेगा।
– क्योंकि नाटो में शामिल होने के लिए सभी 30 सदस्य देशों के अनुमोदन की जरूरत होगी।

नाटो
– इसकी स्थापना 4 अप्रैल 1949 को अमेरिका के वाशिंगटन डी॰ सी॰ में हुई। इसलिए इसे ‘वाशिंगटन संधि’ यानी ट्रीटी भी कहा जाता है।
– नाटो का पूरा नाम उत्तर अटलांटिक संधि संगठन अर्थात North Atlantic Treaty Organization है।
– इस समय इसके सदस्य देशों की संख्या 30 है।

—————–
6. फील्ड्स मेडल (Fields Medal) जीतने वाली दूसरी महिला कौन बनीं?

a. मरियम मिर्जाखानी
b. मैरीना वियाज़ोवस्का
c. नीना गुप्ता
d. फरहान बी

Answer: b. मैरीना वियाज़ोवस्का (Maryna Viazovska)

– वह यूक्रेन की गणितज्ञ हैं।
– मैरीना वियाज़ोवस्का को 05 जुलाई 2022 को फील्ड्स मेडल 2022 सम्‍मान मिला।
– इस अवॉर्ड की घोषणा इंटरनेशनल कांग्रेस ऑफ मैथमेटिशियन (ICM) ने की।
– इस अवॉर्ड को गणित का नोबल प्राइज भी कहा जाता है।
– मैरीना वियाज़ोवस्का को गणित के क्षेत्र में एक सिद्धांत को प्रूफ करने के लिए यह पुरस्कार मिला है।
– मैरीना के साथ-साथ चार लोगों को यह प्रतिष्ठित अवॉर्ड मिला है।

फील्ड्स मेडल 2022 जीतने वाले अन्य तीन लोग
– ह्यूगो डुमिनिल-कोपिन
– जून हुहो
– जेम्स मेनार्ड

फील्ड्स मेडल जीतने वाली पहली महिला कौन हैं?
– ईरान की गणितज्ञ मरियम मिर्जाखानी को वर्ष 2014 में फील्ड्स मेडल मिला था। ऐसा करने वाली वह पहली महिला गणितज्ञ थी।
– इसके बाद अब 2022 में मैरीना वियाजोवस्‍का को अवॉर्ड मिला है।

मैरीना वियाज़ोवस्का
– उनका जन्म कीव, यूक्रेन में हुआ।
– उन्होंने ने अपनी स्नातक की पढ़ाई कीव नेशनल तारास शेवचेंको विश्वविद्यालय से की।
– टेक्निकल यूनिवर्सटी कैसरस्लॉटर्न से MSc किया।
– उन्होंने वर्ष 2013 में बॉन में पीएचडी प्राप्त की।

फील्ड्स मेडल –
– फील्ड्स मेडल की शुरुआत इंटरनेशनल कांग्रेस ऑफ मैथमेटिशियन (ICM) ने वर्ष 1924 में की थी।
– फील्ड्स मेडल हर चार साल में 40 साल से कम उम्र के एक या एक से अधिक गणितज्ञों को गणित के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए दिया जाता है।
– सम्मान दिए जाने वाले को 14 कैरेट का गोल्ड मेडल दिया जाता है।
– इसके अलावा 15000 कैनेडियन डॉलर का कैश प्राइज दिया जाता है।

————–
7. एसबीआई जनरल इंश्योरेंस अपना नया प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी किसे नियुक्‍त किया?

a. पारितोष त्रिपाठी
b. विवेक कुमार
c. आशुतोष दास
d. राजेंद्र पासवान

Answer: a. पारितोष त्रिपाठी

– उन्होंने पी.सी. कांडपाल का स्थान लिया।

————–
8. किस राज्‍य सरकार ने विधानसभा में ‘स्वास्थ्य का अधिकार’ विधेयक पेश करने का ऐलान किया?

a. पंजाब
b. हरियाणा
c. मिजोरम
d. राजस्थान

Answer: d. राजस्थान

– ऐसा करने वाला यह पहला राज्‍य है।
– “राईट टू हैल्थ” यानी हर नागरिक के स्वास्थ्य की जिम्मेदारी सरकार की होगी।
– देश या राज्य के सभी नागरिकों के स्वास्थ्य के लिए पहली बार राजस्थान की राज्य सरकार ने यह महत्पूर्ण कदम उठाने का निर्णय लिया है।
– इसका उद्देश्य सरकारी और प्राइवेट हॉस्पिटल के माध्यम से गुणवत्तापूर्ण और सस्ती स्वास्थ्य सेवा प्रदान करना है।

राज्‍य में स्‍वास्‍थ्‍य योजना
– राजस्‍थान ने मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के माध्यम से लोगों को 10 लाख रुपये तक मुफ्त इलाज प्रदान करके का प्रावधान किया हुआ है।

संविधान के अनुसार यह विधेयक
– यदि नागरिकों के मौलिक अध‍िकार की बात करें तो भारत के संविधान का अनुच्छेद-21 में जीवन और व्यक्तिगत स्वतंत्रता के मौलिक अधिकार की गारंटी दी गई है।
– वहीं संविधान में स्वास्थ्य का अधिकार “गरिमायुक्त जीवन के अधिकार” के अंर्तगत रखा गया है।
– यहीं नहीं राज्य सरकार को भी संविधान के अनुच्छेद 38, 39, 42, 43 और 47 ने स्वास्थ्य के अधिकार की प्रभावपूर्ण पहुंच सुनिश्चित करने के लिए दिशा-निर्देश दिए गए हैं।

राजस्थान
– राज्यपाल: कलराज मिश्रा;
– राजधानी: जयपुर;
– मुख्यमंत्री: अशोक गहलोत।

—————-
9. विश्व जनसंख्या दिवस (World Population Day) कब मनाया जाता है?

a. 10 जुलाई
b. 11 जुलाई
c. 12 जुलाई
d. 13 जुलाई

Answer: b. 11 जुलाई

– जनसंख्या नियंत्रण करने के उद्देश्य से यह दिवस मनाया जाता है।
– दरअसल, 11 जुलाई 1987 को दुनिया की जनसंख्या 5 अरब हो गई थी।
– इस पर संयुक्त राष्ट्र संघ ने चिंता जताई और इसके बाद 11 जुलाई 1989 को बढ़ती आबादी को काबू करने के लिए एक कार्यक्रम का आयोजन किया।
– इसके साथ ही पहली बार विश्व जनसंख्या दिवस मनाया गया।

—————-
10. विश्व चॉकलेट दिवस (World Chocolate Day) कब मनाया जाता है?

a. 8 जुलाई
b. 7 जुलाई
c. 6 जुलाई
d. 5 जुलाई

Answer: b. 7 जुलाई

– विश्व चॉकलेट दिवस पहली बार वर्ष 2009 में मनाया गया था।
– माना ये भी जाता है कि लोगों ने 7 जुलाई को अंतर्राष्ट्रीय चॉकलेट दिवस के रूप में मनाना इसीलिए शुरू किया क्योंकि यह वह दिन था जब चॉकलेट को पहली बार 1550 में यूरोप में पेश किया गया था।